नई दिल्ली - विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव पर बहस के दौरान भाजपा ने इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनावों का एजेंडा भी तय कर दिया। अविश्वास प्रस्ताव के खिलाफ बोलते हुए मध्यप्रदेश भाजपा के अध्यक्ष राकेश सिंह ने राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में भाजपा सरकार की उपलब्धियों का जमकर बखान किया। इन राज्यों में प्रमुख विपक्षी दल की भूमिका निभा रहे कांग्रेस ने राज्य का मुद्दा उठाने आपत्ति भी जताई।
राकेश सिंह ने विस्तार से बताया कि राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में विकास की स्थिति कांग्रेस के शासन के दौरान क्या थी और छत्तीसगढ़ व मध्यप्रदेश में 15 सालों व राजस्थान में पांच सालों की भाजपा सरकार के दौरान इसमें किस तरह गुणात्मक बढ़ोतरी हुई है। कांग्रेस और भाजपा शासन के बीच तुलना के लिए उन्होंने इन राज्यों के प्रति व्यक्ति आय, कुल बिजली उत्पादन क्षमता, कृषि उपज, सिंचाई की सुविधाओं और सड़क निर्माण जैसे आंकड़े विस्तार से पेश किया।
कांग्रेस को यह कितना चुभा इसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि कांग्रेस की ओर मध्यप्रदेश के सांसद कांतिलाल भूरिया ने राज्यों के विकास के आंकड़े पेश करने पर आपत्ति भी जताई। भूरिया का कहना था कि यह अविश्वास प्रस्ताव केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ है, इसीलिए चर्चा केवल मोदी सरकार के कामकाज तक सीमित रहनी चाहिए।
यह और बात है कि कांग्रेस की ओर से ऐसे मुद्दे उठाए गए जो राज्यों से संबंधित थे। जवाब में राकेश सिंह ने कहा कि सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव आंध्रप्रदेश जैसे एक राज्य की आपत्तियों को लेकर लाया गया है और इस अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन करने वाले अधिकांश दल अलग-अलग राज्यों तक सिमटे हुए हैं। राकेश सिंह ने राजनीतिक तंज कसते हुए कहा कि यदि आप मध्यप्रदेश में विकास के बारे में नहीं सुनेंगे, तो फिर आपके लिए यहां दोबारा आना मुश्किल हो जाएगा।
गौरतलब है कि राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में नवंबर में विधानसभा चुनाव होने है। छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में जहां भाजपा 2003 से सत्ता में है, वहीं राजस्थान में पांच साल से वसुंधरा राजे सिंधिया की सरकार है। 2014 के लोकसभा चुनाव में इन तीनों ही राज्यों में अधिकांश सीटे भाजपा ने जीती थी।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें