नई दिल्ली। भले ही किसी को कुत्ते पसंद ना हो, लेकिन कुत्ते के छोटे-छोटे प्यारे बच्चे हर किसी को अपनी तरफ आकर्षित कर लेते हैं। आपका भी उनको देखते ही उनके साथ खेलने का मन करता होगा। लेकिन अगर आपसे इन 'पपी' को खाने के लिए कहा जाए तो। इतना ही नहीं अगर ये भी बोला जाए कि ये 'पपी' जो हम आपको दिखा रहे हैं वह देखने में जितने खूबसूरत हैं, खाने में उतने ही स्वादिष्ट होते हैं, तो शायद आप हमारी बात पर विश्वास न करें। लेकिन ये बात सच है, क्योंकि ये सच में पपी नहीं उस शेप में बनी आइसक्रीम है।दरअसल ताइवान के दक्षिणी शहर काओसिउंग के एक रेस्त्रां में कुछ ऐसा ही हुआ है। यहां पर ग्राहकों को 'शार पेई पपी' के आकार की आइस्‍क्रीम सर्व की जा रही है। ताइवान के एक रेस्‍टोरेंट के मैन्‍यू में इन पपीज को रखा गया है। इंटरनेट पर इन दिनों कुत्ते के बच्‍चे के आकार की आइसक्रीम छाई हुई है। खास बात यह है कि यह आइसक्रीम तीन अलग-अलग फ्लेवरों में आती है। इनमें मिल्क टी, पीनट और चॉकलेट फ्लेवर शामिल हैं। कैफे में सबसे ज्‍यादा इसे ही पसंद किया जा रहा है। यहां आने वाले लोग आइसक्रीम को खाने से पहले तस्‍वीरें और वीडियो बनाना नहीं भूलते हैं।
कैसे तैयार की जाती है आइसक्रीम:-अपनी यूनीकनेस के कारण यह आइसक्रीम इस वक्‍त इंस्‍टाग्राम सेंसेशन बन चुकी है। इसे काफी सावधानीपूर्वक तैयार किया जाता है ताकि इसका आकार कुत्‍ते के बच्‍चे जैसा बन सके। इसे असली लुक देने के लिए पपी के आइस्‍क्रीम के ऊपर फ्रॉस्‍ट जैसे बाल भी बनाए गए हैं। इसके बाद आइस्‍क्रीम को -30 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर फ्रोजन करने के लिए रख दिया जाता है। स्‍टाफ चॉकलेट सॉस से आइस्‍क्रीम पर पपी की आंखें बना देते हैं। ये सब रिंकल्‍ड फीचर्स के होने से पहले किया जाता है।
आइसक्रीम की बढ़ी डिमांड;-सोशल मीडिया पर पॉपुलर होने के कारण अब इस आइसक्रीम की डिमांड भी बढ़ गई है। इस कैफे में रोज काफी कस्‍टमर्स पहुंच रहे हैं। इस आइसक्रीम की कीमत करीब 250 रुपये से 400 रुपये तक है। एक आइसक्रीम को तैयार करने में 5 घंटे का समय लगता है। आइसक्रीम की डिमांड इतनी ज्‍यादा है कि रेस्त्रां हर रोज कम से कम 100 आइस्‍क्रीम बेच रही है और तब भी वो अपने ग्राहकों की डिमांड को पूरा नहीं कर पा रही है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें