लखनऊ। इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्रसंघ समारोह में अखिलेश यादव के शामिल होने को लेकर सहमति न देने के बाद भी प्रयागराज जाने पर अड़े समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट से वापस अपने आवास लौट गए हैं। लखनऊ जिला प्रशासन ने प्रयागराज प्रशासन की सूचना पर अखिलेश यादव के चार्टर्ड प्लेन को लखनऊ से टेक ऑफ नहीं करने दिया। लखनऊ एयरपोर्ट पर अखिलेश यादव के रोके जाने की सूचना पर विधानमंडल के बजट सत्र में भी आज जमकर हंगामा हुआ। लखनऊ एयरपोर्ट के बाहर समाजवादी पार्टी के सैकड़ों कार्यकर्ता हंगामा करने लगे। अखिलेश यादव को पत्र के माध्यम से कल ही इलाहाबाद विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार ने सूचित किया था कि कार्यक्रम में किसी राजनेता को शिरकत करने की अनुमति नहीं है। इस बाबत अखिलेश यादव के निजी सचिव को पत्र भी भेजा गया था। इस कार्यक्रम को लेकर इलाहाबाद विश्वविद्यालय ने जिला प्रशासन प्रयागराज को भी आठ फरवरी को अवगत करा दिया था।इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार ने कल ही अखिलेश यादव को सूचना दे दी थी। छात्रसंघ के कार्यक्रम में शामिल होने की राजनेताओं को अनुमति नहीं है। प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार ने बताया कि प्रयागराज में शांति व्यवस्था के मद्देनजर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को लखनऊ एयरपोर्ट पर रोका गया। प्रयागराज प्रशासन ने इस बाबत पत्र जारी किया था। इस पत्र की सारी जानकारी पूर्व मुख्यमंत्री को भी थी।समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी आदित्यनाथ सरकार पर बेहद गंभीर आरोप लगाया है। प्रयागराज में इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ शपथ ग्रहण समारोह में जाने की तैयारी में लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट पर पहुंचे अखिलेश यादव ने ट्वीट किया है कि उनको प्रयागराज जाने से रोका जा रहा है। मेरी फ्लाइट रोकी गई है।इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ के वार्षिक कार्यक्रम में शिरकत करने जा रहे समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव को लखनऊ हवाई अड्डे पर ही रोक दिया गया।अखिलेश यादव का आरोप है कि उन्हें जबरन लखनऊ एयरपोर्ट पर रोका गया है और इलाहाबाद यूनिवर्सिटी नहीं जाने दिया जा रहा है। अखिलेश यादव करीब 11 बजे लखनऊ के चौधरी चरण सिंह इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंचे थे। जहां पहुंचने के बाद उन्होंने आरोप लगाया है कि उनकी फ्लाइट को प्रयागराज जाने से रोका गया है। बिना किसी लिखित आदेश के मुझे एयरपोर्ट पर रोका गया। उन्होंने कहा कि पूछने पर भी स्थिति साफ करने में अधिकारी विफल रहे। छात्र संघ कार्यक्रम में जाने से रोकना का एक मात्र मकसद युवाओं के बीच समाजवादी विचारों और आवाज को दबाना है।वह अब प्रयागराज के कार्यक्रम में जाने पर अड़े हैं। इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ का वार्षिकोत्सव है। यह कार्यक्रम 12 बजे से होना है। उन्होंने कहा कि एक छात्र नेता के कार्यक्रम से सरकार इतनी डर रही है कि मुझे लखनऊ के ही हवाई-अड्डे पर रोका जा रहा है। उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ बेवजह सरकार मेरे कार्यक्रम में अड़चन डाल रही है।इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ के वार्षिक कार्यक्रम में शिरकत करने जा रहे समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव को लखनऊ हवाई अड्डे पर ही रोक दिया गया। बताया जा रहा है इलाहाबाद यूनिवर्सिटी ने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के विरोध के बाद कार्यक्रम में शिरकत करने की अखिलेश यादव को अनुमति नहीं दी है। यही वजह है कि लखनऊ पुलिस ने एयरपोर्ट पर उनके चार्टेड प्लेन को रोक दिया है।
सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा-इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के आग्रह पर अखिलेश यादव को रोका गया:-अखिलेश यादव को प्रयागराज जाने से रोके जाने के मामले पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इलाहाबाद यूनिवर्सिटी प्रशासन से जिला प्रशासन से अखिलेश यादव के आगमन पर बवाल की आशंका जाहिर की थी। इलाहाबाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने जिला प्रशासन से अखिलेश यादव का कार्यक्रम स्थगित करने की मांग की थी। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि समाजवादी पार्टी तो लंबे समय से अराजकता फैलाने के लिए जानी जाती है। अखिलेश यादव अगर इलाहाबाद विश्वविद्यालय जाते तो वहां पर बवाल होता। वहां पर छात्र गुटों में हिंसा की आशंका के चलते जिला प्रशासन ने उनके आगमन को रोका है।
मायावती ने साधा भाजपा पर निशाना:-समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष तथा गठबंधन में सहयोगी अखिलेश यादव को प्रयागराज जाने से रोके जाने पर मायावती ने भी योगी आदित्यनाथ सरकार कर निशाना साधा है। बसपा की मुखिया मायावती ने इसको लेकर ट्वीट किया गया। मायावती ने लिखा है कि भाजपा तो बसपा व समाजवादी पार्टी के गठबंधन से बौखला गयी है। मायावती ने समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को आज इलाहाबाद नहीं जाने देने कि लिए उन्हें लखनऊ एयरपोर्ट पर ही रोक लेने की घटना को अति-निन्दनीय व भाजपा सरकार की तानाशाही व लोकतंत्र की हत्या की प्रतीक बताया है। उन्होंने कहा है कि क्या भाजपा की केंद्र व राज्य सरकार बीएसपी-सपा गठबंधन से इतनी ज्यादा भयभीत व बौखला गई है कि उन्हें अपनी राजनीतिक गतिविधि व पार्टी प्रोग्राम आदि करने पर भी रोक लगाने पर वह तुल गई है। अति दुर्भाग्यपूण। ऐसी आलोकतंत्रिक कार्रवाईयों का डट कर मुकाबला किया जायेगा।इससे पहले कल के रोड शो पर अखिलेश यादव ने कहा कि कांग्रेस का रोड शो अच्छी बात है। राजनीतिक दलों को कार्यक्रम करते रहना चाहिए। कांग्रेस का रोड शो और अच्छी बात है। चुनाव करीब है। पांच साल में भाजपा को देख लिया। सपा-बसपा गठबंधन में बहुत से दल शामिल हैं। वह सब मदद करेंगे। रालोद को भी तीन सीट दी गई हैं। वह भी शामिल है और निषाद पार्टी भी।पहले हम उनके साथ मिल कर चुनाव लड़े हैं। आने वाले समय में कुछ लोकसभा में हमारे साथ रहेंगे तो कुछ दल विधानसभा चुनाव में हमारे साथ रहेंगे।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें