दुनिया

दुनिया (5229)

 

टोरंटो(HH)-एयर इंडिया कनिष्क में 1985 में हुए विस्फोटों के एकमात्र दोषी इन्द्रजीत सिंह रेयत को बुधवार को कनाडा की जेल से रिहा कर दिया गया। विमान में हुए विस्फोट के कारण उसमें सवार सभी 329 लोग मारे गए थे।

वर्ष 2003 में रिपुदमन सिंह मलिक और अजायब सिंह बागरी की सुनवायी के दौरान अदालत के सामने झूठ बोलने के लिए रेयत को 2010 में झूठी गवाही देने का दोषी करार दिया था। एयर इंडिया का यह विमान मांट्रियल, कनाडा से लंदन फिर भारत के रास्ते पर था। 

पैरोल बोर्ड ऑफ कनाडा के प्रवक्ता ने भी रेयत की रिहाई की पुष्टि की है। पंजाब से यहां आए पेशे से मैकेनिक रेयत ने डायनामाइट, डिटोनेटर्स और बैटरियां खरीदी थीं। इन्हीं की मदद से किए गए विस्फोटों में एयर इंडिया की उड़ान 182 के 329 यात्रियों की जान चली गयी थी।

विमान जब लंदन के हीथ्रो हवाई अड्डे की ओर जा रहा था उसी दौरान पहला विस्फोट आयरलैंड के तट पर हुआ। दूसरा विस्फोट जापान के नरीता हवाईअड्डे पर हुआ, जिसमें सामान उठाने वाले दो कर्मचारी मारे गए थे।

वर्ष 1991 में रेयत को सामान उठाने वाले दो कर्मचारियों की मौत के मामले में दोषी करार दिया गया। उसे इस अपराध के लिए 10 साल की सजा दी गयी। एयर इंडिया विमान विस्फोट मामले में उसे नरसंहार के एक अन्य आरोप में पांच वर्ष की सजा दी गयी।

रेयत को झूठी गवाही देने के लिए नौ वर्ष की सजा मिली। यह अभी तक कनाडा में दी गयी ऐसी सबसे लंबी सजा है। हालांकि सुनवायी के दौरान रेयत द्वारा जेल में गुजारे गए वक्त को इसमें जोड़ा गया। उसकी सजा सात जनवरी 2011 से शुरू हुई।

पैरोल बोर्ड कनाडा के पेसिफिक क्षेत्रीय प्रबंधक पैट्रिक स्टोरे ने बताया कि रेयत की रिहाई का वक्त आ गया। उनके हवाले से द ग्लोबल एण्ड मेल ने लिखा है, वैधानिक रिहाई विवेकाधीन रिहाई नहीं है। यह कानून के अनुसार स्वत: रिहाई है।

उसमें कहा गया है, उसकी वैधानिक रिहाई की तारीख 27 जनवरी, 2016 है, और उसकी सजा छह अगस्त, 2018 को समाप्त हो रही है।  

स्टोरे ने कहा कि पैरोल बोर्ड के पास उसे रिहा करने के अलावा और कोई विकल्प नहीं था और कोई सुनवायी नहीं हुई।   

रेयत को पेरोल बोर्ड द्वारा तय आठ शर्तों का पालन करना होगा जैसे वह पीड़ित परिवारों से या पूर्व सह़़षडयंत्रकारियों से कोई संपर्क नहीं करेगा और कोई राजनीतिक गतिविधियों में शामिल नहीं होगा। साथ ही, वह अपने घर नहीं जा सकेगा बल्कि उसे सुधार गह में रहना होगा।

 

काराकस/पेरिस(HH)-वेनेजुएला में जिका विषाणु के 4,700 संदिग्ध मामले सामने आए हैं, वहीं फ्रांस की सरकार ने भी विदेश यात्रा से लौटे पांच लोगों में जिका के संक्रमण की बात कही है। जिका के संक्रमण के चलते शिशुओं का मस्तिष्क क्षतिग्रस्त हो जाता है।

लातिन अमेरिका में हजारों ऐसे अन्य संदिग्ध मामले पाए गए हैं, जिसके कारण मच्छरजनित विषाणु से निपटने में स्वास्थ्य क्षेत्र की खामी उजागर हो गई है।

वेनेजुएला के स्वास्थ्य मंत्री लुइसाना मेलो ने गुरुवार को संवाददाताओं से कहा, हमारे पास 4,700 मरीजों के जिका विषाणु से संक्रमित होने की आशंका से जुड़ी खबरें हैं। ऐसा उनमें दिखने वाले लक्षणों के आधार पर कहा जा रहा है।  

यह पहली बार है जब तीन करोड़ जनसंख्या वाले इस दक्षिण अमेरिकी देश की सरकार ने संदिग्ध संक्रमित लोगों की संख्या जारी की है। यह देश आर्थिक और राजनीतिक संकट से जूझ रहा है। वहीं, फ्रांस की सरकार ने अपने यहां पांच मामलों की जानकारी देते हुए कहा है कि जिन पांच लोगों में विदेश यात्रा के दौरान जिका विषाणु पाया गया था, वे साल की शुरूआत में ही फ्रांस लौट आए हैं।

फ्रांस के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बयान में कहा, किसी भी मरीज की हालत गंभीर नहीं है। मंत्रालय ने उन क्षेत्रों के नाम उजागर नहीं किए, जहां की यात्रा के बाद ये लोग लौटे हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने गुरुवार को कहा कि अमेरिकी महाद्वीपों में जिका बहुत तेजी से फैल रहा है और क्षेत्र में मामलों की संख्या 40 लाख तक जा सकती है। वेनेजुएला उन 20 देशों में शामिल है, जिनमें जिका के मामले सामने आए हैं।

 

 

बर्लिन (HH)-जर्मनी के 40 फीसदी लोग चाहते हैं कि चांसलर एंजेला मर्केल अपनी शरणार्थी नीति की विफलता के कारण अपने पद से इस्तीफा दे दें। जर्मनी ने पिछले वर्ष 10 लाख से अधिक शरणार्थियों को अपने यहां शरण दी थी।

शरणार्थी समस्या पर रायशुमारी ‘फोकस’ पत्रिका ने कराई थी, 22 से 26 जनवरी के बीच 2047 लोगों की शरणार्थी समस्या पर राय ली गयी जिनमें से 45.2 प्रतिशत लोगों की राय थी कि शरणार्थी समस्या को लेकर चांसलर को इस्तीफा देने की जरुरत नही है।

 

लंदन(HH)-नोबेल शांति पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई ने सीरयाई दानदाताओं के एक सम्मेलन से शिक्षा के लिए लाखों डॉलर देने की अपील की। बड़ी बात ये है कि मलाला की इस अपील पर 70,000 से ज्यादा लोगों ने हस्ताक्षर किए।

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा को संबोधित यह याचिका change.org वेबसाइट पर प्रकाशित हुई। इस याचिका में वैश्विक नेताओं से लंदन सम्मेलन में 1.4 अरब अमेरिकी डॉलर देने के लिए प्रतिबद्धता जताने के लिए कहा गया है ताकि संघर्ष से प्रभावित सीरियाई बच्चों की शिक्षा सुनिश्चित की जा सके।

ब्रिटेन, जर्मनी और नार्वे चार फरवरी को संयुक्त राष्ट्र और कुवैत के साथ मिलकर इस सम्मेलन को आयोजित कर रहे हैं। इसमें तमाम वैश्विक नेताओं के सम्मिलित होने की संभावना है। यह लोग इस सम्मेलन में सीरिया के भीतर विस्थापित या असुरक्षित लगभग एक करोड़ 35 लाख लोगों की कैसे मदद की जाए इस बारे में विचार विमर्श करेंगे। साथ ही 42 लाख ऐसे लोगों के बारे में भी विचार करेंगे जो लेबनान और जॉर्डन जैसे पड़ोसी देशों में भाग कर चले गए हैं।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन के कार्यालय ने बुधवार को कहा कि इस सम्मेलन में भाग ले रहे देशों से उनके द्वारा दी जाने वाली मदद को दुगना करने के लिए कहा गया है ताकि इस मानवीय संकट से निपटा जा सके।

 

दुबई (HH)-सऊदी अरब के पूर्वी भाग की एक शिया मस्जिद पर आज आत्मघाती बम विस्फोट तथा गोलीबारी में 4 व्यक्ति मारे गये और 18 घायल हो गये। यह जानकारी सऊदी अरब के गृह मंत्रालय तथा प्रत्यक्षदर्शियों ने दी।

शिया मस्जिद पर हमला पूर्वी प्रान्त के महसीन कस्बे में किया गया जहां शिया तथा सुन्नी मुसलमानों की मिलीजुली आबादी है।

अभी तक इस हमले की जिम्मेदारी किसी गुट ने नहीं ली है किन्तु समझा जाता है कि इसके पीछे इस्लामिक स्टेट के सुन्नी आतंकवादियों का हाथ है।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार हमले के समय एक आत्मघाती हमलावर ने विस्फोट कर अपने आप को उड़ा लिया। इसके चलते बिजली की आपूर्ति बंद हो गयी। दूसरे हमलावर को जो गोली चला रहा था, नमाजियों ने धर दबोचा। हमले के समय 200 नमाजी नमाज पढ़ रहे थे। विस्फोट मस्जिद के भीतर हुआ। दूसरा हमलावर मशीनगन से गोलियां चला रहा था। नमाजियों ने उसकी मशीनगन छीन ली और उसकी पिटाई शुरू कर दी।

 

वांशिंगटन (हम हिंदुस्तानी)-अमेरिका के राष्ट्रपति पद के लिए रिपब्लिकन पार्टी के प्रबल दावेदार डोनाल्ड ट्रंप ने फॉक्स न्यूज की एंकर मेगिन केली को लेकर किये गये ट्वीट में ‘बिम्बो’ (खूबसूरत लेकिन मूर्ख) शब्द का इस्तेमाल करने पर एक बार फिर विवादों में घिर गये हैं।

ट्रंप ने चैनल की आज रात को होने वाली बहस में शामिल होने से इंकार कर दिया था। उन्होंने मंगलवार को यह कहते हुए बहस में शामिल होने से इंकार कर दिया था कि पिछले वर्ष ऐसे ही एक कार्यक्रम में एंकर केली के सवालों से उन्हें गुस्सा आ गया था।

उन्होंने ट्वीटर पर लिखा कि मैं मेगिन केली को बिम्बो नहीं कहूंगा क्योंकि यह राजनीतिक रूप से सही नहीं होगा। इसकी बजाय मैं उन्हें एक हल्का रिपोर्टर कहूंगा। मेरे दिल में उनके लिए बिल्कुल सम्मान नहीं है। मुझे नहीं लगता कि वह अपने काम में बहुत अच्छी हैं।

रिपब्लिकन पार्टी के अन्य उम्मीदवारों ने श्री ट्रंप की कड़ी आलोचना की है। अमेरिकी सीनेटर टेड क्रूज ने उन पर हमला करते हुए कहा कि वह केली के सवालों से घबरा गये हैं। उन्होंने ट्रंप को खुली चुनौती देते हुए कहा कि वह शनिवार की शाम उनके साथ बहस के लिए अब भी तैयार हैं।  

वांशिंगटन (हम हिंदुस्तानी)-अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने धार्मिक असहिष्णुता में वृद्धि के विरुद्ध चेतावनी दी और इसे देश के लिए खतरनाक बताया। ओबामा ने इजरायली दूतावास में आयोजित समारोह में धार्मिक असहिष्णुता को लेकर चेतावनी देते समय किसी धर्म या व्यक्ति का नाम नहीं लिया किन्तु उनका संकेत रिपब्लिकन पार्टी के प्रत्याशी डोनाल्ड ट्रम्प की हाल की उन टिप्पणियों को लेकर था जिसमें उन्होंने मुसलमानों तथा इस्लाम धर्म की…
ब्रासिलिया (हम हिंदुस्तानी)-ब्राजील समेत 22 देशों में मच्छरों से फैलने वाले जिका वायरस का हमला तेज हो गया है। इसको देखते हुए ब्राजील के राष्ट्रपति ने जिका वायरस के खिलाफ जंग का एलान कर दिया है। मच्छरों के सबसे ज्यादा प्रभावित इलाकों में सफाई और दवाई के छिड़काव के लिए सरकार ने करीब 2.5 लाख जवानों की तैनाती की गई है। गौरतलब हो कि यहां सितंबर से लेकर अभी तक…
सोल (हम हिंदुस्तानी)-उत्तर कोरिया एक सप्ताह के अंदर लंबी दूरी की मिसाइल लांच करने की तैयारी कर सकता है। जापान की क्योदो संवादा समिति ने जापान सरकार के अधिकारी के हवाले से यह खबर दी है कि उत्तर कोरिया लंबी दूरी की मिसाइल का परिक्षण कर सकता है। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); जपानी अधिकारी ने उपग्रह से लिये गए चित्रों के आधार पर बताया कि उत्तर कोरिया के पश्चिम…
टोरंटो (हम हिंदुस्तानी)- एयर इंडिया कनिष्क में 1985 में हुए विस्फोटों के एकमात्र दोषी इन्द्रजीत सिंह रेयत को बुधवार को कनाडा की जेल से रिहा कर दिया गया। विमान में हुए विस्फोट के कारण उसमें सवार सभी 329 लोग मारे गए थे। वर्ष 2003 में रिपुदमन सिंह मलिक और अजायब सिंह बागरी की सुनवायी के दौरान अदालत के सामने झूठ बोलने के लिए रेयत को 2010 में झूठी गवाही देने…

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें