वाशिंगटन। उपराष्ट्रपति पद की डेमोक्रेटिक प्रत्याशी कमला हैरिस ने ट्रंप पर निशाना साधते हुए कहा, अमेरिका के इतिहास में ट्रंप का कार्यकाल पूरी तरह विफल प्रशासन के रूप में याद किया जाएगा। कोरोना से लड़ने में भी ट्रंप नाकाम रहे हैं।हैरिस ने कहा कि अमेरिका को अब ऐसे राष्ट्रपति की आवश्यकता है जो जनता से सच बोलता हो और वैज्ञानिक आधार पर योजना बनाकर तथ्यों और सच के साथ आगे बढ़े। ट्रंप की नाकामी के ही कारण आज लाखों लोग पीडि़त हैं।हैरिस ने एमएसएनबीसी को बुधवार को दिए एक साक्षात्कार में जो बिडेन को एक सक्षम राष्ट्रपति का उम्मीदवार बताते हुए कहा कि उनके पास कोविड से लड़ने के लिये इलाज, टेस्टिंग और वैक्सीन के लिये पूरी राष्ट्रीय योजना है। जो अमेरिकी जनता को मुफ्त में दी जाएगी।

अमेरिका में कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा डराने वाला:-हैरिस ने कहा, आप पीछे मुड़कर देखिए किस तरह से ट्रंप और उनके प्रशासन ने कोरोना से पूरी विफलता के साथ लड़ाई लड़ी है। इसी कारण यह महामारी लगभग पांच गुना ज्यादा विनाशकारी साबित हुई। ये भी देखना चाहिए कि उन्होंने क्या जाना और क्या जानना चाहिए था। यही कारण है कि अमेरिका में संक्रमित होने और मरने वालों का आंकड़ा भी डराने वाला है। अब ऐसा राष्ट्रपति होना चाहिए जो सभी स्थितियों को समझ सके।चुनाव में जनता देखे कि एक तरफ सभी स्थितियों समझने और योजना के साथ चलने वाले जो बिडेन जैसे प्रत्याशी हैं, दूसरी तरफ महामारी में मास्क जैसी आवश्यक चीज की भी मंच से हंसी उड़ाने वाले हैं। हमने अपने पूरे चुनाव अभियान में कोरोना से लड़ने के सभी नियमों क सख्ती से पालन किया है।

डोनाल्ड ट्रंप ने जो बिडेन को बताया था सबसे खराब प्रत्याशी;-अमेरिका में राष्‍ट्रपति पद का चुनाव दिलचस्‍प मोड़ पर पहुंच गया है। इन दिनों दोनों ओर से आरोप-प्रत्‍यारोप का दौर जारी है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने राष्ट्रपति पद के अपने प्रतिद्वंद्वी जो बिडेन को 'अमेरिका के इतिहास में सबसे खराब उम्मीदवार' करार दिया और इसके लिए डेमोक्रेटिक नेता की हालिया कुछ गलतियों पर जमकर हमला बोला था।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें