दुनिया

दुनिया (1898)

लंदन। सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर लापरवाही बदलने वालों को सख्ती दिखाते हुए स्वास्थ्य विभाग ने चेतावनी दी है कि फिर से समुद्र तट बंद कर दिए जाएंगे। ब्रिटेन के स्वास्थ्य सचिव मैट हैंकॉक (Matt Hancock) ने चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर लोग सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर गंभीर नहीं होंगे और लापरवाही बरतेंगे तो सरकार फिर से समुद्र तटों को बंद कर देगी। मेट्रो न्यूजपेपर के मुताबिक हजारों लोग बोर्नमाउथ में स्वास्थ्य सलाहों की अनदेखी करते नजर आए। बोर्नमाउथ ईस्ट के सांसद टोबीस एलवुड ने कहा कि गुरुवार को 500,000 लोग डोरसेट में नजर आए थे।इस पर प्रतिक्रिया देते हुए हैंकॉक ने कहा कि हम चाहते हैं कि लोग मस्ती करें लेकिन इतने समय से कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में किए जा रहे कठिन परिश्रम को इस तरह की लापरवाहियों से खराब ना करें। इसके साथ ही उन्होंने लोगों को यह भी चेतावनी दी कि सरकार तटों को पूरी तरह बंद भी कर सकती है। उन्होंने कहा कि हमारे पास वो शक्ति है।इससे पहले ब्रिटेन के मुख्य चिकित्सा अधिकारी क्रिस विट्टी (Chris Whitty) ने दिशा-निर्देशों का सही से पालन नहीं करने पर स्थिति खराब होने को लेकर चिंता जताई थी। बता दें कि ब्रिटेन में अभी तक 3 लाख 9 हजार 4 सौ 55 लोगों में कोरोना की पुष्टि की जा चुकी है जबकि 43 हजार 3 सौ 14 लोगों की मृत्यु इस वायरस के कारण हो चुकी है।
दुनियाभर में कोरोना के 95 लाख से ज्यादा केस:-गौरतलब है कि दुनियाभर में कोरोना के 95 लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं जबकि अभी तक इस वायरस के कारण 4 लाख से अधिक लोगों की मृत्यु हो गई है। कोरोना से प्रभावित देशों में ब्रिटेन पांचवें स्थान पर है जबकि पहले नंबर पर अमेरिका है, जहां संक्रमितों का आंकड़ा 24 लाख को पार कर चुका है, वहीं मरने वालों की संख्या 1 लाख से ज्यादा है।

 

 

 

 

इस्लामाबाद। पाकिस्तान ने चीन के साथ गुलाम कश्मीर में पन बिजली परियोजना के लिए समझौता किया है। 2.4 अरब डॉलर (लगभग 17 हजार करोड़ रुपये) की यह परियोजना चीनी कंपनी लगाएगी। गुलाम कश्मीर के लोगों ने इस समझौते का विरोध किया है। उनका कहना है कि यह समझौता उन्हें झेलम नदी के पाने से वंचित करने का प्रयास है। प्रधानमंत्री कार्यालय में पाकिस्तान, चीन और चीनी कंपनी के बीच इस त्रिपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर किया गया। इस मौके पर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान, पाकिस्तान में चीन के राजदूत, चीनी कंपनी के प्रतिनिधि, चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) के प्रमुख और अन्य अधिकारी मौजूद थे।
2.4 अरब डॉलर की लागत से गुलाम कश्मीर में बिजली परियोजना लगाएगी चीनी कंपनी:-यह परियोजना सीपीईसी के तहत ही लगाई जा रही है। इससे 1,124 मेगवाट बिजली का उत्पादन होगा। समाचार पत्र डॉन के मुताबिक इमरान खान ने इसे सबसे बड़ा विदेशी निवेश करार दिया है और कहा कि इससे हजारों युवाओं को रोजगार मिलेगा। कोहला हाइड्रोपॉवर कंपनी लिमिटेड (केएचसीएल) यह परियोजना लगाएगी, जो चीनी कंपनी चाइना थ्री गोर्जेज कॉरपोरेशन (सीटीजीसी) की सहयोगी कंपनी है।
कश्मीरियों ने कहा, झेलम नदी के पानी से उन्हें वंचित करने की हो रही है कोशिश;-गुलाम कश्मीर के लोगों ने इस समझौते का विरोध किया है। उनका कहना है कि इस परियोजना के जरिए झेलम नदी के पानी को मोड़कर कोहला प्रोजेक्ट के लिए ले जाया जाएगा, जो पाकिस्तान की सीमा पर स्थित है। इससे उन्हें खेती और अन्य जरूरतों के लिए पानी नहीं मिल पाएगा। उन्होंने इसे न सिर्फ नदी के पानी को मोड़ने का बल्कि क्षेत्र के जलवायु को बदलने की कोशिश भी बताया है।नाराज लोगों का कहना है कि वो पहले से ही नीलम झेलम पॉवर प्लांट के चलते पानी की कमी से जूझ रहे हैं। नीलम नदी के किनारे बसे लोगों को सिंचाई के लिए पानी नहीं मिल पा रहा है। अब झेलम के पानी को भी मोड़कर पाकिस्तान ले जाने से हजारों परिवारों को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा। अपना नाम गुप्त रखने की शर्त पर सामाजिक कार्यकर्ताओं ने कहा कि इस परियोजना से पाकिस्तान को लाभ होगा, कश्मीरियों को नहीं। गुलाम कश्मीर में हर तरफ बिजली की समस्या है।
इमरान बोले, स्‍थानीय युवाओं को मिलेगा रोजगार;-पीएम इमरान खान ने कहा कि सरकार ने आयातित ईंधन पर निर्भरता को कम करने के लिए पनबिजली के माध्यम से हरित और स्वच्छ बिजली उत्पादन पर ध्यान केंद्रित करने का संकल्प लिया है। खान ने कहा कि सरकार ने निवेश का स्वागत किया क्योंकि यह देश को स्वच्छ ऊर्जा के स्रोतों की ओर बढ़ने के लिए एक मिसाल कायम कर सकता है। इमरान खान के इस दावे पर इससे स्थानीय युवाओं को लाभ मिलेगा, कार्यकर्ता ने कहा कि नीलम झेलम पॉवर प्रोजेक्ट में इंजीनियरों को दिहाड़ी पर काम पर रखा गया है। इससे उन्हें करियर में कोई लाभ नहीं मिलता। दिहाड़ी पर कुछ समय के लिए ही काम मिलता है।
इमरान बोले, पाकिस्‍तान को दशकों पहले जलविद्युत क्षेत्र में निवेश करना चाहिए था:-प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि पाकिस्तान को दशकों पहले जलविद्युत क्षेत्र में निवेश करना चाहिए था। देश तभी बेहतर प्रगति कर सकता है, जब वह जल विद्युत उत्पादन कर रहा हो, लेकिन फिर पाकिस्‍तान ने आयातित ईंधन पर बैंकिंग शुरू कर दी। इससे न केवल स्थानीय उद्योग गैर प्रतिस्पर्धी हो गए, बल्कि विदेशी भंडार पर भी अतिरिक्त बोझ पड़ा।

वाशिंगटन। वैज्ञानिकों को नेपच्यून (वरुण ग्रह) जैसा एक नया ग्रह खोजने में सफलता मिली है। यह आकार में करीब नेपच्यून जितना बड़ा है और अपने एक समीपवर्ती तारे की परिक्रमा करता है। तारे के चारों ओर मलबे का चक्र बताया जाता है। इस ग्रह को अपने तारे की एक परिक्रमा करने में करीब साढ़े आठ दिन का वक्त लगता है। इस नए ग्रह का द्रव्यमान हमारी धरती से करीब 58 गुना कम है।
नासा के ट्रांजिटिंग एक्सोप्लेनेट सर्वे सेटेलाइट की हुई खोज:-नेचर पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार, नासा के ट्रांजिटिंग एक्सोप्लेनेट सर्वे सेटेलाइट (टीईएसएस) और स्पिट्जर स्पेट टेलीस्कोप से मिले डाटा के इस्तेमाल से इस ग्रह की खोज की गई है। अमेरिका की जॉर्ज मेसन यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता ब्रायसन केले ने कहा कि एयू माइक्रोस्कोपी नामक बौने तारे के चारों ओर मलबे का चक्र है, जिसमें धूल का गुबार घूमता रहता है।
एयू माइक्रोस्कोपी एक ठंडा तारा:-शोधकर्ताओं के अनुसार, एयू माइक्रोस्कोपी एक ठंडा तारा है और इसकी उत्पत्ति दो से तीन करोड़ साल पहले होने का अनुमान है। यह तारा प्रणाली लगभग 31.9 प्रकाश वर्ष दूर स्थित है। इस प्रणाली में जिस ग्रह की पहचान की गई है, उसे एयू माइक बी नाम दिया गया है। यह आकार में अपने तारे से तकरीबन बड़ा है।

पेरिस। लॉकडाउन के तीन माह बाद फ्रांस की राजधानी पेरिस (Paris) स्थित एफिल टावर (Eiffel Tower) को दोबारा गुरुवार को पर्यटकों के लिए खोल दिया गया। द्वितीय विश्वयुद्ध (World War Two) के बाद दूसरी बार इतने लंबे समय तक एफिल टावर को बंद रखा गया।बता दें कि कोविड-19(COVID-19) के कारण तीन माह से दुनिया भर में लॉकडाउन है जिसमें अब कई देशों ने ढील देने की शुरुआत कर दी है लेकिन धीमी गति से।सीमित संख्या के पर्यटकों के साथ शुरू हुए एफिल टावर में आने वाले 11 वर्ष से अधिक उम्र वाले लोगों को फेस मास्क लगाना अनिवार्य है। साथ ही टावर की दूसरी मंजिल को बंद रखा गया है। साथ ही यहां आने वाले पर्यटकों को लिफ्ट नहीं सीढ़ियों का इस्तेमाल करना होगा। 1 जुलाई तक लिफ्ट बंद ही रहेगा। एफिल टावर की वेबसाइट के अनुसार, यह टावर 1889 में बनकर तैयार हुआ था। हर साल यहां करीब 70 लाख पर्यटक आते हैं और इनमें से तीन चौथाई पर्यटक दूसरे देशों से आते हैं।फ्रांस की राजधानी स्थित एक और प्रसिद्ध स्मारक लावरे ( Louvre) को 6 दोबारा खोला जाएगा। फ्रांस ने 15 जून को यूरोपीय सीमा पर से यात्रा प्रतिबंधों को हटा दिया। गुरुवार तक यहां 1 लाख 97 हजार 8 सौ 85 मामले आए वहीं मरने वालों का आंकड़ा 29 हजार 7 सौ 34 है।हालांकि अधिकतर देशों में अभी भी गैर जरूरी अंतरराष्ट्रीय यात्रा न करने की सलाह दी जा रही है। पॉपुलर पर्यटक स्थलों वाले देशों में लॉकडाउन में ढील दी जा रही है और इन जगहों पर अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों को भी आने की अनुमति दे दी गई है लेकिन तमाम एहतियातों और उपायों के साथ। इससे पहले मई में यूरोपीयन यूनियन ने अपना एक्शन प्लान सार्वजनिक किया था। कुछ कैरेबियन आइलैंड ने दोबारा विदेशी पर्यटकों के लिए अपनी सीमाएं खोलनी शुरू कर दी हैं वहीं मेक्सिको और थाइलैंड के इलाके आने वाले समय में दोबारा खोलने की योजना बना रहे हैं।

नॉर्थ कोरिया तानाशाह किम जोंग उन बहुत ही कुटिल तरह की रणनीति से काम करता है। पहले धमकाना, फिर धमकी को सच साबित करना और फिर मान जाना उसकी रणनीति का हिस्सा है। एक सप्ताह पहले जिस तरह से नॉर्थ और साउथ कोरिया के बीच तनातनी चल रही थी, उसके बाद किम की बहन किम यो जोंग के आदेश पर सीमा पर बने लॉयजन ऑफिस को बम विस्फोट से उड़ा दिए जाने और सीमा पर सैनिकों की संख्या को बढ़ा दिए जाने को उसी रणनीति का हिस्सा माना जा रहा है।सीमा पर सैनिकों के पहुंच जाने के बाद दो दिन पहले तानाशाह किम जोंग उन ने कहा कि वो साउथ कोरिया पर सैन्य कार्रवाई नहीं करेंगे। इसके पीछे अंतरराष्ट्रीय दबाव भी एक बड़ा कारण बताया गया मगर अब जो बातें छनकर सामने आ रही हैं उसे जानकार नॉर्थ कोरिया की रणनीति का एक हिस्सा बता रहे हैं। दरअसल किम जोंग उन अपनी बहन किम यो जोंग को नॉर्थ कोरिया की राजनीति में स्थापित करना चाहते हैं इस वजह से ये भी कहा जा रहा है कि किम ने अपनी बहन को कुछ कठोर निर्णय लिए जाने की इजाजत भी दे रखी है।इसी के तहत नॉर्थ और साउथ कोरिया की सीमा पर बनाए गए लॉयजन आफिस को बम से उड़ा दिया गया। किम की बहन ने साउथ कोरिया को धमकाया था कि वो अपनी सीमा पर हाइड्रोजन वाले गुब्बारे में तानाशाह और नॉर्थ कोरिया के खिलाफ दुष्प्रचार करना बंद करें वरना उनको इसके नतीजे भुगतने होंगे।नॉर्थ कोरिया से इस तरह की धमकी मिलने के बाद साउथ कोरिया ने कहा कि वो सीमा पर सख्ती को और बढ़ा रहे हैं, ऐसे लोगों पर रोक लगाई जाएगी, मगर इससे पहले ही तानाशाह की बहन के इशारे पर लॉयजन आफिस को बम से उड़ा दिया गया। उसके बाद नॉर्थ कोरिया ने सीमा पर बने इलाकों, पुलिस पोस्ट पर सैनिकों की रवानगी करवा दी। उधर ऐसी सूचना मिलने के बाद साउथ कोरिया में लोगों ने इंड द कोरियन वॉर का पोस्टर लेकर शांति की अपील की।

इस्लामाबाद। पाकिस्तान ने टिड्डियों के प्रकोप को कोरोना महामारी से ज्यादा बड़ा खतरा बताया जा रहा है। पाकिस्तान के तमाम राज्य इन टिड्डियों के डर से खासे परेशान है। इस खतरे को कम करने के लिए सरकार ने एक नया रास्ता खोज निकाला है। दरअसल, सरकार लोगों की मदद से टिड्डियों को जैविक खाद में बदलने की योजना बना रही है।बुधवार को जारी एक आधिकारिक बयान के अनुसार, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा और अनुसंधान मंत्रालय ने प्रस्तावित किया है कि जमीनी स्तर पर टिड्डी दल को नियंत्रित करने के लिए सामुदायिक सहयोग के माध्यम से टिड्डियों के संग्रह को प्रोत्साहित किया जाएगा।खाद बनाने के काम में अनुसंधान, विस्तार, शिक्षा और नागरिक समाज से पेशेवर भी शामिल होंगे। बाद में टिड्डी और अन्य जैव-अपशिष्ट पदार्थों के मिश्रण से एक खाद बनाई जाएगी। इस परियोजना का मकसद 10-15 प्रतिशत तक फसल उत्पादकता में सुधार करना है। इसके अलावा रासायनिक उर्वरकों के उपयोग में 25 प्रतिशत तक कम करने का लक्ष्य है, जिससे मिट्टी की उर्वरता और मिट्टी के स्वास्थ्य में सुधार होगा।इस योजना के माध्यम से पाकिस्तान में जैविक खेती को बढ़ावा दिया जाएगा। देश भर में टिड्डियों की वजह से भोजन की कमी पैदा होने की आशंका है। इस साल की शुरुआत में पाकिस्तानी सरकार ने देश भर में बड़ी मात्रा में फसलों को नष्ट करने के बाद टिड्डियों पर राष्ट्रीय आपातकाल घोषित कर दिया था।

सिडनी। ऑस्ट्रेलिया में गुरुवार को एक दिन में कोरोना वायरस (COVID-19) के पिछले दो महीनों में सबसे ज्यादा मामले सामने आए। विक्टोरिया में इस दौरान 33 नए मामले सामने आए। इसके बाद अब देश ने उपनगरीय मेलबर्न में कोरोना डॉटस्पॉट में रह रहे एक लाख से ज्यादा लोगों का डोर-टू-डोर टेस्ट कराने का फैसला किया है। बता दें कि ऑस्ट्रेलिया कोरोना के खिलाफ लड़ाई में अब तक काफी सफल रहा…
काबुल(अफगानिस्तान)।अफगानिस्तान के उत्तरी बल्ख प्रांत में बुधवार रात एक हवाई हमले में 25 तालिबानी आतंकवादी मारे गए हैं। TOLO न्यूज के अनुसार, प्रांतीय गवर्नर के प्रवक्ता मुनीर अहमद फरहाद ने बताया कि हवाई हमला बल्ख जिले के दौलत अबाद गांव में हुआ। स्थानीय सूत्रों के अनुसार, एयरफोर्स ने एक किसान के घर को निशाना बनाया था और स्ट्राइक के दौरान एक बच्चे और एक महिला सहित चार नागरिकों की मौत…
वाशिंगटन। कोरोना महामारी के दौर में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और दुनिया की दिग्गज सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर के बीच तनातनी बढ़ती जा रही है। ट्विटर ने मंगलवार को फिर ट्रंप के एक ट्वीट पर वार्निग का लेबल लगा दिया। करीब एक माह में यह पांचवां मौका है, जब ट्रंप के किसी ट्वीट पर इस तरह की कार्रवाई की गई है। सोशल नेटवर्किंग साइट ने कहा कि उन्होंने कंपनी की…
मॉस्को। चीन से तनातनी के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath Singh) तीन दिनों के रूस दौरे पर हैं। राजनाथ सिंह रूस की विक्ट्री डे परेड के 75वीं वर्षगांठ (75th Anniversary of Victory Day Parade) पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए हैं। रक्षा मंत्री ने कहा कि उन्हें गर्व है कि भारतीय सशस्त्र बलों की टुकड़ी विजय दिवस परेड में भाग ले रही है।रक्षा मंत्री ने ट्वीट कर…
Page 4 of 136

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें