नई दिल्लीः देश के कई इलाकों में तेज बारिश और आंधी के कारण भारी तबाही हुई है। जून के महीने में अचानक आए मैसम के इस बदलाव के कारण हवा तेज आंधी में बदल गई और भारी बारिश के कारण तूफान भी आ गया। दिल्ली- एनसीआर में भारी बारिश से कई घंटो तक बिजली गुल रही। वहीं हवा भी इतनी तेज थी कि सारे पेड़ उखड़ गए और तूफान से भारी नुकसान हुआ।तेज आंधी तूफान के बाद मेट्रो और विमान सेवा पर भी असर पड़ा। दिल्‍ली में बारिश और धूल भरी आंधी की वजह से शाम 5 से 6 बजे के बीच कुल 27 विमानों के मार्ग में परिवर्तन करना पड़ा। इंदिरा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डे पर अब परिचालन सामान्‍य हो गया है। दिल्‍ली एनसीआर में धूल भरी आंधी के बाद दिल्‍ली से सटे गाजियाबाद में कुछ घंटों के लिए बिजली गुल रहेगी। उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से जारी सूचना के अनुसार शाम 5:33 से लेकर 7 बजे तक बिजली नहीं आएगी। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने आज आशंका जताई थी कि दिल्ली एनसीआर में 70 से 80 किलोमीटर प्रति घंटे के हिसाब से तेज धूल भरी आंधी और बारिश आ सकती है।
उत्तर प्रदेश में भारी तबाही:-उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में बीते शुक्रवार को आई आंधी-तूफान में 15 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 10 अन्य घायल हो गये। कुछ लोगों की मौत बिजली गिरने की वजह से भी हुई थी। प्रदेश के राहत आयुक्त संजय कुमार ने बताया कि आंधी-तूफान की वजह से सबसे ज्यादा नुकसान उन्नाव जिले में हुआ है।वहीं, बिहार के सहरसा, दरभंगा, समस्तीपुर और खगड़िया जिले में शुक्रवार को आकाशीय बिजली गिरने से कम से कम 10 लोगों की मौत हो गई थी। सहरसा जिले के अलग-अलग क्षेत्रों में आकाशीय बिजली गिरने की घटनाओं में चार लोगों की मौत हो गई है।मौसम विभाग ने अगले चार-पांच दिनों के लिए चेतावनी जारी की है, जिसके मुताबिक, देश के कई इलाकों में आंधी-तूफान और तेज बारिश होने की आशंका जताई गई है। मुंबई, कोंकण, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश से लेकर बंगाल तक में आंधी-तूफान और तेज बारिश की संभावना व्यक्त की गई है। साथ ही समुद्री इलाकों में मछुआरे को समुद्र की ओर जाने से मना कर दिया गया है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें