दुनिया

दुनिया (4845)


नई दिल्‍ली - इंडोनेशिया के विमान लॉयन एयरलाइंस बोइंग 737 मैक्‍स 8 विमान में सवार यात्रियों और उनके सामान की सरगर्मी से तलाश चल रही है। समुद्र में मीलों तक इस विमान का मलबा सतह पर तैरता दिखाई दे रहा है। इसके अलावा इस मलबे में यात्रियों के अवशेष भी शामिल हैं। इस विमान दुर्घटना के बाद इंडोनेशिया में सभी विमानों की जांच के आदेश दे दिए गए थे, जिसके बाद कुछ विमानों की जांच तो पूरी कर ली गई है। लेकिन अभी तक इनकी रिपोर्ट सामने नहीं आई है। आपको यहां पर बता दें कि लॉयन ऐयर के पास 11 ऐसे विमान हैं जबकि एक विमान गरुडा के पास में हैं।
नहीं मिला ब्‍लैक बॉक्‍स
जहां तक लॉयन एयरलाइंस के दुर्घटनाग्रस्‍त विमान की बात है तो अब तक इसका फ्यूसलाज और ब्‍लैक बॉक्‍स नहीं मिला है, जिससे यह पता चल सके कि आखिर विमान के क्रेश होने की प्रमुख वजह क्‍या रही होगी। दुर्घटनाग्रस्‍त हुए विमान ने सोमवार को स्‍थानीय समयानुसार सुबह करीब साढ़े छह बजे जकार्ता से पंगकल पिनांग के लिए उड़ान भरी थी। उड़ान भरने के 13 मिनट बाद ही इसका संपर्क एटीसी से टूट गया और यह समुद्र में क्रेश हो गया।
जांच में खुलासा
शुरुआती जांच में इस बात का भी पता चला है कि विमान के क्रू ने उड़ान से पहले रात में विमान में तकनीकी खराबी की बात कही थी, जिसको बाद में सुधार लिया गया था। लॉयन एयर के चीफ एग्‍जीक्‍यूटिव एडवार्ड सिरेत के मुताबिक बाद में इसकी उड़ान को क्लियरेंस दे दिया गया था। इसके अलावा इस बात का भी पता चला है कि क्रेश होने से पहले विमान की तरफ से वापस एयरपोर्ट पर लौटने की बात कही गई थी। तब विमान एयरपोर्ट से 12 मील की दूरी पर था। जानकारी के मुताबिक विमान की तरफ से किसी भी तरह की इमरजेंसी की बात नहीं कहीं गई थी। जांच के दौरान यह बात भी सामने आई है कि वह ये कि जो विमान दुर्घटनाग्रस्‍त हुआ है उसको अगस्‍त में ही बेड़े में शामिल किया गया था और यह केवल 800 घंटे की उड़ान ही अब तक पूरी कर सका था।
मीलों तक फैला मलबा
इस विमान का मलबा करीब 400 स्‍क्‍वायर नॉटिकल मील की दूरी में तलाश किया जा रहा है। माना जा रहा है कि यह मलबा इससे भी कहीं अधिक दूरी तक फैला है। फिलहाल इस विमान में सवार यात्रियों के 132 परिजनों के डीएनए नमूने लिए गए हैं, जिससे यात्रियों का मिलान किया जा सकेगा। अब तक करीब 24 बैग्‍स में यात्रियों के अवशेषों को एकत्रित किया गया है। कहा जा रहा है कि इन बैग्‍स में एक से अधिक यात्रियों के अवशेष हो सकते हैं, जिनका पता डीएनए जांच के बाद ही चल सकेगा।
अगस्‍त में लिए गए थे 11 विमान
कहा ये भी जा रहा है कि इस दुर्घटना की एक वजह मौसम की खराबी भी हो सकती है। इसलिए ही शायद विमान को वापस एयरपोर्ट पर उतारने की बात कही गई थी। बोइंग के अधिकारी के मुताबिक लॉयन एयरलाइंस द्वारा अगस्‍त में ही 11 आधुनिक विमानों को बेड़े में शामिल किया गया था। उनके मुताबिक मैक्‍स-8 ऐसा आधुनिक तकनीक और सुविधाओं से लैस विमान है जिसको हर कोई खरीदना चाहता है। यहां पर ध्‍यान रखने वाली बात यह भी है कि इंडोनेशिया करीब 13 द्वीपों वाला एक देश है जहां पर विमानन सेवा में हाल के कुछ वर्षों में तेजी आई है। जहां तक लॉयन एयरलाइंस की बात है तो इसका करीब 50 फीसद घरेलू उडडयन बाजार पर कब्‍जा है।
यूरापीय एयरस्‍पेस में हो चुकी है ब्‍लैक लिस्‍ट
इस घटना के बाद आस्‍ट्रेलिया ने अपने नागरिकों के लिए एडवाइजरी जारी कर कहा है कि ह लॉयन एयरलाइंस से सफर न करें। आपको यहां पर ये भी बता दें कि लॉयन एयरलाइंस उन तमाम दर्जनभर एयरलाइंस में शामिल हो चुकी है जिसे ही यूरोपीय एयरस्‍पेस में उड़ान भरने की इजाजत देने से इंकार कर ि‍दिया गया था। हालांकि बाद में सुरक्षा खामियों को दूर करने के बाद इस समेत दूसरी एयरलाइंस का ऑपरेशन दोबारा शुरू कर दिया गया था। यूरापीय एयरस्‍पेस में उड़ान की इजाजत न देने के पीछे इसका अंतरराष्‍ट्रीय सुरक्षा नियमों के तहत खरी न उतरना था। वर्ष 2000, 2013 और 2014 में भी लॉयन एयरलाइंस के विमान दुर्घटनाग्रस्त हो चुके हैं।
पायलट और सह-पायलट को था लंबा अनुभव
आपको बता दें कि इस विमान में छह क्रू मैंबर्स समेत कुल 189 या‍त्री सवार थे। इस विमान को भारतीय पायलट भव्‍य सुनेजा उड़ा रहे थे जिन्‍हें करीब छह हजार घंटे का अनुभव था। वहीं उनके सह पायलट को पांच हजार घंटों से अधिक का अनुभव था।


इस्लामाबाद - पाकिस्तान के उच्चतम न्यायालय ने अपने ऐतिहासिक फैसले में बुधवार को ईशनिंदा की आरोपी एक ईसाई महिला की फांसी की सजा को पलट दिया। अपने पड़ोसियों के साथ विवाद के दौरान इस्लाम का अपमान करने के आरोप में 2010 में आसिया बीबी को दोषी करार दिया गया था। उन्होंने हमेशा खुद को बेकसूर बताया हालांकि बीते आठ वर्ष में उन्होंने अपना अधिकतर समय एकांत कारावास में बिताया।
पाकिस्तान में ईशनिंदा कानून को लेकर समर्थन बेहद मजबूत है और आसिया बीबी के मामले ने लोगों को अलग-अलग धड़ों में बांट दिया है। पाकिस्तान के मुख्य न्यायाधीश साकिब निसार की अगुवाई वाली शीर्ष अदालत की तीन सदस्यीय पीठ ने बुधवार सुबह अपना फैसला सुनाया। पीठ ने इस नतीजे पर पहुंचने के करीब तीन सप्ताह बाद इस संबंध में फैसला सुनाया । फैसला आने में हो रही देरी को देखते हुए ईशनिंदा विरोधी प्रचारकों ने प्रदर्शन की धमकी दी थी।
निसार ने फैसले में कहा, ''उनकी दोषसिद्धि को निरस्त किया जाता है और अगर अन्य आरोपों के तहत जरूरी नहीं हो , तो उन्हें फौरन रिहा किया जाये।
बीबी पर 2009 में ईशनिंदा का आरोप लगा था और 2010 में निचली अदालत ने उन्हें दोषी करार देते हुए मौत की सजा सुनायी थी जिसे 2014 में लाहौर उच्च न्यायालय ने बरकरार रखा था। बहरहाल हिंसा की आशंका को देखते हुए इस्लामाबाद में सुनवाई के दौरान कड़े सुरक्षा इंतजाम किये गये थे।


काबुल - अफगानिस्तान के पश्चिमी फराह प्रांत में सैन्य हेलीकॉप्टर दुर्घटना का शिकार हो गया। टोलो न्यूज के मुताबिक, सैन्य हैलीकॉप्टर में 25 जवान सवार थे। इस दर्दनाक हादसे में सभी 25 जवानों की मौत हो गई है। इस हेलीकॉप्टर में फराह प्रांतीय परिषद के सदस्य और जफर सैन्य कोर अधिकारी भी मौजूद थे।
जफर सैन्य कोर के प्रवक्ता नजीबुल्लाह नाजीबी ने बताया कि हादसे में कोई भी बच नहीं पाया है। उन्होंने बताया कि दो हेलीकॉप्टर एक दूसरे के सामने से गुजर रहे थे, तभी ये हादसा हुआ है, जिसमें एक विमान क्रैश हो गया। उस विमान में फराह प्रांतीय परिषद के सदस्य और जफर सैन्य कोर अधिकारी सवार थे। प्रवक्ता ने बताया की हादसे की जानकारी के बाद राहत और बचाव दल घटनास्थल पर पहुंच गया है।


नई दिल्ली - पिछले साल एक दौरे के दौरान ऑस्ट्रेलिया में डूबने वाली 15 वर्षीय फुटबॉल खिलाड़ी के परिवार ने दिल्ली हाईकोर्ट से इंसाफ की गुहार लगाकर 35 करोड़ रुपये मुआवजा दिलाने और जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ जांच की मांग की है।
इस पर जस्टिस विभु बाखरू ने केंद्र सरकार, दिल्ली सरकार, भारतीय स्कूल खेल महासंघ और राजकीय सर्वोदय कन्या विद्यालय से जवाब मांगा है, जहां वो छात्रा पढ़ती थी। हाईकोर्ट ने वकील विल्स मैथ्यूज द्वारा दायर याचिका पर अधिकारियों को नोटिस जारी किया है और इस मामले की अगली सुनवाई अगले साल आठ मई को रखी है।
दोस्तों के साथ बीच पर गई थी नितिशा
न्यूज एजेंसी भाषा के अनुसार, नितिशा नेगी एक अंतर्राष्ट्रीय खेल टूर्नामेंट में हिस्सा लेने ऑस्ट्रेलिया गई थी, लेकिन पिछले साल दिसंबर में बीच पर डूबने से उनकी मौत हो गई थी। पूर्वी दिल्ली के सरकारी स्कूल की छात्रा नितिशा एडिलेड के होल्डफास्ट मरीना बीच में डूब गई थी जहां वह मैच के बाद अपने चार दोस्तों के साथ गई थी। यह मैच पैसिफिक इंटरनेशल स्कूल खेल 2017 का हिस्सा था।
लड़की के माता-पिता, दादा-दादी और दो भाई-बहनों की ओर से दायर याचिका में अधिकारियों पर लापरवाही और चूक के आरोप लगाए गए हैं जो प्रतिभागियों को बीच पर ले गए जिसके कारण पिछले साल 10 दिसंबर को नाबालिग नितिशा की डूबने से मौत हो गई। परिवार ने अधिकारियों से 35 करोड़ रुपये या किसी अन्य उचित राशि के मुआवजे की मांग की है और साथ ही केंद्र और दिल्ली सरकार को अधिकारियों की ओर से किसी भी तरह की लापरवाही या चूक की जांच के लिए निर्देश देने की मांग की है।

 


काबुल - अफगानिस्तान में बुधवार की सुबह भीषण बम विस्‍फोट हुआ। यह विस्फोट पुल-ए-चरखी जेल के कर्मचारियों को ले जा रहे वाहन को निशाना बनाकर किया गया। इस हमले में 4 लोगों की मौत हो गई है। वहीं 5 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। सुरक्षा सूत्रों ने इस हमले की पुष्टि की है।
गृह मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक यह घटना स्थानीय समय 7:30 बजे हुई । इस हमले में पुल-ए-चरखी जेल के एक वाहन को निशाना बनाया गया।
गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने विस्फोट की पुष्टि करने के अलावा इससे संबंधित कोई अन्य जानकारी नहीं दी है। हालांकि, तालिबान समेत किसी भी समूह ने अभी तक इस विस्फोट की ज़िम्मेदारी नहीं ली है।
बता दें कि इससे पहले पिछले हफ्ते अफगानिस्तान में हुए चुनाव के दौरान तालीबान द्वारा 193 मतदान केंद्रों पर किए गए हमलों में 27 नागरिक, 9 सुरक्षाबलों और 31 विद्रोहियों की मौत हो गई थी।


वेलिंग्टन - न्यूजीलैंड के कई शहर मंगलवार को भूकंप के झटके से दहल गए। रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 6.2 मापी गई। भूकंप के झटका इतना तेज था कि इस वजह से संसद की कार्यवाही को स्थगित करना पड़ा।
वेलिंग्टन और केंद्रीय न्यूज़ीलैंड में भूकंप का झटका काफी तेज महसूस किया गया। इसका केंद्र तामारुनुई के दक्षिण-पश्चिम में जमीन से 207 किलोमीटर नीचे था। हालांकि अभी भूकंप की वजह से जानमाल के नुकसान होने की खबर नहीं है।
भूकंप के झटकों के बाद संसद के डिप्टी स्पीकर ऐनी टॉली ने संसद की कार्यवाही को स्थगित करने का तुरंत निर्णय लिया। टॉली ने कहा, 'मैंने कभी नहीं सोचा था कि मुझे कभी इस तरह से संसद की कार्यवाही स्थगित करनी पड़ेगी।'
देश के भूकंप निगरानी निकाय जीएनएस विज्ञान ने कहा कि भूकंप देश भर के कई हिस्सों में बहुत देर तक व्यापक रूप से महसूस किया गया। एजेंसी ने कहा कि फिलहाल सुनामी का कोई खतरा नहीं है, लेकिन आफ्टर शॉक्स महसूस किए जा सकते हैं।

 

ढाका - बांग्लादेश उच्च न्यायालय ने जिया चैरिटेबल ट्रस्ट भ्रष्टाचार के मामले में विपक्षी नेता खालिदा ज़िया की 5 साल के कारावास की सजा को बढ़ाकर 10 साल तक का कर दिया है। गौरतलब है कि सोमवार को ढाका की एक अदालत ने भ्रष्टाचार के एक अन्य मामले में उन्हें सात साल जेल की सजा सुनाई। मुख्य विपक्षी दल बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी की 73 वर्षीय नेता भ्रष्टाचार के एक मामले…
न्यूयॉर्क - कैलिफोर्निया के योसेमिटी नेशनल पार्क के एक इलाके में 800 फुट की ऊंचाई से गिरने के बाद एक भारतीय दंपति की मौत हो गई। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 29 वर्षीय विष्णु विश्वनाथ और उनकी 30 वर्षीय पत्नी मीनाक्षी मूर्ति की योसेमिटी नेशनल पार्क में टाफ्ट प्वाइंट से गिरने की वजह से मौत हो गई। उनकी पहचान अमेरिका में रह रहे भारतीय के दंपति के रूप में हुई।खबरों…
वाशिंगटन - एक सिख अमेरिकी संगठन ने करतारपुर साहिब कॉरिडोर खोले जाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मदद मांगी है। इस कॉरिडोर के खुलने से सिख समुदाय पाकिस्तान में उस ऐतिहासिक स्थान तक निर्बाध यात्रा कर सकेगा जहां गुरु नानक देव ने अपनी जिंदगी के 18 साल बिताए थे। करतारपुर साहिब पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के नरोवाल जिले में स्थित है।न्यूज एजेंसी भाषा के मुताबिक अमेरिका के विभिन्न हिस्सों…
कोलंबो - श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे की कैबिनेट ने सोमवार को देश के नए प्रधानमंत्री का पदभार संभाल लिया। वहीं अपदस्थ कर दिए गए रानिल विक्रमसिंघे ने कहा कि उन्हें संसद में अभी तक बहुमत हासिल है। राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना के नए मंत्रिमंडल को भी शपथ दिलायी गई, जिसमें राजपक्षे का नाम वित्त एवं आर्थिक मामलों के नए मंत्री के रूप में है। नए मंत्रिमंडल में महज 12…
Page 8 of 347

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें