नई दिल्ली। दक्षिणी चीन के एक रसायनिक कारखाने में मंगलवार को विस्फोट के साथ आग लग गई। आग लगने की सूचना मिलते ही कारखाने में मौजूद लोग भागने लगे। आग लगने के बाद कारखाने में मौजूद लोगों ने पहले खुद से ही आग बुझाने की कोशिश की मगर वो कामयाब नहीं हो पाए। इसी बीच फायर डिपार्टमेंट को भी इसकी सूचना दी गई, उनकी टीम मौके पर पहुंची, फिर आग बुझाने पर काम शुरू किया गया।फिलहाल आग लगने से किसी के हताहत होने की कोई सूचना नहीं है। झुहाई फायर ब्रिगेड ने घटनास्थल पर 40 दमकल गाड़ियों और 200 अग्निशामकों को भेजा। उसके दो घंटे बाद आग पर काबू पाया जा सका। सीसीटीवी ने बताया कि आसपास के शहर ग्वांगझू, Foshan, जियांगमेन और झोंगशान में फायर ब्रिगेड ने भी सहायता प्रदान की। डेलीमेल नामक वेबसाइट पर इस खबर को प्रकाशित भी किया गया है।
कहां हुआ विस्फोट;-ये विस्फोट दक्षिणी चीन के झूहाई में प्लांट में हुआ। विस्फोट इतना जोरदार था कि इसको सुनने वालों को लगा कि कहीं कोई बम विस्फोट हुआ है। स्थानीय मीडिया की ओर से इसके बारे में एक फुटेज भी जारी किया गया।
देर रात 1.40 पर हुआ विस्फोट;-Gaolangang जिले में चांग्लियन पेट्रोकेमिकल प्लांट में रात करीब 1:40 बजे विस्फोट हुआ, सोशल मीडिया पर Zhuhai आपातकालीन प्रबंधन ब्यूरो की घोषणा की। ट्विटर के चीनी समकक्ष वीबो पर एक पोस्ट में, प्राधिकरण ने कहा कि दुर्घटना के लगभग दो घंटे बाद आग बुझाई गई। इसमें कहा गया है कि बचाव दल जल्द से जल्द घटनास्थल पर पहुंचे और जांचकर्ता विस्फोट के कारण की जांच कर रहे थे। स्थानीय पर्यावरण अधिकारियों को आसपास के क्षेत्रों की निगरानी करने के लिए कहा गया था। झूहाई 1.9 मिलियन लोगों का एक शहर है। ये मकाऊ की सीमा से गुवाहाटी प्रांत के सबसे दक्षिणी हिस्से में स्थित है।
पिछले साल हुआ था विस्फोट, हुई थी 76 की मौत;-बताया जाता है कि चीन में औद्योगिक दुर्घटनाएं आम हैं, यहां सुरक्षा नियमों का विशेष ध्यान नहीं रखा जाता है। इसके कारण हादसे होते रहते हैं। पिछले साल मार्च में पूर्वी जिआंगसु प्रांत में एक रासायनिक संयंत्र में विस्फोट से 78 लोगों की मौत हो गई थी और सैकड़ों लोग घायल हो गए थे। चार महीने बाद जुलाई में, मध्य चीन के एक गैस प्लांट में एक बहुत बड़ा विस्फोट हुआ।नवंबर, 2018 में, रसायनों से भरा एक ट्रक उत्तरी चीनी शहर झांगजीकाऊ में एक रासायनिक कारखाने के प्रवेश द्वार पर विस्फोट हो गया, जो 2022 के शीतकालीन ओलंपिक की सह-मेजबानी करेगा, जिसमें 23 लोग मारे गए और 22 अन्य घायल हो गए। सबसे खराब दुर्घटनाओं में से एक तियानजिन के बंदरगाह शहर में एक रासायनिक गोदाम में 2015 में एक बड़ा विस्फोट हुआ था जिसमें 173 लोग मारे गए थे, जिनमें से अधिकांश अग्निशामक और पुलिस अधिकारी थे। उस विस्फोट को अवैध निर्माण और अस्थिर सामग्री के असुरक्षित भंडारण पर दोषी ठहराया गया था।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें