दुनिया

दुनिया (4845)


इस्लामाबाद - पाकिस्तान में ईशनिंदा के आरोप से बरी हुईं आसिया बीबी को जेल से रिहा कर दिया गया है। अधिकारियों ने बताया कि आसिया पर हमले के खतरे को देखते हुए उन्हें सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया है। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मुहम्मद फैसल ने गुरुवार को आसिया के देश से बाहर जाने की खबरों का भी खंडन किया। उन्होंने कहा कि आसिया बीबी पाकिस्तान में ही हैं।
ईसाई महिला आसिया को ईशनिंदा के आरोप में 2010 में मौत की सजा सुनाई गई थी और वह मुल्तान जेल में बंद थीं। पिछले हफ्ते पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट ने मौत की सजा को पलटते हुए उन्हें रिहा करने का आदेश दिया था। पांच बच्चों की मां आसिया को बरी किए जाने के बाद पाकिस्तान में ¨हसा फैल गई थी। कट्टरपंथी इस्लामी तहरीक-ए-लबैक पार्टी (टीएलपी) ने धमकी दी थी कि अगर फैसले को पलटा नहीं जाता है तो वह पूरे देश में विरोध प्रदर्शन करेगी।
टीएलपी ने आसिया को देश से बाहर भेजने की खबरों पर सख्त नाराजगी जताते हुए और उग्र प्रदर्शन की चेतावनी दी है। 53 साल की आसिया पर आरोप था कि पड़ोसियों ने जब गैर मुस्लिम होने के नाते उन्हें अपने गिलास में पानी पीने से रोका तो उन्होंने इस्लाम के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी की थी। आसिया हमेशा ईशनिंदा के आरोप से इन्कार करती रहीं। पाकिस्तान में ईशनिंदा पर मौत की सजा देने का प्रावधान है।

 


न्‍यूयॉर्क - अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप और मीडिया के बीच रिश्‍ते और खराब होते जा रहे हैं। दरअसल, प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के दौरान ट्रंप से सवाल पूछने की 'सख्‍त मनाही' है। लेकिन सीएनएन के रिपोर्टर ने इसके बावजूद एक तीखा सवाल ट्रंप पर दागा, जिसका उसे भुगतना पड़ा है। सीएनएन के रिपोर्टर का प्रेस पास निलंबित (अस्थायी तौर पर अमान्य) कर दिया है। बुधवार को हुए संवाददाता सम्मेलन के दौरान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और जिम अकोस्टा के बीच तीखी नोंकझोंक होने के एक दिन बाद यह कार्रवाई की गई।
सीएनएन और डोनाल्ड ट्रंप के बीच हमेशा से ही विवाद रहा है। ट्रंप कई बार सीएनएन पर 'फेक न्यूज' का आरोप लगा चुके हैं। अकोस्टा और ट्रंप के बीच कहासुनी उस वक्त हुई जब अकोस्टा ने राष्ट्रपति से लातिन अमेरिका की दक्षिणी सीमा की तरफ बढ़ रहे प्रवासियों के कारवां के बारे में एक सवाल पूछा। जब अकोस्टा ने इस सवाल का जवाब मिलने के बाद फिर से एक सवाल किया तो ट्रंप ने कहा, ‘इतना काफी है।’
ट्रंप की इस टिप्पणी के बाद व्हाइट हाउस की एक कर्मी ने अकोस्टा के हाथ से माइक लेने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने माइक नहीं दिया। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने एक बयान जारी कर अकोस्टा पर आरोप लगाया कि उन्होंने ‘व्हाइट हाउस इंटर्न के तौर पर अपना काम करने की कोशिश कर रही एक युवती पर अपना हाथ रखा।’
सारा ने अपने बयान में इसे ‘पूरी तरह अस्वीकार्य’ करार दिया। डोनाल्ड ट्रंप प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बहुत ही झल्लाए से नजर आए और कई बार उन्होंने मीडिया की आलोचना की। ट्रंप ने कहा कि यह मीडिया का शत्रुओं जैसा व्यवहार है। ट्रंप ने सीएनएन के रिपोर्टर पर आरोप भी लगाया कि उन्होंने राष्ट्रपति से नस्लीय सवाल पूछा है। ट्रंप और सीएनएन के रिपोर्टर का ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल रहा है, वीडियो में दिख रहा है कि रिपोर्टर अकोस्टा बार-बार ट्रंप से सवाल पूछ रहे हैं, लेकिन अमेरिकी राष्ट्रपति ने जवाब देने से इंकार कर दिया।
राष्ट्रपति ट्रंप और अमेरिकी मीडिया के बीच रिश्तों में तल्खी पहले भी रही है, लेकिन यह कड़वाहट बुधवार को उस वक्त और बढ़ गई जब उन्होंने कुछ संवाददाताओं को ‘अशिष्ट’ करार दिया और पीबीएस की एक संवाददाता पर नस्लभेदी सवाल करने का आरोप लगाया।
अमेरिका में हुए मध्यावधि चुनावों में ट्रंप की रिपब्लिकन पार्टी को करारा झटका लगा है। डेमोक्रेटिक पार्टी ने कांग्रेस के निचले सदन हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव पर कब्जा जमा लिया है। हालांकि, ट्रंप की पार्टी रिपब्लिकन का सीनेट में बहुमत बना हुआ है। साल 2016 में हुए चुनावों में रिपब्लिकन पार्टी का कांग्रेस के दोनों सदनों में बहुमत था। मगर, अब मध्यावधि चुनावों के परिणाम से राष्ट्रपति ट्रम्प को शासन चलाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

 


बार्सिलोना - बार्सिलोना के मुख्य स्टेशन पर सुरक्षा स्कैनर में एक सूटकेस के अंदर बुधवार को एक संभावित विस्फोटक उपकरण का पता लगा। दो ट्रेन लाइनों को अस्थायी रूप से बंद कर दिया, लेकिन पुलिस ने बाद में बताया कि बम का कोई खतरा नहीं है। ट्रेनों की आवाजाही शुरू कर दी गई।
स्पैनिश ट्रेन कंपनी रेनफे ने कहा कि पुलिस के आदेश पर मैड्रिड के एटोचा ट्रेन स्टेशन को भी खाली कर दिया गया। बाद में यह घटना झूठी अलार्म की साबित हुई।
पुलिस के बम स्‍क्‍वायड को राजधानी के रेलवे स्‍टेशन पर भेजा गया। एक सूटकेस की सुरक्षा जांच के बाद संभावित विस्फोटक उपकरण का पता चला। बाद में जांच के बाद पुलिस ने बताया कि कोई खतरा नहीं है। रेनफे ने बताया कि बार्सिलोना सैंट्स में दो हाई स्पीड ट्रेन लाइनें थीं, जिन्‍हें बंद कर दिया गया। जांच के बाद फिर से खोल दिया। एटोचा स्‍टेशन पर ट्रेनों के खाली करने का कारण नहीं बताया गया।
मार्च 2004 में एटोचा स्टेशन सबसे घातक आतंकवादी हमला हुआ था, जिसमें 193 लोगों की मौत हो गई और करीब 2,000 लोग घायल हो गए। पुलिस ने बताया कि इस घटना को अल कायदा द्वारा प्रेरित इस्‍लामी आतंकवादियों ने अंजाम दिया था।


इस्लामाबाद - पाकिस्तान में मंगलवार को लगभग सभी बैंकों का डाटा हैक कर लिया गया। यह मामला ऐसे समय सामने आया है जब अभी कुछ दिन पहले ही 10 बैकों ने क्रेडिट और डेबिट कार्ड डाटा में सेंध को लेकर चिंता जताए जाने के बाद अपने कार्ड पर अंतरराष्ट्रीय लेनदेन को ब्लॉक कर दिया था। लेकिन, स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान ने इन खबरों का खंडन किया है।
एसबीपी ने कहा है कि 27 अक्टूबर को एक बैंक का डाटा चोरी कर पैसे चुराने की शिकायत मिली थी जिसके बाद सभी बैंकों को सतर्क कर दिया गया था।
इससे पहले, संघीय जांच एजेंसी के साइबर क्राइम विंग के निदेशक कैप्टन मोहम्मद शोएब के अनुसार लगभग सभी पाकिस्तानी बैंकों के डाटा को हैक कर लिया गया है। एजेंसी ने इस बारे में बैंकों को जानकारी दे दी है और बैंकों के प्रमुखों और सुरक्षा प्रबंधन की बैठक बुलाई गई है।
अधिकारी ने बताया कि पिछले हफ्ते एक गिरोह पकड़ा गया था जिसके सदस्य ग्राहकों का डाटा चोरी करने के बाद सैन्य अधिकारी बनकर बैंकों से पैसे निकालते थे।
अखबार डॉन ने भी सूत्रों के हवाले से कहा है कि स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान (एसबीपी) को बताया है कि उन्होंने अपने डेबिट और क्रेडिट कार्डों पर अंतरराष्ट्रीय भुगतान पर रोक लगा दी है। एक वेबसाइट के हवाले से रिपोर्ट में बताया गया है कि हैकरों ने कम से कम 10 पाकिस्तानी बैंकों के आठ हजार से ज्यादा खाताधारकों के डाटा चुराकर बाजार में बेच दिए हैं।
पाकिस्तानी बैंकों पर साइबर हमले का पहला मामला 27 अक्टूबर को सामने आया था, जब बैंक इस्लामी ने इसकी शिकायत की थी। बैंक ने बताया था कि उसके अंतरराष्ट्रीय पेमेंट कार्ड्स से 26 लाख रुपये चोरी कर लिए गए हैं। इसके बाद बैंक ने इस तरह के भुगतान पर रोक लगा दी थी।

 


याओडे - पश्चिम कैमरून के बामेंडा शहर में सोमवार को एक स्‍कूल से 80 से ज्‍यादा लोगों का अपहरण कर लिया गया, जिनमें ज्‍यादातर बच्‍चे हैं। बुधवार को उन बच्‍चों को छुड़ा लिया गया। यह जानकारी सरकार और सेना के सूत्रों से मिली है। हथियारबंद अलगाववादियों ने इस हफ्ते उनका अपहरण कर लिया था।
राष्‍ट्रपति पॉल बियां के फ्रेंच बोलने वाली सरकार के विरोध में अलगाववादियों ने वहां कर्फ्यू लगा दिया है और स्‍कूलों को बंद कर दिया है। स्‍कूल के प्रिंसिपल सहित कुल 81 लोगों का अपहरण किया गया है। उनको बसों में ले जाया गया है। सेना के सूत्रों ने यह जानकारी दी है।
सरकार के प्रवक्‍ता ने बताया कि घटना के बारे में पता लगाया जा रहा है, लेकिन इससे आगे वह टिप्पणी नहीं कर सका। 2017 में अलगाववादी आंदोलन के शांतिपूर्ण प्रदर्शनों पर सरकार की कार्रवाई के बाद तेजी पकड़ी। कई लोग बामेंडा और अन्य केंद्रों से शांतिपूर्ण क्षेत्र फ्रैंकोफोन में शरण लेने के लिए चले गए हैं।


इस्लामाबाद - अमेरिकी विदेश मंत्रालय की शीर्ष अधिकारी एलिस वेल्स अफगानिस्तान में शांति प्रक्रिया समेत द्विपक्षीय और क्षेत्रीय मुद्दों के बारे में शीर्ष अधिकारियों से चर्चा के लिए पाकिस्तान में हैं। अमेरिकी शीर्ष अधिकारी की यह यात्रा तब हुई है जब एक दिन बाद अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आइएमएफ) के प्रतिनिधिमंडल की इस्लामाबाद की दो सप्ताह की यात्रा शुरू हो रही है। आर्थिक संकट से जूझ रही पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था को राहत पैकेज देने की संभावना पर चर्चा के लिए आइएमएफ की टीम दौरा करेगी।
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉ. मोहम्म्द फैसल ने पुष्टि की कि दक्षिण और मध्य एशिया के लिए उप सहायक विदेश मंत्री एलिस वेल्स छह नवंबर को इस्लामाबाद पहुंची हैं। उन्होंने कहा, 'वह विदेश मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक करेंगी। वह वित्त मंत्री से भी मुलाकात करेंगी।'
फैसल ने यह भी कहा कि उनकी यात्रा का मकसद द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत करने के लिए वाशिंगटन में विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी और उनके अमेरिकी समकक्ष माइक पोंपिओ के बीच हुई बातचीत को आगे बढ़ाना है। कुरैशी और पोंपिओ पहली बार इस्लामाबाद में मिले थे। यह मुलाकात उत्साहजनक थी और इसके बाद उन्होंने वाशिंगटन में मुलाकात की जब पकिस्तान के विदेश मंत्री संयुक्त राष्ट्र महासभा में भाग लेने गए थे।
राजनयिक सूत्रों ने बताया कि राजदूत वेल्स दोनों देशों के बीच संबंधों को दिशाबद्ध करने के प्रयासों पर ध्यान केंद्रित करेंगी जबकि बाकी का ध्यान अफगान शांति वार्ता पर रहेगा। पाकिस्तान और अमेरिका के बीच रिश्ते तनावपूर्ण हैं। आरोप है कि पाकिस्तान आतंकवाद पर लगाम लगाने तथा तालिबान को वार्ता के लिए तैयार करने के वास्ते ज्यादा कुछ नहीं कर रहा है।

 

इस्लामाबाद - भारत की तमाम आपत्तियों की अनदेखी करते हुए पाकिस्तान और चीन ने गुलाम कश्मीर के रास्ते बस सेवा की शुरुआत कर दी। यह बस पाकिस्तान के लाहौर से चीन के शिनजियांग प्रांत के काशगर के बीच चलेगी। सोमवार की रात लाहौर के गुलबर्ग से यह बस अपनी पहली यात्रा पर रवाना हुई।60 अरब डॉलर के महत्वाकांक्षी चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) के तहत सड़क संपर्क स्थापित करने के उद्देश्य…
लॉस एंजिलिस - अमेरिका के एरिजोना प्रांत के लिशफील्ड पार्क शहर में अपना कमरा साफ करने के लिए कहने पर 11 साल के एक बच्चे ने गोली मारकर दादी की जान ले ली। बाद में उसने खुद को भी गोली मार ली।घटना बीते शनिवार की है। बच्चा अपने दादा-दादी के संरक्षण में उनके साथ ही रहता था। बच्चे के दादा ने पुलिस को बताया कि उसे कई बार अपना कमरा…
संयुक्त राष्ट्र - संयुक्त राष्ट्र (यूएन) को तीन माह के दौरान यौन उत्पीड़न की 64 नई शिकायतें मिली हैं। ये शिकायतें दुनियाभर में यूएन के विभिन्न कार्यालयों, एजेंसियों और सहयोगी संगठनों से जुड़ी हैं। संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता स्टीफन दुजेरिक ने सोमवार को यहां बताया कि ये शिकायतें इस साल एक जुलाई से 30 सितंबर के बीच मिलीं।इनमें छह शांतिरक्षक सैनिकों के अलावा यूएन एजेंसियों व संस्थाओं के 33 कर्मचारियों…
वाशिंगटन - तमाम मुद्दों के बीच इस बार अमेरिका के मिड-टर्म चुनाव कुछ अलग वजह से भी चर्चा में हैं। यह वजह है भारतीय समुदाय की बढ़ती दावेदारी। मिड-टर्म चुनावों के लिए मंगलवार को मतदान होना है, जिसमें प्रतिनिधि सभा और सीनेट से प्रांतीय विधायिकाओं तक कई सीटों पर भारतवंशियों की दावेदारी मजबूत लग रही है। जहां अमेरिका में प्रवासियों को लेकर तनातनी चरम पर है, वहीं इन चुनावों में…
Page 5 of 347

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें