खेल

खेल (4824)

नई दिल्ली। विराट कोहली को भारत का सबसे सफल कप्तान बनने के लिए केवल तीन जीत की दरकार है और अगर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वर्तमान श्रृंखला में टीम क्लीन स्वीप करने में सफल रहती है तो वह महेंद्र सिंह धौनी को पीछे छोड़कर कप्तानी में भी शिखर पर पहुंच जाएंगे।
धौनी को पीछे छोड़ सकते हैं कोहली;-विश्व के नंबर एक बल्लेबाज कोहली की अगुवाई में भारत ने अब तक 43 टेस्ट मैच खेले हैं जिनमें से 25 में उसने जीत दर्ज की है। बाकी मैचों में से नौ में भारत को हार मिली जबकि इतने ही मैच ड्रॉ रहे।अभी धौनी भारत के सबसे सफल कप्तान हैं जिनके नाम पर 60 मैचों में 27 जीत दर्ज हैं। मतलब कोहली को उनकी बराबरी करने के लिए अब केवल दो जीत की दरकार है। एडिलेड टेस्ट जीतकर भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार मैचों की श्रृंखला का शानदार आगाज किया है और ऐसे में उसके पहली बार ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर श्रृंखला जीतने की संभावना भी बढ़ गई है।
पर्थ में कोहली कर सकते हैं गांगुली की बराबरी;-कोहली सबसे सफल भारतीय कप्तान बनने से पहले विदेशों में सबसे अधिक मैच जीतने वाले भारतीय कप्तान बन सकते हैं। अभी यह रिकार्ड सौरव गांगुली के नाम पर है जिनके नेतृत्व में भारत ने विदेशी धरती पर सर्वाधिक 11 टेस्ट मैच जीते हैं जबकि कोहली 10 टेस्ट मैचों में जीत के साथ इस सूची में दूसरे स्थान पर हैं।कोहली की कप्तानी में भारत ने श्रीलंका में सर्वाधिक पांच जबकि वेस्टइंडीज में दो मैच जीते। इसके अलावा उनकी अगुवाई में टीम ने दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में एक-एक मैच में जीत हासिल की।
कोहली की नज़र बेदी के इस रिकॉर्ड पर:-ऑस्ट्रेलियाई धरती पर मैच जीतने वाले वह पांचवें भारतीय कप्तान हैं। बिशन सिंह बेदी की अगुवाई में भारत ने ऑस्ट्रेलिया में दो मैच जीते हैं और कोहली यह रिकार्ड भी अपने नाम पर करना चाहेंगे। सुनील गावस्कर, गांगुली और अनिल कुंबले की कप्तानी में भी भारत ने ऑस्ट्रेलिया में एक एक मैच जीता है।कोहली अगर ऑस्ट्रेलिया में सबसे सफल भारतीय कप्तान नहीं बन पाते हैं तब भी 2019 में वह यह रिकॉर्ड अपने नाम कर सकते हैं। भविष्य के दौरा कार्यक्रम (एफटीपी) के अनुसार भारत को ऑस्ट्रेलिया दौरे के बाद 2019 में कुल आठ टेस्ट मैच खेलने हैं।एफटीपी के अनुसार भारत को मार्च में जिम्बाब्वे से एक टेस्ट खेलना है और फिर इंग्लैंड में जून में होने वाले विश्व कप के बाद जुलाई में दो टेस्ट मैचों के लिए वेस्टइंडीज का दौरा करना है। यह विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के तहत भारत की पहली श्रृंखला भी होगी। भारत अगले साल अक्टूबर-नवंबर में दक्षिण अफ्रीका की तीन और बांग्लादेश की दो टेस्ट मैचों के लिए मेजबानी करेगा।
ये हैं दुनिया के सबसे सफल टेस्ट कप्तान :-कोहली को हालांकि विश्व का सबसे सफल कप्तान बनने के लिए अभी लंबी राह तय करनी होगी। यह रिकॉर्ड दक्षिण अफ्रीका ग्रीम स्मिथ के नाम पर है जिन्होंने 109 टेस्ट में से 53 मैचों में जीत दर्ज की।ग्रीम स्मिथ के बाद ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग (48 जीत), स्टीव वॉ (41) वेस्टइंडीज के क्लाइव लायड (36), ऑस्ट्रेलिया के एलन बोर्डर (32), न्यूजीलैंड के स्टीफन फ्लेमिंग (28), वेस्टइंडीज के विव रिचर्ड्स और भारत के धौनी (दोनों 27) तथा ऑस्ट्रेलिया के मार्क टेलर, इंग्लैंड के माइकल वॉन और पाकिस्तान के मिस्बाह-उल-हक (तीनों 26) का नंबर आता है।

नई दिल्ली। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज का दूसरा मैच 14 दिसंबर यानि शुक्रवार को खेला जाएगा। ये मुकाबला पर्थ के मैदान पर खेला जाएगा। चार टेस्ट मैचों की इस सीरीज़ में भारत ने पहला मुकाबला जीतकर 1-0 की बढ़त बना ली है। एडिलेड में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 31 रन से हराकर इतिहास रचा था। ऐसा पहली बार हुआ है कि कंगारुओं की धरती पर भारत किसी भी टेस्ट सीरीज़ का पहला मैच जीता हो। अब कोहली एंड कंपनी की नज़र दूसरे मैच में जीत हासिल कर इस सीरी़ज में अपनी बढ़तो को 2-0 करने पर है। चलिए आपको बताते हैं कि आप कब, कहां और कैसे दूसरे टेस्ट मैच का मज़ा ले सकते हैं-
किस जगह खेला जाएगा भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया दूसरा मैच?
भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया दूसरा टेस्ट मैच ऑस्ट्रेलिया के पर्थ क्रिकेट मैदान पर खेला जाएगा। इस मैदान पर भारत को 10 साल पहले जीत मिली थी। 2008 में अनिल कुंबले की कप्तानी में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को इस ऐतिहासिक मैदान पर धूल चटाई थी। इस मैच को भारत ने 72 रन से जीता था।
किस समय शुरू होगा भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया दूसरा टेस्ट मैच?
पहले टेस्ट मैच के लिए आपको भारतीय समयानुसार सुबह 5: 30 बजे उठना पडता था, लेकिन दूसरे मैच के लिए आपको इतनी जल्दी उठने की आवश्यकता नहीं हैं, क्योंकि ये मैच थोड़ी देर से शुरू होगा। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच दूसरा टेस्ट मैच मैच भारतीय समयानुसार सुबह 07.50 पर शुरू होगा।
भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया दूसरा टेस्ट मैच का लाइव प्रसारण कहां देखें?
भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच दूसरा टेस्ट मैच आप सोनी पिक्चर नेटवर्क (सोनी सिक्स, सोनी टेन) के साथ एसपीएनआई पर देख सकते हैं।
भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया दूसरे टेस्ट मैच का लाइव स्ट्रीमिंग कहां देखें?
भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सभी मैचों की लाइव स्ट्रीमिंग आप सोनी लिव पर देख सकते हैं।इसके अलावा हिंदी में लाइव अपडेट्स के लिए आप www.jagran.comपर लॉगिन कर सकते हैं। यहां पर आपको हर मैच की अपडेट्स, लाइव स्कोर और नतीजे सबसे पहले पढ़ने को मिलेंगे।

नई दिल्ली। युवराज सिंह आज अपना 37वां जन्मदिन मना रहे हैं। भले ही युवी इन दिनों टीम इंडिया से बाहर चल रहे हों, लेकिन एक समय वो भी रहा जब युवराज ने न सिर्फ गेंदबाज़ों के दिमाग में बल्कि फैंस के दिलों में भी राज किया। युवराज सिंह का नाम दुनिया के सबसे खतरनाक बल्लेबाज़ों में शुमार होता रहा है। युवी के नाम एक ऐसा रिकॉर्ड भी है जो दुनिया का कोई और बल्लेबाज़ बना ही नहीं सका है।
ये रिकॉर्ड बनाने वाला एक अकेला युवराज:-युवराज सिंह ने 2007 में खेले गए टी-20 विश्व कप में इंग्लैंड के खिलाफ स्टूअर्ड ब्रॉड के एक ओवर की छह गेंदों में छह छक्के जड़े थे। युवराज सिंह ने ये कमाल 11 साल पहले किया था और इसी दिन युवी ने एक ऐसा रिकॉर्ड बनाया था, जो आज भी कायम है। खास बात ये है कि ये कमाल दुनिया का कोई और खिलाड़ी कर ही नहीं सका है। दरअसल युवी अंतरराष्ट्रीय टी-20 में छह गेंदों पर छह छक्के लगाने वाले दुनिया के एकलौते और एकमात्र बल्लेबाज़ हैं। हालांकि युवी के बाद कई लोगों ने टी-20 क्रिकेट में छह गेंदों पर छह छक्के लगाए हैं, लेकिन उन्होंने ये करिश्मा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में नहीं बल्कि घरेलू टूर्नामेंट या फिर टी-20 लीग में किया है।2007 में खेला गया वो टी-20 विश्व कप का पहला संस्करण था। द. अफ्रीका में खेले गए उस टूर्नामेंट को भारत ने जीतते हुए इस खिताब का पहला विजेता बनने का गौरव हासिल किया था।
युवी ने सबसे पहले बनाया ये रिकॉर्ड:-इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए उस मैच में युवराज सिंह ने छह छक्के तो लगाए ही, इसके साथ ही साथ उन्होंने टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में12 गेंदों में अर्धशतक जड़ने का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया। आपको बता दें कि युवी के इस कीर्तिमान को आज तक कोई तोड़ तो नहीं सका है, लेकिन इसकी बराबरी कुछ खिलाड़ियों ने जरुर कर ली है।
टी-20 में 12 गेंदों में अर्धशतक लगाने वाले खिलाड़ी
खिलाड़ी विरोधी
युवराज सिंह (भारत) इंग्लैंड (2007)
हजरतुल्ला जजई (काबुल जवानन) बल्ख लीजेंड्स (2018)
क्रिस गेल (मेलबर्न रेनीगेड्स) एडिलेड स्ट्राइकर्स (2016)
मार्कल ट्रेस्कोथिक (समरसेट) हैंपशायर (2010)
इमरान नज़ीर (सियालकोट) लाहौर इगल्स (2005)
जेरार्ड बरौफी (यॉर्कशायर) डर्बीशायर (2006)

नई दिल्ली। क्रिकेट के खेल अनिश्चितताओं का खेल है। इस खेल में कब क्या हो जाए कोई नहीं जानता। ऐसा ही कुछ हुआ भारतीय खिलाड़ी रैक्स राज कुमार सिंह के साथ। राजकुमार सिंह ने एक पारी में पूरे के पूरे 10 विकेट लेकर कमाल कर दिया। रैक्स राजकुमार की इस उपलब्धि ने भारतीय दिग्गज़ स्पिन गेंदबाज़ अनिल कुंबले के पाकिस्तान के खिलाफ लिए गए 10 विकेट की याद ताज़ा कर दी।
रैक्स ने ऐसे किया कमाल:-भारत में अंडर-19 खिलाड़ियों के लिए खेली जा रही कूच बेहार ट्रॉफी के एक मैच में मणिपुर के लिए खेलते हुए रैक्स राजकुमार ने ये उपलब्धि हासिल की। 18 वर्षीय इस मध्यम गति के गेंदबाज़ ने अरुणाचल प्रदेश की पूरी टीम को सिर्फ 11 रन देकर 10 विकेट हासिल करते हुए समेट दिया। राजकुमार ने 9.5 ओवर की गेंदबाज़ी की और इस दौरान उन्होंने 6 ओवर तो मेडन ही फेंक दिए। इस युवा खिलाड़ी ने पांच बल्लेबाज़ों को बोल्ड किया, तो खिलाड़ियों एलबीडब्ल्यू आउट हुए और दो खिलाड़ी विकेट के पीछे खड़े विकेटकीपर को कैच थमा गए। इस उपलब्धि को हासिल करने के दौरान राजकुमार तीन बार हैट्रिक लेने के करीब पहुंचे, लेकिन वो हैट्रिक ले न सके।
36 रन पर सिमटी अरुणाचल की टीम:-अरुणाचल प्रदेश की पहली पारी में 138 रनों के जवाब में मणिपुर की पारी 122 रनों पर सिमट गई थी। आखिरकार दूसरी पारी में अरुणाचल प्रदेश को 36 रनों पर ढेर कर मणिपुर ने जीत के लिए मिले 53 रनों का लक्ष्य बिना किसी नुकसान के हासिल कर लिया। राजकुमार ने पूरे मैच में 15 विकेट झटके, जिसमें पहली पारी में उनके 5 विकेट (5/33) भी शामिल हैं। इस गेंदबाज ने पिछले ही महीने सिक्किम के खिलाफ रणजी मुकाबला खेलकर प्रथम श्रेणी क्रिकेट में पदार्पण किया।
अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में एक पारी में 10 विकेट लेने वाले खिलाड़ी:-1999 में कुंबले ने पाकिस्तान के खिलाफ दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर 74 रन देकर पारी में 10 विकेट लिए थे। कुंबले से पहले ये कमाल इंग्लैंड के जिम लेकर भी कर चुके हैं।

 

पर्थ। भारतीय गेंदबाजी कोच भरत अरुण ने बुधवार को वर्तमान तेज गेंदबाजी आक्रमण को देश का अब तक का सर्वश्रेष्ठ आक्रमण करार दिया। भारतीय गेंदबाजों ने इस साल विदेशों में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है।दक्षिण अफ्रीका ने भारतीय गेंदबाजों ने तीन मैचों में सभी 60 विकेट लिए और इंग्लैंड में पांच टेस्ट मैचों में 90 में से 82 विकेट हासिल किए। ऑस्ट्रेलिया में उन्होंने बेहतरीन शुरुआत की तथा एडिलेड की धीमी पिच पर सभी 20 विकेट लिए जिससे भारत यह मैच जीतकर चार मैचों की श्रृंखला में शुरुआती बढ़त हासिल करने में सफल रहा।अरुण ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच से पूर्व कहा, ‘मैं कह सकता हूं कि उन्होंने केवल उन्होंने एडिलेड में ही ऐसा प्रदर्शन नहीं किया बल्कि वे दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में भी ऐसा कर चुके हैं और अब ऑस्ट्रेलिया में उन्होंने इस तरह का प्रदर्शन किया है। यह संभवत: भारत का अब तक का तेज गेंदबाजी में सर्वश्रेष्ठ आक्रमण है।’उन्होंने कहा कि तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार और इशांत शर्मा की गेंदबाजी में सुधार हुआ है क्योंकि उन्होंने निरंतरता हासिल की है। अरुण ने कहा, ‘निरंतरता (पिछले दौरों में) मसला होता था और हमने गेंदबाजों के मामले में इसका समाधान निकाला। इस पर वास्तव में हमने कड़ी मेहनत की। यहां तक कि अभ्यास के दौरान भी हम एक गेंदबाज की फार्म पर जोर देते हैं और गेंदबाजों ने बहुत अच्छी तरह से इसे आत्मसात किया। अब उसका सकारात्मक परिणाम हमें मिल रहा है।’उन्होंने कहा, ‘यह बहुत सरल है। हर बार जब वे नेट पर पहुंचते हैं तो उनका अपनी योजना से अवगत होना जरूरी होता है कि उन्हें क्या करना है। इसमें हर बार थोड़ा अंतर होता है। हम यह देखते हैं कि हर बार वे कितना अमल करते हैं। इस फीडबैक से उन्हें निरंतरता बनाए रखने में मदद मिलती है।’दूसरा टेस्ट मैच शुक्रवार से पर्थ में शुरू होगा और रिपोर्टों के अनुसार यहां की पिच में काफी तेजी और उछाल है।अरुण ने कहा, ‘निश्चित तौर पर इस तरह के विकेट पर गेंदबाजों को गेंदबाजी करने में मजा आएगा। हमें कैसी भी पिच मिले उस पर खेलने से हमें खुशी होगी। हमने अभी तक विकेट नहीं देखा है।’ उन्होंने कहा, ‘परिस्थितियां कैसी भी हों हम यहां उन्हें अपनी घरेलू परिस्थितियों की तरह लेंगे। हम मैदान पर किसी भी तरह की परिस्थितियों के लिए तैयार हैं।’अरुण ने कहा, ‘विदेशों में पर्थ जैसे विकेट पर आपको अतिरिक्त तेजी और उछाल मिलेगी लेकिन आपको यह समझना होगा कि किसी भी तरह के विकेट पर अपनी निरंतरता से ही आप सफल बन सकते हैं। और हम अपने गेंदबाजों के साथ इसी पर काम कर रहे हैं।’

नई दिल्ली। विराट कोहली इस ऑस्ट्रेलिया दौरे पर अपने फेवरेट मैदान एडिलेड में बड़ी पारी खेलने से चूक गए। इस टेस्ट मैच में विराट ने पहली पारी में तीन रन और दूसरी पारी में 34 रन बनाए थे। इस स्कोर के बावजूद भारतीय कप्तान ने वो कमाल कर दिया जो क्रिकेट इतिहास में आज तक कोई भी बल्लेबाज नहीं कर पाया था। यही नहीं इस टेस्ट मैच को जीतकर विराट ने एशियाई कप्तान के तौर पर भी कमाल का रिकॉर्ड अपने नाम किया। भारतीय कप्तान विराट कोहली ऐसे ही रन मशीन के नाम से नहीं जाने जाते। वो भारत के लिए क्रिकेट के हर प्रारूप में रन बना रहे हैं। भले ही ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टेस्ट में उनका बल्ला नहीं चला बावजूद इसके उन्होंने एक ऐसा रिकॉर्ड अपने नाम किया जो दुनिया के किसी भी बल्लेबाज के नाम पर अब तक नहीं था। विराट कोहली क्रिकेट इतिहास के पहले ऐसे बल्लेबाज बन गए हैं जिन्होंने तीन लगातार वर्षों में 2500 से ज्यादा रन बनाए हैं। वर्ष 2016 में विराट ने 2595 रन बनाए थे। इसके बाद अगले वर्ष यानी 2017 में उनके बल्ले से 2818 रन निकले और इस वर्ष यानी 2018 में वो अब तक 2513* रन बना चुके हैं।विराट कोहली ऐसे पहले एशियाई कप्तान बन गए हैं जिन्होंने इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट मैच जीता है। इस वर्ष की शुरुआत में विराट की कप्तानी में भारत ने तीन टेस्ट मैचों की सीरीज दक्षिण अफ्रीका में खेला था। इस सीरीज में तो भारत को हार मिली लेकिन उन्होंने जोहनसबर्ग में जीत हासिल की। इसके बाद इंग्लैंड दौरे पर टेस्ट सीरीज में एक बार फिर से भारतीय टीम को हार मिली पर टीम इंडिया ने विराट की कप्तानी में नॉटिंघम टेस्ट मैच जीता था। वहीं ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ विराट की कप्तानी में भारत को एडिलेड टेस्ट मैच में जीत मिली। इसके अलावा भारतीय टीम एक ही कैलेंडर वर्ष में ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में टेस्ट मैच जीतने वाली दुनिया की पहली टीम बन गई है।

नई दिल्ली। विदेशी धरती पर टेस्ट मैच जीतना भारतीय टीम के लिए हमेशा से बड़ी चुनौती रहा है। खास तौर पर जब इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका दौरे पर टीम जाती है तो ये उनके लिए बड़ी परीक्षा होती है। दुनिया की नंबर एक टेस्ट टीम भारत का इस वर्ष इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका दौरा काफी खराब साबित हुआ। हालांकि ऑस्ट्रेलियाई धरती पर टेस्ट सीरीज में भारत की शुरुआत जीत…
नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स स्लेजिंग के लिए खूब जाने जाते हैं लेकिन इस बार भारतीय खिलाड़ी भी पीछे नहीं हैं। हालांकि खेल के दौरान थोड़ी बहुत स्लेजिंग तो चलती ही रहती है। भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर रिषभ पंत पहले टेस्ट मैच के दौरान खूब स्लेजिंग की। पहले उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के ओपनर बल्लेबाज उस्मान ख्वाजा की खिंचाई की और अब उन्होंने विकेट के पीछे से पैट कमिंस को अपना निशाना…
नई दिल्ली। एडिलेड टेस्ट मैच में भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया को 31 रन से हरा दिया और इस टेस्ट सीरीज में बेहतरीन शुरुआत की। इस मैदान पर भारतीय टीम को किसी टेस्ट मैच में 15 वर्ष बाद जीत नसीब हुई। इससे पहले वर्ष 2003 में भारत ने यहां जीत दर्ज की थी। इस जीत के बाद टीम इंडिया के खिलाड़ी तो खुश थे ही कोच रवि शास्त्री भी काफी खुश…
नई दिल्ली। एडिलेड टेस्ट मैच भारतीय टीम के साथ-साथ चेतेश्वर पुजारा के लिए भी खास साबित हुआ। इस मैच में भारतीय टीम ने इतिहास रच दिया तो पुजारा को उनके बेहतरीन प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया। भारतीय टीम की इस जीत में वैसे तो कई खिलाड़ियों का योगदान रहा लेकिन सबसे अहम रोल पुजारा का ही रहा। पुजारा ने मेजबान टीम के गेंदबाजों को जमकर छकाया…
Page 1 of 345

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें