इस्‍लामाबाद। नवाज शरीफ और इमरान खान के बाद अब परवेज मुशर्रफ के कारण पाकिस्‍तान सुर्खियों में है। दरअसल, मंगलवार को देशद्रोह मामले में वहां की एक अदालत ने परवेज मुशर्रफ को देशद्रोह मामले में फांसी की सजा सुनाई जिसे वे 'व्‍यक्तिगत दुश्‍मनी' बता रहे हैं। दुबई के अस्‍पताल में इलाज के लिए भर्ती पूर्व पाकिस्‍तानी सैन्‍य शासक परवेज मुशर्रफ का यह बयान एक वीडियो के जरिए सामने आया है।पाकिस्तान के पूर्व सैन्य शासक परवेज मुशर्रफ ने देशद्रोह मामले में मौत की सजा सुनाए जाने के फैसले को व्यक्तिगत प्रतिशोध करार दिया है। पाकिस्तान की विशेष अदालत ने बीते मंगलवार को मुशर्रफ को मुल्क पर आपातकाल थोपने के लिए देशद्रोह का दोषी करार देते हुए मौत की सजा सुनाई थी।मुशर्रफ ने फिलहाल दुबई में शरण ले रखी है। उनकी पार्टी ऑल पाकिस्तान मुस्लिम लीग की ओर से बुधवार को जारी एक वीडियो संदेश में पूर्व सैन्य शासक ने कहा, 'इस तरह के फैसले का ऐसा कोई दूसरा उदाहरण नहीं है, जिसमें ना तो आरोपित और ना ही उसके वकील को अपने बचाव में कुछ कहने की इजाजत दी गई। मैं यही कहूंगा कि संविधान के तहत इस केस की सुनवाई की जरूरत ही नहीं थी, लेकिन इस मामले की सुनवाई व्यक्तिगत प्रतिशोध के तहत की गई।' किसी का नाम लिए बगैर 76 वर्षीय पूर्व सेना प्रमुख ने कहा, 'जिन लोगों ने मेरे खिलाफ काम किया, वे उच्च पदों पर आसीन हैं और अपने पद का दुरुपयोग कर रहे हैं।' वर्ष 2007 में पाकिस्तान पर आपातकाल थोपने और जजों को हिरासत में रखने के आरोप में मुशर्रफ के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया था। मामले में घिरते देख मुशर्रफ इलाज के बहाने 18 मार्च, 2016 को दुबई चले गए थे। तब से वह अपने मुल्क नहीं लौटे।पाकिस्‍तान की सेना का कहना है कि सैन्‍य प्रमुख, ज्‍वाइंट चीफ ऑफ स्‍टाफ कमेटी के अध्‍यक्ष और पाकिस्‍तान के राष्‍ट्रपति के रूप में 40 साल से अधिक समय तक देश की सेवा करने वाले मुशर्रफ देशद्रोही नहीं हो सकते हैं।

 

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें