चिटगांव।बांग्लादेश में एक विपक्षी नेता को पिछले साल एक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री शेख हसीना को जान से मारने की धमकी देने के लिए तीन साल की जेल की सजा सुनाई गई है। बांग्लादेश की नेशनलिस्ट पार्टी (बीएनपी) के उपाध्यक्ष गियासुद्दीन क्वाडर चौधरी को उनकी अनुपस्थिति में  चिटगांव की एक अदालत ने अनुपस्थिति में तीन साल जेल की सजा सुनाई है ।अतिरिक्त लोक अभियोजक समीर दास गुप्ता को बीएनपी नेता ने बीएनपी नेता पर 5,000 बांग्लादेशी टका का जुर्माना अदा करने के लिए तीन महीने की अतिरिक्त जेल की सजा सुनाई। पिछले साल 29 मई को, चौधरी ने कथित तौर पर एक समारोह में कहा था कि हसीना की किस्मत उनके पिता और देश के संस्थापक बंगबंधु शेख मुजीबुर रहमान की तुलना में बदतर हो जाएगी, जिनकी 1975 में हत्या कर दी गई थी।अदालत के सूत्रों ने द ढाका ट्रिब्यून को बताया कि अगले दिन, फातिखचारी इकाई के सत्तारूढ़ अवामी लीग के महासचिव, नजीमुद्दीन मुहुरी ने बीएनपी नेता के खिलाफ अदालत में एक मामला दायर किया था। अदालत ने उस साल 31 मई को चौधरी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। चौधरी सलाउद्दीन क्वाडर चौधरी के छोटे भाई हैं, जिन्हें 2015 में लिबरेशन युद्ध के दौरान युद्ध अपराधों में उनकी भूमिका के संबंध में 2015 में अंजाम दिया गया था।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें