केप केनवेरल। अमेरिका के दो अंतरिक्ष यात्री अब वापसी की तैयारी कर रहे हैं। 45 साल बाद किसी अंतरिक्ष यान की समुद्र में लैंडिंग होगी। अंतरिक्ष यात्रियों ने वो जीवनरक्षक बैग भी तैयार रखा है, जो लैंडिंग के दौरान घबराहट या बेचैनी से बचाता है।अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा और निजी कंपनी स्पेस-एक्स ने डग हर्ले व बॉब बेनकेन को अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन से वापस बुलाने की तैयारी पूरी कर ली है। रविवार को दोपहर बाद निजी कंपनी के ड्रैगन कैप्सूल से इन्हें फ्लोरिडा के पास मैक्सिको की खाड़ी में उतारने की योजना है। इसके मद्देनजर उस तूफान पर करीबी नजर रखी जा रही है, जिसके फ्लोरिडा के पूर्वी तट से टकराने की आशंका है।
अन्य उपकरणों की ठीक से कल लगी गई जांच:-अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन से अंतिम न्यूज कांफ्रेंस के दौरान हर्ले ने कहा कि समुद्र में लैंडिंग के दौरान अगर तबियत बिगड़ती है तो यह कोई पहली बार नहीं होगा। 1970 के दशक में नासा के पहले स्पेस स्टेशन स्काईलैब से जब अंतरिक्ष यात्री लौट रहे थे, उन्होंने भी समुद्र में लैंडिंग के वक्त अच्छा महसूस नहीं किया था। हर्ले ने कहा कि ड्रैगन कैप्सूल में मौजूद सभी आपातकालीन व अन्य उपकरणों की ठीक से जांच कर ली गई है। यहां हर चीज दुरुस्त है, इसलिए हमें उम्मीद है कि समुद्र में लैंडिंग के दौैरान कुछ अलग नहीं होगा।2011 के बाद पहली बार अमेरिका का कोई मानव मिशन अंतरिक्ष में गया है। नासा ने केनेडी स्पेस सेंटर से 30 मई को यह मिशन रवाना किया था। अंतरिक्ष यात्री 31 मई से ही इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन पर हैं। इस दौरान अंतरिक्ष में चहलकदमी करने के अलावा इन्होंने कई प्रयोग भी किए हैं।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें