दुनिया

दुनिया (534)

काफ्रानबेल (सीरिया)। उत्तर-पश्चिमी जेहाद के गढ़ सीरिया में सीरिया शासन के सहयोगी रूस की एयर स्‍टाइक में पांच बच्‍चों समेत समेत 10 नागरिकों की मौत हो गई। सोमवार को एक पर्यवेक्षक ने यह जानकारी दी। मास्को द्वारा संघर्ष विराम की घोषणा करने के कुछ घंटे बाद यह कार्रवाई की गई।सीरिया के पूर्व अल कायदा से संबद्ध क्षेत्र के किनारे पर सोमवार को सशस्‍त्र बलों और जेहादियों के बीच संघर्ष हुआ। रात भर घातक हवाई हमलों के बाद सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स ने यह जानकारी दी। इदलिब क्षेत्र को हयात तहरीर अल शाम द्वारा नियंत्रित किया गया है। सितंबर बफर क्षेत्र के सौदे के रूप में सरकार द्वारा संरक्षित किया जाता है, लेकिन अप्रैल के अंत तक आते-आते स्‍थानीय शासन और रूस के बीच बमबारी बढ़ गई।चौकियों की देखभाल करने वाले ने बताया कि रात में रूसी हवाई हमलों में इदलिब प्रांत के काफ्रानबेल शहर में पांच बच्चों, चार महिलाओं और एक शख्‍स की मौत हुई है। ब्रिटेन के एक निगरानी अधिकारी ने कहा कि ये हवाई हमले कस्बे के एक अस्पताल के पास हुए।एयरस्‍टाइक के बाद एएफपी के संवाददाता ने पांच घरों को ध्‍वस्‍त हालत में देखा। रिपोर्टर ने कहा कि वहां के लोग बचे हुए सामानों को समेट रहे थे। पिता के मारे जाने के बाद एक दीवार पर झुका हुआ एक युवक सिर से पांव तक धूल में ढका हुआ था।

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति भवन ह्वाइट हाउस ने पश्चिम एशिया के लिए अपने शांति प्लान का पहला हिस्सा जारी किया है। इसमें वेस्ट बैंक और गाजा समेत क्षेत्र में निवेश को बढ़ावा देने के लिए आर्थिक वर्कशॉप करने की बात की गई है।रविवार को जारी इस प्रस्ताव के तहत बहरीन की राजधानी मनामा में 25 और 26 जून को वर्कशॉप आयोजित किया जाएगा। इसमें वैश्विक और क्षेत्रीय कारोबारियों के साथ कई देशों के वित्त मंत्री भी शिरकत करेंगे।यह प्लान ह्वाइट हाउस के वरिष्ठ सलाहकार व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दामाद जेरेड कुश्नर और पश्चिम एशिया में अमेरिकी दूत जेसन ग्रीनब्लाट के नेतृत्व में तैयार किया गया है। कुश्नर ने कहा, 'यह ऐसा उत्साहजनक और वास्तविक मार्ग पेश करेगा जिसका अभी कोई अस्तित्व नहीं है।'
फलस्तीन ने निरर्थक बताया:-फलस्तीन के राष्ट्रपति मुहम्मद अब्बास के प्रवक्ता नबील अबू ने प्रस्ताव को निरर्थक बताया है। उन्होंने कहा, 'फलस्तीनी नागरिक ऐसा कोई भी प्रस्ताव मंजूर नहीं करेंगे जिसमें फलस्तीन के साथ ही उसकी राजधानी के तौर पर पूर्वी यरुशलम शामिल ना हो।'

उत्तर ब्राजील के बेलेम शहर के एक बार में बंदूकधारियों ने अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। स्थानीय मीडिया के अनुसार अंधाधुंध फायरिंग से बार में मौजूद 11 लोगों की मौत हो गई। हमला करने वाले लोगों ने चेहरे पर नकाब पहना हुआ था।घायल लोगों में 6 महिलाएं और 5 पुरुष हैं। स्थानीय G1 वेबसाइट के अनुसार, सात हमलावरों ने गोलीबारी की जो मोटरसाइकल और 3 कारों से बार में पहुंचे थे। हमले के बाद सभी हमलावर फरार हो गए। हालांकि अभी तक हमले के पीछे के कारणों का पता नहीं चल सका है। रविवार शाम तक किसी भी हमलावर की गिरफ्तारी भी नहीं की जा सकी थी। मारे गए 11 लोगों के परिजनों को अभी तक मृतकों की पहचान नहीं बताई गई। हमले के ठीक बाद कुछ वीडियो सोशल मीडिया पर भी पोस्ट किए गए हैं। बता दें कि ब्राजील में इसके पहले हत्याएं पड़ोस के गुआम क्षेत्र में भी हुईं थी, जो कि महानगरीय बेलेम क्षेत्र के सात सबसे हिंसक स्थानों में से एक है। यहां सुरक्षा बढ़ाने के लिए मार्च में सैनिकों का एक जत्था भेजा गया था। साल के शुरुआती तीन महीनों में ब्राजील के पारा राज्य में कई हिंसक घटनाएं हुईं। इन हिंसक घटनाओं में अब तक कुल 756 मौतें हो चुकी हैं।

 

इस्लामाबाद। जेल में बंद पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने स्वास्थ्य के आधार पर जमानत के लिए फिर इस्लामाबाद हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की है। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने स्थायी जमानत के लिए दाखिल उनकी पुनर्विचार याचिका खारिज कर दी थी। सुप्रीम कोर्ट से मिली छह सप्ताह की जमानत अवधि खत्म होने के बाद वह सात मई को वापस लाहौर की कोट लखपत जेल पहुंच गए थे।अब उनके वकील ख्वाजा हैरिस ने स्विट्जरलैंड, अमेरिका, ब्रिटेन और पाकिस्तान के डॉक्टरों की रिपोर्ट का हवाला देते हुए नए सिरे से हाई कोर्ट में जमानत याचिका दायर की है। याचिका में कहा गया है कि शरीफ कई बीमारियों से ग्रस्त हैं जिससे उनकी जान को खतरा है।शरीफ का इलाज जेल में मुमकिन नहीं है इसलिए उन्हें जमानत दी जाए। शरीफ और उनका परिवार भ्रष्टाचार के तीन मामलों में फंसा है। लंदन में आलीशान फ्लैट से जुड़े मामले में शरीफ को 11 साल और अल अजीजिया स्टील मिल मामले में सात साल की सजा हुई थी। फ्लैगशिप इंवेस्टमेंट मामले में उन्हें बरी कर दिया गया था।

वॉशिंगटन। अमेरिका में अरबपति निवेशक रॉबर्ट स्मिथ ने 400 ग्रेजुएशन के छात्रों को जबरदस्‍त तोहफा दिया है। उन्होंने कहा कि वह इन छात्रों का 10 मिलियन डॉलर (करीब 70 करोड़ रुपए) का लोन चुकाएंगे। यह खबर सुनने के बाद छात्रों और उनके परिजनों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। स्मिथ ने स्नातक के छात्रों को बताया कि कैसे उन्होंने अपने आकर्षक करियर की शुरुआत की। उन्होंने छात्रों को समझदारी और सफलता के बारे में बताया।स्मिथ ने कहा कि मेरा परिवार आपके छात्र ऋण को खत्म करने के लिए एक अनुदान बनाने जा रहा है। मोरहाउस के अध्यक्ष डेविड थॉमस ने कहा कि स्मिथ की घोषणा को सुनने के बाद कमरे में मौजूद लोग चौंक गए। छात्रों के माता-पिता एक-दूसरे को गले लगाने के लिए उठ खड़े हुए। थॉमस ने बताया कि कॉलेज में करीब 396 स्नातक छात्र थे। ट्यूशन, कमरे और बोर्ड और अन्य लागत पर करीब 48,000 डॉलर प्रति वर्ष उनका खर्च था।22 वर्षीय फाइनेंस ग्रेजुएट डियोन्टे जोन्स को वाशिंगटन में उनकी मां ने अकेले पाला। वह कॉलेज से स्नातक करने वाले अपने परिवार में पहले शख्स हैं। उन्होंने शैक्षणिक छात्रवृत्ति के बाद लगभग 25,000 डॉलर छात्र ऋण लेकर जमा किए थे।जोन्स ने कहा कि स्मिथ की खबर सुनकर उनकी आंखों में खुशी के आंसू आ गए। यह जीवन की एक नई शुरुआत की भावना थी। इस समाज में एक अफ्रीकी अमेरिकी होना चुनौतीपूर्ण हो सकता है क्योंकि कई छात्र मजबूत आर्थिक पृष्ठभूमि से नहीं आते हैं। स्मिथ की घोषणा ने मेरे परिवार का बोझ कम कर दिया है।22 साल के जेसन एलेन ग्रांट ने कहा कि मुझ पर लगभग 45,000 डॉलर का स्टूडेंट लोन है। जब स्मिथ ने लोन की रकम चुकाने की बात कही, तो मेरे पिता खुश हो गए। वह क्लीवलैंड के फेडरल रिजर्व बैंक में बैंकिंग एक्जामिनर हैं। वह बेटे के कॉलेज का भुगतान करने के लिए 10 साल और काम करने की योजना बना रहे थे। अब 57 वर्ष की आयु में वह सोमवार को सेवानिवृत्त हो सकते हैं। ग्रांट ने कहा कि मैं तीसरी पीढ़ी के कॉलेज का छात्र हूं और हमें अभी भी कर्ज चुकाना है।

कराची। आतंकी संगठन आइएसआइएस (ISIS) से 22 वर्षीया एक युवती के संबंध पर पाकिस्‍तान की सिंध यूनिवर्सिटी ने कार्रवाई करते हुए उसका प्रवेश रद कर दिया है। उसने सीरिया में आइएसआइएस (ISIS) से हथियार चलाने का प्रशिक्षण हासिल किया था।वह लाहौर के एक चर्च पर आत्मघाती हमले को अंजाम देने की असफल साजिश का हिस्सा थी। सिंध के जामशोरो स्थित लियाकत यूनिवर्सिटी के मेडिकल एंड हेल्‍थ साइंसेज में में नौरीन लेघारी द्वितीय वर्ष की छात्रा थी। हैदराबाद के उपनगर हुसैनाबाद के अपने पैतृक शहर से वह फरवरी 2017 में लापता हो गई थी।इसके दो महीने बाद लाहौर से उसे उस वक्‍त गिरफ्तार किया गया, जब सुरक्षा बलों ने उसके एक साथी अली को इनकाउंटर में मार गिराया था। इसी गिरफ्तारी के उसका एडमिशन रद किया गया। इसके बाद उसने सिंध यूनिवर्सिटी के अंग्रेजी विभाग में एडमिशन कराया, मगर विश्‍वविद्यालय को उसकी पृष्‍ठभूमि के बारे में पता चल गया और एडमिशन रद कर दिया गया।उसके पिता डा. अब्‍दुल जब्‍बार लेघारी एम काजी इंस्‍टीट्यूट के केमेस्‍ट्री विभाग में प्रोफेसर हैं। नौरीन और उसके पिता ने सिंध यूनिवसिर्टी की कार्रवाई के खिलाफ सिंध हाईकोर्ट में संवैधानिक याचिका डाली है। उनका कहना है कि शिक्षा के अधिकार के तहत अनुच्‍छेद-के-25 में यूनिवर्सिटी प्रबंधन एड‍मिशन से इंकार नहीं कर सकता। विश्‍वविद्यालय के कुलपति फतेह बुरकत ने कहा कि विश्वविद्यालय प्रबंधन इस तथ्य की पुष्टि कर रहा है कि नौरीन को लियाकत यूनिवर्सिटी के मेडिकल एंड हेल्‍थ साइंसेज (LUMHS) से क्यों निकाला गया। जांच एजेंसियों से सत्यापन हासिल करने के बाद उसके बारे में फैसला किया गया।

वाशिंगटन। अमेरिका और ईरान के बीच तनाव गहराता जा रहा है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर उसने अमेरिकी हितों पर हमला किया तो उसे तबाह कर दिया जाएगा। ईरान के किसी भी हमले से निपटने के लिए अमेरिका ने पश्चिम एशिया में पहले ही विमानवाहक पोत और बमवर्षक विमान तैनात कर दिए हैं। ट्रंप ने रविवार को एक ट्वीट में कहा,…
नई दिल्ली। केंद्र में जो भी नई सरकार बनेगी उसके समक्ष डगमगाते विमानन क्षेत्र को फिर से पटरी पर लाने की चुनौती होगी। पिछले दस-बारह महीनों से भारतीय विमानन क्षेत्र असामान्य परिस्थितियों से जूझ रहा है। इसमें कई एयरलाइनों की हालत बिगड़ने के साथ जेट एयरवेज का भट्ठा बैठ गया। और अब तो देश की सबसे बड़ी एयरलाइन इंडिगो में प्रमोटरों में विवाद की खबरें आ रही हैं। ऐसे में…
कुआलालंपुर। फोटो और वीडियो शेयरिंग सोशल मीडिया साइट इंस्टाग्राम पर पोल कराने के बाद मलेशिया की 16 वर्षीय किशोरी ने खुदकशी कर ली। इस पोल में उसने फॉलोअर्स से पूछा था कि वह अपनी जान दे या नहीं। 69 फीसद फॉलोअर के हां में जवाब देने के बाद उसने अपनी जान दे दी।पोलिंग कर मांगा जवाब:-पुलिस के अनुसार, पीड़िता ने अपने अकाउंट पर लिखा था, 'मैं जिंदा रहूं या मर…
संयुक्‍त राष्‍ट्र। संयुक्त राष्ट्र ने आतंकी संगठन आईएसआईएस ( ISIS) की दक्षिण एशिया शाखा पर प्रतिबंध लगाने को मंजूरी दे दी है। इस संगठन की स्‍थापना 2015 में एक पाकिस्‍तानी नागरिक और टीटीपी के पूर्व कमांडर के एक आतंकी समूह ने की है। इसके संबंध अल कायदा से भी हैं। इसके घातक हमलों में अफगानिस्तान और पाकिस्तान में 150 लोग मारे जा चुके हैं। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});
Page 1 of 39

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें