टोरंटो। दिल के स्वास्थ्य के लिए अंडे अच्छे हैं या बुरे, इस बारे में विवाद शायद अब हल हो सकता है, क्योंकि शोधकर्ताओं ने एक नए अध्ययन में पाया है कि दिन में एक अंडा खाने से दिल की बीमारियों का खतरा नहीं होता है।
अध्ययनों के आंकड़ों का विश्लेषण:-द अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लिनिकल न्यूट्रिशन में प्रकाशित मैकमास्टर यूनिवर्सिटी एंड हैमिल्टन हेल्थ साइंसेज के अध्ययन में तीन बड़े दीर्घकालिक बहुराष्ट्रीय अध्ययनों के आंकड़ों का विश्लेषण किया गया है।
दिन में एक अंडा खाने से हृदय रोगों का जोखिम नहीं रहता:-कनाडा की मैकमास्टर यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता और इस अध्ययन के प्रथम लेखक महशिद देघन ने कहा, 'दिन में एक अंडा खाने से हृदय रोगों का जोखिम नहीं रहता है। भले ही किसी व्यक्ति को पहले से ही कार्डियोवस्कुलर डिजीज यानी हृदय रोग हों।'उन्होंने कहा कि अध्ययन में अंडे खाने और ब्लड कोलेस्ट्रोल के बीच ऐसा कोई संबंध नहीं मिला जो बताता हो कि इससे कोई खतरा है और न ही इसके घटकों या अन्य जोखिम कारकों के बीच कोई संबंध पाया गया। देघन ने कहा, 'ये परिणाम स्वस्थ और हृदय रोग से ग्रसित दोनों लोगों के लिए मजबूत और व्यापक रूप से लागू होते हैं।'
अंडे आवश्यक पोषक तत्वों का सबसे सस्ता स्त्रोत:-अंडे आवश्यक पोषक तत्वों का सबसे सस्ता स्त्रोत है, लेकिन कुछ दिशानिर्देशों में कार्डियोवस्कुलर डिजीज से ग्रसित लोगों को सप्ताह में तीन अंडे खाने की ही सिफारिश की जाती है। वर्तमान अध्ययन में दिन में एक अंडे का सेवन स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद बताया गया है।
जंगली जानवरों के सेवन से फैला कोरोना वायरस:-जिस तरह से रैबीज के वायरस के लिए कुत्तों को जिम्मेदार माना जाता है ठीक उसी तरह से कोरोना वायरस के फैलने के लिए जंगली जानवरों के सेवन को जिम्मेदार माना जा रहा है। इसमें अभी तक सबसे बड़ी भूमिका चमगादड़ों की मानी जा रही है। चूंकि चीन में हर तरह से पशु पक्षी खाए जाते हैं, उनकी खरीद बिक्री वहां होती है।
वुहान है कोरोना वायरस का सबसे बड़ा केंद्र:-इसी वजह से इस बीमारी का केंद्र भी वहीं है। चीन के वुहान शहर में इन अजीबोगरीब जानवरों को खरीब-बिक्री की सबसे बड़ी मार्केट है, वहीं से इस खतरनाक वायरस का जन्म माना जा रहा है। वायरस इतना खतरनाक है कि जो इसकी चपेट में आ रहा है एक सप्ताह के दौरान उसकी मृत्यु निश्चित बताई जा रही है। फिलहाल चीन में तमाम वैज्ञानिक इस वायरस का टीका खोजने में लगे हुए हैं।

 

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें