खेल

खेल (836)

कोलकाता। आइपीएल में विराट कोहली की कप्तानी ज्यादा अच्छी नहीं रही और इसके बाद उनकी नेतृत्व क्षमता पर भी सवाल उठाए जाने लगे। हर किसी ने इस मामले पर अपनी-अपनी राय दी, लेकिन अब टीम इंडिया के पूर्व कप्तान गांगुली ने विराट की कप्तानी पर टिप्पणी की है। गांगुली ने कहा कि विराट कोहली की आइपीएल की कप्तानी का असर विश्व कप पर नहीं पड़ेगा। वनडे कप्तान के तौर पर विराट का रिकॉर्ड काफी अच्छा है और मुझे उम्मीद है कि वो अपने इस रिकॉर्ड को वहां जारी रखेंगे। सौरव गांगुली ने कहा कि विराट कोहली बहुत ही भाग्यशाली हैं क्योंकि उनकी टीम में दो सफल कप्तान महेंद्र सिंह धौनी और रोहित शर्मा मौजूद हैं। विराट को इस अहम टूर्नामेंट में इन दोनों का भरपूर साथ मिलेगा। विराट कोहली की वनडे कप्तानी का आइपीएल की कप्तानी के साथ तुलना नहीं की जानी चाहिए। वनडे कप्तान के तौर पर विराट कोहली का रिकॉर्ड कमाल का रहा है। इस वक्त टीम इंडिया के उप-कप्तान रोहित हैं जो चौथी बार आइपीएल खिताब जीत चुके हैं साथ ही धौनी भी टीम में हैं जिनके पास अथाह अनुभव है। इन दोनों से विराट को अच्छा सहयोग मिलेगा और ये टीम के हित में होगा। इंग्लैंड में 30 मई से शुरू होने वाले विश्व कप में गांगुली के मुताबिक टीम के ऑलराउंडर हार्दिंक पांड्या बड़ी भूमिका निभाएंगे। गांगुली ने कहा कि वो इस वक्त अच्छी फॉर्म में हैं। भारत के लिए ये काफी अहम होगा। गांगुली ने सेमीफाइनल में पहुंचने वाली टीमों में भारत के अलावा पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड को चुना है। गांगुली के मुताबिक इंग्लैंड में आइसीसी टूर्नामेंट में पाकिस्तान का रिकॉर्ड अच्छा रहा है। दो वर्ष पहले पाकिस्तान ने वहां पर चैंपियंस ट्रॉफी खिताब अपने नाम किया था। इससे पहले वर्ष 2009 में पाकिस्तान ने टी 20 टूर्नामेंट का खिताब भी वहीं पर जीता था। पाकिस्तान ने इंग्लैंड में हमेशा ही अच्छा प्रदर्शन किया है। हालांकि उन्होंने ये जरूर कह दिया कि इससे टीम इंडिया को घबराने की जरूरत नहीं है। गांगुली का कहना है कि मुझे रिकॉर्ड में विश्वास नहीं है। मैच के दिन जीत के लिए दोनों ही टीमों को अच्छा खेलना होगा। भारतीय टीम इस वक्त काफी अच्छी है और उसे हराना बहुत ही मुश्किल होगा। जिस टीम में रोहित, धवन व विराट जैसे खिलाड़ी हैं उसे कमजोर नहीं कह सकते। गौरतलब है कि विश्व कप में भारत अपने अभियान की शुरुआत दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ करेगा।

नई दिल्ली। टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और मौजूदा विकेटकीपर बल्लेबाज एमएस धौनी अपने अनुभव की वजह से गेंदबाजों को दिशा दिखाने का काम करते नज़र आते हैं। यहां तक कि विराट कोहली के कप्तान रहते हुए डेथ ओवर्स में धौनी खुद से फील्ड सेट करते हैं क्योंकि, विराट आखिरी के ओवर्स में बाउंड्री पर फील्डिंग करते हैं। ऐसे में विकेट के पीछे खड़े धौनी ही गेंदबाजों के साथ बातचीत करते हैं और डीआरएस के सटीक फैसले लेते हैं। ऐसे ही एक वाकये को कुलदीप यादव ने शेयर किया था और बताया कि धौनी विकेट के पीछे रहते हुए उनकी कितनी मदद करते हैं।भारतीय टीम के चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने धौनी की इसी रवैये पर चुटकी ली थी। कुलदीप यादव ने मजाक में कहा था कि धौनी हर बार सही नहीं होते। वर्ल्ड कप से पहले और चेन्नई सुपर किंग्स के चौथी बार आइपीएल चैंपियन बनने से एक रन से चूकने के बाद कुलदीप यादव का ये बयान मीडिया में सुर्खिया बटोरता दिखा। जिसको लेकर कुलदीप यादव ने अब अपना पक्ष साफ कर दिया है कि उन्होंने ऐसा कुछ नहीं कहा था।दरअसल, कुलदीप यादव ने कहा था कि ऐसा कई बार हुआ है जब धौनी गलत साबित हुए हैं लेकिन यह आप उनसे नहीं कह सकते। हालांकि, कुलदीप यादव ने यह भी स्पष्ट किया था कि धौनी ओवर के बीच में सिर्फ तभी अपनी सलाह देते हैं जब उन्हें जरूरी लगता है। इसी बयान को कई मीडिया संस्थानों ने तोड़-मरोड़कर पेश किया तो कुलदीप यादव ने अपने सोशल मीडिया अंकाउट इंस्टाग्राम के जरिए सफाई दी और कहा है उन्होंने ऐसा कोई बयान नहीं दिया।इंस्टा स्टोरी में कुलदीप यादव ने कहा, "हमारे मीडिया ने एक और विवाद पैदा कर दिया, जो कि बिना कारण के अफवाह बनाना पसंद करता है। कुछ लोगों द्वारा प्रकाश में लाए गए मुद्दों पर झूठी खबर बनाकर पेश कर दी। मैंने इस तरह का कोई अनुचित बयान नहीं दिया है। मेरे अंदर माही भाई के लिए बहुत सम्मान है।"आपको बता दें कि टीम इंडिया ने साल 2007 टी20 वर्ल्ड कप एमएस धौनी की कप्तानी में जीता था। उसके बाद धौनी की कप्तानी में ही भारत ने 2011 वर्ल्ड कप भी अपने नाम किया। इसके अलावा साल 2013 में धौनी ने टीम इंडिया को आइसीसी चैंपियंस ट्रॉफी भी जिताई। धौनी ने साल 2014 में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लिया और फिर साल 2017 में वनडे और टी20 की कप्तानी भी छोड़ दी।

मुंबई। क्रिकेटर से नेता बने गौतम गंभीर ने वर्ल्ड कप को लेकर टीम इंडिया की 15 सदस्यीय टीम पर निशाना साधा है। गौतम गंभीर ने भारतीय टीम में वर्ल्ड कप के लिए एक बड़ी कमी को उजागर किया है। गौतम गंभीर का मानना है कि टीम इंडिया में एक क्वालिटी फास्ट बॉलर की कमी है। दो बार की चैंपियन टीम इंडिया वर्ल्ड कप में 5 जून से साउथेम्पटन में अपना पहला मुकाबला साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेलेगी। साल 2007 में टी20 और साल 2011 में टीम इंडिया को वर्ल्ड कप जिताने वाले बाएं हाथ के बल्लेबाज गौतम गंभीर ने कहा, "मैं सोचता हूं कि टीम में एक क्वालिटी पेसर की कमी है। जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी और भुवनेश्वर कुमार को ज्यादा सपोर्ट की जरूरत है। आप कह सकते हैं कि भारत के पास ऑलराउंडर के रूप में हार्दिक पांड्या और जसप्रीत बुमराह जैसे तेज गेंदबाज हैं। लेकिन मैं इन पर भरोसा नहीं कर सकता। ये खिलाड़ी टीम के संयोजन के लिए एकदम फिट हैं।" सिएट क्रिकेट रेटिंग इंटरनेश अवार्ड्स को संबोधित करते हुए गौतम गंभीर ने टीम के संयोजन पर सवाल उठाए हैं। हालांकि, गंभीर को टीम पर अभी भी भरोसा है। ईस्ट दिल्ली से बीजेपी की टिकट से लोकसभा चुनाव लड़ रहे गौतम गंभीर ने कहा, "यह बहुत अच्छा टूर्नामेंट है क्योंकि हर टीम को हर दूसरी टीम से भिड़ने का मौका मिलेगा। रोबिन राउंड फॉर्मेट असल में रियल चैंपियन देगा। मैं मानता हूं कि आगे भी इसी तरह के फॉर्मेट में वर्ल्ड हो।"वर्ल्ड कप 2019 के लिए गौतम गंभीर ने भारत के साथ-साथ ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और न्यूजीलैंड को अपनी पसंदीदा टीमों में शामिल किया है। गंभीर का मानना है कि इस समय ऑस्ट्रेलिया के पास अच्छी बॉलिंग लाइनअप है। वहीं, इंग्लैंड को मेजबानी का फायदा मिल सकता है। साथ ही साथ न्यूजीलैंड ने पिछले कुछ समय में अच्छा प्रदर्शन किया है। इस लिहाज से न्यूजीलैंड भी फेरबदल कर सकती है।

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के ओपनर बल्लेबाज शिखर धवन (Shikhar Dhawan) आइपीएल 12 में अपनी बल्लेबाजी का जलवा बिखेरने के बाद विश्व कप की तैयारियों में जुटे हैं। धवन ने आइसीसी टूर्नामेंट्स में टीम इंडिया के लिए हमेशा ही अच्छा प्रदर्शन किया है। इस बार भी उन्हें यकीन है कि वो अपनी टीम के लिए इंग्लैंड में अहम भूमिका निभाएंगे और पिछली सफलता को दोहराएंगे। विश्व कप में दबाव होता है और इसके बारे में धवन ने बताया कि मैं दबाव महसूस करने वाला इंसान ही नहीं हूं। लोग मुझे आइसीसी टूर्नामेंट में मेरे रिकॉर्ड के बारे में बताते हैं, लेकिन मेरा लक्ष्य एक ही होता है। मैं अच्छे प्रदर्शन के लिए अपने प्रयासों में कोई कमी नहीं रखता। मुझे यकीन है कि एक बार फिर से ये विश्व कप मेरे लिए अच्छा रहेगा और मैं टीम के लिए बेहतरीन करने की कोशिश करूंगा। कई बार अच्छा नहीं खेलने पर आपकी आलोचना भी होती है। आलोचक अपना काम करते हैं लेकिन इससे मेरा ध्यान नहीं बंटता। अगर मैं पांच-दस मैचों में अच्छा नहीं खेल सका तो इसका ये मतलब नहीं है कि सब कुछ यहीं पर खत्म हो गया। मुुझे अपनी क्षमता का अंदाजा है और पता है कि मैं क्या कर सकता हूं। धवन ने बताया कि वो खुद को तनाव से दूर रखने के लिए क्या करते हैं। उन्होंने कहा कि मैं ना तो टीवी देखता हूं और ना ही अखबार पढ़ता हूं। इन वजहों से जो मेरी आलोचना होती है उसका असर मुझ पर नहीं पड़ता। मैं सोशल मीडिया से भी दूर रहता हूं। हालांकि मैं ट्विटर और फेसबुक पर हूं, लेकिन इसका कम ही इस्तेमाल करता हूं। मैं उनमें से नहीं हूं जो लगातार इंस्टाग्राम और ट्विटर पर लगे रहते हैं। ये सब में कभी-कभार ही इस्तेमाल करता हूं। मेरी जिंदगी में नकारात्मक बातों के लिए कोई जगह नहीं है। मुझे लोगों से बार-बार सर्टिफिकेट लेेने की जरूरत नहीं है। धवन इन दिनों शास्त्रीय संगीत में अपनी रूचि दिखा रहे हैं और बांसुरी बजाना भी सीख रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुझे सूफी संगीत काफी पसंद है और वडाली ब्रदर्स मेरे पसंदीदा सूफी गायक हैं। अब मैं बांसुरी बजाना भी सीख रहा हूं। तनाव से दूर रहने में मुझे इससे काफी मदद मिलती है। मुझे ही नहीं हर किसी को अपनी जिंदगी में कुछ अपने पसंद का करना चाहिए।

केपटाउन। World Cup 2019 से पहले साउथ अफ्रीका टीम के लिए एक अच्छी खबर सामने आई है। प्रोटियाज टीम के कोच ओटिस गिब्सन के मुताबिक, टीम के दो दमदार गेंदबाज वर्ल्ड कप से पहले ठीक हो जाएंगे। साउथ अफ्रीका टीम के कोच ने कहा है कि डेल स्टेन और कगिसो रबादा वर्ल्ड का ओपनर मैच जरूर खेलेंगे, जो 5 जून को भारत के खिलाफ खेला जाएगा।30 मई से शुरू हो रहे क्रिकेट के सबसे बड़े टूर्नामेंट में साउथ अफ्रीका टीम पसंदीदा टीमों की तरह उतरेगी। आगाज मैच तक टीम के दो सबसे भरोसेमंद गेंदबाज फुल फिटनेस के साथ नज़र आएंगे। आइपीएल 2019 सी बीच में टीम को इंजरी की वजह से छोड़कर आए कगिसो रबादा और डेल स्टेन जल्द ठीक हो जाएंगे। बता दें कि रबादा ने आइपीएल में दिल्ली कैपिटल्स के लिए 12 मैचों में 25 विकेट लिए थे।साउथ अफ्रीका टीम के कोच ओटिस गिब्सन और फीजियो का मानना है कि ये दोनों खिलाड़ी अच्छी तरह से रिकवरी कर रहे हैं। ऐसे में स्टेन-रबादा वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा होंगे। उधर, आइपीएल 2019 का फाइनल मैच खेलने के बाद अपने देश लौटे क्विंटन डिकॉक, इमरान ताहिर और फाफ डूप्लेसिस ने नेशनल कैंप को ज्वाइन कर लिया है। साउथ अफ्रीका की टीम अगले हफ्ते इंग्लैंड के लिए उड़ान भरेगी।

नई दिल्ली।टीम इंडिया के पूर्व तूफानी क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या की तारीफ करते हुए कहा कि इस वक्त ऐसा कोई खिलाड़ी नहीं जो टीम इंडिया में उनकी जगह ले सके। सहवाग ने कहा कि हार्दिक का टैलेंट गजब का है।हार्दिक ने हाल ही में आइपीएल में मुंबई इंडियंस की रिकॉर्ड चौथी खिताबी जीत में अहम भूमिका निभाई। एक चैट शो में हार्दिक की महिलाओं पर अपमानजनक टिप्पणी के बाद उनकी काफी आलोचना हुई थी। कुछ समय का बैन झेलने के बाद इस स्टार ऑलराउंडर ने आइपीएल से शानदार वापसी की। पंड्या ने टूर्नामेंट में 15 पारियों में 191.42 की स्ट्राइक रेट के साथ 402 रन बनाए, जिसमें उनकी 91 रनों की कमाल पारी भी शामिल है। हार्दिक ने अकेले दम पर मुंबई को कई मैचों में जीत दिलवाई।सहवाग ने कहा, " हार्दिक पंड्या बल्ले और गेंद से जो कमाल करते हैं वह और कोई खिलाड़ी नहीं कर सकता। वह एक बेहतरीन ऑलराउंडर हैं और इस वक्त कोई खिलाड़ी उनकी इस प्रतिभा के आसपास भी नहीं है। उनकी प्रतिभा सबसे जुदा है। और यही वजह है कि वह टीम में वापसी कर सके।"हार्दिक इंग्लैंड और वेल्स में होने वाले वर्ल्ड कप के लिए टीम इंडिया का हिस्सा हैं। उम्मीद है कि वह अपने शानदार प्रदर्शन से आइसीसी के सबसे अहम टूर्नामेंट में छाप छोड़ सकेंगे। आपको बता दें कि साल की शुरुआत में ऑस्ट्रेलिया दौरे के बीच में ही भारत टीम के अपने साथी केएल राहुल के साथ, हार्दिक को वापस देश लौटना पड़ा था। राहुल और हार्दिक की चैट शो, 'कॉफ़ी विद करण' पर कुछ विवादित टिप्पणी के बाद उनकी काफी आलोचना हुई थी और इसी वजह से बीसीसीआई को उन्हें ऑस्ट्रेलिया से फौरन वापस बुलाना पड़ा।

 

 

अनुष्का शर्मा की पिछली फिल्म 'जीरो' साल 2018 में रिलीज हुई थी। इस फिल्म के बाद से अब तक एक्ट्रेस ने किसी फिल्म का ऐलान नहीं किया है। इसके बाद से लगातार ऐसे कयास लगने लगे हैं कि एक्ट्रेस ने फिल्मी दुनिया को टा-टा-बाय-बाय कर दिया है। अनुष्का ज्यादातर वक्त इन दिनों अपने पति विराट कोहली के साथ बिताती नजर आती हैं। ऐसे में इन कयासों ने और भी तेज…
हैदराबाद। आइपीएल (IPL) सीजन 12 के फाइनल में मुंबई इंडियंस (MI) ने चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) को एक रन से मात दी। यह तीसरी बार है जब मुंबई ने चेन्नई को फाइनल में हराया हो। इस हार के चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी मजाकिया मूड में दिखे। उन्होंने कहा कि पूरे मैच में दोनों टीमें बस एक दूसरे को ट्रॉफी पकड़ा रही थी। बता दें कि मैच उतार चढ़ाव…
नई दिल्ली। आइपीएल (IPL) में हर मैच हाई प्रेशर होता है और जब बात फाइनल का हो, तो दवाब बढ़ जाता है। ऐसे में छोटी-सी भी गलती भी टीम पर भारी पड़ जाती है। मैच के 19वें ओवर की आखिरी गेंद पर क्विंटन डि कॉक ने चौका छोड़ दिया। ऐसे मौके पर गुस्सा आना लाजिम-सी बात है, लेकिन इसके बाद बुमराह ने ऐसा किया जिसने फैंस के दिल को जीत…
नई दिल्ली। IPL 2019 का खिताब भले ही मुंबई इंडियंस ने जीता हो लेकिन दिल्ली कैपिटल्स ने इस बार लोगों का दिल जीतने का काम किया। आइपीएल के इतिहास में पहली बार प्लेऑफ का मैच जीतने वाली दिल्ली कैपिटल्स ने आइपीएल के 12वें सीजन में सबसे ज्यादा चौके लगाए हैं। दिल्ली कैपिटल्स के खिलाड़ियों ने मिलकर चौके के रूप में गेंद को सबसे ज्यादा बार गेंद को बाउंड्री के पार…
Page 1 of 60

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें