इस्लामाबाद।पाकिस्‍तान की मीडिया में इन दिनों सत्‍ता पक्ष और विपक्ष के नेताओं की कुल आय पर बहस छिड़ी है। एक मीडिया रिपोर्ट में पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री इमरान खान और विपक्षी नेताओं की आय का लेखाजोखा दिया गया है। इस रिपोर्ट में प्रमुख नेताओं की आय की तुलना की गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि इमरान की शुद्ध आय में पिछले तीन वर्षों में भारी कमी देखी गई है, वहीं विपक्ष के नेता शाहबाज की आय में निरंतर वृद्धि हो रही है। पाकिस्‍तान में यह चर्चा का विषय है। दरअसल, यह प्रवृत्ति रही है कि राजनीति में आने के बाद प्राय: राजनेताओं की आय में वद्धि होती है। लेकिन पाकिस्‍तान में तस्‍वीर उलटी है।इस मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि तीन वर्षों के दौरान इमरान खान की आय में गिरावट हुई है। वर्ष 2015 में क्रिकेटर से राजनेता बने इमरान की शुद्ध आय 3.56 करोड़ पाकिस्‍तानी रुपये थी। वर्ष 2016 में यह आय घटकर 1.29 करोड़ रुपये रह गई। इसके बाद इस रकम में और कमी आई। यह रकम घटकर 0.74 करोड़ रुपये पहुंच गई है। करीब तीन सौ फीसद की गिरावट आई है। रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि वर्ष 2015 में खान की आय का एक बड़ा हिस्‍सा उनके इस्‍लामाबाद में एक अपार्टमेंट की बिक्री से मिला। इस अपार्टमेंट की ब्रिकी से उनकी आय में एक करोड़ रुपये के अधिक का इजाफा हुआ था। इसके बाद 9.80 करोड़ रुपये विदेश से आए।इसके विपरीत नेशनल असेंबली में विपक्ष के नेता शाहबाज शरीफ की आय में लगातार वृद्धि हो रही है। वर्ष 2015 में शरीफ की शुद्ध आय 0.76 करोड़ रुपये से बढ़कर वर्ष 2017 में एक करोड़ रुपये को पार कर गई। इसके अलावा पूर्व राष्‍ट्रपति आसिफ अली जरदारी की शुद्ध आय 10.5 करोड़ रुपये थी। आय का अधिकांश हिस्‍सा कृषि क्षेत्र से था। वर्ष 2016 में बढ़कर 11.4 करोड़ रुपये हो गई। वर्ष 2017 में 13.4 करोड़ रुपये तक बढ़ गई। उनके पास 7748 एकड़ जमीन है। इस मामले में जरदारी के बेटे बिलावल भुट्टो जरदारी अपने पिता से अधिक अमीर हैं। उनके पास मौजूदा संपत्ति अपने पिता से अधिक है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें