Print this page

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को साफ सुथरा बनाने के लिए जहां स्वच्छ भारत अभियान (swachh bharat abhiyan) चला रहे हैं। वहीं, भारतीय रेलवे (Indian Railways) भी स्टेशनों पर साफ-सफाई रखने के लिए लगातार कदम उठा रहा है। इसी के साथ एक तीसरी पार्टी द्वारा स्वच्छ भारत अभियान के बढ़ावा देने के लिए रेलवे स्टेशनों की सफाई को लेकर एक सर्वे किया गया है। ये सर्वे 720 रेलवे स्टेशनों पर किया गया है। सबसे साफ स्टेशनों में पहला स्थान राजस्थान के जयपुर रेलवे स्टेशन को दिया गया है। दूसरा स्थान जोधपुर रेलवे स्टेशन और तीसरा स्थान पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर रेलवे को मिला है। पश्चिम रेलवे जंक्शन में अंधेरी रेलवे स्टेशन को पहले स्थान, वरेरी रेलवे स्टेशन दूसरे और नयागांव रेलवे स्टेशन तीसरे स्थान पर है। वहीं NSG1 गैर-उपनगरीय या नॉन सब-अर्बन श्रेणी में सुरत को पहला दादर को दूसरा और सिकंदराबाद रेलवे सटेशन को तीसरा स्थान मिला है। जोधपुर रेलवे स्टेशन के डीआरएम गौतम अरोड़ा ने बताया कि 2016 में ये रेलवे स्टेशन 187 रैंक पर था। 2017 में 17 पर और आज 2019 में टॉप पर हैं। उन्होंने आगे कहा कि हमारी कोशिश रहती है कि हम सबको साफ-स्वच्छ रेलवे स्टेशन दे सके। साथ ही उन्होंने बताया कि सुबह के समय 65 लोग काम करते हैं, क्योंकि सुबह के समय सबसे ज्यादा भीड़ रहती है।जानकारी के लिए बता दें कि देशभर के 720 रेलवे स्टेशनों पर ये सर्वे किया गया है। इससे पहले साल 2016 में थर्ड पार्टी द्वारा किए गए सर्वे में रेल मंत्रालय ने 407 रेलवे स्टेशनों की स्वच्छता रैंकिंग जारी की थी। इसी साल रेलवे स्टेशनों की संख्या को बढ़ाया गया है। इस साल ये सर्वे 720 स्टेशनों को शामिल कर किया गया है और पहली बार ही उपनगरीय स्टेशनों को शामिल किया गया था। रेल मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि वह इस तरह के प्रयास आगे भी जारी रखेंगे।

Share this article

AUTHOR

Editor