दुनिया

दुनिया (4543)

 

दुबई - कुख्यात आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने सीरिया के डेर अल जोर प्रांत में अपने संगठन के 11 सदस्यों को फांसी दी है।
ब्रिटेन स्थित मानवाधिकार संस्था सीरियन ऑब्जवेर्टरी फॉर ह्यूमन राइट्स ने कहा कि आईएस ने कल अपने 11 सदस्यों को फांसी दी है। उन्होंने कहा कि जिन लोगों को फांसी दी गयी है उनकी पहचान के बारे नहीं बताया गया है तथा किस जुर्म के लिए फांसी दी गयी है उसके बारे में भी कोई जानकारी नहीं है।
गौरतलब है कि आतंकवादी संगठन आईएस ने पिछले महीने भी इसी प्रांत में बलात्कार, हत्या और हथियारों की तस्करी करने आरोप में अपने संगठन के 25 सदस्यों की हत्या कर दी थी।
अमेरिका ऑट्रेलिया ने जारी किया एलर्ट
अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया के अधिकारियों ने विदेशी लड़ाकों के लौटने को लेकर चेताया है। अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया के अधिकारियों ने आज आगाह किया कि ISIS के विदेशी लड़ाके पश्चिम एशिया से दक्षिण पूर्व एशिया में वापस जा सकते हैं और अपने देशों में हथियार उठा सकते हैं।
यह चेतावनी इस वीकेंड में लंदन में हुए आतंकी हमले बाद और फिलीपीन में बढ़ते जिहादी खतरे के बीच आई है। लंदन में हुए हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली है।
ऑस्ट्रेलिया की रक्षा मंत्री मैरिस पायने ने कहा कि आईएस के लड़ाके युद्धभूमि के कौशल के साथ, अपनी कठोर विचारधारा के साथ, अपने गुस्से और निराशा के साथ वापस लौट सकते हैं और हमें इस बारे में बहुत सतर्क रहने की जरूरत है।
वह ऑस्ट्रेलिया—अमेरिका मंत्रिमंडलीय सम्मेलन में बोल रही थी जिसमें पेंटागन के प्रमुख जिम मैटिस, अमेरिका के विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन और ऑस्ट्रेलिया के उनके समकक्ष जूली बिशप हिस्सा लिया है।
लंदन पर हमले पर प्रतिक्रिया देते हुए मैटिस ने कहा, हम एकजुट हैं हम संकल्प अपने पर और अपने उस शत्रु के खिलाफ एकजुट हैं जो हमें आहत करना चाहता है, वे हमें डरा सकते हैं। हम डरने वाले नहीं है।

 

बर्मिघम - बर्मिंघम में रविवार को भारत और पाकिस्तान क्रिकेट मैच देखने वालों में यूबी ग्रुप के पूर्व चेयरमैन विजय माल्या भी शामिल रहे। माल्या की एक तस्वीर सामने आई है जिसमें वे एजबेस्टन के मैदान पर दर्शक दीर्घा में मैच देखते नजर आ रहे हैं।
इससे पहले विजय माल्या 19 अप्रैल को ब्रिटेन में स्कॉटलैंड यार्ड ने गिरफ्तार किया था। हालांकि, गिरफ्तारी के महज तीन घंटे बाद ही माल्या अदालत से जमानत भी मिल गई थी। बताते चलें कि विजय माल्या पर 17 बैंकों के 9,432 करोड़ रुपए बकाया हैं।
गौरतलब है कि विजय माल्या के खिलाफ भारत में प्रवर्तन निदेशालय की कार्रवाई जारी है। उनके खिलाफ कई बार अदालत से वारंट भी जारी हो चुके हैं, लेकिन माल्या भारतीय एजेंसियों की पहुंच से दूर ब्रिटेन में शरण लिए हुए हैं। भारत सरकार की ओर से ब्रिटिश से उनके प्रत्यर्पण की कोशिशें जारी हैं। देश में मौजूद उनकी संपत्ति जब्त की जा रही है लेकिन माल्या इन सबसे बेपरवाह नजर आते हैं।

 

लंदन - ब्रिटेन आतंकवाद रोधी पुलिस ने आतंकवादी हमले के बाद पूर्वी लंदन में एक घर में छापा मार कर 12 संदिग्धों को गिरफ्तार किया है। ब्रिटेन आतंकवाद रोधी पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि ये गिरफ्तारियां बारकिंग क्षेत्र में फ्लैटों में छापे के दौरान की गईं। मकान संदिग्धों में से एक का है। और हमले के कई घंटो के बाद इसमें छापा मारा गया।
बीसीसी की रिपोर्ट के अनुसार बारकिंग में उस फ्लैट में आज सुबह नियंतित्र धमाका भी किया गया। पड़ोसियों ने बताया कि हमलावर वहां तीन वर्ष रहा और उसके दो बच्चे भी है। प्रवक्ता ने कहा कि बारकिंग में अन्य स्थानों पर तलाशी चल रही है।
मे ने आतंकवाद को रोकने के लिए वैश्विक इंटरनेट विनियमन का आह्वान किया
ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने लंदन में घातक आतंकी हमले के बाद इंटरनेट के और सख्त विनियमन की हिमायत करते हुए कहा कि कट्टरपंथ और आतंकवाद की साजिश के प्रसार को रोकने के लक्ष्य के साथ साइबर स्पेस को विनियमित करने के लिए नए अंतरराष्ट्रीय समझौतों की जरूरत है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि साइबर स्पेस के लिए नये नियम लागू किए जाने से कटटरपंथियों को सुरक्षित ऑनलाइन स्पेस नहीं मिल पाएगा। उन्होंने कहा कि कट्टरपंथियों से निपटने के लिए नये तरीकों की जरूरत है। इसके तहत इस तरह के परिवर्तन भी आवश्यक हैं जिससे आतंकवादियों या कटटरपंथ के समर्थकों को सूचना और साजिश के प्रचार के लिए डिजिटल माध्यमों से वंचित किया जा सके।
मध्य लंदन में वैन और चाकू से किए गए हमले के बाद प्रधानमंत्री ने डाउनिंग स्ट्रीट के बाहर ये बयान दिया। इस हमले में सात लोगों की मौत हो गई और 48 अन्य घायल हो गए।

पाकिस्तानी सेना ने आज एक वीडियो जारी किया जिसमें नियंत्रण रेखा पर भारतीय सैन्य चौकियों को कथित तौर पर हुये नुकसान को दिखाया गया है। पाकिस्तान ने दावा किया है कि इसमें पांच भारती जवान में मारे गए। उधर भारतीय सेना ने पाक के दावे की पोल खोलते हुए हुए झूठा करार दिया है। बता दें कि पाकिस्तान ने इससे पहले भी एक फर्जी वीडियो जारी कर भारतीय चौकियों को नुकसान पहुंचाने का दावा किया था।दरअसल पाकिस्तान ने दावा है कि भारत की ओर से बिना उकसावे के संघर्ष विराम के उल्लंघन पर पाकिस्तान ने जवाबी कार्रवाई की जिमसें नियंत्रण रेखा के ताता पानी सेक्टर में पांच भारतीय सैनिकों को मार गिराया गया। इस दावे के एक दिन बाद पाकिस्तान ने 27 सेकंड का यह वीडियो जारी किया है। यह वीडियो पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने आज तड़के टि्वटर पर पोस्ट किया। वीडियो के साथ संक्षिप्त जानकारी में उन्होंने कहा गया है कि भारतीय की ओर से निर्दोष नागरिकों पर बिना उकसावे के की गयी गोलीबारी के जवाब में पाक सेना द्वारा नियंत्रण रेखा पर भारतीय पक्ष की तबाही दिखाती वीडियो क्लिप। दो हफ्ते में यह दूसरा मौका है जब पाकिस्तानी सेना ने ऐसा वीडियो जारी किया है। इससे पहले 24 मई को भी उसने एक वीडियो जारी किया था जिसमें कथित तौर पर नियंत्रण रेखा पर भारतीय के भारी नुकसान को दिखाया गया था। इससे पहले भारतीय सेना ने एक वीडियो क्लिप जारी की थी जिसमें पाकिस्तानी चौकियों पर किये गये दंडात्मक हमले को दिखाया गया था।भारतीय सेना ने कल कहा था कि पाकिस्तानी सेना द्वारा नियंत्रण रेखा पर किये गये संघर्षविराम उल्लंघन में एक महिला जख्मी हो गयी था। इस पर भारतीय पक्ष ने जवाबी कार्रवाई की।
पाकिस्तान का दावा झूठा:-भारतीय सेना ने रविवार को पाकिस्तान द्वारा नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर हुई गोलीबारी में पांच जवानों को मार गिराए जाने के दावों से इनकार किया। पाकिस्तान सेना ने शनिवार को ट्वीट कर कहा था कि उसने भारतीय सेना के पांच जवानों को मार गिराया है।पाकिस्तान सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने ट्वीट कर कहा, “भारत ने एलओसी से सटे तत्तापानी में संघर्षविराम का उल्लंघन किया, जवाबी कार्रवाई में भारतीय बंकरों को नष्ट कर दिया गया, जिसमें सेना के पांच जवान मारे गए और कई घायल हो गए।” हालांकि, रक्षा सूत्रों ने इन दावों को नकारते हुए इन्हें झूठे और मनगढ़ंत बताया।इससे पहले पाकिस्तान ने 24 मई को एक वीडियो जारी किया था, जिसमें एक भारतीय चौकी को नष्ट करने का दावा किया गया था। हालांकि, बाद में पता चला कि इस वीडियो को एडिट किया गया है।

इराक के तानाशाह सद्दाम हुसैन ने अपने अंतिम दिन अमेरिकी गायिका मैरी जे ब्लिज के गाने सुनते, मफिन खाते और जेल के अमेरिकी सुरक्षाकर्मियों को कहानियां सुनाते बिताए। उन्होंने सुरक्षाकर्मियों से दोस्ती कर ली थी।न्यूयॉर्क पोस्ट की खबर के मुताबिक, विल बाडेर्नवेरपेर की नई किताब, दी प्रिजनर इन हिज पैलेस : सद्दाम हुसैन, हिज अमेरिकन गाडर्स, ऐंड व्हॉट हिस्ट्री लीव्ज अनसेड में सद्दाम के अंतिम दिन, उनकी सुरक्षा में तैनात अमेरिकी सुरक्षा कर्मियों के अनुभव को जुटाया है।तीन दशकों तक इराक पर शासन करने वाले सद्दाम को 69 वर्ष की आयु में फांसी पर चढ़ा दिया गया था। सुनवाई शुरू होने से पहले सद्दाम जब बगदाद में थे तब 551वीं मिलिट्री पुलिस कंपनी के अमेरिकी सैनिकों का समूह उनकी निगरानी में तैनात था। सैनिक अपने समूह को दी सुपर टवेल्व कहते थे। रिपोर्ट में बताया गया कि सद्दाम की निजी सुरक्षा में तैनात इन 12 अमेरिकी सैनिकों के बीच पहले छह महीने एक जुड़ाव सा हो गया था। इनका सद्दाम से भी जुड़ाव हो गया जो उनके अंतिम समय तक बना रहा। किताब का लेखक इन्हीं सुरक्षाकर्मियों में से एक है।किताब में बाडेर्नवेरपेर ने लिखा है कि सद्दाम एक कोने में धूल के छोटे से ढेर पर उग आई घास को पानी देना पसंद करते थे। वे उसकी देखभाल ऐसे करते थे जैसे कि वे खूबसूरत फूल हों। अपने भोजन को लेकर वे काफी संवेदनशील थे, नाश्ता कई हिस्सों में लेते थे। पहले आमलेट खाते थे, फिर मफिन और उसके बाद ताजे फल। आमलेट कटाफटा हो तो वे खाने से मना कर देते थे। उन्हें मिठाईयां बहुत पसंद थी।सुरक्षा कर्मियों के जीवन में सद्दाम की खासी दिलचस्पी थी। कई सुरकर्मियों के बच्चे भी थे और सद्दाम पिता के तौर पर अपने अनुभवों की कहानियां उन्हें सुनाया करते थे। बच्चों में अनुशासन की उनकी एक कहानी तो याद रखने योग्य है।सद्दाम ने बताया कि उनके बेटे उदय ने एक बड़ी गंभीर गलती कर दी थी जिससे सद्दाम को बेहद गुस्सा आया था। उदय ने एक दल पर गोलीबारी कर दी थी जिसमें कई लोग मारे गए थे और कई घायल हो गए थे। किताब के मुताबिक सद्दाम ने बताया, मुझे बहुत गुस्सा आया और मैंने उसकी सभी कारें जला दी। उन कारों में रॉल्स रॉयस, फरारी और पॉर्श जैसी महंगी कारें भी थी।

भारत-पाकिस्तान मैच की पूर्व संध्या पर इंग्लैंड में आतंकी हमला हुआ। इस हमले में तीन आतंकियों समेत 10 लोग मारे गए हैं जबकि 48 लोग घायल हुए हैं। आतंकी संगठन आईएसआईएस (isis) ने हमले की जिम्मेदारी ली है। इन हमलों के बीच इंग्लैंड का एक शख्स हीरो बनकर उभरा है। खबरों के मुताबिक, जेरार्ड ने लंदन अटैक्स को अंजाम देने वाले आतंकियों पर बोतल और कुर्सियां फेंककर उन्हें रोकने की कोशिश की।जेरार्ड के मुताबिक, आतंकी हमला करते समय 'यह सब अल्लाह के लिए है' चिल्ला रहे थे। जेरार्ड ने बताया कि तीनों हमलावर मुस्लिम थे और उनकी उम्र 30 से कुछ ज्यादा रही होगी। जेरार्ड ने देखा कि आतंकी 'अल्लाह' का नाम लेते हुए एक लड़की को 15 बार चाकू से गोदकर मार रहे हैं। इसके बाद तीनों आतंकी वहां स्थित बार और पब्स में घुसकर लोगों पर चाकू से वार करने लगे।इंग्लैंड की प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने मैनचेस्टर हमले के बाद ही घोषणा की थी कि लंदन में कुछ और आतंकी हमले हो सकते हैं। इस घोषणा के बाद पूरे ब्रिटेन में सुरक्षा इंतजाम चाक चौबंद कर दिए थे। चिंता बात यह है कि यह हमला ऐसे मौके पर हुआ है जब इंग्लैंड में क्रिकेट की चैंपियंस ट्रॉफी मुकाबलों का आयोजन किया जा रहा है और यहां बड़ी संख्या में दूसरे देशों के लोग पहुंचे हैं।हमला लंदन के सेंट्रल इलाक़े में स्थित चर्चित लंदन ब्रिज पर हुआ जहां सफेद रंग की एक कार ने फुटपाथ पर चल रहे लोगों को रौंद दिया। इस घटना में पांच लोग घायल हो गए। वहीं दूसरी घटना बरो मार्केट में हुई जहां हमलावरों ने चाकू से लोगों पर हमला बोल दिया। इस घटना में एक की मौत हो गई। तीसरी घटना बकसोल में हुई है। घटना स्थल पर भारी पुलिस बल पहुंच चुका हैं। माना जा रहा है कि इस हमले में कम से कम 7 लोग मारे गए हैं। हालांकि इस हमले में एक व्यक्ति के ही मारे जाने की आधिकारिक पुष्टि हुई है।इस आतंकी हमले से 10 दिन पहले ही 23 मई को एक बजे रात को मैनचेस्टर एरीना के एक म्यूजिक कंसर्ट पर आत्मघाती आतंकी हमला हुआ था। इस हमले में 19 लोगों की मौत हुई थी और 60 से ज्यादा लोग घायल हुए थे।

लंदन आतंकी हमलों के दौरान बहादुरी का परिचय दे एक शख्स लोगों के बीच में हीरो बन गया है। इस शख्स का नाम जेरार्ड बताया जा रहा है।जेरार्ड ने मीडिया को बताया कि उसने लोगों को चाकू से काट रहे आतंकियों को रोकने की कोशिश की। इसके लिए उसने हमलावरों पर कुर्सियां, स्टूल और पानी की बोटल भी फेंककर मारी लेकिन सब बेकार गया।जेरार्ड ने बताया कि तीनों हमलावरों की…
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); इस्लामाबाद - पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में शनिवार को एक शख्स ने अपनी तीन बेटियों की गला घोंटकर हत्या कर दी जबकि अपनी पत्नी पर तेजधार हथियार से हमला किया, जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया।पुलिस के मुताबिक, अहमद यार (40) का अपनी पत्नी शकीला से किसी बात पर विवाद हुआ था, जिसके बाद वह अपने मायके चली गई।इसके बाद यार ने अपनी तीनों…
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); नई दिल्ली - कृत्रिम तकनीक से बच्चे पैदा कराने का धंधा करने वाले डॉक्टर पर सनसनीखेज आरोप लगा है। आईवीएफ जरिए बच्चा पैदा कराने वाले दर्जनों परिवारों ने आरोपी डॉक्टर पर डीएनए टेस्ट कराने के लिए अदालत में गुहार लगाई है। मामलीा पुर्तगाल के एक शहर का है।आशंका है कि आरोपी डॉक्टर ने आईवीएफ तकनीक से बच्चा पैदा कराने वाले लोगों के साथ धोखा करते…
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); पेरिस - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चार देशों की अपनी विदेश यात्रा के आखिरी पड़ाव के तहत आज फ्रांस पहुंचे। यहां वे नवनिर्वाचित राष्ट्रपति इमैन्युएल मैकरॉन के साथ आतंकवाद, भारत की एनएसजी की सदस्यता की दावेदारी और जलवायु परिवर्तन जैसे प्रमुख मुद्दों पर बातचीत करेंगे।पेरिस पहुंचने के बाद मोदी ने ट्वीट किया, अपने एक महत्वपूर्ण रणनीतिक साझेदार के साथ संबंधों को बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण दौरे…

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें