दुनिया

दुनिया (432)

वाशिंगटन। भारत के उपग्रह रोधी मिसाइल ASAT के परीक्षण के बाद अमेरिका के लगातार विरोधीभाषी बयान के बीच अमेरिकी रक्षा मंत्रालय पेंटागन ने कहा है कि यह परीक्षण आत्‍मरक्षा के लिए उठाया गया कदम है। पेंटागन ने भारत का बचाव करते हुए कहा कि भारत अंतरिक्ष में पेश आ रही चुनौती और खतरों से चिंतित है। इसलिए उसने ए-सैट का परीक्षण किया। खास बात यह है कि अमेरिका का यह बयान ऐसे समय आया है, जब अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने भारत के इस कदम की निंदा की थी। उसने भारत के इस परीक्षण को लेकर कहा था कि इससे अंतरराष्‍ट्रीय अंतरिक्ष स्‍टेशन को खतरा है।गौरतलब है कि भारतीय रक्षा अनुसंधान संगठन (डीआरडीओ) ने 27 मार्च को एंटी सैटेलाइट मिसाइल का परीक्षण किया था। भारत ने अंतरिक्ष में मार करने वाली मिसाइल से अपने ही एक उपग्रह को हवा में नष्‍ट कर दिया था। इस परीक्षण के साथ ही भारत इस प्रकार की तकनीकी क्षमता हासिल करने वाला दुनिया का चौथा मुल्‍क बन गया था। दुनिया में इस प्रकार की क्षमता रखने वाले महज तीन मुल्‍क ही थे। इस तरह भारत अमेरिका, रूस और चीन के बाद चौथा देश बन गया। अमेरिका कूटनीतिक कमान के कमांडर जनरल जॉन ई हीतेन ने गुरुवार को सीनेट की शक्तिशाली सशस्‍त्र सेवा समिति से कहा कि मुझे लगता है कि भारत ने देश के समक्ष आ रही चुनौतियों एवं खतरों को देखते हुए यह कदम उठाया है। उन्‍होंने अंतरिक्ष में फैले मलबे के सवाल पर कहा कि भारत के पास भी अपना बचाव करने की क्षमता होनी चाहिए। यह उसका हक है। बता दें कि नासा ने भारत द्वारा अपने एक उपग्रह को मार‍ गिराए जाने को भयानक बताते हुए कहा था कि भारत के इस कदम से अंतरराष्‍ट्रीय अंतरिक्ष स्‍टेशन को खतरा उत्‍पन्‍न हो गया है।

यरुशलम। इजरायल का बेरेशीट अंतरिक्ष यान चंद्रमा पर उतरने से चंद मिनट पहले दुर्घटनाग्रस्त होकर नष्ट हो गया। निजी कंपनी के सहयोग से इजरायल ने बेरेशीट को गत फरवरी में लांच किया था। दस करोड़ डॉलर (करीब 690 करोड़ रुपये) की लागत से बने इस यान को फाल्कन 9 रॉकेट के जरिये चंद्रमा पर अभियान के लिए रवाना किया गया था।दुर्घटना की पुष्टि करते हुए इजरायल एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज की स्पेस डिवीजन के प्रबंधक ओपेर डोरोन ने गुरुवार को कहा, 'मुझे दुख है कि यह मिशन कामयाब नहीं हो सका। लेकिन यह एक उपलब्धि ही है कि हमारी कोशिश चंद्रमा तक पहुंची। ऐसा करने वाले हम सातवें देश हैं। मिशन सफल होने पर इजरायल चंद्रमा पर अपना यान उतारने वाला चौथा देश बन जाता। अभी तक तीन देश अमेरिका, रूस और चीन ही यह सफलता हासिल कर पाए हैं।'स्पेस-आइएल और इजरायल एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज ने संयुक्त रूप से इस यान को तैयार किया था। 2110 मील प्रति घंटे की रफ्तार से करीब 40 लाख मील का सफर तय कर यह यान जब चंद्रमा से महज 120 किलोमीटर की दूरी पर था, तभी कंट्रोल रूम से उसका संपर्क टूट गया।

यरुशलम। इजरायल में हुए संसदीय चुनाव के अंतिम नतीजे गुरुवार रात जारी कर दिए गए। केंद्रीय चुनाव समिति के प्रमुख जज हनान मेलर के अनुसार, प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की लिकुड पार्टी को सबसे ज्यादा 36 सीटें मिली हैं। जबकि मुख्य प्रतिद्वंद्वी ब्लू एंड ह्वाइट पार्टी के खाते में 35 सीटें आई हैं।इजरायल की 120 सदस्यीय संसद में बहुमत नहीं मिलने के बावजूद नेतन्याहू पांचवीं बार प्रधानमंत्री बनने की तैयारी में जुट गए हैं। वह 2009 से इजरायल के प्रधानमंत्री हैं। उन्होंने यकीन जताया है कि वह दूसरे राष्ट्रवादी और धार्मिक दलों के सहयोग से गठबंधन सरकार बना लेंगे। इन दलों के हिस्से में कुल 65 सीटें आई हैं। चुनाव जीतने के बाद 69 वर्षीय नेतन्याहू ने समर्थकों से कहा था, 'गठबंधन सरकार बनाने के लिए दक्षिणपंथी धड़े और धार्मिक पार्टियों से बातचीत शुरू हो गई है।'पूरी संभावना जताई जा रही है कि नेतन्याहू की लिकुड पार्टी शास दल और यूनाईटेड तोरा जूडाइस्म के साथ गठबंधन कर सकते हैं। ये दोनों यहूदी पार्टियां हैं और उन्हें क्रमश: आठ और सात सीटें मिली हैं। इसके अलावा वह कुछ अन्य पार्टियों का समर्थन पाने में कामयाब हो जाएंगे।
किसी को बहुमत नहीं मिलने का था अनुमान;-चुनाव पूर्व हुए तमाम सर्वे में नेतन्याहू को पूर्व सेनाध्यक्ष बेनी गेंट्ज से कड़ी चुनौती मिलने की बात कही गई थी। गेंट्ज की ब्लू एंड ह्वाइट पार्टी नेतन्याहू की पार्टी से महज एक सीट पिछड़ गई। सर्वे में यह भी अनुमान लगाया गया था कि किसी भी दल को स्पष्ट बहुमत नहीं मिलेगा और नेतन्याहू की पार्टी सबसे ज्यादा सीटें जीत सकती है।

लंदन। Vijay Mallya renews application भारतीय बैंकों का करीब नौ हजार करोड़ का गबन करने वाले और मनी लांड्रिंग केस में फंसे शराब कारोबारी विजय माल्‍या ने ब्रिटेन की हाईकोर्ट में भारत के प्रत्यर्पण के खिलाफ एक बार फिर आवेदन किया है। 63 वर्षीय पूर्व किंगफिशर एयरलाइंस का बॉस पिछले शुक्रवार को अदालत में "अपील करने के लिए छुट्टी" की मांग करने वाले एक आवेदन में अपने पहले प्रयास में विफल रहा।हाईकोर्ट के जज से पहली संक्षिप्त मौखिक सुनवाई के लिए पुन: आवेदन के लिए पांच व्यावसायिक दिन मिले हैं, जहां उनके वकील ने भारत को प्रत्यर्पित किए जाने के खिलाफ अपने मामले को आगे बढ़ाया है। ज्ञात रहे कि ब्रिटिश हाईकोर्ट ने भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या की प्रत्यर्पण के खिलाफ अपील दायर करने की पहली अर्जी ठुकरा दी है। कोर्ट के इस फैसले से माल्या को जल्द भारत लाने की उम्मीद बढ़ गई है। विजय माल्‍या ने 14 फरवरी को प्रत्यर्पण आदेश के खिलाफ अपील दायर करने की अनुमति मांगी थी।इस आदेश पर ब्रिटेन के गृह मंत्री साजिद जाविद ने हस्ताक्षर किए थे। ब्रिटिश न्यायपालिका के लिए प्रवक्ता ने कहा कि जस्टिस विलियम डेविस ने शुक्रवार को अपील की अनुमति के लिए दायर अर्जी ठुकरा दी। प्रवक्ता ने कहा कि माल्या के पास मौखिक विचार के लिए आवेदन करने को पांच दिन हैं। अगर फिर से कोई आवेदन किया जाता है तो यह मामला हाई कोर्ट के जज के सामने जाएगा और उस पर सुनवाई होगी। ब्रिटिश कानून के मुताबिक पुनर्विचार प्रक्रिया में संक्षिप्त मौखिक सुनवाई होगी जिसमें माल्या और भारत सरकार की तरफ से मौजूद टीमों की तरफ से दलीलें रखी जाएंगी।

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में थोड़ी देर पहले एक जबरदस्त बम धमाका हुआ है। बम धमाके में मरने वालों की संख्या 20 से ज्यादा हो चुकी है। वहीं घायलों की संख्या भी 48 से ऊपर पहुंच चुकी है। सुबह धमाके के तुरंत बाद आठ लोगों के मरने की खबर आई थी। दोपहर करीब 12 बजे 16 लोगों के मारे जाने की सूचना मिली थी। मृतकों में एक पाकिस्तान पुलिस का जवान भी है। घायलों में चार पुलिसकर्मी भी हैं।हादसे में जिस तरह से हताहतों की संख्या बढ़ रही है, उससे मृतकों और घायलों की संख्या में और इजाफा होने की आशंका है। पाकिस्तान पुलिस के अनुसार घायलों में कुछ की हालत गंभीर बनी हुई है। उन्हें नजदीक के अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि धमाका सब्जी मंडी में पुलिस वैन को निशाना बनाकर किया गया था। उस वक्त आसपास काफी संख्या में लोग मौजूद थे।बम धमाका, पाकिस्तान के भीड़भाड़ वाले इलाके, क्‍वेटा के हजारगांजी सब्‍जी मंडी में हुआ है। धमाका शुक्रवार सुबह करीब 7:35 बजे हुआ है। धमाके में IED का इस्तेमाल किया गया है। धमाका ठीक उस वक्त किया गया जब वहां से पुलिस की वैन गुजर रही थी। सुबह के वक्त मंडी में काफी भीड़ होने की वजह से मृतकों और घायलों की संख्या बढ़ने का अनुमान है। राहत व बचाव कार्य अब भी जारी है।बम को सब्जी मंडी में आलू के बोरों के बीच छिपाकर रखा गया था। पाकिस्तान पुलिस के अधिकारी अब्दुर रज्जाक चीमा ने स्थानीय मीडिया को बताया है कि बम धमाका आवासीय परिसर के पास हुआ है, जहां ज्यादातर हजारा समुदाय के लोग रहते हैं। हमले का मकसद हजारा समुदाय के अल्पसंख्यक शिया मुसलमानों को निशाना बनाना प्रतीत हो रहा है। धमाके में पाकिस्तानी सेना के चार जवान भी घायल हुए हैं।

नई दिल्‍ली। सिंगापुर और हनोई वार्ता के बाद अब अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप उत्तर कोरिया के प्रमुख किम जोंग उन से तीसरी शिखर वार्ता कर सकते हैं। इस शिखर वार्ता के लिए वह काफी हद तक तैयार हैं। इसका जिक्र भी उन्‍होंने खुद ओवेल हाउस में पत्रकारों से बात करते हुए किया है। आपको बता दें कि दोनों नेताओं के बीच हनोई शिखर वार्ता को अधूरे में ही खत्‍म कर दिया गया था। हालांकि ट्रंप इसको विफल नहीं मान रहे हैं। उनका कहना है कि सिंगापुर की तरह ही यह वार्ता भी अच्‍छे माहौल में हुई थी। उन्‍होंने पत्रकारों से यहां तक कहा है कि वह छोटी नहीं बल्कि बड़ी डील की तरफ आगे बढ़ना चाहते हैं। यह बड़ी डील परमाणु हथियारों के निर्माण पर पूरी तरह से रोक और इन हथियारों के खात्‍मे को लेकर है। वह इससे अधिक कुछ और नहीं चाहते हैं। उन्‍होंने साफ कर दिया है कि वह कोरियाई प्रायद्वीप को पूरी तरह से परमाणु हथियारों से मुक्‍त देखना चाहते हैं।आपको यहां पर ये भी बता दें कि इन दिनों दक्षिण कोरिया के राष्‍ट्रपति मून जे अमेरिका की यात्रा पर हैं। ट्रंप ने उत्तर केारिया को लेकर जो भी बयान दिया है वह मून के सामने ही दिया है। राष्‍ट्रपति ट्रंप ने इस दौरान ये भी साफ कर दिया है कि वह उत्तर कोरिया पर किसी भी तरह के नए प्रतिबंध नहीं लगाना चाहते हैं। इसकी वजह उत्तर कोरिया से अमेरिका के बेहतर होते संबंध हैं। उत्तर कोरिया से रिश्‍तों और वार्ता की बात करें तो दक्षिण कोरिया में स्‍टेट डिपार्टमेंट के पूर्व अधिकारी जोसेफ यून का कहना है कि उत्तर कोरिया वर्तमान में काफी विचलित स्थिति में है। उनका मानना है किम एक अच्‍छा मौका चूक गए हैं।

 

लंदन। ब्रिटिश सांसदों द्वारा ब्रेक्जिट करार दोबारा खारिज करने के बाद यूरोपीय संघ के अध्‍यक्ष डोनाल्‍ड टस्‍क ने आज ब्रुसेल्‍स में एक विशेष शिखर सम्‍मेलन बुलाया है। इस म्‍मेलन में यूरोपीय संघ के प्रमुख नेता हिस्‍सा लेंगे। इस शिखर सम्‍मेलन के पूर्व ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरीजा मे जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल और फ्रांसीसी राष्‍ट्रपति इमैनुएल मैक्रोन से मुलाकात की।ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने दोनों नेताओं से ब्रेक्जिट की समय-सीमा के विस्‍तार लिए अनुरोध…
जापान। जापानी एफ-35 स्टील्थ फाइटर का मलबा आज हादसे के एक दिन बाद राहत बचाव दल को मिल गया है। विमान मंगलवार को प्रशांत महासागर के ऊपर से उड़ान भरते हुए अचानक रडार से गायब हो गया था।जापानी सैन्य अधिकारियों ने बताया कि समुद्र में तलाशी अभियान के दौरान विमान के कुछ हिस्सों को बरामद किया गया है, लेकिन विमान का पायलट अभी भी लापता है। अधिकारियों के मुताबिक ये…
इस्‍लामाबाद। पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने बुधवार को कहा कि यदि नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व वाली भारतीय जनता पार्टी 2019 के आम चुनाव में जीत दर्ज करती है, तो दोनों देशों के बीच शांतिवार्ता के लिए यह बेहतरीन मौका हो सकता है। उन्‍होंने कहा कि यदि मोदी दोबारा भारत के प्रधानमंत्री बनते हैं तो कश्‍मीर मुद्दा सुलझाने का यह सुनहरा मौका होगा। खान ने यह बात एक साक्षात्‍कार के…
बीजिंग। परमाणु प्रतिबंधों में राहत को लेकर अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच बातचीत पटरी से उतरने के बावजूद चीन के एक शहर ने उत्तर कोरिया के लिए एक नई सीमा खोली है। इस सीमा में परमाणु विकिरण की पहचान के लिए उपकरण ( न्यूक्लियर डिटेक्टर) लगाए गए हैं। उत्तर पूर्व के जियान शहर में सोमवार को यह नई राजमार्ग सीमा खोली गई। जियान शहर की वेबसाइट पर प्रकाशित बयान…
Page 3 of 31

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें