नई दिल्‍ली। स्‍वीडन के राजा गुस्‍ताफ और रानी सिल्‍विया सोमवार को नई दिल्‍ली पहुंचे। हैदराबाद हाउस में उन्‍होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। 5 दिसंबर को ये हरिद्वार जाएंगे। स्‍वीडन के राजा अपने देश के उद्योगपतियों के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्‍व कर रहे हैं।1988 में राजीव गांधी के स्‍वीडन दौरे के बाद 2018 में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत-नोर्डिक समिट में स्वीडन गए थे। स्‍वीडन के शाही दंपती मुंबई और उत्‍तराखंड भी जाएंगे। भारत में दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय और पारस्परिक हितों को लेकर चर्चा की जाएगी। राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व विदेश मंत्री एस जयशंकर से भी वे मुलाकात करेंगे। सूत्रों के अनुसार, दोनों देशों के बीच संबंधों को मजबूत बनाने के क्रम में कई दस्‍तावेजों पर हस्‍ताक्षर भी किए जा सकते हैं।भारत के तीसरे दौरे में स्‍वीडन के शाही दंपती दिल्‍ली के जामा मस्जिद और लाल किला भी जाएंगे। बता दें कि कश्‍मीर से अनुच्‍छेद 370 को हटाए जाने के बाद स्‍वीडन ने भी मोदी सरकार से सवाल किए थे और भारतीय रुख जानने की कोशिश की थी।राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद के न्‍यौते पर स्‍वीडन के ये शाही दंपती पांच दिवसीय भारत यात्रा पर है। स्‍टॉकहोम से ये एयर इंडिया के विमान के जरिए भारत आए हैं। इसकी जानकारी एयर इंडिया ने ट्वीट के जरिए दी।राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ स्‍वीडन के शाही दंपती मुलाकात करेंगे। इनके बीच द्विपक्षीय और पारस्परिक हितों के बहुपक्षीय मुद्दों पर भी चर्चा होगी।वहीं पांच दिसंबर को स्‍वीडन के शाही दंपती हरिद्वार में होंगे। यहां के लिए केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने न्‍यौता दिया है। यहां स्‍वीडन के राजा-रानी नवनिर्मित 14 एमएलडी के सीवर शोधन संयंत्र का लोकार्पण करेंगे।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें