स्टॉकहोम।भौतिकी के क्षेत्र में उल्‍लेखनीय काम करने के लिए तीन वैज्ञानिकों को नोबेल पुरस्‍कार मिला है। विश्‍व के इस प्रतिष्‍ठि‍त पुरस्‍कार से सम्‍मानित होने वालों में कनाडियन-अमेरिकन वैज्ञानिक जेम्स पीबल्स (James Peebles), स्‍विस वैज्ञानिक मिशेल मेयर (Michel Mayor) एवं डिडिएर क्वेलोज (Didier Queloz) शामिल हैं। जेम्स पीबल्स को भौतिक ब्रह्माण्ड विज्ञान (physical cosmology) में सैद्धांतिक खोज के लिए जबकि मिशेल मेयर व डिडिएर क्वेलोज को एक्सोप्लैनेट की खोज के लिए यह सम्मान प्रदान किया गया है। इन सभी वैज्ञानिकों को संयुक्‍त रूप से यह सम्‍मान मिला है।नोबेल पुरस्‍कार मिलने के बाद जेम्स पीबल्स ने कहा कि जो लोग विज्ञान के क्षेत्र में आ रहे हैं, उनके लिए मेरी सलाह है कि उन्हें विज्ञान को स्‍नेह से अपनाना चाहिए। विद्यार्थियों को विज्ञान के क्षेत्र में मोहित होकर नहीं आना चाहिए। बता दें कि कल चिकित्सा के क्षेत्र में अमेरिका के विलियम जी. केलिन जूनियर व ग्रेग एल. सेमेंजा और ब्रिटेन के पीटर जे. रैटक्लिफ को नोबेल पुरस्‍कार दिए गए थे। तीनों वैज्ञानिकों ने मानव कोशिकाओं की कार्यप्रणाली को समझने की दिशा में क्रांतिकारी खोज की है। इन्होंने पता लगाया है कि शरीर की कोशिकाएं ऑक्सीजन के स्तर को कैसे महसूस करती हैं और उस पर कैसे प्रतिक्रिया देती हैं। उन्होंने उस बायोलॉजिकल मशीनरी को पहचाना है जो ऑक्सीजन का स्तर बदलने पर जीन की प्रतिक्रिया को नियंत्रित करती है। व्यक्ति के स्वस्थ और जीवित रहने में यह प्रक्रिया अहम भूमिका निभाती है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें