हांगकांग । हांगकांग की विधायिका ने गुरुवार को एक विवादास्पद बिल को मंजूरी दे दी, जो चीनी राष्ट्रगान के अपमान को अवैध बनाता है। लोकतंत्र समर्थक विपक्षी सांसदों द्वारा वोटिंग को बाधित करने की कोशिशों के बावजूद कानून को मंजूरी दे दी गई। 41 सांसदों ने विधेयक के पक्ष में मतदान किया और इसके खिलाफ सिर्फ एक वोट पड़ा। लोकतंत्र समर्थक अधिकतर सांसदों ने मतदान का बहिष्कार किया। लोकतंत्र समर्थक खेमा राष्ट्रगान बिल को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और अर्ध स्वायत्त क्षेत्र को मिले अधिक अधिकारों के उल्लंघन के रूप में देखता है। बीजिंग समर्थक बहुमत के धड़े ने कहा कि हांगकांग के नागरिकों के लिए चीनी राष्ट्रगान के प्रति उचित सम्मान दिखाना जरूरी है।
इससे पहले लोकतंत्र समर्थक सांसदों के विरोध के बाद बहस को बीच में स्थगित करना पड़ा, क्योंकि एक सांसद ने तरल पदार्थ से भरा बर्तन गिरा दिया। सांसद ने कहा कि एक जानलेवा शासन 10 हजार वर्षो से बदबू मार रहा है। सांसद रे चैन एक चीनी कागज के अंदर छिपे बर्तन के साथ सामने की ओर बढ़े। जब सुरक्षा गार्डो ने उन्हें रोकने की कोशिश की, तो उन्होंने लालटेन और बर्तन को गिरा दिया। इसके बाद उन्हंे बैठक से बाहर निकाल दिया गया। उनका साथ देने वाले एक और सांसद को बाहर कर दिया गया। चैंबर को खाली कराया गया और घटना की जांच के लिए पुलिस और दमकलकर्मियों को बुलाया गया। जब बैठक फिर से शुरू हुई, लोकतंत्र समर्थक सांसद टेड हुई ने फिर से बैठक कक्ष के सामने कुछ तरल छिड़क दिया। उन्हें भी बाहर निकाल दिया गया।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें