अधीर रंजन चौधरी द्वारा पीएम मोदी और अमित शाह को घुसपैठिया कहने पर संसद में जमकर हंगामा हुआ। केंद्रीय मंत्री प्रहलाद जोशी लोकसभा में कहा कि मैं अधीर रंजन चौधरी के बयान की निंदा करता हूं। कांग्रेस पार्टी की अध्यक्ष घुसपैठिया हैं। अधीर रंजन चौधरी ने इसका जवाब देते हुए कहा कि ये हमारे नेता सोनिया गांधी को घुसपैठिया कह रहे हैं। क्या कर रहे हो आप लोग? अगर मेरा लीडर घुसपैठिया है तो आपका लीडर भी है। अधीर रंजन ने इलके बाद वित्त मंत्री निर्मला सितारमण को 'निर्बला सीतारमण' कहा। उन्होंने कहा कि आपके लिए सम्मान तो है, लेकिन कभी कभी सोचता हूं कि आपको निर्मला सीतारमण की जगह निर्बला सीतारमण कहना ठीक होगा कि नहीं। आप मंत्री पद पे तो हैं, लेकिन जो आपके मन में है वो कह भी पाती हैं या नहीं।झारखंड में भाजपा प्रमुख अमित शाह ने कहा कि मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि एनआरसी को देश भर में लागू किया जाएगा और सभी घुसपैठियों की पहचान की जाएगी और 2024 चुनावों से पहले निष्कासित कर दिया जाएगा।एनसीपी ने कहा है कि अगर भाजपा सांसद अनंत कुमार हेगड़े के इस दावे में सच्चाई है कि 40 हजार करोड़ के केंद्रीय फंड के दुरुपयोग को बचाने के लिए ही देवेंद्र फडणवीस को बहुमत न होने के बावजूद सीएम बनाया गया था, तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस्तीफा देना होगा।रक्षा मामलों के राज्यमंत्री श्रीपद नाइक ने लोकसभा में बताया कि जम्मू-कश्मीर क्षेत्र में नियंत्रण रेखा (LoC) पर पिछले 3 महीनों (अगस्त से अक्टूबर 2019) के दौरान संघर्ष विराम उल्लंघन की 950 घटनाएं हुई हैं। इस दौरान भारतीय सेना द्वारा आवश्यकतानुसार जवाब दिया गया है।तेलंगाना: शादनगर पुलिस ने अदालत में एक याचिका दायर कर महिला पशु चिकित्सक से यौन उत्पीड़न और हत्या के मामले में चार आरोपियों की 10 दिन की पुलिस हिरासत की मांग की है।राजस्थान: रणथंभौर नेशनल पार्क से 1 दिसंबर 2019 का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें दिख रहा है कि एक बाघ पर्यटक की गाड़ी का पीछा कर रहा है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें