वाशिंगटन। तमाम चुनावी सर्वे में आगे चल रहे डेमोक्रेट प्रत्याशी जो बिडेन पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के हमले तीखे होते जा रहे हैं। ट्रंप ने कहा कि चीन को लेकर बिडेन कमजोर हैं और बिडेन परिवार सीधे चीनी सेना को हमारा देश 'बेच' रहा है। वह यहां तक कह गए कि यदि कभी बिडेन चुनाव जीते तो चीन ही अमेरिका का मालिक होगा। ट्रंप व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से मुखातिब थे।

चीन के मामले में बिडेन कमजोर;-ट्रंप ने कहा, 'चीन के मामले में बिडेन कमजोर हैं। कल इस बात का पता चला कि एक बड़े चीनी सैन्य रक्षा ठीकेदार को मिशिगन की ऑटो पा‌र्ट्स निर्माता कंपनी की बिक्री संभव बनाने में एक अमेरिकी कंपनी का हाथ था। यह वही कंपनी है, जिसका आंशिक मालिकाना हक बिडेन के बेटे हंटर के पास है। हंटर बिडेन के पास शंघाई की निजी इक्विटी फर्म बोहाई हार्वेस्ट आरएसटी की दस फीसद हिस्सेदारी है।'

मिशिगन की नौकरियां चीन को बेचीं:-ट्रंप ने पत्रकारों को भी लपेटा। उन्‍होंने कहा- आप मिशिगन संबंधी वित्तीय लेन-देन की खबरें नहीं दे रहे हैं। आप इस बारे में लिखना ही नहीं चाहते। क्या आप लिखना चाहते हैं? बिडेन ने अपने पूरे करियर में मिशिगन की नौकरियां चीन को बेचीं। राष्ट्रपति ने कहा कि अब तो बिडेन परिवार सीधे चीनी सेना को हमारा देश बेच रहा है। अब अचानक वह चीन को मिशिगन की कंपनियां बेच रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि चीनी सेना को अमेरिकी मैन्युफैक्चरिंग की नौकरियां मिलीं और बिडेन परिवार ने इसके बदले पैसे लिए।

वैक्‍सीन लाने में बाधा डालने का लगाया आरोप;-अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने यह भी आरोप लगाया कि कोरोना वैक्सीन लाने की राह में बिडेन बाधा डाल रहे हैं। कहा-बिडेन ने तो वैक्सीन के खिलाफ जनता के बीच अभियान ही छेड़ दिया है। यह बहुत गलत है, क्योंकि आने वाली हमारी कई वैक्सीन लाजवाब हैं। बिडेन चुनावी लाभ के लिए दूसरे लोगों की जिंदगी खतरे में डाल रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि उपराष्ट्रपति रहते हुए बिडेन यह नहीं समझ पाए थे कि स्वाइन फ्लू बहुत घातक है।

हैरिस के निशाने पर ट्रंप:-उपराष्ट्रपति पद की डेमोक्रेट प्रत्याशी कमला हैरिस ने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर ट्रंप ने अमेरिकी लोगों को जानबूझ कर गुमराह किया। चंदा जुटाने के एक वर्चुअल कार्यक्रम के दौरान अमेरिका के खोजी पत्रकार बॉब वुडवर्ड की नई किताब 'रेज' का उल्लेख करते हुए हैरिस ने कहा कि ट्रंप कोरोना को लेकर झूठ बोलते रहे, क्योंकि उन्हें डर था कि सच सामने आने से उन्हें नुकसान होगा। ट्रंप ने वायरस पैदा नहीं किया, लेकिन वह अपना फर्ज भी नहीं निभा पाए। खासकर संकट के क्षणों में, नेता की यह जिम्मेदारी होती है कि वह न केवल हमें बचाए, बल्कि सच्चाई भी बताए। ट्रंप ने ऐसा नहीं किया। एक राष्ट्रपति के लिए यह अक्षम्य है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें