नई दिल्‍ली। जम्‍मू-कश्‍मीर से अनुच्‍छेद-370 को हटाने के भारत के फैसले को पूरी दुनिया से मिले व्‍यापक समर्थन से पाकिस्‍तान की बौखलाहट अब खुलकर सामने आ गई है। पाकिस्‍तानी हुक्‍मरानों ने भारत को अस्थिर करने के लिए एकबार फ‍िर आतंकी संगठनों का सहारा लेना शुरू किया है। सूत्रों की मानें तो आईएसआई ने आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्‍मद को भारत में हमले करने की जिम्‍मेदारी सौंपी है। खुफ‍िया एजेंसियों की मानें तो जैश के आतंकी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अम‍ित शाह पर भी हमला करने की फिराक में हैं। एजेंसियों ने अलर्ट जारी किया है कि जैश-ए-मुहम्‍मद के आतंकी भारतीय वायुसेना के ठिकानों के साथ साथ बड़े हवाई अड्डों को निशाना बना सकते हैं।
NSA अजित डोभाल भी आतंकियों के निशाने पर;-खुफिया एजेंसियों की ओर से जारी अलर्ट के मुताबिक, आतंकियों के निशाने पर देश के राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल भी हैं। सूत्रों ने बताया कि जैश-ए-मुहम्‍मद ने इस काम के लिए आठ से 10 खूंखार आतंकियों को जिम्‍मेदारी सौंपी है। ये आतंकी खुद को धमाके से उड़ाकर भयानक हमलों को अंजाम दे सकते हैं। सूत्रों की मानें तो आतंकी अनुच्‍छेद-370 को हटाने का बदला लेने के लिए ऐसे आत्‍मघाती हमलों की फ‍िराक में हैं। आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्‍मद ने अनुच्‍छेद-370 को हटाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल जिम्मेदार माना है।
निशाने पर देश के 30 बड़े शहर:-खुफिया एजेंसियों की मानें तो आतंकियों के निशाने पर देश के 30 बड़े शहर हैं। आतंकियों की ओर से जम्मू, पठानकोट, अमृतसर, जयपुर, गांधीनगर, कानपुर, लखनऊ में हमले की धमकी दी गई है। यही नहीं वायुसेना के एयर बेसों के अलावा देश के चार बड़े हवाई अड्डों पर भी आतंकी फ‍िदायीन हमले को अंजाम दे सकते हैं। सूत्रों ने बताया कि जैश-ए-मोहम्मद का धमकी भरा पत्र ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन (BCAS) लखनऊ के पास आया जिससे सुरक्षा एजेंसियां चौकन्‍नी हो गई हैं।
जैश के दो धमकी भरे पत्र मिले;-सूत्रों ने बताया कि जैश-ए-मोहम्मद के दो धमकी भरे पत्र मिले हैं। इसमें पहला पत्र को ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्युरिटी, लखनऊ को मिला है। इसमें लिखा है कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद -370 हटाने के लिए प्रधानमंत्री और गृहमंत्री से बदला लिया जाएगा। पत्र मिलने के बाद खुफिया एजेंसियों की ओर से जारी अलर्ट में कहा गया है कि आतंकवाद के खिलाफ मोदी सरकार की जीरो टॉलरेंस की नीति से तिलमिलाए आतंकी कभी भी बड़े हमले को अंजाम दे सकते हैं।
हिंदुस्तान को तबाह करने की धमकी:-दूसरा धमकी भरा पत्र जैश-ए-मोहम्मद के एरिया कमांडर मसूद अहमद की ओर से रोहतक रेलवे स्टेशन के अधीक्षक यशपाल मीना को मिला है। पाकिस्‍तान से भेजे गए इस पत्र में धमकी दी गई है कि हम अपने जेहादियों की मौत का बदला जरूर लेंगे। इस बार हम हमलों के जरिए भारत सरकार के होश उड़ा देंगे। हम जेहादी आठ अक्टूबर को रेवाड़ी रोहतक, हिसार, कुरुक्षेत्र, मुंबई, चेन्नई स्टेशन, बेंगलुरू, जयपुर, कोटा, भोपाल, इटारसी, दुर्ग सहित कई प्रदेशों के स्टेशनों और मंदिरों को बम से उड़ा देंगे। हम हिंदुस्तान को तबाह कर देंगे जिससे चारों ओर खून ही खून नजर आएगा।
वायु सेना ने जारी किया ऑरेंज अलर्ट:-सूत्रों ने बताया कि खुफिया एजेंसियों ने राज्‍यों के पुलिस महकमों से उक्‍त अलर्ट शेयर किया है। खुफिया एजेंसियों के अलर्ट को देखते हुए राज्‍य सरकारों ने वरिष्‍ठ पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक करके सुरक्षा हालात का जायजा लेना शुरू किया है। राज्‍यों ने अपनी सीमाओं पर चौकसी तेज करते हुए सुरक्षा बंदोबस्‍तों को मजबूत किया है। पुलिस अधिकारियों से तीर्थस्‍थलों के अलावा भीड़ भरी जगहों पर कड़ी सतर्कता बरतने के निर्देश जारी किए गए हैं। यही नहीं वायु सेना ने आतंकी हमलों के खतरे को देखते हुए जम्‍मू-कश्‍मीर के एयरबेसों पर ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें