वैंकूवर। उइगर मुस्लिमों पर अत्याचार के मामलों की संयुक्त राष्ट्र वाकई गंभीरता से जांच करना चाहता है तो उसे वहां से आ रही जानकारियों पर भरोसा करना पड़ेगा। चीन नहीं चाहेगा कि आधिकारिक रूप से कोई उसके शिनजियांग क्षेत्र में जांच करे। यह बात उइगर मुस्लिमों के अधिकारों के लिए लड़ने वाली मेतसेदिक-किरा ने कही। उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र को इस गभीर मसले पर दखल देना चाहिए।मेतसेदिक 2006 में भागकर कनाडा पहुंच गई थीं। तब से चीन में रह रहे उनके परिवार के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है। उन्होंने कहा कि चीन की सरकार झूठ बोलने में माहिर है। यह भी सही है कि आधिकारिक रूप से जांच करने वाली किसी भी टीम को इस क्षेत्र में चीन नहीं जाने देगा। ऐसे में संयुक्त राष्ट्र ही वहां हो रहे जनसंहार को रोक सकता है।उल्लेखनीय है कि सितंबर माह में दो दर्जन से अधिक मानवाधिकार संगठनों और 16 मानवाधिकारों के विशेषज्ञों ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद से शिनजियांग प्रांत में हो रहे उत्पीड़न और नरसंहार के मामलों को जांचने की मांग की थी। कनाडा में रहने वाले उइगरों ने चीन के खिलाफ प्रदर्शन भी किया है। इस महीने की शुरुआत में, कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने स्वीकार किया कि चीन में में चीनी प्रवासी का उत्पीड़न को बढ़ गया है।हाल ही में, सीबीसी के साथ एक टेलीविज़न साक्षात्कार में संयुक्त राष्ट्र में कनाडा के राजदूत बॉब राए ने मानवाधिकार परिषद से शिनजियांग में चीन की कार्रवाई की जांच करने की मांग की थी। उइगर अधिकारों के लिए लड़ने वाले लोगों को कनाडाई संस्थानों के हालिया बयानों की उम्मीद जगी है। इस बीच पोप फ्रांसिस ने पहली बार चीनी मुस्लिम उइगरों को 'सताया हुआ' बताया है और अल्पसंख्यकों पर चीन के अत्याचारों पर अपनी चुप्पी तोड़ी है। मानवाधिकार कार्यकर्ता लंबे समय से पोप से शिनजियांग मुद्दे पर अपनी टिप्पणी जारी करने का आग्रह कर रहे थे।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें