ओडिशा। मां चाहे इंसान हो या फिर जानवर...मां...मां होती है, जो अपने बच्चों की हिफाजत के लिए यमराज से भी भिड़ जाती है। यहां तक की अपनी जान की परवाह किए बगैर उन्हें मौत के मुंह से भी बाहर निकाल लाती है। कई फिल्मों में भी आपने इस अनोखे प्रेम बंधन की झलक देखी होगी। ऐसा ही एक अद्भुत दृश्य ओडिशा में भी देखने को मिला है। जहां एक डॉगी अपने बच्चों (पिल्लों) की जान बचाने के लिए जहरीले कोबरा से भिड़ गई। कोबरा से डॉगी के पांच पिल्लों को डस लिया, लेकिन सामने मौत खड़ी देखने के बावजूद डॉगी पीछे नहीं हटी और अपने पिल्लों की रक्षा के लिए कोबरा से भिड़ गई।
कोबरा ने उठाया फन, डॉगी भी पीछे नहीं हटी:-ये घटना ओडिशा के भद्रक इलाके की बताई जा रही है। जहां जहरीले खूंखार कोबरा ने एक डॉगी के पांच पिल्लों को घेर कर डस लिया। डॉगी ने अपने पिल्लों की जान बचाने के लिए कोबरा से खूब लड़ाई की। वो अंत तक उसका मुकाबला करती रही, ताकि कोबरा वहां से भाग जाए। लेकिन ऐसा नहीं हुआ, कोबरा के डसने से उसके चार पिल्लों की मौत हो गई। वहीं, एक पिल्ला बच गया, लेकिन उसकी की हालत गंभीर बनी हुई है।
यहां अपने बच्चों के साथ रहती थी डॉगी:-बता दें कि हाल ही में भद्रक इलाके में एक घर के पास डॉगी ने पांच पिल्लों को जन्म दिया था। रिहायशी इलाके में स्थित घरों के पास ही अपने पिल्लों के साथ रहा करती थी। इंसानों की मां की तरह वो भी अपनी बच्चों की हिफायत के लिए उनका पूरा ख्याल रखती थी। आसपास के लोग भी उसे और उसके पिल्लों को बहुत पंसद करते थे। लोग उन्हें खाना दे जाते थे और वो अपने बच्चों के साथ खुशहाल जिंदगी जी रही थी।लेकिन बुधवार की रात डॉगी के साथ सो रहे पांच पिल्लों को कोबरा ने डस लिया। जिसमें चार पिल्लों की मौत हो गई, हालांकि एक को बचाने में वो कामयाब रही।
डॉगी की भौंखने की आवाज सुन बाहर निकले लोग:-कोबरा को सामने देख डॉगी डरी नहीं और अपने बच्चों की रक्षा के लिए कोबरा से मुकाबला करती रही। वो लगातार भोंकती रही, ताकि वह भाग जाए। डॉगी के भौंकने की आवाज सुन आसपास के लोग भी अपने घरों से बाहर निकल आए। बाहर का हाल देख लोग दंग रह गए। सामने कोबरा अपना फन उठाए खड़ा था, दूसरे ओर डॉगी और बीच में उसके पिल्ले। लोगों ने फौरन इसकी सूचना वन विभाग को दी। लेकिन अफसरों के आने से पहले ही डॉगी के चार पिल्लों की मौत हो चुकी थी। वन विभाग डॉगी के जिंदा बचे पिल्ले का इलाज करा रहा है।

 

 

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें