दुनिया

दुनिया (4530)

वाशिंगटन। अमेरिका सरकार ने रूस से सुखोई एसयू-25 लड़ाकू विमान और जमीन से हवा में मार करने वाली एस-400 मिसाइलें खरीदने के लिए चीनी सेना की एक अहम इकाई पर कड़े प्रतिबंध लगाए हैं। अमेरिका ने कहा है कि चीन के रक्षा मंत्रालय के उपकरण विकास विभाग की खरीद ने रूस पर उसके प्रतिबंधों का उल्लंघन किया है।अमेरिकी प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, 'इस कार्रवाई का मकसद रूस की दुर्भावनापूर्ण गतिविधियों के जवाब में उस पर हर्जाना लगाना है।' ट्रंप प्रशासन ने चीनी सेना पर ये प्रतिबंध कैटसा (काउंटरिंग अमेरिकन एडवर्सरीज थ्रू सैंक्शंस एक्ट) कानून के तहत लगाए हैं। साथ ही अमेरिका की ओर से यह भी घोषणा की गई है कि वह कैटसा नियमों के तहत 33 रूसी खुफिया और उनसे जुड़े संस्‍थानों को भी प्रतिबंधित श्रेणी में डाल रहे हैं।

शंघाई। घर में आग लगाकर अपनी मालकिन और उनके तीन बच्चों को मारने वाली चीनी आया मो हुआनजिंग को यहां शुक्रवार को फांसी दे दी गई। यह मामला सामने आने पर पूरा देश स्तब्ध रह गया था। पीडि़त परिवार ने पहले अपार्टमेंट के बिल्डर को इस हादसे का जिम्मेदार ठहराया था। उनका कहना था कि इमारत में उचित सुविधाएं मुहैया नहीं कराने के कारण आग बुझाई नहीं जा सकी।यह घटना जून, 2017 में हुई थी। हुआनजिंग (35) को जुए की लत थी जिसके कारण उसने लिन शेंगबिन की पत्नी से कुछ रुपये उधार लिए थे और उनके आभूषण भी चुराए थे। कोर्ट में उसने घर में आग लगाने की बात कबूली थी। वह आग बुझाकर परिवार की नजर में हीरो बनना चाहती थी। उसे उम्मीद थी कि इसके लिए उसे नकद पुरस्कार मिलेगा। लेकिन आग कुछ देर में विकराल हो गई।हुआनजिंग तो अपनी जान बचाकर भाग गई लेकिन लिन की 34 वर्षीय पत्नी जू जायोजेन और छह, नौ व ग्यारह साल के तीन बच्चों की दम घुटने से मौत हो गई। हुआनजिंग को सजा मिलने के बाद लिन ने कहा, जू और मेरे तीनों बच्चों की आत्मा को अब शांति मिलेगी।

मेलबर्न। वैज्ञानिकों ने सबसे प्राचीन जानवर का जीवाश्म खोजा है। करीब 1.4 मीटर लंबा यह जानवर 55.8 करोड़ वर्ष पहले पृथ्वी पर रहता था। अंडाकार शरीर वाला डिकइनसोनिया नामक यह जानवर धरती पर हुए कैंब्रियन एक्सप्लोजन से पहले पाया जाता था। कैंब्रियन एक्सप्लोजन नामक यह घटना करीब 54.1 करोड़ वर्ष पहले हुई थी। इसकी अवधि दो से ढाई करोड़ साल तक बताई जाती है।इसके बाद ही धरती पर आधुनिक और जटिल जीवों का विकास हुआ था। ऑस्ट्रेलिया नेशनल यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने रूस के उत्तर-पश्चिम में मौजूद श्वेत सागर के पास डिकइनसोनिया का यह जीवाश्म खोजा। इसमें कोलेस्ट्रॉल के अणु भी पाए गए हैं।ऑस्ट्रेलिया नेशनल यूनिवर्सिटी के जोशेन ब्रॉक ने कहा, 'जीवाश्म से मिले वसा के अणुओं से पता चलता है कि 55.8 करोड़ वर्ष पहले भी बड़े आकार वाले जानवर बहुतायत में पाए जाते थे।' करीब 75 वर्षो से शोधकर्ताओं के बीच सबसे बड़े जानवर के जीवाश्म को लेकर मतभेद था। इस खोज के बाद सिद्ध हो गया कि डिकइनसोनिया ही सबसे बड़ा प्राचीन जानवर है।

काबुल। अफगानिस्तान में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच जारी संघर्ष को कवर करने में इस साल अब तक 13 पत्रकारों की मौत हो चुकी है। ताजा मामला गत पांच सितंबर का है जब काबुल में आत्मघाती हमला कवर करने गए टोलो न्यूज के पत्रकार शमीम फरमारज और उनके कैमरामैन रमीज अहमदी की कार बम धमाके में मौत हो गई थी।यह धमाका आत्मघाती हमले की जगह से कुछ ही मीटर दूरी पर हुआ था। इस घटना ने पत्रकारों की सुरक्षा को लेकर देश में नई बहस छेड़ दी है। पत्रकारों में चिंता है कि ऐसे खतरनाक माहौल में वे अपना काम कैसे करें?वनटीवी के पत्रकार हामिद हैदरी के अनुसार, शमीम और रमीज की मौत से कुछ देर पहले ही वह अपनी रिपोर्टिग खत्म कर घटनास्थल से दफ्तर लौटे थे। हैदरी ने कहा, जब हम अपने घर से निकलते हैं तो पता नहीं होता कि लौटेंगे या नहीं।

वाशिंगटन। सौर मंडल के बाहर की दुनिया तलाश रहे नासा के सेटेलाइट ने दो ग्रहों की खोज की है। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ने इस ट्रांजिटिंग एक्सोप्लैनेट सर्वे सेटेलाइट (टीईएसएस) को गत अप्रैल में फ्लोरिडा के केप केनवेरेल से लांच किया था।बीते बुधवार को नासा के वैज्ञानिकों ने पृथ्वी से 60 प्रकाश वर्ष दूर स्थित सुपर अर्थ पाई मेंसे सी की खोज की घोषणा की। यह ग्रह 6.3 दिन में अपने तारे की परिक्रमा करता है। इसके एक दिन बाद पृथ्वी से 49 प्रकाश वर्ष दूर एलएचएस 3844 बी ग्रह के मिलने की पुष्टि की गई। यह ग्रह केवल 11 घंटे में अपने सूर्य की परिक्रमा कर लेता है।वैज्ञानिकों का कहना है कि दोनों ही ग्रह अत्यंत गर्म हैं इसलिए उन पर जीवन की संभावना लगभग शून्य है। पाई मेंसे सी पर पानी मौजूद होने के साथ ही उसकी सतह ठोस भी हो सकती है। ग्रहों की खोज में टीईएसएस की सफलता से खुश खगोलविद मार्टिन स्पील ने कहा, इस सेटेलाइट का मूल उद्देश्य ही अंतरिक्ष के अन्य सौर मंडलों की खोज करना है। अपने चार उच्च गुणवत्ता वाले कैमरों की मदद से यह इसमें सफल हो रहा है।' नासा को उम्मीद है कि यह सेटेलाइट सैकड़ों सुपर अर्थ और पृथ्वी के बराबर आकार वाले ग्रहों की खोज करेगा

पोलेंड। ब्राजील में दुनिया के सबसे बड़ा घंटा का निर्माण किया गया है। इस घंटा एक प्रमुख तीर्थ स्थल में लगाया जाएगा। इस घंटा का भार 55 टन बताया जा रहा है।इस घंटा का नाम 'वॉक्स पैटिस' रखा गया है। निर्माता पिओटर ओल्स्ज़वेस्की ने बताया कि घंटा की ऊंचाई में चार मीटर (13 फीट) और चौड़ाई 4.5 मीटर है। इस घंटी को ब्राजील के ट्राइंडेड शहर में स्थित एक तीर्थ स्थल में लगाया जाएगा।वॉक्स पैटिस घंटा का निर्माण तांबे और टिन धातु से किया गया है। इसे चार इंजनों की मदद से चलाया जाएगा। घंटा के एक बार स्थापित होने पर टावर का हिस्सा 100 मीटर ऊंचा हो जाएगा। ओल्सज़वेस्की ने कहा कि इस घंटा के निर्माण में चार साल लग गए। उन्होंने बताया कि इसकी पहली कास्टिंग असफल रही थी। उस समय घंटा में कई दरारें आ गई थीं। इसलिए घंटा का पूरा निर्माण दोबारा किया गया।

 

 

बोस्टन। हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने एक ऐसा खास सॉफ्ट एक्सोसूट तैयार करने में सफलता हासिल की है, जिसे पहनकर बिना थके लंबी यात्रा कर सकेंगे। इसका लाभ सिर्फ आम इंसान को ही नहीं, बल्कि सेना के जवान, दमकल और बचाव कार्यों में लगे राहतकर्मी भी उठा सकेंगे। वैज्ञानिकों का कहना है कि इसे पहनकर जटिल से जटिल कार्य करने और लंबी-लंबी यात्रा करने में थकान महसूस नहीं होगी। वैज्ञानिकों…
टोरंटो। अगर आलस के कारण आपका भी जिम जाने का मन नहीं होता है तो इसके लिए अपने मस्तिष्क को जिम्मेदार ठहराइए। यह कहना है वैज्ञानिकों का, जिन्होंने पता लगाया है कि आलस कुदरती रूप से हमारे मस्तिष्क में होता है, जिसके कारण हम झूठ बोलकर सोफे पर पड़े रहना चाहते हैं। समाज दशकों से लोगों को शारीरिक गतिविधियां बढ़ाने के लिए प्रेरित कर रहा है, लेकिन आंकड़े देखें तो…
टोक्यो। जापान के प्रधानमंत्री शिंजो एबी ने गुरुवार को सत्तारूढ़ लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी (एलडीपी) के अध्यक्ष पद का चुनाव आसानी से जीत लिया। तीसरी बार पार्टी अध्यक्ष चुने जाने के साथ ही वह सबसे ज्यादा समय तक प्रधानमंत्री बने रहने की राह पर भी बढ़ गए हैं।एबी अब देश के संविधान में सुधार करने के अपने सपने को भी साकार कर सकेंगे। पार्टी अध्यक्ष का चुनाव जीतने के बाद 63…
वाशिंगटन। अमेरिका में छह नवंबर को होने वाले मध्यावधि संसदीय चुनाव में 12 भारतवंशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। इनमें तीन महिला उम्मीदवार हिरल टिपिरनेनी, अनीता मलिक और प्रमिला जयपाल भी शामिल हैं। जयपाल अमेरिकी संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में दोबारा पहुंचने के लिए चुनाव लड़ रही हैं। वह इस सदन में पहुंचने वाली भारतीय मूल की पहली महिला हैं।माना जा रहा है कि बतौर डेमोक्रेट उम्मीदवार अपनी…
Page 1 of 324

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें