वाशिंगटन। एक दिन पहले ही यानी गुरुवार को डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों को टालने का सुझाव दिया था। वहीं, अब ट्रप ने नवंबर में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव टालने वाले सुझाव को वापस ले लिया है। चुनाव से पूर्व अमेरिकी अखबारों और टीवी चैनलों में आ रहे जनमत सर्वेक्षणों से ट्रंप की मुश्किलें बढ़ गईं हैं। अपने दूसरे कार्यकाल के लिए ट्रंप को डेमोक्रेटिक उम्मीदवार और पूर्व उप राष्ट्रपति जो बिडेन से कड़ी चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। आ रहे सर्वेक्षणों में प्रतिद्वंदी उम्मीदवार जो बिडेन लगातार बढ़त बनाए हुए हैं।डोनाल्ड ट्रंप ने  गुरुवार को खुले तौर पर वोट में अनियमितताओं का हवाला देते हुए राष्ट्रपति चुनावों को स्थगित करने का विचार बनाया था। ट्रंप के इस सुझाव का विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी के नेताओं ने तुरंत आलोचना की थी। चुनाव टालने के सुझाव पर वह अपनी खुद की रिपब्लिकन पार्टी से समर्थन हासिल करने में भी विफल रहे।

चुनाव में नहीं चाहता देरी: ट्रंप;-वहीं, अब एक दिन बाद डोनाल्ड ट्रंप ने अपना सुझाव वापस ले लिया है। ट्रंप ने कहा 'मैं देरी नहीं करना चाहता। मैं समय पर ही चुनाव करना चाहता हूं। लेकिन मैं यह भी नहीं चाहता कि मुझे तीन महीने तक इंतजार करना पड़े और फिर पता चले कि मतपत्र गायब हैं और चुनाव का कोई मतलब नहीं है।' अमेरिकी राष्ट्रपति ने ये बातें एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहीं हैं, जिसमें उनसे अमेरिकी राष्ट्रपति के चुनाव टालने को लेकर एक सवाल किया गया था। 

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें