कराची।पूरी दुनिया जहां भारत के महत्वाकांक्षी मून मिशन चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) के लिए इसरो और भारतीय वैज्ञानिकों की लोहा मान रही है, वहीं पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान यहां भी अपनी ओछी हरकत दिखाने से बाज नहीं आया। दरअसल लैंडिंग से ठीक पहले लैंडर विक्रम (Vikram) से संपर्क टूटने के बाद पाकिस्तान के विज्ञान और तकनीकी मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने बेहूदा टिप्पणी की।अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त पत्रकार, लेखक और जाने-माने बलोच नेता तारेक फतह ने फवाद चौधरी के इस बयान की कड़ी आलोचना की है। उन्होंने अपनी ट्वीट में फवाद की तुलना कूड़े से कर दी और कहा कि उन्हें चंद्रयान की नहीं बल्कि अपनी गधा गाड़ी के बारे में सोचना चाहिए। यही नहीं फवाद इस ट्वीट को लेकर अपने ही घर में घिर गए हैं। मसलन पाकिस्तानी अवाम ने उन्हें आईना दिखा दिया है।
मंत्री जी आपने देश के लिए क्या किया;-एक ट्वीटू सुल्तान नाम के यूजर ने लिखा कि मैं पाकिस्तानी होने पर गर्व महसूस करता हूं। लेकिन जब विज्ञान और तकनीकी मंत्री को किसी के सफलता और असफलता पर बयान देते देखता हूं तो मुझे लगता है कि छोटे लोगों ने बड़े कार्यालयों पर कब्जा कर लिया है।अनिला शहजादी नाम की एक यूजर ने लिखा- कम से कम उन्होंने कुछ किया। वे लगातार विज्ञान और तकनीक के क्षेत्र में आगे बढ़ रहे हैं। हम इस मामले में उनके सामने कहीं नहीं खड़े हैं। राव जुनैद इकबाल ने लिखा- मंत्री जी आपने विज्ञान के क्षेत्र में देश के लिए क्या किया है। उन्होंने कुछ तो किया और जो लोग कोशिश करते हैं वे जरूर सफल होते हैं।
गफूर ने भी गैर जिम्मेदाराना ट्वीट किया;-फवाद अकेले ऐसे मंत्री नहीं हैं जिसने ऐसा बयान दिया है। इस कड़ी में उनके साथ पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता आसिफ गफूर भी शामिल हैं। गफूर ने भी इसे लेकर गैर जिम्मेदाराना ट्वीट किया है। इतने बड़े पद पर रहते हुए उनका ये बयान काफी हास्यास्पद है। इसने उनके सोच को पूरी दुनिया के सामने उजागर कर दिया है।
फवाद ने किया व्यंग्य;-बता दें कि फवाद ने ट्वीट किया - जो काम आता नहीं पंगा नहीं लेते ना.... डियर 'एंडिया'। फवाद ने ट्वीट में व्यंग्य करते हुए इंडिया की जगह एंडिया लिखा। फवाद यहीं नहीं रुके। उन्होंने एक भारतीय यूजर के ट्वीट पर बड़ी बेशर्मी से रिट्वीट किया। भारतीय यूजर अभय कश्यप के ट्वीट पर रिट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा- सो जा भाई मून की बजाय मुंबई में उतर गया खिलौना। इसके बाद वे ट्रोल हुए, तो लिखा कि मुझे ऐसे ट्रोल किया जा रहा है, जैसे मैंने ही इस मिशन को फेल कर दिया हो।
बेशर्मी पर पाकिस्तानी पत्रकार ने किया ट्रोल;-फवाद ने एक और बेशर्मी भरा ट्वीट किया। उन्होंने एक ट्वीट में लिखा- मोदी जी ऐसे भाषण दे रहे हैं, जैसे वो नेता नहीं एक अंतरिक्ष यात्री हों। लोकसभा को उनसे एक गरीब राष्ट्र के 900 करोड़ रुपये बर्बाद करने के लिए सवाल पूछना चाहिए। बहरहाल फवाद अपनी इस बेशर्मी पर पाकिस्तानी पत्रकार ने ही ट्रोल हो गए।
नायला इनायत ने दिया जवाब;-पाकिस्तान पत्रकार नायला इनायत ने उन्हें जवाब देते हुए लिखा - इंडिया के पास ये सब करने के लिए 900 करोड़ हैं और आप के पास मुफ्त का ट्विटर अकाउंट। उन्होंने फिर एक ट्वीट करके लिखा भारत द्वारा खर्च की गई रकम की गिनती करते हुए फवाद चौधरी। उन्होंने एक और ट्वीट में लिखा - फवाद चौधरी अपने छत पर लैंड कर गए हैं।
ड्रैगन की बैसाखी पर पाकिस्तान की स्पेस एजेंसी:-फवाद चौधरी और गफूर ट्वीट करते हुए विज्ञान की दुनिया में पाकिस्तान कहा खड़ा है वो भूल गए। दोनों इस बात को भूल गए कि उनके देश को सैटेलाइट लॉन्च करने में 50 साल लग गए। मसलन पाकिस्तान की राष्ट्रीय अंतरिक्ष एजेंसी SUPARCO (स्पेस एंड अपर एट्मोस्फीयर रिसर्च कमीशन) की स्थापना 1961 में की गई थी।इसने अपना पहला संचार सैटेलाइट 50 साल बाद चीन की मदद से लॉन्च किया था। यही नहीं पाकिस्तान की स्पेस एजेंसी इसरो से पहले की है। बता दें कि भारत द्वारा चंद्रयान 2 को चांद पर भेजने के बाद पाकिस्तान ने फैसला किया था कि वो अपने पहले स्पेश यात्री को 2022 में भेजेगा। इस मिशन को वो अपने दोस्त चीन की मदद से पूरा करेगा। इसकी घोषणा फवाद चौधरी ने ही की थी। इस दौरान भी वे जमकर ट्रोल हुए थे।
बडबोले रेल मंत्री के बयान;-फवाद को इस दौरान ये भी ध्यान नहीं रहा कि पाकिस्तान तंगहाली के दौर से गुजर रहा है। दोनों अपने बडबोले रेल मंत्री के बयान को भूल गए। रशीद ने लाहौर में रेलवे मंत्रालय की उपलब्धियां गिनाने के लिए एक प्रेस कांफ्रेंस का आयोजित किया था, जिसमें उन्होंने कहा कि इन दिनों हम थूक से पकौड़े तल रहे हैं, इस वजह से कुछ बड़ा नया नहीं कर सकते हैं।
गैर जिम्मेदाराना बयान देना पाकिस्तानियों की आदत:-हालांकि, ये पहला ऐसा अवसर नहीं है जब पाकिस्तान की ओर से ऐसी गैर जिम्मेदाराना और हास्यास्पद बयान दी है। पाकिस्तानी कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से ही ओछी बयान दे रहा है। वो लगातार युद्ध की धमकी देते रहते हैं। बड़बोले मंत्री रशीद ने कुछ दिन पहले ही बयान दिया था कि पाकिस्तान के पास 150 से 250 ग्राम के परमाणु बम हैं, जो किसी लक्षित इलाके को नेस्तनाबूद करने में सक्षम हैं।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें