नई दिल्ली। प्रेम नगर थाने में एक युवक ने खुद को आग लगाकर आत्महत्या करने की कोशिश की। युवक की पहचान आशु (24) के रुप में हुई है। युवक के पिता के साथ दशहरे के दिन पुरानी रंजिश के चलते कुछ लोगों से झगड़ा हुआ था। लेकिन पुलिस ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की थी। गंभीर रुप से घायल आशु को सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
पिता चलाते हैं अपराध विरोधी सुरक्षा फाउंडेशन;-जानकारी के अनुसार आशु अपने परिवार के साथ किराड़ी इलाके के प्रवेश नगर मुबारकपुर डबास में रहते हैं। उन्होंने फैशन डिजाइनिंग का कोर्स कर रखा है। उसके पिता यादराम अपराध विरोधी गतिविधियों के खिलाफ वसुंधरा सुरक्षा फाउंडेशन नाम का एनजीओ चलाते हैं। यादराम के अनुसार दशहरे के दिन प्रवेश नगर चौक पर अमरदीप व उसके भाई हरदीप ने बेवजह मारपीट की थी। इसकी शिकायत उसी दिन प्रेम नगर थाने में की गई थी।
पुलिस ने दर्ज नहीं किया मामला:-इस मामले की जांच की जिम्मेदारी हवलदार संदीप को सौंपी गई थी। लेकिन, अब तक पुलिस ने मामला तक दर्ज नहीं किया था। जबकि इस दौरान कई बार जांच अधिकारी से कार्रवाई के लिए आग्रह किया गया था। बताया जाता है कि आशु शुक्रवार को किराेसिन तेल लेकर प्रेम नगर थाने के बाहर पहुंचा और उसे अपने ऊपर उड़ेल लिया। इसके बाद वह थाना परिसर में प्रवेश कर गए और जांच अधिकारी के कमरे के पास पहुंचकर खुद के शरीर में लाइटर से आग लगा ली और फिर पास स्थित डयूटी अफसर के कमरे में घुस गए, जहां वह गिर पड़े।
पुलिसकर्मियों ने दिखाई तत्‍परता:-थाने में मौजूद पुलिस कर्मियों ने तुरंत तत्परता दिखाई और सबमर्सिबल को चालू कर पानी से आशु के शरीर की आग को बुझाई और उन्हें कुछ मिनटों में मंगोलपुरी के संजय गांधी अस्पातल में भर्ती कराया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें सफदरजंग अस्पताल के भेज दिया गया।
घटना से पूर्व फेसबुक पर किया था लाइव:-बताते हैं कि आशु ने थाने के बाहर खुद के ऊपर किरोसिन तेल डालने से पूर्व फेस बुक लाइव भी किया था। जिसमें उन्होंने पुलिस पर कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाते हुए खुदकशी करने की बात कही थी। इसके बाद ही वह थाने के अंदर प्रवेश किए थे।
जांच अधिकारी के हाथ टूटे होने की वजह से लंबित था मामला;-पुलिस अधिकारियों के मुताबिक जिस दिन यादराम के साथ झगड़ा हुआ था। उसी दिन इलाके में एक और झगड़े की कॉल पुलिस को मिली थी। इस मामले में भी हवलदार संदीप को मौके पर भेजा गया था, जहां बीच बचाव के क्रम में उनके हाथ की हड्डी टूट गई थी। इसके बाद वह मेडिकल अवकाश पर चले गए थे। ऐेसे में यादराम की शिकायत की मामले की जांच लंबित रह गई थी। यादराम के साथ मारपीट नहीं बल्कि धक्कम मुक्की हुई थी। इसमें आरोपित पक्ष का मोबाइल फोन भी टूट गया था। हालांकि आशु के खुदकशी के प्रयास के बाद यादराम के पूर्व की शिकायत के आधार पर प्रेम नगर थाने में आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें