नई दिल्ली। चीन के दो प्रांतों से निकला कोरोना वायरस अब दुनिया के लगभग सभी बड़े देशों में दस्तक दे चुका है। चीन के बाद अब इटली, इरान, अमेरिका में भी इससे मरने वालों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है। इस बीच कुछ छोटे देश और द्वीप ऐसे भी हैं जहां अब तक कोरोना का संक्रमण नहीं पहुंचा है। वहां लोग इस बीमारी से बचे हुए हैं। इस खबर के माध्यम से हम आपको दुनिया के उन चंद देशों के बारे में बता रहे हैं जहां पर अब तक कोरोना वायरस नहीं पहुंच पाया है। उन देशों में रहने वाले अपने को भाग्यशाली मान रहे हैं।
बड़े और ताकतवर देश झेल रहे मुसीबत:-दुनिया के ज्यादातर बड़े और ताकतवर देशों में इस बीमारी का प्रकोप फैला है। विशेष रूप से इटली, ब्रिटेन, स्पेन सहित अन्य यूरोपीय देशों में इसका अभी भीषण प्रभाव है, साथ ही अमेरिका के भी सभी राज्यों में कोरोना से प्रभावित रोगी मिले हैं। WORLDOMETERS.INFO नाम की वेबसाइट पर कोरोना वायरस के ताजा आंकड़े दुनियाभर को उपलब्ध करा रही है।साल 2020 के मुताबिक संयुक्त राष्ट्र ने दुनियाभर में 197 देशों को मान्यता दे रखी है, अगर इस हिसाब से देखा जाए तो दुनियाभर में कुल 21 देश ही बचे हैं जहां पर अभी तक कोरोना वायरस नहीं पहुंचा है। वेबसाइट के मुताबिक अब तक कोरोना वायरस दुनिया के लगभग 176 देशों में फैल चुका है। एक बार ये भी है कि कई देश अभी ऐसे भी हैं जहां पर कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या के आंकड़े अभी काफी कम है। यहां इक्का दुक्का मरीज पाए गए हैं, उनका इलाज चल रहा है।
कभी सुना है इन देशों का नाम, यहां नहीं कोरोना का खौफ:-दुनिया के जो देश अब भी इस बीमारी से बचे हुए हैं उनमें से ज्यादातर देश बेहद छोटे हैं और वैश्विक रूप से वो कटे हुए भी हैं। इनमें से कई देशों के नाम ऐसे हैं जिन्हें आम भारतीय लोगों ने अब तक शायद ही सुना या पढ़ा होगा। इनमें पलाउ (Palau), तुवालू (Tuvalu), वानुआतू (Vanuatu), तिमोर-लेस्टे (Timor-Leste), सोलोमन आईलैंड (Solomon Islands), सिएरा लियोनी (Sierra Leone), सामोआ (Samoa), सैंट विंसेंट एंड ग्रेनाडिनीज ( Saint Vincent and the Grenadines), सैंट किटिस एंड नेविस ( Saint Kitts and Nevis) जैसे देशों के नाम शामिल हैं। इनमें अभी तक कोरोना वायरस का कोई मामला नहीं पाया गया है।
कुछ देशों में इक्का दुक्का ही मरीज:-ये तो सर्वविदित है कि जिन शहरों में दूसरे देशों से लोगों का आवागमन बहुत अधिक है वहां कोरोना वायरस के अधिक मामले पाए जा रहे हैं, दूसरी ओर जिन शहरों में ऐसे लोगों की आवाजाही कम है वहां मरीज भी कम है। यही वजह है कि दुनिया के अधिकतर बड़े देश और शहर इस वायरस की चपेट में है। कुछ देश तो बुरी तरह से इसकी चपेट में है। फिजी, गांबिया, निकारगुआ, कांगो सहित अन्य कई देश हैं जहां पर एक या दो मरीज पाए गए हैं। एक बात और ध्यान देने वाली है कि अभी तक भारत के पड़ोसी देश नेपाल और भूटान में भी सिर्फ एक-एक मरीज ही सामने आया है।
तीन देशों में सबसे ज्यादा मृतक;-दुनियाभर में अब तक कोरोना के 3 लाख 86 हजार 932 केस सामने आ चुके हैं। संक्रमण से मरने वालों की संख्या 16 हजार 748 तक पहुंच गई है। ऐसा नहीं है कि कोरोना वायरस के संक्रमण से लोग ठीक नहीं हो रहे हैं। संक्रमण का शिकार हुए एक लाख दो हजार 393 मरीज ठीक भी हुए हैं। वर्तमान में दुनिया के तमाम इलाकों में दो लाख 67 हजार 791 लोग संक्रमित हैं और अपना इलाज करवा रहे हैं।दुनियाभर के मृतकों की कुल संख्या का ज्यादातर हिस्सा चीन, इटली और ईरान से है। चीन से इस वायरस की शुरुआत ही हुई थी। अब इटली और ईरान इस बीमारी के दो बड़े केंद्र बिंदु बन गए हैं, यहां पर मरने वालों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें