न्‍यूयॉर्क - अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप और मीडिया के बीच रिश्‍ते और खराब होते जा रहे हैं। दरअसल, प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के दौरान ट्रंप से सवाल पूछने की 'सख्‍त मनाही' है। लेकिन सीएनएन के रिपोर्टर ने इसके बावजूद एक तीखा सवाल ट्रंप पर दागा, जिसका उसे भुगतना पड़ा है। सीएनएन के रिपोर्टर का प्रेस पास निलंबित (अस्थायी तौर पर अमान्य) कर दिया है। बुधवार को हुए संवाददाता सम्मेलन के दौरान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और जिम अकोस्टा के बीच तीखी नोंकझोंक होने के एक दिन बाद यह कार्रवाई की गई।
सीएनएन और डोनाल्ड ट्रंप के बीच हमेशा से ही विवाद रहा है। ट्रंप कई बार सीएनएन पर 'फेक न्यूज' का आरोप लगा चुके हैं। अकोस्टा और ट्रंप के बीच कहासुनी उस वक्त हुई जब अकोस्टा ने राष्ट्रपति से लातिन अमेरिका की दक्षिणी सीमा की तरफ बढ़ रहे प्रवासियों के कारवां के बारे में एक सवाल पूछा। जब अकोस्टा ने इस सवाल का जवाब मिलने के बाद फिर से एक सवाल किया तो ट्रंप ने कहा, ‘इतना काफी है।’
ट्रंप की इस टिप्पणी के बाद व्हाइट हाउस की एक कर्मी ने अकोस्टा के हाथ से माइक लेने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने माइक नहीं दिया। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने एक बयान जारी कर अकोस्टा पर आरोप लगाया कि उन्होंने ‘व्हाइट हाउस इंटर्न के तौर पर अपना काम करने की कोशिश कर रही एक युवती पर अपना हाथ रखा।’
सारा ने अपने बयान में इसे ‘पूरी तरह अस्वीकार्य’ करार दिया। डोनाल्ड ट्रंप प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बहुत ही झल्लाए से नजर आए और कई बार उन्होंने मीडिया की आलोचना की। ट्रंप ने कहा कि यह मीडिया का शत्रुओं जैसा व्यवहार है। ट्रंप ने सीएनएन के रिपोर्टर पर आरोप भी लगाया कि उन्होंने राष्ट्रपति से नस्लीय सवाल पूछा है। ट्रंप और सीएनएन के रिपोर्टर का ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल रहा है, वीडियो में दिख रहा है कि रिपोर्टर अकोस्टा बार-बार ट्रंप से सवाल पूछ रहे हैं, लेकिन अमेरिकी राष्ट्रपति ने जवाब देने से इंकार कर दिया।
राष्ट्रपति ट्रंप और अमेरिकी मीडिया के बीच रिश्तों में तल्खी पहले भी रही है, लेकिन यह कड़वाहट बुधवार को उस वक्त और बढ़ गई जब उन्होंने कुछ संवाददाताओं को ‘अशिष्ट’ करार दिया और पीबीएस की एक संवाददाता पर नस्लभेदी सवाल करने का आरोप लगाया।
अमेरिका में हुए मध्यावधि चुनावों में ट्रंप की रिपब्लिकन पार्टी को करारा झटका लगा है। डेमोक्रेटिक पार्टी ने कांग्रेस के निचले सदन हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव पर कब्जा जमा लिया है। हालांकि, ट्रंप की पार्टी रिपब्लिकन का सीनेट में बहुमत बना हुआ है। साल 2016 में हुए चुनावों में रिपब्लिकन पार्टी का कांग्रेस के दोनों सदनों में बहुमत था। मगर, अब मध्यावधि चुनावों के परिणाम से राष्ट्रपति ट्रम्प को शासन चलाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

 

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें