इस्‍लामाबाद। पाकिस्‍तान में हिंदुओं के खिलाफ होने वाले अपराध बढ़ते जा रहे हैं। सड़क से पाक की नेशनल असेंबली तक में यह मुद्दा गूंज रहा है। सांसद व पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) के सिंध की अल्पसंख्यक शाखा के प्रमुख खील दास कोहिस्तानी ने बुधवार को पाक की नेशनल असेंबली में कहा कि पिछले 4 महीनों में 25-30 हिंदू लड़कियों का अपहरण किया गया, वे कभी वापस नहीं आईं। पाकिस्‍तान में अल्‍पसंख्‍यकों के खिलाफ कब तक जारी रहेगा ये अत्याचार? यहां के हिंदुओं को कब तक लाशें उठानी पड़ेंगी? हमारे मंदिर कब तक जलते रहेंगे?
सिंध में कुछ लोगों को गिरफ्तार किया जाना चाहिए:-कोहिस्तानी यहीं नहीं रुके उन्‍होंने आगे कहा कि सिंध के घोटकी और उमरकोट में ही ये घटनाएं क्यों हो रही हैं? अगर इन्‍हें समय रहते नहीं रोका गया, तो यह आग पूरे सिंध में फैल जाएगी। सिंध में कुछ लोग हैं जिन्हें गिरफ्तार किया जाना चाहिए। उनकी शक्ति पर अंकुश लगाना सरकार की जिम्मेदारी है, लेकिन ऐसा हो नहीं रहा है। इसी वजय से ये घटनाएं बढ़ती जा रही हैं।
हॉस्‍टल में मिला छात्रा का शव:-बता दें कि इससे पहले खील दास कोहिस्तानी ने ट्वीट कर कहा कि लरकाना के मेडिकल कॉलेज हॉस्टल से बीडीएस अंतिम वर्ष की छात्रा का शव मिला है जिसके साथ बर्बरता किए जाने के निशान मिले हैं। अल्पसंख्यकों की असुरक्षा और प्रताड़ना का एक और मामला।गौरतलब है कि पाकिस्तान के सिंध प्रांत के लरकाना में एक हिंदू मेडिकल छात्रा की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। विश्वविद्यालय प्रशासन ने अंदेशा जताया कि छात्रा ने खुदकुशी की हो, लेकिन उसके परिजनों ने उसकी हत्या का आरोप लगाया है। यह मामला सोशल मीडिया पर ट्रेंड हो गया है और छात्रा के लिए इंसाफ की मांग की जा रही है। सत्‍तारूढ पार्टी इस मामले में कुछ भी कहने को तैयार नहीं है। ऐसे में लोगों को गुस्‍सा बढ़ता जा रहा है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें