Print this page

नई दिल्ली। यदि आप लंबे समय तक किसी आफिस में बैठकर काम करते हैं और जब घर पहुंचते हैं तो सीधे कपड़े आदि बदलने के बाद टीवी से चिपक जाते हैं तो ये खबर आपके लिए काम की है। एक अध्ययन में ये पता चला है कि यदि आप किसी जगह पर काम करते हैं और वहां से घर पहुंचने के बाद आप सीधे टीवी के सामने जम जाते हैं तो इससे आपके दिल को भी खतरा रहता है। यदि आप सीधे बेड पर सोने के लिए चले जाते हैं तो उससे भी आपके दिल पर प्रभाव पड़ता है। एक अध्ययन में अब ये बात सामने आई है कि ज्यादा देर तक बैठकर काम करना दिल के लिए उतना बुरा नहीं है जितनी की बैठकर देर तक टीवी देखना।
कोलंबिया यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने की रिसर्च:-अमेरिका की कोलंबिया यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने एक अध्ययन में ये बात सिद्ध भी की है। उनका कहना है कि खाली समय में बैठकर टीवी देखने से ह्दय रोग और मृत्यु का जोखिम अधिक होता है। इस तरह की एक रिपोर्ट जर्नल आफ द अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन में प्रकाशित भी हो चुकी है। वैज्ञानिकों ने इसमें यह भी पाया कि हल्की फुल्की से लेकर फुर्तीली कसरत करने से बैठकर टीवी देखने के हानिकारक प्रभावों को कम या खत्म किया जा सकता है।
जर्नल में प्रकाशित हुई रिसर्च:-अध्ययन के जर्नल में प्रकाशित करने वाले लेखक कीथ एम डियाज का कहना हैकि हमारे निष्कर्षों के मुताबिक जब आप दिल की सेहत की बात करते हैं तो यह अधिक मायने रखता है कि आप ऑफिस के बाहर अपना समय कैसे बिताते हैं। उन्होंने आगे कहा कि अगर आप ऐसी नौकरी करते हैं जिसमें लंबे समय तक बैठे रहना पड़ता है तो आप घर पर बैठकर समय बिताने की जगह फुर्तीले व्यायाम के जरिये ह्दय रोग और मृत्यु के जोखिम को कम कर सकते हैं।
ज्यादा टीवी देखने वालों को अधिक शारीरिक मेहनत की जरूरत:-इस तरह की शोध करने वाले शोधकर्ताओं का कहना है कि बहुत ज्यादा टीवी देखने वालों को सामान्य से लेकर अधिक मेहनत वाली शारीरिक गतिविधि जैसे तेजी से चलना या एरोबिक व्यायाम करना बेहद जरूरी है। इन गतिविधियों से दिल का दौरा, स्ट्रोक या मृत्यु का खतरा कम होता है। अध्ययन के मुताबिक दिल का दौरा, स्ट्रोक या मृत्यु का कोई भी खतरा उन लोगों में नहीं देखा गया जो दिन में चार या इससे अधिक घंटे तक टीवी देखते थे और सप्ताह में 150 मिनट या इससे ज्यादा समय तक व्यायाम करते थे।
डॉक्टर का कथन:-डॉ.गौरव गुप्ता का कहना है कि जो लोग सुबह-शाम घूमने के लिए निकल जाते हैं उनके स्वास्थ्य पर कोई विपरीत प्रभाव नहीं पड़ता है। उनका कहना है कि आजकल लोग दिन भर आफिस में बैठकर काम करते हैं और शाम को घर पहुंचते ही बिस्तर पर लेट जाते हैं, कहते हैं कि पूरे दिन आफिस में बैठे-बैठे थक गया, इस वजह से लेट गया हूं, उनका ये सोचना पूरी तरह से गलत है। यदि आप दिनभर बैठकर काम करते हैं तो आपको भी इन चीजों का ध्यान रखना चाहिए। शरीर के साथ-साथ दिल का भी ध्यान रखें तो अधिक बेहतर होगा। घर पहुंचने के बाद थोड़ा आराम करें, अधिक देर तक टीवी ना देखें, परिवार के साथ समय बिताएं।

Share this article

AUTHOR

Editor