दुनिया

दुनिया (4696)

नई दिल्ली:-लिफ्ट में चढ़ने से बहुत से लोगों को दिक्कत महसूस होती है जबकि कुछ लोगों के लिए ये रोजमर्रा के जीवन का हिस्सा बन जाती हैं। हालांकि दुनिया में ऐसी भी लिफ्ट्स (एलिवेटर्स) मौजूद हैं जिनमें चढ़ने से पहले आपको कम से कम 10 बार सोच लेना चाहिए। दुनिया के अलग-अलग देशों में मौजूद इन लिफ्ट्स में वो लोग भी चढ़ने से डरते हैं जो आमतौर पर लिफ्ट का इस्तेमाल करते हैं।

1. हैमेटस्क्वांड लिफ्ट, स्विट्जरलैंड: सेंट्रल स्विट्जरलैंड में लेक लॉरेंस के नज़दीक बर्जस्टॉक माउन्टेन पार्क में ये लिफ्ट मौजूद है। ये यूरोप की सबसे ऊंची लिफ्ट है। इसकी ऊंचाई 400 फीट है और ये नीचे ऊपर और ऊपर से नीचे सिर्फ 50 सेकेण्ड में लाती और ले जाती है।

2. द गेटवे आर्क, अमेरिका: अमेरिका के सेंट लुईस में मौजूद ये लिफ्ट करीब 630 फीट उंची है। इस लिफ्ट को सीधा न बनाकर एक स्लोप की तरह बनाया गया है जिससे ये राइड के मज़े को दोगुना कर देती है। इसकी लिफ्ट भी शीशे की बनी है और एक बार में 5 लोग इसमें सफ़र कर सकते हैं।

3. बाईलॉन्ग लिफ्ट, चीन: ये दुनिया की सबसे ज्यादा ऊंचाई वाली लिफ्ट्स में से एक है। यूनेस्को ने इसे वर्ल्ड हेरिटेज साइट का दर्जा भी दिया हुआ है। ये लिफ्ट शीशे की बनी हुई है जिसमें 50 लोग एक बार में सफ़र कर सकते हैं। इसकी ऊंचाई 1070 फीट है और ये करीब 2 मिनट में नीचे से ऊपर ले जाती है।

4. स्काईव्यू एरिक्सन ग्लोब, स्वीडन: ये दुनिया की सबसे बड़ी गोलाकार बिल्डिंग के रूप में जानी जाती है। इस बिल्डिंग की ऊंचाई करीब 425 फीट बताई जाती है। हालांकि लिफ्ट इसके चारों तरफ मौजूद है जिसके चलते इसमें सफ़र करना ज्यादा मजेदार माना जाता है। इसकी राइड भी 30 मिनट के आस-पास होती है।

5. स्काई टावर, न्यूजीलैंड: ऑकलैंड में मौजूद ये लिफ्ट करीब 610 फीट ऊंची है और 40 सेकेण्ड में ऊपर से नीचे ले जाती है। ये लिफ्ट भी शीशे की बनी हुई है और एक बार में करीब 15 लोग इसमें राइड कर सकते हैं।

6. द फॉलकिर्क व्हील, स्कॉटलैंड: वैसे तो ये एक झूले की तरह बनाया गया है लेकिन ये भी एक लिफ्ट ही है। हालांकि ये लिफ्ट करीब 8 मंजिला बिल्डिंग जितनी ऊंची है। ये जितनी स्पीड से ऊपर नीचे आती है उससे ये दुनिया की सबसे खतरनाक राइड्स में से एक मानी जाती है।

7. एक्वा डॉम, जर्मनी: ये लिफ्ट करीब 82 फिट ऊंचे पानी के एक सिलिंडरनुमा एक्वेरियम के ठीक बीच में मौजूद है। इस एक्वेरियम में आप डायविंग का मज़ा भी ले सकते हैं। ये लिफ्ट पानी में करीब 1 मिनट में ऊपर से नीचे और नीचे से ऊपर आती है।

8. ताइपेई 101, ताइवान: 1667 फीट उंची इस 101 मंजिला बिल्डिंग में कुल 67 लिफ्ट्स लगी हुई हैं। इस बिल्डिंग में कुछ लिफ्ट्स ऐसी हैं जो ग्राउंड फ्लोर से टॉप फ्लोर तक बिना रुके काम करती हैं। इन लिफ्ट्स में चढ़कर आपको रॉकेट में चढ़ने जैसा महसूस होता है। 

नई दिल्ली:-लंदन शहर जल्द ही पाकिस्तान और भारत की इस जोड़ी के इशारों पर काम करता नजार आएगा। हाल ही में लंदन के मेयर बने पाकिस्तानी मूल के सादिक खान ने भारतीय मूल के राजेश अग्रवाल को डिप्टी मेयर बनाने की घोषणा की है। सादिक के इस कदम की न सिर्फ लंदन के भारतीय समाज बल्कि ब्रिटेन के लोगों ने भी खूब तारीफ की है।राजेश मध्य प्रदेश के इंदौर शहर के रहने वाले हैं और उनके पैतृक शहर में भी इस खबर के बाद जश्न का माहौल है। इंदौर में रहने वाले राजेश के बड़े भाई योगेश के मुताबिक राजेश की स्कूलिंग इंदौर में ही हुई है। बाद में उन्होंने मैनेजमेंट में डिग्री हासिल की और भारत में साल भर नौकरी करने के बाद साल 2001 में लंदन चले गए। बता दें कि सादिक के चुनाव प्रचार अभियान में भी राजेश ने अहम् भूमिका निभाई थी। 

नई दिल्ली:-मुस्लिम बाहुल्य बांग्लादेश में पिछले कुछ महीनों में अल्पसंख्यक समुदाय और धर्मनिरपेक्ष कार्यकर्ताओं पर जानलेवा हमले लगातार बढ़ रहे हैं। भारतीय प्रायद्वीप में आईएसआईएस और अलकायदा ने कुछ हमलों की जिम्मेदारी ली है लेकिन सरकार बांग्लादेश में उनकी मौजूदगी से इनकार करती रही है।पिछले कुछ महीनों में हुए हमलों में हिन्दू पुजारियों के अलावा धर्मनिरपेक्ष ब्लॉगरों, बुद्धिजीवियों एवं विदेशियों को निशाना बनाया गया। ऐसी घटनाओं पर एक नजर-

1- मंदिर के बाहर हिन्दू पुजारी की चाकुओं से गोदकर हत्या:-राजधानी ढाका से लगभग तीन सौ किलोमीटर दक्षिण पश्चिम में स्थित झिनयीदाह जिला मुख्यालय के पास एक जुलाई को एक 45 वर्षीय हिन्दू पुजारी श्यामनंदा दास की मंदिर के बाहर तीन युवकों ने चाकुओं से हमला करके उसको मौत के घाट उतार दिया। श्यामनंद पूजा के लिए फूल एकत्र कर रहे थे तभी इस वारदात को अंजाम दिया गया।

2- सुबह सैर पर निकले हिंदू आश्रमकर्मी की गलाकाट कर हत्या:-ठाकुर अनुकूल चंद्र सत्संग परमतीर्थ हिमायतपुरधाम आश्रम के 60 वर्षीय नित्यरंजन पांडे 10 जून को सुबह की सैर पर निकले थे, तभी कुछ हमलावरों ने उनकी गर्दन पर धारदार हथियारों से हमला कर दिया, जिससे उनकी मौत हो गई। पबना के हिमायतपुर उपजिला स्थित आश्रम में पांडे पिछले 40 साल से स्वयंसेवक के तौर पर काम करते थे। इस घटना पर संत समाज ने बांग्लादेश में सुरक्षा से जुड़ी अपनी चिंताओं से पीएम नरेंद्र मोदी को भी अवगत कराया था।

3- हिन्दू पुजारी को पहले गोलियों से भूना, फिर मौत की पुष्टि के लिए गला काटा:-आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के तीन संदिग्ध हमलावरों ने सात जून को 70 वर्षीय एक हिन्‍दू पुजारी आनंद गोपाल गांगुली का सिर कलम कर दिया था। नोलडांगा गांव में पुजारी आनंद गोपाल सुबह करीब साढ़े नौ बजे मंदिर जा रहे थे कि तभी मोटरसाइकिल पर सवार होकर आए तीन हमलावरों ने उन्हें रोका और गोली मार दी। मौत की पुष्टि के लिए हमलावरों ने धारदार हथियारों से गांगुली का सिर धड़ से लगभग अलग कर दिया।

4- दुकान में घुसकर हिन्दू दर्जी की हत्या:-30 अप्रैल की दोपहर एक हिंदू दर्जी निखिल जोआदर की दुकान में दो लोग घुस आए। देखते ही देखते उन दोनों ने उस पर चाकुओं से हमला कर दिया और वहां से फरार हो गए। दर्जी की मौके पर ही मौत हो गई। निखिल तंगाइल जिले के दुबैल गांव का रहने वाला था। आरोपी घटनास्थल पर एक काले रंग की थैली छोड़कर भाग निकले, जिसमें बम रखा हुआ था।

5- आईएस आतंकियों ने अंग्रेजी प्रोफेसर का गला काटा:-ब्लॉगरों, बुद्धिजीवियों और कार्यकर्ताओं पर हुए बर्बर हमलों की श्रृंखला में राजशाही शहर में राजशाही विश्वविद्यालय के प्रोफेसर एएफएम रेजाउल करीम सिद्दीकी (58) की हत्या कर दी गई। इस बार भी तरीका पुराना था, गला काटकर मारा गया था। सुबह करीब साढे़ सात बजे हमलावरों ने प्रोफेसर पर पीछे से धारदार हथियारों से उस समय वार किया जब वह अपने घर से पैदल विश्वविद्यालय परिसर की ओर जा रहे थे। इस्लामिक स्टेट ने हत्या की जिम्मेदारी ली। पिछले वर्ष चार प्रख्यात धर्मनिरपेक्ष ब्लॉगरों की हत्या कर दी गई थी।

उदारवादी और अल्पसंख्यक निशाने पर

07 अप्रैल 2016 : आईएस के आतंकवादियों ने धर्मनिरपेक्ष ब्लॉगर और कानून के एक छात्र की हत्या की

22 मार्च 2016 : बांग्लादेश मुक्ति संग्राम में हिस्सा ले चुके पादरी हुसैन अली की कुरीग्राम में बदमाशों ने हत्या कर दी

27 फरवरी 2015 : बांग्लादेश में जन्मे एक अमेरिकी ब्लॉगर अविजीत रॉय की हत्या

30 मार्च 2015 : ढाका के तेजगांव क्षेत्र में दिनदहाड़े ब्लॉगर वशीकुर रहमान की उसके घर में हत्या

12 मई 2015 : ब्लॉगर अनंत बिजॉय दास पर सिलहट शहर में नकाबपोश बदमशों ने चाकू से हमला किया

07 अगस्त 2015 : ढाका में पांचवीं मंजिल पर स्थित फ्लैट में निलॉय चक्रवर्ती की हत्या

नई दिल्ली:-गूगल ने दुनिया भर में इंटरनेट स्पीड को बढ़ाने की योजना पर साल 2008 से ही काम करना शुरू कर दिया था। इसी कड़ी के तहत करीब 20 अरब रुपए खर्च करके गूगल ने अमेरिका और जापान को फाइबर केबल से कनेक्ट किया है। 9 हज़ार किलोमीटर लंबा ये फाइबर केबल आज रात से ऑनलाइन हो जाएगा जो करीब 60 टेराबाईट की स्पीड से दोनों देशों को इंटरनेट से कनेक्ट करेगा।

क्या होगा फायदा:-इस फाइबर केबल को बनाने में गूगल के अलावा NCE, चाइना मोबाइल, चाइना टेलिकॉम, ग्लोबल ट्रांजिट और KDDI ने भी अपना योगदान दिया है। इस केबल से होने वाले फायदे को सरल भाषा में समझा जाए तो अब जापान और अमेरिका के बीच इंटरनेट स्पीड आपके सामान्य मॉडम की स्पीड से 10 लाख गुना ज्यादा हो गई है। ये केबल अब तक के सबसे लंबे केबल नेटवर्क में से एक है और इसमें 6 केबल्स शामिल हैं। 6 में से दो केबल्स गूगल ने सिर्फ अपने काम के लिए लगाए हैं जिनकी बेंडविद 10 टेराबाईट बताई जाती है। ये जापान के चिन्कुरा और शीमा को बांडोन और ओरेगांव से कनेक्ट करेंगे। ये गूगल के डलास स्थित डाटा सेंटर से काफी पास होगा।

टोक्यो में गूगल बनाएगा क्लाउड प्लेटफ़ॉर्म सेंटर:-गूगल काफी पहले से ही ईस्ट एशिया में अपना एक डाटा सेंटर बनाने की योजना बना रहा था। ये सेंटर टोक्यो में प्रस्तावित था जहां से इस रीजन के कस्टमर्स को क्लाउड प्लेटफ़ॉर्म उपलब्ध कराया जाना था। ये योजना कम इंटरनेट स्पीड की वजह से अटकी हुई थी लेकिन अब टोक्यो में ये सेंटर स्थापित किया जाएगा।

जापान और ताइवान को भी कनेक्ट करेगा गूगल:-जापान और अमेरिका को पास लाने के बाद अब गूगल जापान और ताइवान के बीच 20 टेराबाईट की स्पीड वाला फाइबर केबल बनाने जा रहा है। ये फाइबर केबल नेटवर्क पूरी तरह गूगल ही बनाएगा। बता दें कि फेसबुक के साथ मिलकर गूगल अब तक का सबसे तेज करीब 160 टेराबाईट की स्पीड वाला ट्रांस अटलांटिक अंडरसी में बनाने जा रहा है।

वाशिंगटन:-भारत और पाकिस्तान के बीच संबंधों के सामान्य होने को महत्वपूर्ण करार देते हुए अमेरिका ने कहा है कि कश्मीर पर बातचीत के लिए गति और गुंजाइश पूरी तरह से उन दोनों देशों पर निर्भर करती है।अमेरिकी विदेश विभाग के उप प्रवक्ता मार्क टोनर ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच संबंध सामान्य होना दोनों देशों के साथ-साथ क्षेत्र के लिए भी महत्वपूर्ण हैं।उन्होंने कहा कि करीबी क्षेत्रीय आर्थिक संबंधों की दिशा में पहल करने वाले कदमों से रोजगारों का भी सजन हो सकता है, मुद्रास्फीति में कमी आ सकती है और उर्जा की आपूर्ति में वद्धि हो सकती है।वह विदेश मामलों में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के सलाहकार सरताज अजीज के इस बयान पर पूछे गए सवाल का जवाब दे रहे थे कि भारत कश्मीर और अन्य द्विपक्षीय मुददों पर बातचीत से परहेज कर रहा है।टोनर ने कहा, हम समझते हैं कि कश्मीर पर बातचीत की गति, गुंजाइश और प्रकति के बारे में भारत और पाकिस्तान को फैसला करना है। उन्होंने कहा कि व्यवहारिक सहयोग से भारत और पाकिस्तान को फायदा होगा और हम तनाव में कमी के लिए दोनों देशों को सीधी बातचीत करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।टोनर ने कहा कि अमेरिका भारत और पाकिस्तान के बीच ऐसे सभी प्रयासों का पूरा समर्थन करता है जिससे अधिक स्थायी, लोकतांत्रिक और खुशहाल क्षेत्र बनने में मदद मिलती हो। लेकिन इस मुददे के बारे में दोनों पक्षों को ही फैसला करना है।

वाशिंगटन:-अमेरिकी नेतृत्व वाले गठबंधन सेना ने दावा किया कि आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के खिलाफ किये गये ताजा हवाई हमले में कम से कम 250 आतंकवादी मारे गये हैं।एक अमेरिकी अधिकारी ने नाम गुप्त रखने की शर्त पर बुधवार को बताया कि इराक के फालुजा शहर के आस पास आईएस के आतंकवादियों को निशाना बनाकर किये गये इस हमले में कम से कम 250 आतंकवादी मारे गये और लगभग 40 वाहनों को नष्ट कर दिया गया।अगर ये आंकडे सही होते है तो यह हमला आतंकवादी समूह के खिलाफ अब तक का सबसे घातक हमला होगा।

वाशिंगटन:-ब्रेग्जिट के बाद ब्रिटेन या यूरोपीय संघ के भविष्य को लेकर उठ रही चिंताओं को कमतर करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि उन्हें नहीं लगता कि नए घटनाक्रम की वजह से कोई बड़ा या क्रांतिकारी बदलाव आएगा।ओबामा ने नेशनल पब्लिक रेडियो के साथ साक्षात्कार में कहा, मुझे नहीं लगता कि इसके परिणामस्वरूप कोई बड़ा या क्रांतिकारी परिवर्तन होने जा रहा है।उन्होंने एक सवाल के जवाब में…
इस्तांबुल:-तुर्की में इस्तांबुल के मुख्य अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के प्रवेश द्वार पर तीन आत्मघाती हमलावरों ने खुद को उड़ाने से पहले गोलीबारी शुरू कर दी, जिसमें 41 लोग मारे गए और लगभग 239 लोग घायल हो गए। इस हमले के पीछे आतंकी संगठन आईएसआईएस का हाथ होने की आशंका जताई जा रही है।स्थानीय टेलीविजन चैनल ने देश के कानून मंत्री बेकिर बोजडाग के हवाले से हताहतों की संख्या बताते हुए कहा…
ब्रुसेल्स:-ब्रेक्जिट को लेकर यूरोपीय संघ (ईयू) और ब्रिटेन के बीच तकरार बढ़ गई है। ईयू के सबसे ताकतवर देश जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल ने ब्रिटेन केवल अपने फायदे के बारे में नहीं सोच सकता, उसे ईयू से अलग होने की कीमत चुकानी होगी।दरअसल, ब्रिटेन में पीएम पद के प्रबल दावेदार बोरिस जानसन ने सोमवार को कहा था कि ब्रिटेन यूरोप के एकल बाजार में रहने के साथ अप्रवासियों पर…
इस्लामाबाद:-पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के विदेशी मामलों के सलाहकार सरताज अजीज ने कहा है कि भारत के साथ संबंधों के सामान्य होने की अधिक उम्मीद नहीं है।पाक मीडिया से बातचीत में अजीज ने कहा कि दोनों देशों के संबंधों में सुधार नहीं होने का कारण यह है कि भारत अपनी ही शर्तो पर संबंधों को सुधारना चाहता है जो पाकिस्तान को स्वीकार नहीं है। मालूम हो कि भारत आतंकवाद समेत अन्य…

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें