दुनिया

दुनिया (1790)

न्यूयॉर्क। अमेरिका के न्यूजर्सी प्रांत में एक सिख छात्र को सताए जाने का मामला सामने आया है। इसे लेकर एक शिक्षा बोर्ड के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। इसमें यह आरोप लगाया गया कि उसके धर्म के कारण डराया-धमकाया गया और लंबे समय तक उत्पीड़न के चलते उसे स्कूल छोड़ना पड़ा। समुदाय के संगठन सिख कोअलिशन ने कहा कि उसने विधि दफ्तर के सह-वकील ब्रायन एम किगे के साथ मिलकर न्यूजर्सी के सीवेल स्थित ग्लूसेस्टर काउंटी स्पेशल सर्विसेज स्कूल डिस्टि्रक्ट बोर्ड ऑफ एजुकेशन के खिलाफ मुकदमा किया है।यह मामला ग्लूसेस्टर काउंटी इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में पढ़ने वाले एक सिख छात्र से जुड़ा है। नाबालिग होने के कारण उसका नाम उजागर नहीं किया गया है। यह आरोप है कि वर्ष 2018 से छात्र को डराया-धमकाया जा रहा था। छात्र की मां ने कहा, 'मेरे बेटे को जिस कष्ट का सामना करना पड़ा, वैसा किसी बच्चे के साथ नहीं होना चाहिए। मुझे उम्मीद है कि अदालत इसे डराने-धमकाने का मामला मानेगी और निर्णायक कार्रवाई करेगी। इससे मेरे बच्चे को न्याय मिलने के साथ ही जिले में सभी छात्रों के लिए पढ़ाई का सुरक्षित माहौल भी बनेगा।'इस बीच संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुतेरस ने महामारी के संदर्भ में लोगों से एकजुटता और एकता का आह्वान किया है। उन्‍होंने कहा है कि हमारी दुनिया एक शरीर की तरह है। जब तक इस वायरस से एक हिस्सा प्रभावित होता है, हम सभी प्रभावित होते हैं। मौजूदा वक्‍त में अब पहले से कहीं अधिक एकजुटता और एकता की जरूरत है। गुतेरस ने जातीय राष्ट्रवाद, किसी समुदाय को लक्षित करने वाले भाषणों के खिलाफ एकजुटता का आह्वान किया। जॉन्स हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के मुताबिक दुनियाभर में कोरोना संक्रमितों की संख्या 51 लाख से ऊपर पहुंच चुकी है। वहीं मरने वालों का आंकड़ा तीन लाख को पार कर गया है।

इस्तांबुल। अमेरिकी अखबार वाशिंगटन पोस्ट के दिवंगत पत्रकार जमाल खशोगी के कातिलों को माफी दिए जाने का उनकी मंगेतर हतीचे चेंगीज ने विरोध किया है। उन्होंने कहा कि खशोगी के कातिलों को कोई माफी नहीं दे सकता है। माफी देने का अधिकारी किसी को नहीं है। खशोगी के बेटों ने शुक्रवार को कहा था कि उन्होंने अपने पिता के कातिलों को माफ कर दिया है। बीबीसी न्यूज के अनुसार, चेंगीज ने एक ट्वीट में कहा, 'खशोगी की हत्या उनके देश के दूतावास में की गई थी। वह अपनी शादी के लिए कुछ दस्तावेज लेने के लिए वहां गए थे। हत्यारे सऊदी से आए थे।'इससे पहले सऊदी पत्रकार के सबसे बड़े बेटे सलाह ने शुक्रवार को एक ट्वीट में कहा, 'हम शहीद जमाल खशोगी के पुत्र अपने पिता के हत्यारों को माफ करते हैं, जिसका इनाम हमें अल्लाह से मिलेगा।' खशोगी की अक्टूबर 2018 में तुर्की के इस्तांबुल शहर में सऊदी अरब के दूतावास में निर्मम हत्या कर दी गई थी। वह अपनी मंगेतर चेंगीज से शादी करने के लिए दूतावास से कुछ जरूरी दस्तावेज लेने गए थे। उनकी हत्या को लेकर सऊदी क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान पर भी अंगुली उठी थी।सऊदी अरब की शाही अदालत ने गत दिसंबर में इस हत्याकांड में पांच सऊदी एजेंटों को मौत और तीन अन्य को 24 साल जेल की सजा सुनाई थी। लेकिन बीते दिनों खशोगी के बेटे की माफी से सऊदी अरब के पांच सरकारी एजेंटों की मौत की सजा पर कानूनी तौर पर रोक लग गई है। यह भी बता दें कि सऊदी अरब में रहने वाले सलाह खशोगी को अपने पिता की हत्या के मामले में शाही अदालत से वित्तीय मुआवजा भी मिल चुका है। बीते दिनों अरब न्यूज ने खशोगी के बेटों की घोषणा पर कहा था कि माफी मिलने से हत्यारे मौत की सजा से बच सकते हैं। हालांकि इसका यह मतलब नहीं कि उनको कोई सजा नहीं मिलेगी।

बर्लिन। ऐसा लगता है कि चीन ने वुहान से शुरू हुई कोरोना की महामारी को काबू में कर लिया है। पिछले चौबीस घंटे में चीन में संक्रमण का एक भी मामला सामने नहीं आया है। हालांकि लैटिन अमेरिकी देशों में महामारी चरम पर है। ब्राजील इससे सर्वाधिक प्रभावित है। उधर, लॉकडाउन के बाद जर्मनी में फिर से खोले गए रेस्तरां और चर्च में दूसरे दौर के संक्रमण का खतरा पनपता दिखाई दे रहा है। बता दें कि दुनियाभर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या जहां 53 लाख से ज्यादा हो गई वहीं मृतकों की तादाद 3.40 लाख के आंकड़े को पार कर गई है।दरअसल, ऐतिहासिक मंदी का सामना कर रहीं कई देशों की सरकारें लॉकडाउन में छूट दे रही हैं, लेकिन दोबारा संक्रमण के मामले चिंता में डालने वाले हैं। जर्मनी के उत्तर पश्चिम में एक रेस्तरां में खाना खाने वाले सात लोग कोरोना से संक्रमित मिले। इसी तरह फ्रैंकफर्ट के एक चर्च में प्रार्थना सभा में भाग लेने वाले कई लोग कोरोना पॉजिटिव निकले। इनमें से छह को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। संक्रमण का पता चलने के बाद चर्च ने सभी तरह के कार्यक्रम रद कर दिए हैं। उधर, तुर्की ने संक्रमण से बचने के लिए शनिवार से सख्त लॉकडाउन का एलान किया है। यह प्रतिबंध ईद तक लागू रहेंगे। यमन के हूती विद्रोहियों ने भी नमाज के दौरान लोगों से मास्क और दूसरे उपाय अपनाने की अपील की है।
न्यूयॉर्क में समुद्र तट फिर से खोले गए:-अमेरिकी उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने जॉर्जिया प्रांत द्वारा व्यवसायों को फिर से खोलने की प्रशंसा की है। उन्होंने शुक्रवार को अटलांटा कैफे में प्रांत के गवर्नर के साथ दोपहर का भोजन किया। उधर, मेमोरियल डे वीकेंड पर न्यूयॉर्क में समुद्र तट फिर से खोल दिए गए हैं।
600 फीसद बढ़े दुर्भावनापूर्ण ई-मेल:-संयुक्त राष्ट्र की निशस्त्रीकरण प्रमुख ने शुक्रवार को चेतावनी दी कि कोरोना काल के दौरान दुर्भावनापूर्ण ई-मेल में जहां 600 फीसद की वृद्धि हुई हैं वहीं साइबर अपराध भी बढ़े हैं। उन्होंने कहा कि डिजिटल निर्भरता बढ़ने से साइबर हमले की संभावना बढ़ गई है और ऐसा अनुमान है कि प्रत्येक 39 सेकेंड में इस तरह का एक हमला हो रहा है।
रूस में संक्रमण के 9,434 नए मामले:-पिछले चौबीस घंटे के दौरान रूस में संक्रमण के 9,434 नए मामले सामने आए हैं। इस तरह देश में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 335,882 हो गई है। 139 लोगों की मौत भी हुई है। मरने वालों की कुल तादाद 3,388 हो गई है।
ब्राजील में मृतकों की संख्या 21 हजार से ज्यादा हुई;-ब्राजील में संक्रमित मरीजों की संख्या 3,30,890 हो गई है। पिछले चौबीस घंटे में वहां 1001 लोगों की मौत हुई है। मरने वालों की तादाद 21 हजार से ज्यादा हो गई है। इस बीच रियो डि जेनेरिया के मेयर ने कहा कि वे अगले कुछ दिनों में गैर आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को चरणबद्ध तरीके से खोलने की अनुमति देना चाहते हैं।
स्पेन में लॉकडाउन के खिलाफ प्रदर्शन:-दक्षिणपंथी विचारधारा वाली वोक्स पार्टी ने स्पेन की राजधानी मैड्रिड में शनिवार को लॉकडाउन के खिलाफ सड़कों पर प्रदर्शन किया। प्रदशर्नकारी प्रधानमंत्री पेड्रो सांचेज और उप प्रधानमंत्री पाब्लो इग्लियास के इस्तीफे की मांग कर रहे थे। दरअसल, पूरे देश में 14 मार्च को लॉकडाउन का एलान किया गया था। बाद में इसमें चरणबद्ध तरीके से छूट दिए जाने का समय-समय पर एलान किया गया, लेकिन महामारी से बुरी तरह प्रभावित बार्सीलोना और मैड्रिड में अभी भी लॉकडाउन चल रहा है।
कोरोना महामारी से जुड़े विश्वभर के प्रमुख बिंदु;--ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के मुख्य रणनीतिक सलाहकार डॉमिनिक कूमिंग्स पर लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करने का आरोप लगा है। विपक्षी पार्टियों ने पीएम बोरिस जॉनसन से उन्हें बर्खास्त करने की मांग की है।
-यरुशलम में पवित्र कब्र वाला चर्च (चर्च ऑफ द होली सेपुल्कर) रविवार को दो महीने बाद फिर से खुल जाएगा। इसी स्थान पर जीसस को सूली पर लटकाया और दफनाया गया था।
-सिंगापुर में संक्रमण के 642 नए मामले सामने आए हैं। अधिकांश मामले विदेशी कामगारों से जुड़े हैं। देश में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 31,068 हो गई है।
-इंडोनेशिया में पिछले चौबीस घंटे में 949 लोग संक्रमित हुए हैं और 25 लोगों की मौत हुई है।
-41 नए मामले सामने आने के बाद नेपाल में संक्रमित मरीजों की संख्या 548 हो गई है। अब तक तीन लोगों की मौत हो चुकी है।
-चीन के शीर्ष रोग नियंत्रण अधिकारी गाओ फू ने कहा कि इतनी बड़ी महामारी के दौरान जनता द्वारा आलोचना करना सामान्य बात है।
-प्रतिबंध को न्यायिक चुनौती मिलने के बाद फ्रांस में शनिवार से चर्चो में पूजा की अनुमति दे दी गई।
-ईरान में शनिवार से व्यापारिक प्रतिष्ठानों के साथ ही धार्मिक और सांस्कृति स्थल फिर से खुल गए।
-दक्षिण अफ्रीका के एक प्रभावशाली मुस्लिम संगठन ने लोगों से ईद से जुड़े पारंपरिक समारोहों में शामिल नहीं होने का आह्वान किया। उसका मानना है कि इससे बड़े पैमाने पर कोरोना फैलने का खतरा है।
-एक जून से वेटिकन म्यूजियम खुल जाएगा। प्रवेश से पहले सभी आंगतुकों का तापमान चेक किया जाएगा और सभी को मास्क पहनना होगा।
देश मौतें संक्रमित
अमेरिका 97,687 1,647,043
ब्रिटेन 36,393 254,195
इटली 32,616 228,658
फ्रांस 28,289 182,219
स्पेन 28,628 281,904
ब्राजील 21,215 334,777
बेल्जियम 9,237 56,810
जर्मनी 8,353 179,758
ईरान 7,359 133,521
रूस 3,388 335,882
चीन 4,634 82,971

वाशिंगटन। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव कायले मैकनी ने गलती से राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के निजी बैंक खाते और रूटिंग नंबरों को सार्वजनिक कर दिया। डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार, एक प्रेस ब्रीफिंग में मैकनी ने बताया कि राष्ट्रपति ने स्वास्थ्य और मानव सेवा विभाग (एचएचएस) को अपनी 2020 की कमाई से 1,00,000 डॉलर (लगभग 76 लाख रुपये) दान दिया। कोरोना वायरस से बचाव और मुकाबला करने के लिए किए जा रहे प्रयासों का समर्थन करने के लिए राष्ट्रपति ने यह दान दिया।
मैकनी ने कहा- चेक के डुप्लीकेट का इस्तेमाल नहीं किया:-मैकनी ने ट्रंप द्वारा सरकारी एजेंसी को लिखे गए चेक को कैमरों के लिए चारों ओर लहराया। डेली मेल की रिपोर्ट में एक प्रशासनिक अधिकारी के हवाले से कहा गया है कि ब्रीफिंग में कभी भी चेक के डुप्लीकेट का इस्तेमाल नहीं किया गया था।
राष्ट्रपति का वेतन कोरोना के नए उपचारों को आगे बढ़ाने में मदद के लिए आगे आया:-एक बयान में व्हाइट हाउस के प्रवक्ता जुड डीरे ने कहा, आज राष्ट्रपति का वेतन इस वायरस के इलाज के लिए नए उपचारों को आगे बढ़ाने में मदद के लिए आगे आया। लेकिन, मीडिया को छोड़ दें कि वह केवल तथ्यों को रिपोर्ट न करे, इसके बजाय शर्मनाक रूप से इस पर ध्यान केंद्रित करे कि चेक असली है या नहीं।
सोशल मीडिया पर लोगों को ट्रंप और मैकनी का मजाक बनाने से नहीं रोक सका;-हालांकि, यह सोशल मीडिया पर लोगों को ट्रंप और मैकनी का मजाक बनाने से नहीं रोक सका। एक यूजर ने लिखा, हार्वर्ड लॉ को स्पष्टीकरण देना चाहिए।
सोशल मीडिया पर एक यूजर ने लिखा- ट्रंप उतने धनी नहीं, जितना कि उनके बारे में कहा जाता है;-यह आश्चर्यजनक है कि चेक के साथ गलती करने से पहले मैकनी ने इस प्रतिष्ठित संस्थान से स्नातक कैसे किया? एक अन्य यूजर ने लिखा कि ट्रंप उतने धनी नहीं हैं, जितना कि उनके बारे में कहा जाता है।

लाहौर।पाकिस्तान में बड़ा विमान हादसा हुआ है। पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस की लाहौर से कराची जाने वाली फ्लाइट कराची एयरपोर्ट के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गई है। माना जा रहा है कि इस विमान में करीब 100 लोग सवार थे।पीआईए के प्रवक्ता अब्दुल सत्तार ने दुर्घटना की पुष्टि की और कहा कि फ्लाइट A-320, 98 यात्रियों को लेकर जा रही था। विमान लाहौर से कराची जा रहा था और मलीर में मॉडल कॉलोनी के पास जिन्ना गार्डन इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हो गया। विमान गिरने से कई मकानों में आग लग गई है।
- बता दें कि हवाई दुर्घटनाओं के आंकड़े जुटाने वाली संस्था एयरक्राफ्ट क्रैश रिकॉर्ड ऑफिस के मुताबिक, पाकिस्तान में अब तक अस्सी से ज्यादा विमान दुर्घटनाएं हो चुकी हैं जिनमें एक हजार से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं।
- लैंडिग से पांच किलोमीटर पहले विमान चार मंजिला इमारत से टकराया था, जिसके बाद विमान के दोनों इंजन में आग लग गई और ये बड़ा हादसा हो गया।
- पाकिस्तान के जियो टीवी के अनुसार विमान हादसे के मलबे से अब तक 14 लोगों की लाश निकाली जा चुकी है और बाकी घायलों को अस्पताल ले जाया जा रहा है।
- पीआइए के सीइओ ने बताया कि पायलट ने कहा कि विमान के दोनों इंजन काम नहीं कर रहे थे, जिसके चलते ये बड़ा हादसा हुआ है।
- बताया जा रहा है कि विमान पीछे की ओर से क्रैश हुआ है। बाद में विमान का अगला हिस्सा बिल्डिंग से टकराया है। इसलिए संभावना जताई जा रही है कि विमान के अगले हिस्से में बैठे कई यात्री सलामत हैं।
- पाकिस्तान के जियो टीवी के अनुसार विमान के मलबे में अभी कुछ जीवित लोग हैं। वहीं, अभी तक करीब 40 घायल लोगों को मलबे से निकाला जा चुका है।
- पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि पीआइए विमान हादसे से दुखी और हैरान हूं। मैं PIA के CEO अरशद मलिक के संपर्क में हूं, वो कराची के लिए रवाना हो चुके हैं और बचाव और राहत टीमों के साथ घटनास्थल पर हैं, अभी यह प्राथमिकता है। तत्काल जांच शुरू होगी।
- पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) का लाहौर से कराची जा रहा विमान दुर्घटना ग्रस्त हो गया। विमान में करीब 100 लोग सवार थे। यह विमान कराची के एक आवासीय कॉलोनी के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गया। हादसे के बाद लोगों की भीड़ लग गयी है।
- पाकिस्तानी सेना क्विक रिएक्शन फोर्स और पाकिस्तान रेंजर्स के जवान दुर्घटनास्थल पर पहुंच गए हैं। वे राहत और बचाव कार्य में जुट गए हैं। पाकिस्तान के स्वास्थ्य और जनसंख्या कल्याण मंत्री ने बताया कि विमान दुर्घटना के कारण कराची के सभी बड़े अस्पतालों में आपातकाल घोषित कर दिया है।
- पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार हादसे की जगह पर कई फायर ब्रिगेड़ की गाड़ियां और एंबुलेंस पहुंची हुई है। हादसे के बाद विमान के मलबे से यात्रियों की डेड बॉडी निकाली जा रही हैं, जिसमें अभी एक छोटी बच्ची की लाश निकाली गई है।
- विमान हादसे के वीडियोज में एक आवासीय इलाके से जहां ये विमान गिरा, वहां धुएं का बड़ा गुबार निकलते हुए देखा जा सकता है। कुछ गाड़ियों में भी आग लग गई है।
- पाकिस्तानी न्यूज चैनल के मुताबिक कराची में क्रैश हुआ प्लेन चीनी कंपनी से लीज पर लिया गया था। बताया जा रहा है कि विमान का लैंडिंग गियर न खुल पाने की वजह से यह हादसा हुआ है।
- पाक मीडिया के अनुसार इस विमान हादसे में करीब आधा दर्जन घर बुरी तरह क्षतिग्रस्त बताए जा रहे हैं। पाकिस्तान की फायर ब्रिगेड की गाड़ियां आग पर काबू पाने में जुटी हैं। गलियां तंग होने के कारण फायर ब्रिगेड को रेस्क्यू ऑपरेशन में काफी मुश्किल हो रही है।
- पाकिस्तान के जियो टीवी के मुताबिक, विमान से एक शख्स की डेड बॉडी निकाली गई है।
- इस हादसे के बाद घटनास्थल से काला धुआँ निकलता हुआ दिखाया जा रहा है। पाकिस्तान सरकार की ओर से अब तक इस हादसे में मरने या घायल होने वालों से जुड़ी कोई सूचना नहीं दी है।
- पाकिस्तान में कोरोना वायरस की वजह से लगाए गए लॉकडाउन खोले जाने के बाद एक बार फिर हवाई उड़ानें शुरू की गई हैं।

वाशिंगटन। अमेरिका में डेमोक्रेटिक पार्टी से राष्ट्रपति पद के भावी उम्मीदवार जो बिडेन के लिए भारतवंशी उद्यमी देवेन पारेख फंड इकट्ठा करने के काम में जुटे हैं। वर्चुअल माध्यम से चंदा जुटाने के काम में पारेख को अन्य उद्यमियों का भी साथ मिला है। इंसाइट पार्टनर्स के प्रबंध निदेशक पारेख ने पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के लिए भी चंदा इकट्ठा किया था। पारेख ओबामा के शासनकाल में ओवरसीज प्राइवेट इंवेस्टमेंट कॉरपोरेशन के निदेशक मंडल में अपनी सेवा दे चुके हैं।अमेरिका के पूर्व उपराष्ट्रपति जो बिडेन इस साल होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी से सबसे मजबूत उम्मीदवार बनकर उभरे हैं। नवंबर में होने वाले चुनाव में उनका मुकाबला वर्तमान राष्ट्रपति व रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप से तय माना जा रहा है। फंड जुटाने के कार्यक्रम के दौरान बिडेन ने कहा कि अगर ट्रंप गंभीर होते तो अमेरिका में कोरोना वायरस संक्रमण से इतनी ज्यादा संख्या में लोगों की मौत नहीं होती।
बिडेन ने ट्रंप पर चुटकी ली:-समाचार एजेंसी पीटीआइ के अनुसार बिडेन ने ट्रंप पर चुटकी लेते हुए कहा कि चुनाव होने में अब छह महीने से भी कम वक्त बचा है, लेकिन ट्रंप 2016 में राष्ट्रपति चुने जाने के बाद से चंदा इकट्ठा कर रहे हैं। फिर उन्होंने महामारी के दौरान ट्रंप के नेतृत्व की आलोचना करना शुरू कर दिया। उन्होंने कहा गया कि अगर ट्रंप कोरोना वायरस को गंभीरता से लेते, तो कम अमेरिकियों की मृत्यु होती।
महमारी के समय में भी चंदा देने के लिए लोगों की सराहना की:-बता दें कि दुनियाभर में सबसे ज्यादा कोरोना वायरस के मरीज अमेरिका में सामने आए हैं और मौत भी सबसे ज्यादा यहीं हुई है। पीटीआइ के अनुसार देश में अब तक 16 लाख से अधिक मामले सामने आ गए हैं और 93 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। बिडेन ने इस चिंताजनक समय को स्वीकार करते हुए कि देश विशेष रूप से न्यू यॉर्क में रहने वाले लोगों की इस महमारी के समय में भी उन्हें चंदा देने के लिए सराहना की और आगे भी ऐसा करने के लिए आग्रह किया।

जोहान्सबर्ग। इस साल के अंत तक दक्षिण अफ्रीका में 30 लाख लोग कोविड-19 से संक्रमित हो जाएंगे वहीं 50,000 लोगों की मौत हो जाएगी। यहां के वैज्ञानिकों की ओर से यह मंशा जाहिर की गई है क्योंकि दक्षिणी गोलार्द्ध में ठंड के कारण संक्रमण के दर में इजाफा होगा। एक वैज्ञानिक मॉडल में गुरुवार को यह दर्शाया गया है। देश में पहले ही संक्रमण और मौत के अधिक मामले हैं।…
जेरूसलम। कोरोना महामारी के कारण इस बार दुनिया के 1.8 अरब मुसलमानों के लिए ईद के पर्व फीका रहेगा। अन्‍य वर्षों की तरह इस बार ईद के पूर्व लोगों के बीच खरीदारी का उत्‍सव नहीं दिखेगा। दुनिया भर के मुस्लिम ईद के दौरान अपने घरों में ही कैद रहेंगे। दुनिया के कुछ इस्‍लामिक देश जिनमें तुर्की, इराक और जॉर्डन ने ऐलान किया है कि वह छुट्टी के दौरान समय-समय पर…
इस्‍लामाबाद। पाकिस्‍तान में बढ़ते कोरोना के मामलों और इससे लड़ने के लिए पीएम इमरान खान लगातार देश में रहने वाले और विदेशों में रह रहे अपने नागरिकों से ज्‍यादा दा से ज्‍यादा पीएम केयर रिलीफ फंड में पैसा देने की अपील कर रहे हैं। लेकिन अफसोस की बात ये है कि जिसके लिए ये फंड इकट्ठा किया जा रहा है इसका इस्‍तेमाल उसके लिए न होकर सरकार इसका इस्‍तेमाल अपना…
प्योंगयोंग। नार्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन के बारे में तरह-तरह की खबरें सामने आती रहती हैं मगर अब जो एक खबर सामने आ रही है उसमें काफी हद तक दम दिख रहा है। कहा जा रहा है कि किम जोंग उन का स्वास्थ्य ठीक नहीं है इस वजह से वो अपने इलाज पर ध्यान दे रहे हैं। इन्हीं वजहों से वो बीते दो माह से आम लोगों से…
Page 1 of 128

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें