तेहरान। ईरान ने आखिरकार दो महीने बाद ब्रिटिश तेल के टैंकरों को छोड़ने का एलान कर दिया है। ईरान सरकार के प्रवक्ता अली रबेई ने सोमवार को कहा कि एक ब्रिटिश ध्वज वाले तेल टैंकर को खाड़ी में जब्त किए जाने के दो महीने से अधिक समय बाद स्‍वतंत्र करने का निर्णय लिया गया है।अली ने बताया कि कानूनी प्रक्रिया समाप्त हो गई है और इस आधार पर कि तेल टैंकर को मुक्त करने की शर्तें पूरी हो गई हैं, इसे आगे जाने के लिए छोड़ा जा रहा है। यह घोषणा एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के दौरान ईरान सरकार के प्रवक्‍ता द्वारा की गई।ईरान ने 18 जुलाई को स्ट्रेट ऑफ होर्मुज में ब्रिटिश ऑयल टैंकर स्टेना इम्पेरो को कब्जा में ले लिया था। इसके बाद ब्रिटेन और ईरान के बीच तनाव काफी बढ़ गया था। इधर, अमेरिका ने भी ईरान को परिणाम भुगतने की चेतावनी दी थी। इस जहाज पर 23 क्रू मेंबर में से 18 भारतीय थे। 15 अगस्त को भी तेल टैंकर पर सवार एक भारतीय कैप्टन समेत चार क्रू मेंबर्स को रिहा किया गया था।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें