Editor

Editor

बॉलीवुड एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा 1 और 2 दिसंबर को अपने मंगेतर निक जोनास के साथ शादी के बंधन में बंधी। इसके बाद से लेकर अब तक प्रियंका चोपड़ा अपनी वेडिंग ड्रेस को लेकर चर्चा का विषय बनी हुई है। बात दें, प्रियंका और निक ने 1 दिसंबर को ईसाई रिवाज से और 2 दिसंबर को हिंदू रिवाज से शादी रचाई। इसके बाद प्रियंका और निक ने शादी के तुरंत बार अपने फैन्स के लिए अपनी शादी की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया के जरिए शेयर की। सोशल मीडिया पर इन दोनों की सभी तस्वीरें काफी पसंद की गई।दुल्हन बनी प्रियंका चोपड़ा लाल शादी के जोड़े में किसी परी से कम नहीं लग रही थी। प्रियंका चोपड़ा अपनी इंडियन वेडिंग के लिए सब्यसाची को चुना। वैसे आपको यह भी बता दें, प्रियंका ने पहले ही अपनी शादी की तस्वीरों के राइट्स बेच दिए थे। शायद यही वजह थी की इस शादी की ज्यादा तस्वीरें शेयर नहीं की गई थी। लेकिन अब खुद सब्यसाची मुखर्जी ने कुछ तस्वीरें इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर किए है।बता दें, प्रियंका ने इंडियन वेडिंग के लिए सब्यसाची का डार्क रेड कलर का लहंगा चुना था। इसमें लाल धागे की कढ़ाई की हुई दिखी।सब्यूसाची मुखर्जी ने एक नहीं प्रियंका चोपड़ा की शादी की कई तस्वीरें शेयर की है। इसमें वो काफी खुबसूरत लग रही थी।मिली जानकरी के मुताबिक, प्रियंका चोपड़ा के इस लहंगे को पूरे 110 कोलकाता के कारीगरों ने मिलकर तैयार किया है। इस लहंगे को बनाने के लिए 3,720 घंटों का वक्त लगा है।प्रियंका ने पहनी हुई ज्वेदलरी भी पन्ना, अनकट डायमंड और जपानी मोतियों से बनी है। यह खास ज्वेयलरी 22 कैरेट गोल्डप में बने हैं। प्रियंका के अलावा उनका दूल्हाा निक ने भी सब्यासाची की ही डिजाइनर शेरवानी में दिखें थे।

दीपिका पादुकोण और प्रियंका चोपड़ा इन दोनों अपनी शादी को लेकर सुर्खियों में बनी हुई है। इसी बीच अब बड़ी खबर सामने आ रही है। इससे ये साबित हो गया है की शादी के बाद भी दीपिका पादुकोण का जलवा लगातार कायम है। जी हां, मिली जानकरी के मुताबिक, दीपिका पादुकोण अब एशिया की 50 सबसे सेक्सियस्ट महिलाओं की टॉप पर पहुंच गई हैं। वैसे, प्रियंका चोपड़ा भी इस लिस्ट में शामिल है। प्रियंका को इस लिस्ट में दूसरा स्थान मिला है। हाल में प्रियंका ने अमेरिकन सिंगर निक जोनास से शाही अंदाज में शादी रचाई है। सेक्सियस्ट महिलाओं की यह लिस्ट बुधवार को जारी हुई। पिछले साल इस लिस्ट में प्रियंका चोपड़ा टॉप पर थी लेकिन इस बार दीपिका ने उनको पीछे किया है।'दीपिका और प्रियंका के अलावा टीवी एक्ट्रेस निया शर्मा भी इस लिस्ट में है। निया शर्मा की इसमें तीसरा नंबर मिला है। आपको बता दें, पिछले दोनों निया शर्मा इस लिस्ट में प्रियंका के बाद दुसरे स्थान पर थी। दीपिका, प्रियंका और निया के बाद चौथे नंबर पर पाकिस्तानी की खूबसूरत अभिनेत्री एक्ट्रेस माहिरा खान ने अपना नाम दर्ज कराया है। तो वहीँ पांचवे नंबर पर टीवी एक्ट्रेस शिवांगी जोशी का नाम सामने है। बता दें, शिवांगी जोशी सीरियल यह रिश्ता क्या कहलाता है में नायरा की भूमिका में नजर आ रही है। उनके इस किरदार ने उन्हें घर-घर में मशहूर किया है। शायद यही वजह है की शिवांगी जोशी सीधा टॉप 5 में आ गईं।इंग्लैंड की पत्रिका यूके इस्टर्न आई विकली के संपादकर ने दीपिका पादुकोण के बारे में कहा, 'दीपिका पादुकोण हमेशा जमीन से जुड़ी रहती हैं। यही उनकी खासियत है जो उनको सबसे अलग और स्पेशल बनाती है।'

रजनीकांत और अक्षय कुमार की फिल्म ‘2.0’ को बॉक्स ऑफिस पर अब तक केवल 7 ही दिन हुए हैं और इसने कई रिकॉर्ड्स तोड़ जाले हैं। फिल्म ने अपनी शानदार कमाई के जरिए यह साबित कर दिया है कि 'थलाइवा' के आगे कोई भी नहीं टिक सकता है। फिल्म बॉक्स ऑफिस पर लगातार जबरदस्त प्रदर्शन कर रही है। अपनी इस रिपोर्ट में हम आपके सामने लेकर आए हैं रजनीकांत की इस फिल्म के 7 ऐसे रिकॉर्ड्स, जिनको भविष्य में तोड़ पाना किसी भी फिल्म के लिए आसान नहीं होगा।
हिन्दी क्षेत्र में रजनीकांत की सबसे कमाऊ फिल्म बनी ‘2.0’:-‘2.0’ से पहले रजनीकांत की कोई भी फिल्म हिन्दी भाषी क्षेत्रों में 100 करोड़ के पार नहीं निकल पायी थी लेकिन डायरेक्टर शंकर की साई-फाई फिल्म ने यह कारनामा करके दिखा दिया है। अब ‘2.0’ रजनीकांत की हिन्दी भाषी क्षेत्रों में सबसे कमाई फिल्म बन गई है।
साउथ सिनेमा की दूसरी सबसे बड़ी हिन्दी डब्ड फिल्म;-अगर बात की जाए बॉलीवुड में रिलीज हुई साउथ की हिन्दी डब्ड फिलम्स की तो रजनीकांत की ‘2.0’ वो दूसरी फिल्म बन गई है, जिसने हिन्दी भाषी क्षेत्र में सबसे ज्यादा कमाई की है। इससे आगे इस समय केवल प्रभाष की ‘बाहुबली 2’ है।
'बाहुबली 2' के बाद भारतीय सिनेमा की दूसरे सबसे बड़ी ओपनर:-रिलीज के पहले ही दिन रजनीकांत के फैंस ने उनकी फिल्म ‘2.0’ को दर्शकों से जबरदस्त रिस्पांस मिला था, जिसके चलते यह भारतीय सिनेमा की दूसरी सबसे बड़ी ओपनर बन पायी थी। भारत की सबसे बड़ी ओपनर का खिताब ‘बाहुबली 2’ के नाम है।
अक्षय कुमार की दूसरी सबसे कमाऊ फिल्म बनी ‘2.0’ हिन्दी:-‘2.0’ में एक्टर अक्षय कुमार विलेन के किरदार में नजर आ रहे हैं, लोगों ने इस फिल्म में उनके अभिनय की जमकर तारीफ की है। अब ‘2.0’ हिन्दी अक्षय कुमार के करियर की दूसरी सबसे कमाई फिल्म बन गई है। ट्रेड के अनुसार ‘2.0’ 8वें दिन अक्की की सबसे कमाऊ फिल्म बन जाएगी।
साल 2018 की सबसे बड़ी ओपनर बनी अक्की और थलाइवा की ‘2.0’:-आमिर भी फिल्म ‘ठग्स ऑफ हिन्दोस्तान’ ने पहले दिन बंपर कमाई की थी, जिसके साथ यह साल 2018 की सबसे बड़ी ओपनर बन गई है। इससे पहले यह खिताब आमिर खान की ठग्स ऑफ हिन्दोस्तान के नाम था।
रोबोट सीरीज की सबसे कमाऊ फिल्म:-‘2.0’ रजनीकांत की हिट फिल्म ‘रोबोट’ का सीक्वल है। इस हिसाब से अगर हम इम दोनों फिल्मों की कमाई को देखें तो ‘2.0’, ‘रोबोट’ सीरीज की सबसे कमाऊ फिल्म बन चुकी है।
सबसे बड़ी चेन्नई ओपनर बनी ‘2.0’:-‘2.0’ के साथ रजनीकांत ने खुद के बनाए पिछले रिकॉर्ड्स को भी तोड़ डाले हैं। अगर बात की जाए केवल चेन्नई की तो इस फिल्म ने अपने पहले दिन काला, सरकार और मर्सेल को धराशायी कर दिया था और वहां की सबसे बड़ी ओपनर का खिताब अपने नाम कर लिया था

 

 

 

वाशिंगटन। ट्रंप प्रशासन ने कहा है कि चीन के हिरासत शिविरों में अल्पसंख्यक समुदायों के आठ लाख से लेकर 20 लाख तक लोगों को बंदी बनाकर रखा गया है। देश में मानवाधिकारों का बड़े पैमाने पर हो रहा उल्लंघन गंभीर चिंता की बात है।अमेरिकी संसद के उच्च सदन सीनेट की विदेश मामलों की समिति के समक्ष पेश हुए ह्यूमन राइट डेमोक्रेसी एंड लेबर ब्यूरो के डिप्टी असिस्टेंट सेक्रेटरी स्कॉट बुस्बी ने कहा, 'चीन दमनकारी कदमों का समर्थन करता है। अमेरिकी सरकार का आकलन है कि अप्रैल, 2017 तक चीनी अधिकारियों ने उइगर मुस्लिम, कजाख और अन्य अल्पसंख्यक समुदायों के करीब 20 लाख लोगों को बंदी बना रखा था।' उन्होंने कहा कि बंदी बनाए गए लोगों पर कोई आरोप भी तय नहीं किया गया है। ज्यादातर परिवारों को यह भी नहीं पता कि उनके अपने कहां हैं?
हिरासत शिविरों को शिक्षा केंद्र बताता है चीन:-स्कॉट ने कहा कि चीन पहले अपने यहां इस तरह के हिरासत शिविरों के अस्तित्व को ही नकारता था। बाद में जब इनके बारे में कई मामले सामने आए तो चीनी अधिकारियों ने कहा कि वे व्यावसायिक शिक्षा केंद्र हैं। जबकि, सच्चाई यह है कि इन हिरासत केंद्रों में कई जाने-माने उइगर बुद्धिजीवी और रिटायर पेशेवर भी कैद हैं।
मस्जिदों को बना दिया कम्युनिस्ट पार्टी का प्रचार केंद्र:-स्कॉट बुस्बी ने यह आरोप भी लगाया कि पश्चिमी चीन के उइगर मुस्लिम बहुल शिनजियांग प्रांत में हालात बहुत बदतर हैं। प्रांत में हजारों मस्जिदों को बंद करा दिया गया या तोड़ दिया गया। इनमें से कुछ को सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी का प्रचार केंद्र बना दिया गया है। उइगरों पर कई तरह की बंदिशें लगाई गई हैं। उनकी कड़ी निगरानी भी की जाती है।

 

संयुक्त राष्ट्र। भारत की पूर्व राजनयिक प्रीति सरन को संयुक्त राष्ट्र (यूएन) की आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक अधिकार समिति (सीईएससीआर) की एशिया-प्रशांत सीट के लिए निर्विरोध चुन लिया गया है। विदेश मंत्रालय में सचिव पद से सेवानिवृत्त सरन को भारत ने नवंबर में इस सीट के लिए नामित किया था।सीईएससीआर 18 सदस्यीय विशेषज्ञ समिति है। यह समिति आर्थिक, सामाजिक एवं सांस्कृतिक अधिकारों से जुड़े अंतरराष्ट्रीय अनुबंधों के क्रियान्वयन की निगरानी करती है।समिति में सरन का चार साल का कार्यकाल एक जनवरी से शुरू होगा। भारत के पूर्व राजनयिक चंद्रशेखर दासगुप्ता पहले से ही सीईएससीआर के सदस्य हैं। सरन के चुने जाने पर यूएन में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने ट्वीट किया, 'प्रीति सरन को चुनने के लिए सभी मित्रों का धन्यवाद। सरन अपनी विशेषज्ञता के आधार पर सीईएससीआर की सदस्य के तौर पर कार्य करेंगी।'

वाशिंगटन। अमेरिका की निजी अंतरिक्ष कंपनी स्पेसएक्स का ड्रैगन अंतरिक्ष यान छह हजार पाउंड (करीब 2700 किलोग्राम) सामान लेकर अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (आइएसएस) के लिए रवाना हो गया। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के लिए स्पेसएक्स के यान का यह 16वां अभियान है।ड्रैगन ने बुधवार को फ्लोरिडा के केप केनवेरेल एयर फोर्स स्टेशन के स्पेस लांच कांप्लेक्स से स्थानीय समयानुसार दोपहर 1.16 बजे उड़ान भरी। नासा के अनुसार, ड्रैगन अपने साथ विभिन्न उपकरणों के अलावा आइएसएस के रखरखाव व प्रयोगों में मदद के लिए अन्य जरूरी सामान भी ले गया है।ड्रैगन दो दिन बाद आइएसएस के करीब पहुंचेगा। ह्यूस्टन स्थित नासा के जॉन स्पेस सेंटर के आइएसएस डिप्टी प्रोग्राम मैनेजर जोएल मोन्टालबानो ने कहा, यान का प्रक्षेपण शानदार रहा। ड्रैगन जनवरी में पृथ्वी पर लौटेगा।

वॉशिंगटन। जापान के समुद्री तट पर गुरुवार की सुबह दो अमेरिकी सैन्य विमानों में टक्कर हो गई। हवा से हवा में ईधन भरने की एक नियमित प्रक्रिया के दौरान यह हादसा हुआ। दोनों विमानों ने जापान के इवाकुनी स्थित मरीन कॉ‌र्प्स एयर स्टेशन से उड़ान भरी थी। हादसे में 5 नौसैनिक लापता बताए जा रहे हैं।जापान के रक्षा मंत्रालय ने बताया कि टक्कर एफ/ए-18 और केसी-130 हरक्यूलिस विमानों के बीच हुई। दोनों विमानों में कुल सात नौसैनिक सवार थे। इनमें से दो नौसैनिकों को बचा लिया गया है और अन्य पांच की तलाश के लिए बचाव अभियान चल रहा है। जापान के रक्षामंत्री ताकेशी इवाया ने कहा, 'फिलहाल हमारा ध्यान तलाश और बचाव अभियान पर है। घटना की पूरी जानकारी मिलने के बाद ही जापान इस पर कोई टिप्पणी करेगा।' अमेरिकी राजदूत विलियम हेगर्टी ने बचाव कार्यो में तत्परता के लिए जापानी सेना की प्रशंसा की और बताया कि हादसा हवा से हवा में ईधन भरने की एक नियमित प्रक्रिया के दौरान हुआ।हाल के कुछ वर्षो में अमेरिका की सैन्य हवाई दुर्घटनाएं तेजी से बढ़ी हैं। द मिलिट्री टाइम्स के मुताबिक 2013 से 2017 के बीच हवाई दुर्घटनाओं में 40 प्रतिशत की वृद्धि हो गई। इन हादसों में 133 सैन्यकर्मियों की जान गई है। कई अमेरिकी सांसदों का कहना है कि सैन्य अभियानों की अधिकता व आधुनिकीकरण पर ध्यान नहीं दिए जाने के कारण हादसे हो रहे हैं। जापान में भी अमेरिकी सैन्य हादसे चिंता का कारण बने हुए हैं, विशेषरूप से दक्षिणी प्रांत ओकीनावा के लोगों में। यहां अमेरिकी सेना की बड़े पैमाने पर उपस्थिति है।

एडिलेड। पहले टेस्ट मैच की पहली पारी के पहले दिन भारतीय टीम के हीरो रहे चेतेश्वर पुजारा ने कहा कि टीम के टॉप ऑर्डर के बल्लेबाज को ज्यादा अच्छी बल्लेबाजी करनी चाहिए। पहले टेस्ट के पहले दिन पुजारा ने अपने टेस्ट करियर का 16वां शतक लगाया और खेल खत्म होने तक भारतीय टीम ने 9 विकेट खोकर 250 रन बना लिए थे। एक वक्त पर भारतीय टीम की स्थिति काफी खराब थी और टीम के छह बल्लेबाज 127 रन के स्कोर पर पवेलियन लौट चुके थे। पुजारा ने कहा कि हमें और ज्यादा अच्छी बल्लेबाजी करनी चाहिए थी, लेकिन कंगारू टीम ने पहले दो सेशन में काफी अच्छी गेंदबाजी की। मैं जानता था कि मुझे धौर्य बनाए रखना है और खराब गेंद का इंतजार करना है। मेहमान टीम के गेंदबाज बिल्कुल सही जगह पर गेंदबाजी कर रहे थे। मुझे ऐसा महसूस हुआ कि हमारी टीम के टॉप ऑर्डर के बल्लेबाजों को ज्यादा अच्छी बल्लेबाजी करना चाहिए थी, लेकिन वो अपनी इन गलतियों से जरूर सीखेंगे। मुझे उम्मीद है कि दूसरी पारी में हम अच्छी बल्लेबाजी करेंगे। पुजारा ने कहा कि जहां तक मेरी पारी का सवाल है तो मैंने इसके लिए काफी अच्छी तैयारी की थी और मेरे पास फर्स्ट क्लास और टेस्ट क्रिकेट का काफी अनुभव है जो मेरे काम आया। पुजारा ने आर अश्विन और इशांत शर्मा के साथ आखिरी में शानदार पार्टनरशिप की जिससे ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज थक गए थे। पुजारा की इस पारी की वजह से भारतीय टीम का स्कोर वहां पहुंच गया है जहां टीम फाइट कर सकती है। उन्होंने कहा कि बल्लेबाजी के लिए ये विकेट आसान नहीं थी और इसकी वजह से अपना शॉट खेलने के लिए उन्होंने काफी वक्त लिया। जब आप निचले क्रम के बल्लेबाजों के साथ खेल रहे होते हैं तो आपको पता नहीं होता कि वो कितनी देर तक क्रीज पर टिके रहेंगे। आप उस वक्त चांस नहीं ले सकते जिस तरह के चांस आप टॉप ऑर्डर के बल्लेबाजों के साथ खेलते हुए ले सकते हैं। शतक लगाने वाले पुजारा ने बताया कि मैंने दो सेशन में बल्लेबाजी की और मुझे पता चल गया था कि पिच पर गेंद कितनी तेज आ रही है और कितनी बाउंस होगी। मैं क्रीज पर पूरी तरह से सेट हो चुका था जिसकी वजह से अपने शॉट्स खेल पाया। आखिरी वक्त पर आउट होने से मैं काफी निराश हूं। मैं एक रन लेना चाहता था क्योंकि सिर्फ दो गेंद बचे थे और मैं स्ट्राइक पर रहना चाहता था। मैंने चांस लिया लेकिन पैट कमिंग ने काफी अच्छी फील्डिंग की। पुजारा मैच के पहले दिन की आखिरी गेंद पर रन आउट हो गए थे।उन्होंने कहा कि पहली पारी में 250 का स्कोर अच्छा टोटल है क्योंकि पिच पर काफी टर्न है। अश्विन अभी खेलने आएंगे। ये विकेट बल्लेबाजी के लिए मुश्किल है। जब आप टीवी पर मैच देख रहे होते हैं तो आपको पता नहीं लग पाता कि पिच कैसा बर्ताव कर रहा है, लेकिन जब मैं पहले और दूसरे सेशन में बल्लेबाजी कर रहा था तो मैंने महसूस किया कि बल्लेबाजी करना आसान नहीं है। वहीं मैं अपने तेज गेंदबाजों से अपना अनुभव शेयर करते हुए ये बताउंगा कि इस पिच पर किस लाइन और लेंथ से गेंदबाजी करनी चाहिए।

 

नई दिल्ली। आइपीएल 2019 के लिए खिलाड़ियों की निलामी जयपुर में 18 दिसंबर को होगी, लेकिन पिछले दस वर्षों से इस निलामी के साथ जुड़े नीलामकर्ता रिचर्ड मेडले इस बार निलामी करते नजर नहीं आएंगे और ना ही उनकी आवाज सुनाई देगी। चश्मे से पीछे से देखते हुए रिचर्ड जिस प्यारे अंदाज में खिलाड़ियों की निलामी करते थे वो कमाल का था पर इस सीजन में फ्रेंचाइजी और फैंस उनके इस अंदाज को मिस जरूर करेंगे।आइपीएल के इस सीजन में रिचर्ड मेडले खिलाड़ियों की निलामी करते नजर नहीं आएंगे। रिचर्ड आइपीएल के शुरुआत से ही इसके साथ जुड़े हुए हैं। वो पूरी दुनिया में और भी कई बड़े टी 20 लीग के साथ जुड़े हुए हैं। हालांकि वो किस वजह से आइपीएल के इस सीजन में निलामी नहीं करेंगे इसका पता नहीं चल पाया है लेकिन उनकी जगह कौन लेगा इसकी घोषणा कर दी गई है। रिचर्ड की जगह इस बार ह्यूज एडमिड्स लेंगे जो क्लासिक कारों और चैरिटी में निलामी करते हैं। उनके पास इस फिल्ड में काम करने का 30 वर्ष का अनुभव है। ये जानकारी आइपीएल की आधिकारिक वेबसाइट के जरिए दी गई। इसके अलावा रिचर्ड ने भी अपने ट्विटर पर इसकी जानकारी दी साथ ही इस निलामी का हिस्सा नहीं बनने पर अपनी मायूसी जाहिर की। उन्होंने लिखा कि मैं इस बार की निलामी में शामिल नहीं हो रहा हूं। मैं आइपीएल के शुरुआत से इसका हिस्सा रहा ये मेरे लिए बेहद सम्मान की बात है। मैं अपने काफी सारे दोस्तों और फैंस को मिस करूंगा। इसके अलावा उन्होंने ह्यूज का वेलकम किया। सबसे बड़ी बात ये कि रिचर्ड सिर्फ इस आइपीएल निलामी में हिस्सा नहीं लेंगे या आगे भी वो इस इवेंट का हिस्सा नहीं होंगे। इस बात की जानकारी बीसीसीआइ की तरफ से नहीं दी गई है।

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के धुरंधर बल्लेबाज युवराज सिंह इन दिनों टीम इंडिया से बाहर चल रहे हैं साथ ही उनके बल्ले से रन भी नहीं निकल रहे। अब अगले आइपीएल की निलामी 18 दिसंबर को होगी और इसके लिए युवराज सिंह ने अपने हालिया प्रदर्शन को देखते हुए अपनी बेस प्राइस घटा दी है। अब तक युवी की बेस प्राइस दो करोड़ रुपए थी लेकिन इस बार उन्होंने इसे घटाकर एक करोड़ कर दिया है।पिछले आइपीएल में युवराज को उनकी घरेलू टीम पंजाब ने उनके बेस प्राइस यानी दो करोड़ में खरीद लिया था। अब पंजाब ने उन्हें अगले सीजन के लिए रीलिज कर दिया है। अब युवी एक बार फिर से अपने नए बेस प्राइस के साथ निलामी में उतरेंगे लेकिन देखने वाली बात ये होगी कि क्या उन्हें कोई टीम अपने साथ शामिल भी करती है या नहीं। आइपीएल के दसवें सीजन में पंजाब के लिए खेलने वाले युवराज का प्रदर्शन काफी खराब रहा था। उन्होंने अपनी टीम के लिए आठ मैच खेले जिसमें उन्होंने सिर्फ 65 रन बनाए थे। इस सीजन में उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 20 रन था। उनके इस खराब प्रदर्शन से निराश होकर पंजाब फ्रेंचाइजी ने उन्हें टीम से बाहर करना ही बेहतर समझा। आइपीएल के बाद युवी ने घरेलू टूर्नामेंट्स में भी एकाध पारी को छोड़कर कुछ खास नहीं किया है। आइपीएल में युवी पंजाब, पुणे, बैंगलोर, दिल्ली, हैदराबाद की टीम की तरफ से खेल चुके हैं।युवी के आइपीएल करियर की बात करें तो उन्होंने अब तक सभी सीजन में हिस्सा लिया है। इन दस सीजन में उन्होंने 128 मैच खेले हैं जिसमें 24.78 की औसत से 2652 रन बनाए हैं। उनका स्ट्राइक रेट 129.68 का रहा है। आइपीएल में वो एक भी शतक नहीं लगा पाए हैं और उनका बेस्ट स्कोर 83 रन रहा है। युवी के नाम पर 12 अर्धशतक हैं और आइपीएल में उन्होंने अब तक 210 चौके और 143 छक्के लगाए हैं। 128 मैचों में उन्होंने 36 विकेट भी झटके हैं और 29 रन देकर चार विकेट उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा है।
आइपीएल के लिए प्रमुख खिलाड़ियों की बेस प्राइस-
2 करोनड़: ब्रैंडन मैकुलम, कोरी एंडरसन, क्रिस वोक्स, एंजेलो मैथ्यूज, लसिथ मलिंगा, सैम करन, डार्सी शॉर्ट, शॉन मार्श और कॉलिन इनग्राम
1.5 करोड़: जयदेव उनादकट व डेल स्टेन
1 करोड़: युवराज सिंह, मोहम्मद शमी, ऋद्धिमान साहा और अक्षर पटेल

Page 9 of 3429

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें