दुनिया

दुनिया (432)

गजनी। अफगानिस्‍तान के गजनी शहर में तालिबानी लड़ाकों ने धात लगाकर एक पुलिस चौकी पर हमला बोल दिया। इस हमले में नौ अफगान पुलिसकर्मियों की मौत हो गई। इसमें गजनी के स्‍थानीय पुलिस प्रमुख की भी मौत हो गई है। गजनी पुलिस के एक प्रवक्‍ता ने कहा कि यह हमला शुक्रवार तड़के हुआ। ग़ज़नी के गवर्नर के प्रवक्ता आरिफ नूरी ने इन मौतों की पुष्टि की है।अफगानिस्‍तान के लिए रणनीतिक रूप से महत्‍वपूर्ण शहर गजनी पर नियंत्रण बनाने के लिए तालिबान लड़ाकों ने सुरक्षाबलों एवं नागरिकों को निशाना बनाया है। गजनी पर कब्‍जे की कोशिश में तालिबान लड़ाके सैकड़ों अफगानी सैनिकों को हत्‍या कर चुके हैं। अफगानिस्‍तान के गजनी शहर पर कब्‍जे की कोशिश कर रहे तालिबान के खिलाफ स्‍पेशल फोर्स को उतारा गया है। आतंकियों को परास्‍त करने के लिए यहां अधिक सुरक्षा बलों को लगाया गया है।तालिबान की नजर गजनी पर है। यह शहर राष्‍ट्रीय राजधानी काबूल से महज 120 किलोमीटर दूर स्थित है। यहां की आबादी दो लाख सत्‍तर हजार है। अगर गजनी तालिबान के कब्‍जे में चला जाता है तो यह उनकी बड़ी जीत होगी। तालिबान की नजर गजनी पर इसलिए भी है, क्‍योंकि यदि गजनी उनके नियंत्रण में आ जाता है तो दक्षिणी प्रांत से काबून को जोड़ने वाले एक अहम राजमार्ग से भी संपर्क टूट जाएगा। पिछले वर्ष अमेरिका ने अफगान बलों की मदद के लिए सैन्‍य सलाहकारों को भेजा था।

सूक्रे। राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद अपनी तीन देशों की यात्रा के दूसरे चरण में बोलीविया की राजधानी सूक्रे में हैं। यहां उनकी अपने समकक्ष इवो मोरालेस के साथ द्विपक्षीय वार्ता हुई। दोनों देशों ने आतंकवाद, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सुधार और जलवायु परिवर्तन पर अपना ध्‍यान केंद्रीत किया।एमइए में पूर्वी माममों की सचिव विजय ठाकुर सिंह राष्‍ट्रपति कोविंद के साथ बोलीविया की यात्रा पर हैं। उन्‍होंने कहा कि दोनों देश इस बात पर एक मत हैं कि संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद का वर्तमान स्‍वरूप 21वीं सदी की वास्‍तविकताओं के अनुरूप नहीं है। बोलीविया के राष्‍ट्रपति इवो मोरालेस ने संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्‍थायी सदस्‍यता की मांग का पुरजोर समर्थन किया।विजय ठाकुर ने कहा कि बोलीविया के राष्‍ट्रपति ने पुलवामा हमले की कड़ी निंदा की। इवो ने कहा कि सीमा पार से आतंकवाद बेहद खतरनाक है। उन्‍होंने कहा कि आतंकवाद का किसी रूप में समर्थन नहीं किया जा सकता है। यह पूरी मानवाता के लिए खतरा हैं। दोनों देशों ने आंतकवाद पर एक व्‍यापक सम्‍मेलन की वकालत की। बोलीविया और भारत ने आठ एमओयू पर हस्‍ताक्षर किए। सुक्रे में दोनों देशों के बीच संस्‍कृतिक आदान प्रदान, राजनयिकों के लिए वीजा माफी, भूविज्ञान और खनिज संसाधन, अतंरिक्ष, पारंपरिक चिकित्‍सा, आईटी केंद्रों की स्‍थापना एवं रेल परियोजनाओं पर समझौता हुआ। बोलीविया में उनके समकक्ष मोरालेस ने राष्‍ट्रपति कोविंद को यहां के सर्वोच्‍च राजकीय सम्‍मान बोलीविया- कोंडोर डी लॉस एंडिस एन एन ग्रेडो डी ग्रान कॉलर से नवाजा।इसके पूर्व उनकी सांताक्रूज के वीरू वीरू हवाई अड्डे पर कोविंद और उनके साथ यात्रा पर गईं उनकी पत्‍नी सविता कोविंद का बोलीविया में उनके समकक्ष इवो मोरालेस समेत तमाम गणमान्‍य लोगों ने उनका स्‍वागत किया। हवाई अड्डे पर उन्‍हें सम्‍मान में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। बता दें कि राष्ट्रपति कोविंद और उनकी पत्नी सविता कोविंद सोमवार को क्रोएशिया, बोलीविया और चिली की राजकीय यात्रा पर रवाना हुए थे। बता दें कि वह क्रोएशिया और बोलीविया की यात्रा करने वाले भारत के पहले राष्ट्रपति हैं। राष्‍ट्रपति इन देशों को नेताओं से मुलाकात कर व्‍यापार, निवेश तथा नवीकरण ऊर्जा के क्षेत्र में संबंध मज‍बूत बनाने पर वार्ता करेंगे।

 

 

वाशिंगटन। अमेरिका द्वारा लैटिन अमेरिकी देश वेनेजुएला पर शिकंजा कसने के बीच एक अमेरिकी राजनयिक का बयान सामने आया है। उक्‍त अमेरिकी अफसर ने कहा कि वेनेजुएला मामले में भारत की ओर से अमेरिकी प्रयासों को काफी सहयोग किया गया है। इस क्रम में कई भारतीय कंपनियों ने देश से तेल आयात करना बंद कर दिया है। इस माह की शुरुआत में वेनेजुएला तेल मंत्रालय ने कहा था कि उसने भारत को हाेने वाला तेल निर्यात को निलंबित कर दिया ।बता दें कि अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने वेनेजुएला के राष्‍ट्रपति निकोलस मादुरो के खिलाफ शिकंजा कसा है। ऐसे में अमेरिका ने अपने सहयोगी राष्‍ट्रों पर भी वेनेजुएला के साथ सहयोग नहीं करने की अपील की है। बता दें कि मादुरो शासन के खिलाफ और शिकंजा कसने के लिए अमेरिका ने भारत सहित दुनिया के तमाम मुल्‍कों से वेनेजुएला से तेेल आयात बंद करने या अमेरिकी प्रतिबंधों का सामना करने के लिए कहा था।अमेरिका के विशेष प्रतिनिधि ने कहा कि हम भारतीय कंपनियों एवं भारत सरकार के साथ लगातार संपर्क में हैं। अमेरिका ने इस भारतीय मदद के एवज में काफी सहयोग किया है। उन्‍होंने कहा कि अमेरिकी रूख के प्रति भारतीय सहयोग से हम काफी हर्षित और संतुष्‍ट हैं। बता दें कि वेनेजुएला के राजनीतिक संघर्ष में अमेरिका ने वहां के विपक्ष के नेता और कार्यवाहक राष्‍ट्रपति गुएडो काे अपना समर्थन दिया है, जबकि रूस और चीन मौजूदा राष्‍ट्रपति मादुरो को अपना सम‍र्थन दे रखा है। गुएडो मौजूदा सरकार से लगातार राष्‍ट्रपति चुनाव की मांग कर रहे हैं, लेकिन मादुरो ने इस मांग को खारिज कर दिया है।

वाशिंगटन। सोशल मीडिया दिग्गज फेसबुक ने रंगभेद आधारित राष्ट्रवाद व अलगाववाद को बढ़ावा देने व उसका समर्थन करने वाले सभी कंटेंट पर रोक लगा दी है। न्यूजीलैंड की दो मस्जिदों पर ऑस्ट्रेलिया के श्वेत बंदूकधारी द्वारा अंधाधुंध गोलियां बरसाने के बाद फेसबुक ने यह फैसला लिया है। इस हमले में 50 लोगों की जान गई थी। हमलावर ने फेसबुक पर लाइव रहते हुए इस घटना को अंजाम दिया था। इसके चलते फेसबुक सवालों के घेरे में है। कई नागरिक अधिकार समूह का भी आरोप था कि फेसबुक अपने प्लेटफॉर्म पर रंगभेद आधारित नफरत व हिंसा फैलाने वाली सामाग्री पर रोक लगाने में असफल रहा है।उल्लेखनीय है कि फेसबुक ने इससे पहले रंगभेद आधारित वर्चस्ववाद संबंधी कंटेंट पर रोक लगाई थी। लेकिन इससे जुड़े अलगाववाद या राष्ट्रवाद संबंधी सामाग्री प्रतिबंधित नहीं थे। बुधवार को फेसबुक ने कहा कि नागरिक अधिकार समूह व नस्ली मामलों के विशेषज्ञों के साथ चर्चा के बाद उसने अपनी नीति बदली है। लॉयर कमिटी फॉर सिविल राइट के अध्यक्ष व कार्यकारी निदेशक क्रिस्टेन क्लार्क ने कहा, 'रंगभेद आधारित वर्चस्ववाद के विचार को रंगभेद आधारित राष्ट्रवाद व अलगाववाद से अलग करके देखा जाता है, लेकिन इन सब में कोई अंतर नहीं है। इन सब से नफरत व हिंसा को बढ़ावा दिया जाता है।' उन्होंने यह भी कहा कि ऐसे विचारों से सोशल मीडिया पर नफरत फैलाई जा रही है जिसे रोकना बहुत जरूरी है। फेसबुक का यह कदम इस दिशा में बेहतरीन प्रयास है।
फेसबुक ने फिलीपींस में हटाए 200 अकाउंट;-फेसबुक ने अप्रामाणिक व्यवहार के चलते फिलीपींस के 200 अकाउंट व पेज हटा दिए हैं। उसका कहना है कि इन अकाउंट को उनके कंटेंट नहीं बल्कि व्यवहार के लिए हटाया गया है। दरअसल, कुछ प्रमाणिक व फर्जी अकाउंटों से एक साथ चुनाव संबंधी स्थानीय व राष्ट्रीय खबरों को फैलाया जा रहा था। फेसबुक ने इस ऑनलाइन गतिविधि में ऑमनीकॉम मीडिया ग्रुप के सीईओ निक गबुंदा के शामिल होने की बात कही है। निक 2016 के चुनाव में राष्ट्रपति रोड्रिगो दुर्तेते का ऑनलाइन अभियान संभालने का दावा कर चुके हैं।

वाशिंगटन। भारत और संयुक्‍त राज्‍य अमेरिका ने शुक्रवार को पाकिस्‍तान की धरती से संचालित आतंकवादी संगठनों के खिलाफ सार्थक एवं प्रभावशाली कदम उठाने पर जोर दिया है। दोनों देशों ने शुक्रवार को यहां संपन्‍न हुए भारत-अमेरिका काउंटर टेररिज्‍म जाइंट वर्किंग ग्रुप में आतंकवादी संगठनों द्वारा उत्‍पन्‍न खतरों पर विचारों का आदान-प्रदान किया। पुलवामा आतंकी हमले केे बाद भारत-अमेरिका के बीच इस बैठक को काफी अहम माना जा रहा है। इस मौके पर दोनों देश इस बात पर एक राय थे कि पाकिस्‍तान काे आतंकियों के खिलाफ सख्‍त कदम उठाना होगा।इस वर्किंग ग्रुप में भारत का नेतृत्‍व विदेश मंत्रालय के संयुक्‍त सचिव महावीर सिंघवी ने किया। अमरिकी प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्‍व विदेश विभाग के समन्‍वयक राजदूत नान सेल्‍स ने किया। बैठक में दोनों पक्षों ने आतंकवाद निरोधी सहयोग पर चर्चा की। दोनों देशों ने द्विपक्षीय संबंधों पर जोर दिया। इस मौके पर एक बार फ‍िर भारत-अमेरिका ने आपस में समन्‍वय जारी रखने का संकल्‍प लिया। अमेरिका ने एक बार फ‍िर अातंकवादी मोर्चे पर भारत को पूरे सहयोग का पूरा भरोसा दिलाया।वर्किंग ग्रुप में संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्‍ताव 2396 में उल्लिखित महत्‍वपूर्ण प्रावधानों और दायित्‍वों के अनुरूप सूचनाओं काे साझा करने पर जोर दिया गया। दोनों देशों ने आतंकवाद विरोधी चुनौतियों और इस बाबत किए जा रहे प्रयासों को भी रेखांकित किया। इसमें आतंकवादी संगठनों के वित्‍तीय पोषण, आतंकवादियों द्वारा इंटरनेट का उपयोग जैसे कई मुद्दों पर चर्चा हुई।

 

 

ढाका। बांग्‍लादेश की राजधानी ढाका के एक इलाके में 22 मंजिला बिल्‍डिंग में भीषण आग लग गई है। इस आग में अभी तक पांच लोगों के मौत की सूचना मिल रही है। वहीं इस आग में कई लोगों के फंसे होने की आशंका है। आग की भयावहता का अंदेश इस बात से लगाया जा सकता है कि आग को बुझाने के लिए दमकल के अलावा हेलीकॉप्‍टरों को लगाया है।आग लगते ही उस इलाके में अफरातफरी मच गई है। पुलिस इलाके को खाली करा रही है। प्रत्‍यक्षदर्शियों ने बताया कि हादसे के बाद लोग आग से बचने के लिए इमारत से कूदने लगे। इस हादसे में अब तक करीब एक दर्जन लोग जख्‍मी हो चुके हैं। जिस इमारत में आग लगी है वह ढाका के बनानी इलाके में आता है।बनानी इलाके में कई कंपनियों के ऑफिस हैं। लोगों को इस बात का डर है कि यह आग आसपास की इमारतों में ना फैल जाएं। जिस बिल्‍डिंग में आग लगी है उसके आसपास कई और ऊंची-ऊंची इमारते हैं। राहत और बचाव का काम जारी है। आग बुझाने के लिए 19 दमकलों का इस्‍तेमाल किया जा रहा है वहीं हेलीकॉप्‍टर भी इमारत के ऊपर पानी डाल रहे हैं।आग लगते ही वहां काम करने वालों के रिश्‍तेदार बाहर जमा हो गए है। बता दें कि ढाका की आबादी 18 मिलियन से ज्‍यादा है। वहीं यह दुनिया में सबसे धनी आबादी वाला इलाका है। वर्ल्‍ड बैंक के अनुसार यहां करीब 3.5 मिलियन लोग स्‍लम में रहते हैं।इससे पहले भी बांग्लादेश की राजधानी ढाका के एक पुराने इलाके में भीषण आग लगने की घटना ने दहला दिया था। इस घटना में करीब छह दर्जन लोगों की दर्दनाक मौत हो गई थी। यह आग वहां केमिकल और प्लास्टिक के गोदामों में रात में लगी थी। इस आग में करीब 50 से ज्यादा लोग झुलस भी गए थे। इस आग ने आसपास की इमारतों को भी अपनी चपेट में ले लिया था।

लंदन। स्कॉटलैंड के डम्बर्टन का ओवरटॉउन ब्रिज कुत्तों के साथ होने वाले हादसों को लेकर दशकों से चर्चा में रहा है। पूरी दुनिया में इस पुराने पुल की पहचान कुत्तों का 'सुसाइडल ब्रिज' के तौर पर है जहां से लोगों के पालतू डॉग्स पलभर में छलांग लगाकर जान दे देते हैं। पहली बार एक पादरी ने इस पुल से कुत्तों के कूदकर मर जाने के रहस्य से पर्दा उठाया है।यह…
नई दिल्‍ली। दुनियाभर के कुछ देशों में शरिया कानून लागू है और कुछ देशों में इसको लागू करवाने की मांग यदा-कदा होती रहती हैं। इसमें पाकिस्‍तान भी शामिल है। इतना ही नहीं वहांं के मौलाना अब्‍दुल अजीज ने तो लोकतंत्र को गैर-इस्‍लामिक तक करार दे दिया है। कई दूसरे नेताओं की तरह वह भी पाकिस्‍तान में शरिया कानून के हिमायती हैं। आपको बता दें कि अफगानिस्‍तान में भी तालिबान सरकार…
इस्लामाबाद। अमेरिका और तालिबान के बीच चल रही शांति वार्ता को लेकर ट्विटर पर छिड़ी बहस में पाकिस्तान की मानवाधिकार मंत्री शिरीन मजारी की जुबान बिगड़ गई। उन्होंने ना सिर्फ अफगानिस्तान में तैनात अमेरिकी राजदूत को अदना इंसान करार दिया बल्कि अफगानिस्तान को लेकर अमेरिका की समझ पर भी सवाल खड़ा कर दिया।ट्विटर पर यह बहस पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के एक बयान के बाद छिड़ी थी। इमरान ने…
यरूशलेम।गाजा द्वारा इजराइल पर किए गए हमला का जवाब देते हुए इजराइल सेना ने पूरे गाजा में हमास पर हमला करना शुरू कर दिया है। दरअसल, कल गाजा द्वारा इजराइल पर अचानक ही रॉकेट दागे गए थे। अब इजराइली सेना ने गाजा पट्टी के उत्तरी हिस्से को निशाना बनाकर पटलवार किया है। इजराइल ने कई मुख्य शहरों में हमले का शिकार हुए लोगों के लिए पब्लिक बम शेल्टर बनाए है।…
Page 5 of 31

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें