नई दिल्ली। शाहीन बाग की समस्या अभी खत्म हुई ही नहीं कि अब जाफराबाद में भी कुछ ऐसा ही धरना प्रदर्शन शुरू हो गया है। जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के नीचे रोड पर बड़ी संख्या में लोग प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शनकारियों में महिलाओं की संख्या सबसे अधिक है। वहीं अब मुस्तफाबाद में प्रदर्शनकारियों ने रोड जाम कर दिया है। लोगों ने वजीराबाद रोड को जाम कर दिया है। जाफराबाद में महिलाएं रोड को खाली करने से इनकार कर रही हैं। इसकी वजह से जाफराबाद मेट्रो स्टेशन को बंद कर दिया गया है। यहां पर एंट्री और एग्जिट गेट को बंद कर दिया गया है। मेट्रो ट्रेन यहां पर नहीं रुक रही हैं।
-चावड़ी बाजार के नजदीक लाल कुआं पर भी नागरिक संशोधन कानून के खिलाफ महिलाओं का विरोध प्रदर्शन चल रहा है। यह विरोध प्रदर्शन और धरना कल देर रात 12 बजे से है। जाफराबाद की घटना के साथ यहां भी महिलाएं सड़क पर उतर गईं।
-मुस्तफाबाद वजीराबाद रोड पर गांधी की वेशभूषा व तिरंगा लेकर कर रहें हैं प्रदर्शन।
-सरिता विहार और जसोला के स्थानीय लोगों ने शाहीन बाग मेट्रो स्टेशन जाने वाली रोड को बंद कर दिया है। उनका कहना है जब तक फरीदाबाद रोड नहीं खोली जाएगी तब तक वे रास्ते से नहीं उठेंगे।
-भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने रविवार दोपहर तीन बजे जाफराबाद के ठीक सामने मौजपुर चौक की रेड लाइट पर सीएए के समर्थन में सड़क पर उतरने की घोषणा की है।
-नूर के इलाही में भी महिलाएं करीब डेढ़ माह से सीएए के विरोध में धरने पर बैठी हैं। थोड़ी देर पहले उन्होंने भी घोंडा से यमुना विहार जाने वाली रोड को जाम कर दिया है।
-जाफराबाद में खुरेजी पेट्रोल पंप के पास सड़क पर धरने पर महिलाएं बैठ गई हैं।
-यमुनापार में तीन रोड बंद है। शनिवार रात को महिलाओं ने जाफराबाद मुख्य रोड बंद किया था। सोमवार सुबह बड़ी मुश्किल से पुलिस ने मौजपुर से सीलमपुर जाने वाला मार्ग खुलवाया। दूसरा मार्ग अभी बंद है।
-रविवार सुबह चांद बाग के पास खजूरी से नंद नगरी की ओर जाने वाले वजीराबाद मार्ग को महिलाओ से बंद कर दिया। वही खुरेजी में महिलाओं ने पटपड़गंज रोड के एक मार्ग को बंद कर दिया।
-जाफराबाद के बाद अब मुस्तफाबाद में प्रदर्शनकारियों ने वजीराबाद रोड जाम किया।
-जाफराबाद में प्रदर्शन होने के कारण सड़क के दूसरी तरफ से वाहनों की आवाजाही हो रही है।
-जाफराबाद में प्रदर्शनकारी की वजह से दिल्ली पुलिस और अर्धसैनिक बलों की टुकड़ियां तैनात की गई हैं।
-इस धरना प्रदर्शन को कोई एक महिला या कोई एक संगठन लीड नहीं कर रहा है। कुछ प्रदर्शनकारियों ने बात करने पर बताया उनका उद्देश्य सड़क को बंद करके शाहीन बाग की तरह धरना देना है। पुलिस इन्हें यहां से हटाने की तमाम कोशिशें कर चुकी है, लेकिन सफल नहीं हो सकी।
-जाफराबाद, वेलकम, जनता कॉलोनी, कर्दमपुरी के लोग मेट्रो स्टेशन के नीचे नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में धरना प्रदर्शन कर रही महिलाओं के लिए नाश्ता लेकर पहुंच रहे हैं।
-सीएए के विरोध और पदोन्नति में आरक्षण की मांग को लेकर भीम आर्मी के पदाधिकारी ने हापुड़ में प्रशासन को ज्ञापन सौंपा।
-जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के पास बड़ी संख्या में लोग धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। धरना प्रदर्शन में महिलाएं भी शामिल हैं।
-प्रदर्शन की वजह से जाफराबाद मेट्रो स्टेशन को बंद कर दिया गया है। यहां पर एंट्री और एग्जिट गेट को बंद कर दिया गया है। मेट्रो ट्रेन यहां पर नहीं रुक रही हैं।
-धरने पर बैठी महिलाओं को रविवार सुबह जाफराबाद रोड से लेकर राजघाट तक पैदल मार्च निकालना हैं। हालांकि दिल्ली पुलिस की ओर से मार्च निकालने की अनुमति नहीं है।
-महिलाओं ने बताया कि भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर ने रविवार को भारत बंद का आह्वान किया है, साथ ही मार्च निकालने का आह्वान किया हुआ है।
-नोएडा-फरीदाबाद रोड पर ट्रैफिक वाहनों की आवाजाही शुरू हो गई है। इस रूट को 21 फरवरी को फिर से खोल दिया गया था।
-शनिवार रात में ही जाफराबाद रोड पर अर्द्धसैनिक बल के साथ बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया। इसमें महिला सुरक्षाकर्मी भी शामिल रही। रोड पर पुलिस तैनात होते ही जाफराबाद का माहौल बदल गया।
देर रात रोड कर दिया था जाम:-शनिवार रात साढ़े दस बजे धरने पर बैठी महिलाएं जाफराबाद मुख्य सड़क पर उतर आई, उन्होंने जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के नीचे जमा होकर रोड को जाम कर दिया। बात नहीं मानने पर पुलिस ने जाफराबाद स्थित मदीना मस्जिद के इमाम मौलाना शमीम अहमद को भी बुलाया कि वह लोगों से अपील करें कि कानून को हाथ मे न लें और सड़क खाली करें। लेकिन महिलाओं ने मौलाना की बात नहीं मानी। आधे घंटे तक महिलाओ ने रोड बंद रखा, इसके बाद पुलिस ने बल प्रयोग करके उन्हें खदेड़ा। रोड जाम होने से वाहन चालकों को काफी दिक्कतें हुईं। रोड जाम करने में बुजुर्ग महिलाओं से लेकर युवतियां तक शामिल रही। उन्होंने अपने हाथों में तिरंगा लिया हुआ था।
पैदल मार्च निकालने पर अड़ी महिलाएं;-महिलाओ ने कहा कि वह रविवार को हर हाल में पैदल मार्च निकालेंगी। महिलाओं ने बताया कि भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर ने रविवार को भारत बंद का आह्वान किया है, साथ ही मार्च निकालने का आह्वान किया हुआ है। दिल्ली में जहां जहां सीएए के विरोध में धरने चल रहे हैं, वह सभी जगह गए थे और अपील की थी राजघाट के पैदल मार्च में शामिल होने की।बता दे यमुनापार में शास्त्री पार्क, कर्दमपुरी, श्रीराम कॉलोनी, सुंदर नगरी, चांद बाग, मुस्तफाबाद, नूर के इलाही, जाफराबाद में डेढ़ माह से सीएए के विरोध में धरना चल रहा है। इन धरना स्थलों पर बैठी महिलाएं रविवार को जंतर मंतर तक मार्च निकालेंगी, इन्हें रोक पाना पुलिस के लिए चुनौती होगी। दिसंबर 2019 में जाफराबाद और सीलमपुर में सीएए को लेकर हिसंक प्रदर्शन हुए थे।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें