अदन - यमन के शहर होदीदा में सरकार समर्थक बलों और विद्रोहियों के बीच हुए संघर्ष में 58 लड़ाकों की मौत हो गई। यह जानकारी गुरुवार को अस्पताल के सूत्रों ने दी। अस्पताल के सूत्रों ने बताया कि रात भर चली लड़ाई और हवाई हमलों में 47 विद्रोही मारे गये हैं। हवाई हमले सऊदी अरब के नेतृत्व वाले गठबंधन ने किए हैं जो सरकार का समर्थन करता है। सूत्रों ने बताया कि इस संघर्ष में 11 सैनिक भी मारे गए हैं।अधिकारियों के अनुसार, देश के सबसे अहम बंदरगाह वाले शहर होदेदा पर नियंत्रण बनाने के प्रयास में हुई लड़ाई में मरने वालों में दोनों ही तरफ के लोग शामिल हैं।
बता दें कि लाल सागर के किनारे बसे होदिदा शहर को यमन की लाइफलाइन कहा जाता है, जहां के बंदरगाह पर ही देश का 90 फीसदी से ज्यादा आयात निर्भर है। यमन में 2015 से अशांति चल रही है, जब हौथी विद्रोहियों ने देश के उत्तरी क्षेत्र को अपने कब्जे में लेकर चुनी हुई सरकार को निष्कासित कर दिया था।
सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात के नेतृत्व में सुन्नी मुस्लिम देशों के गठबंधन ने तब यमन में सैन्य हस्तक्षेप करते हुए सरकार को समर्थन दिया था। तब से चल रहे संघर्ष में करीब 10 हजार से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं और संयुक्त राष्ट्र के अनुसार करीब 1.4 करोड़ यमन नागरिकों में से आधे से अधिक मानव निर्मित भुखमरी का शिकार होकर मौत के कगार पर हैं। इस संघर्ष के जारी रहने को रियाद और तेहरान बीच तनातनी का नतीजा माना जा रहा है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें