Print this page

इस्‍लामाबाद। पाकिस्‍तान में जवाबदेही न्यायालय (NAB Court) के जज अरशद मलिक के कथित वीडियो के सामने आने के बाद प्रधानमंत्री इमरान खान ही नहीं बल्कि पूरी सरकार बैकफुट पर नजर आ रही है। सरकार की चिंता केवल इसी वीडियो ने नहीं बढ़ाई है, बल्कि मरियम नवाज के उस बयान ने भी बढ़ा रखी है जिसमें उन्‍होंने कहा है कि उनके पास जज अरशद मलिक के अभी एक वीडियो और तीन ऑडियो टेप और हैं। इनको भी वह कुछ समय में जारी करेंगी।
कौन है अरशद मलिक:-आपको यहां पर बता दें कि NAB Court के जज अरशद मलिक ने ही देश के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को पिछले साल अल-अजीजिया स्टील मिल भ्रष्टाचार मामले में सात साल की कैद की सजा सुनाई थी। इसके अलावा उन्‍हें लंदन के आलीशान फ्लैट के मामले में भी सजा सुनाई जा चुकी है। उस वक्‍त पाकिस्‍तान की सरकार ने कोर्ट के फैसले को सही करार देते हुए नवाज के पूरे परिवार पर बेहद तीखी टिप्‍पणी की थी। लेकिन अब सामने आए जज के वीडियो से सरकार हिल गई है। इसमें जज को कहते हुए सुना जा सकता है कि यह फैसला उन्‍होंने सरकार के दबाव में दिया था। उन्‍हें इसके लिए डराया धमकाया गया था। इस वीडियो ने पूरी सरकार को हिलाकर रख दिया है।
विपक्ष के हाथों में बड़ा मुद्दा:-विपक्ष के हाथों में बड़ा मुद्दा मिलते देख प्रधानमंत्री इमरान खान ने इस बाबत बैठक की है और इस मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट या हाईकोर्ट की निगरानी में कराने की बात कही है। इमरान खान ने साफ कर दिया है कि सरकार इसकी खुद जांच नहीं करेगी। ऐसा करने से न तो विपक्ष उनकी जांच पर भरोसा ही जताएगा बल्कि यह मुद्दा भी बड़ा रूप ले लेगा। पीएमएल-एन की उपाध्‍यक्ष और नवाज की बेटी मरियम नवाज ने दावा किया है कि सरकार ने इस वीडियो की फोरेंसिक ऑडिट करवाया है जिसमें यह वीडियो सही पाया गया है। इसको देखते हुए भी सरकार इससे पीछे हट रही है। सरकार ने फैसला किया है कि वह इसमें कोई दखल नहीं देगी। इस बीच जज अरशद मलिक ने भी इस्‍लामाबाद हाईकोर्ट के एक्टिंग चीफ जस्टिस आमे‍र फारुख से मुलाकात कर उन्‍हें पूरे मामले की जानकारी दी है।
एहतियात बरत रही है सरकार:-आपको यहां पर ये भी बता दें कि वीडियो में अरशद मलिक ने नसीर बट को कहा था कि नवाज शरीफ के खिलाफ किसी भी तरह का कोई सुबूत नहीं था। इस मामले में पूर्व पीएम के खिलाफ फैसला सुनाने के लिए उन्‍हें ब्‍लैकमेल किया गया था। वीडियो के सामने आने के बाद से सरकार हर कदम काफी एहतियात के साथ रख रही है। वह इस मुद्दे का फायदा किसी भी सूरत से विपक्ष को नहीं देना चा‍हती है। इमरान खान के स्‍पेशल असिसटेंट का कहना है कि देश में न्‍यायपालिका पूरी तरह से स्‍वतंत्र तौर पर काम करती है। इस पर सरकार का कोई दखल नहीं है। हम चाहते हैं कि वही इस वीडियो टेप पर ऑर्डर करें। न्‍यायपालिका की सरकार के प्रति कोई जवाबदेही भी नहीं है। उनके मुताबिक पीएम ने यहां तक कहा है कि इस बाबत सरकार कोर्ट के हर फैसले का सम्‍मान करेगी।
पीएमएल-एन पर हमला:-इमरान खान का यहां तक कहना है कि सरकार किसी को भी देश के सम्‍मान पर हमला करने की इजाजत नहीं देगी। उन्‍होंने पीएमएल-एन पर हमला करते हुए यहां तक कहा है कि इस पार्टी और इनके नेताओं का न्‍यायपालिका पर हमले और धमकाने का पुराना इतिहास रहा है। आपको यहां पर ये भी बता दें कि इस वीडियो के सामने आने के बाद सरकार ही नहीं जज मलिक भी सकपकाए हुए हैं। दो दिन पहले ही उन्‍होंने इस वीडियो को फर्जी बताते हुए इसकी जांच करवाने की अपील की थी। गौरतलब है कि अरशद मलिक ने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को 4 दिसंबर 2018 को सजा सुनाई थी।
सरकार भी है तैयार:-पीएमएल-एन को हमलावर होते देख सरकार भी पूरी तैयारी के साथ आगे आने की रणनीति तैयार कर रही है। पीएम इमरान खान के स्‍पेशल असिसटेंट शहजाद अकबर का कहना है कि सरकार पूर्व पीएम नवाज शरीफ और उनके परिवार के खिलाफ भ्रष्‍टाचार के और मामले खोलेगी। अकबर के मुताबिक जल्‍द ही सरकार इस परिवार के अन्‍य लोगों के चेहरे से भी इमानदारी का मुखौटा हटा देगी। उन्‍होंने नवाज के भाई का भी जिक्र करते हुए यहां तक कहा कि उन्‍होंने एनएबी कोर्ट में अपने खिलाफ मामलो को खत्‍म करने को लेकर धमकी तक दी है।

Share this article

AUTHOR

Editor