खेल

खेल (5105)

नई दिल्ली। टीम इंडिया (Team India) ने ऑस्ट्रेलिया को उसी के घर में वनडे सीरीज़ में मात देने के बाद अपने अगले मिशन की तैयारी शुरू कर दी है। अब भारत को न्यूज़ीलैंड (Ind vs NZ) का दौरा करना है और अपने अगले मिशन के लिए भारतीय टीम ऑकलैंड पहुंच चुकी है।इस दौरे पर भारत को पांच वनडे और तीन टी-20 मैच की सीरीज़ खेलनी है और पहला वनडे मैच 23 जनवरी को ऑकलैंड में खेला जाएगा। इस मैच के लिए जैसी ही भारतीय टीम एयरपोर्ट पहुंची वहां मौजूद फैंस ने टीम इंडिया के खिलाड़ियों का स्वागत किया। कुछ फैंस ने खिलाड़ियों की फोटो खींची। तो कुछ ने खिलाड़ियों के ऑटोग्राफ भी लिए। बीसीसीआइ ने भारतीय खिलाड़ियों के ऑकलैंड पहुंचने का वीडियो भी ट्वीट किया।
भारत के न्यूज़ीलैंड दौरे का शेड्यूल
पिछला दौरा रहा था खराब;-भारत ने पिछली बार 2013-14 में न्यूजीलैंड का दौरा किया था। महेंद्र सिंह धौनी की कप्तानी वाली टीम को ब्रेंडन मैकुलम की टीम ने पांच वनडे मैचों की सीरीज में 4-0 से हराया था। एक मैच टाई रहा था। न्यूजीलैंड और भारत के बीच अब तक कुल 101 मैच खेले गए हैं। इसमें न्यूजीलैंड ने 44 और भारत ने 51 मैच जीते हैं। एक मैच टाई रहा है जबकि 5 मैचों का कोई नतीजा नहीं निकला।वहीं न्यूजीलैंड में दोनों टीमों के बीच खेले गए 42 मैचों में से भारत ने 14 और न्यूजीलैंड ने 25 मैच जीते हैं। घरेलू मैदानों पर पिछले 10 में से सात मैच कीवी टीम ने जीते हैं।
बेहतरीन फॉर्म में हैं कीवी टीम:-न्यूजीलैंड ने श्रीलंका के खिलाफ तीन वनडे की सीरीज में क्लीन स्वीप किया था। उन्होंने तीनों में 300 से ज्यादा का स्कोर किया। हालांकि इसमें कोई शक नहीं कि श्रीलंकाई टीम भारत की तरह मजबूत भी नहीं थी। टीम इंडिया की गेंदबाजी काफी मजबूत है। न्यूजीलैंड के पास ट्रेंट बोल्ट, मैट हेनरी, ल्यूक फग्यरुसन जैसे तेज गेंदबाज हैं जो घरेलू परिस्थितियों का फायदा उठाएंगे। टीम के पास लेग स्पिनर ईश सोढ़ी भी हैं। न्यूजीलैंड के पास कोलिन डी ग्रैंडहोम और जिमी निशाम जैसे ऑलराउंडर हैं जो निचले क्रम में तेजी से रन बनाने के साथ-साथ गेंदबाजी में भी हाथ आजमा सकते हैं। निशाम ने श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज में महज 13 गेंदों पर 45 रन की पारी खेली थी।

नई दिल्ली। टीम इंडिया के पूर्व कप्तान एम एस धौनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज़ में शानदार प्रदर्शन किया। इस सीरीज़ के तीनों ही मैचों में धौनी ने अर्धशतक जमाए और उन्हें उनके बेहतरीन प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द सीरीज़ का खिताब भी मिला। इस सीरीज़ के तीसरे मैच में धौनी ने नाबाद 87 रन की पारी खेलते हुए टीम इंडिया को न सिर्फ जीत दिलाई बल्कि भारत को वनडे सीरीज़ का विजेता भी बना दिया। इस मैच में धौनी जब बल्लेबाज़ी करने के लिए आ रहे थे, तब दर्शकों ने उन्हें बेहद खास तरीके से सम्मान दिया।
दर्शकों ने धौनी को इस तरह दिया सम्मान:-मेलबर्न में खेले गए इस मैच में धौनी नंबर-4 पर बल्लेबाज़ी करने उतरे थे। शिखर धवन के आउट होने के बाद धौनी मैदान पर आए। जब दर्शकों को ये मालूम पड़ा कि अब धौनी बल्लेबाज़ी के लिए मैदान पर आने वाले हैं तो दर्शकों की खुशी का ठिकाना न रहा। जैसे ही धौनी ड्रैसिंग रुम से बाहर निकले वैसी ही दर्शक धौनी-धौनी के नारे लगाने लगे। पूरा मैदान धौनी-धौनी के नारों से गूंज उठा। दर्शकों के इस सम्मान को देखकर लग ही नहीं रहा था कि ये ऑस्ट्रेलिया का मैदान है। ऐसा लग रहा था मानों कि ये कोई भारतीय मैदान है।
धौनी का ऑस्ट्रेलिया में रहा ये खास मैच;-मेलबर्न में खेला गया तीसरा वनडे मैच धौनी का ऑस्ट्रेलिया की धरती पर आखिरी मैच भी हो सकता है। क्योंकि ऐसा माना जा रहा है कि भविष्य में धौनी ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर नहीं जा सकते हैं। अटकलों की माने तो धौनी 2019 विश्व कप के बाद क्रिकेट से संन्यास का एलान कर सकते हैं।

नई दिल्ली। भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत इंग्लैंड लायंस के खिलाफ 23 जनवरी से शुरू हो रही पांच मैचों की वनडे सीरीज के अंतिम दो मैचों में खेलेंगे। सीरीज के शुरुआती तीन मैचों में भारतीय टेस्ट टीम के उप कप्तान अजिंक्य रहाणे टीम की कमान संभालेंगे जबकि अंतिम दो मैचों में महाराष्ट्र के बल्लेबाज अंकित बावने कप्तानी की भूमिका निभाएंगे।बीसीसीआइ की सीनियर चयन समिति ने इंग्लैंड लायंस के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए शनिवार को टीम का एलान किया। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज में शानदार प्रदर्शन करने वाले पंत को दौरे पर तीन मैचों की वनडे सीरीज के लिए नहीं चुना गया था, लेकिन वह विश्व कप टीम में जगह बनाने के दावेदार है।पंत 29 और 31 जनवरी को खेले जाने वाले चौथे और पांचवें मैच में टीम का हिस्सा होंगे। इसके बाद वह छह फरवरी से न्यूजीलैंड के खिलाफ शुरू हो रही टी-20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज के लिए भारतीय टीम से जुड़ेंगे।सीरीज के शुरुआती तीन मैचों के लिए रहाणे के नेतृत्व में चुनी गई भारत ए टीम में हनुमा विहारी, श्रेयस अय्यर और शादरुल ठाकुर को भी जगह मिली है। पंत के अलावा क्रुणाल पांड्या को भी न्यूजीलैंड में होने वाली टी-20 सीरीज से पहले अभ्यास का मौका मिलेगा। टीम का चयन घरेलू मैचों में प्रदर्शन के आधार पर किया गया है जिसमें रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली चारों टीमों के खिलाड़ियों को शामिल नहीं किया गया।पांच मैचों की वनडे सीरीज तिरुवनंतपुरम के ग्रीनफील्ड अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में खेली जाएगी। इसके बाद चार-दिवसीय मैचों की सीरीज भी होगी जिसमें दो मुकाबले होंगे। इसकी शुरुआत सात फरवरी से होगी।
पहले तीन वनडे के लिए भारत ए टीम:-अजिंक्य रहाणे (कप्तान), अनमोलप्रीत सिंह, रितुराज गायकवाड़, श्रेयस अय्यर, हनुमा विहारी, अंकित बावने, इशान किशन (विकेटकीपर), क्रुणाल पांड्या, अक्षर पटेल, मयंक मार्कंडेय, जयंत यादव, सिद्धार्थ कौल, शादरुल ठाकुर, दीपक चाहर, नवदीप सैनी।
चौथे और पांचवें वनडे के लिए भारत ए टीम:-अंकित बावने (कप्तान), अनमोलप्रीत सिंह, रितुराज गायकवाड़, रिकी भुई, सिद्धेश लाड, हिम्मत सिंह, रिषभ पंत (विकेटकीपर) दीपक हुड्डा, अक्षर पटेल, राहुल चाहर, जयंत यादव, नवदीप सैनी, आवेश खान, दीपक चाहर शार्दुल ठाकुर।

नई दिल्ली। विश्व कप से पहले विजय रथ पर सवार भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया के बाद न्यूजीलैंड का मानमर्दन करने के लिए बढ़ चली है। ऑस्ट्रेलिया में 71 साल बाद टेस्ट सीरीज जीतने और पहली बार द्विपक्षीय वनडे सीरीज जीतने वाली विराट कोहली की टीम को अब न्यूजीलैंड के खिलाफ पांच वनडे और तीन टी-20 मैचों की सीरीज खेलनी है। भारतीय टीम पहली बार ऑस्ट्रेलिया दौरे पर कोई सीरीज हारे बिना वहां से निकल रही है और अब उसे कंगारुओं से ज्यादा मजबूत कीवियों से भिड़ना है। भारत और न्यूजीलैंड के बीच पहला वनडे 23 जनवरी को नेपियर में खेला जाएगा।न्यूजीलैंड के पूर्व ऑलराउंडर स्कॉट स्टायरिस ने कहा भी है कि स्टार्टर खत्म, अब मेन कोर्स की तैयारी करो। स्कॉट ने सिर्फ दो लाइन के ट्वीट से बता दिया है कि भारत के लिए न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया की तुलना में काफी मजबूत टीम साबित होगी। इसमें कोई शक नहीं भारत ने अब तक जितनी भी बार ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया उसमें यह सबसे कमजोर मेजबान टीम थी जबकि इस समय केन विलियमसन की कप्तानी वाली कीवी टीम फुल फॉर्म में है। न्यूजीलैंड टीम के पास एक मजबूत बल्लेबाजी टीम है। कप्तान विलियमसन के अलावा मार्टिन गुप्टिल, रॉस टेलर, कोलिन मुनरो, हेनरी निकोलस जैसे बल्लेबाज टीम इंडिया के गेंदबाजों के लिए परेशानी बन सकते हैं।
बेहतरीन फॉर्म में हैं कीवी टीम:-न्यूजीलैंड ने श्रीलंका के खिलाफ तीन वनडे की सीरीज में क्लीन स्वीप किया था। उन्होंने तीनों में 300 से ज्यादा का स्कोर किया। हालांकि इसमें कोई शक नहीं कि श्रीलंकाई टीम भारत की तरह मजबूत भी नहीं थी। टीम इंडिया की गेंदबाजी काफी मजबूत है। न्यूजीलैंड के पास ट्रेंट बोल्ट, मैट हेनरी, ल्यूक फग्यरुसन जैसे तेज गेंदबाज हैं जो घरेलू परिस्थितियों का फायदा उठाएंगे। टीम के पास लेग स्पिनर ईश सोढ़ी भी हैं। न्यूजीलैंड के पास कोलिन डी ग्रैंडहोम और जिमी निशाम जैसे ऑलराउंडर हैं जो निचले क्रम में तेजी से रन बनाने के साथ-साथ गेंदबाजी में भी हाथ आजमा सकते हैं। निशाम ने श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज में महज 13 गेंदों पर 45 रन की पारी खेली थी।
पिछला दौरा रहा था खराब:-भारत ने पिछली बार 2013-14 में न्यूजीलैंड का दौरा किया था। महेंद्र सिंह धौनी की कप्तानी वाली टीम को ब्रेंडन मैकुलम की टीम ने पांच वनडे मैचों की सीरीज में 4-0 से हराया था। एक मैच टाई रहा था। न्यूजीलैंड और भारत के बीच अब तक कुल 101 मैच खेले गए हैं। इसमें न्यूजीलैंड ने 44 और भारत ने 51 मैच जीते हैं। एक मैच टाई रहा है जबकि 5 मैचों का कोई नतीजा नहीं निकला।वहीं न्यूजीलैंड में दोनों टीमों के बीच खेले गए 42 मैचों में से भारत ने 14 और न्यूजीलैंड ने 25 मैच जीते हैं। घरेलू मैदानों पर पिछले 10 में से सात मैच कीवी टीम ने जीते हैं।
भारत भी मजबूत:-विराट की टीम ऑस्ट्रेलिया फतह करने के बाद आत्मविश्वास से लबरेज है। वह आइसीसी रैंकिंग में दूसरे स्थान पर है जबकि न्यूजीलैंड की टीम एक पायदान नीचे तीसरे स्थान पर है। स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर की अनुपस्थिति में ऑस्ट्रेलियाई टीम कमजोर थी और उसकी वनडे रैंकिंग छह है। भारत ने जसप्रीत बुमराह की गैर मौजूदगी के बावजूद ऑस्ट्रेलिया में वनडे सीरीज में अच्छा प्रदर्शन किया। बुमराह न्यूजीलैंड भी नहीं जाएंगे लेकिन भुवनेश्वर कुमार और मुहम्मद शमी के फुल फॉर्म में होने से चिंता की कोई बात नहीं है। हालांकि न्यूजीलैंड के मैदान ऑस्ट्रेलिया की अपेक्षा बहुत छोटे हैं और यहां पर रन आसानी से बनते हैं। ऐसे में रोहित शर्मा, शिखर धवन और विराट कोहली जैसे बल्लेबाजों के लिए यहां बड़ी पारी खेलने का शानदार मौका होगा

 

 

 

पोर्ट एलिजाबेथ। दक्षिण अफ्रीका के अनुभवी सलामी बल्लेबाज हाशिम अमला (नाबाद 108) ने शनिवार को पाकिस्तान के खिलाफ पहले वनडे में करियर का 27वां शतक लगाकर भारतीय कप्तान विराट कोहली का विश्व रिकॉर्ड तोड़ दिया। कोहली ने 169 पारियों में सबसे तेज 27 वनडे शतक लगाए थे, जबकि अमला ने 167 पारियों में यह कारनामा करके दिखाया। अमला शतक लगाने के बावजूद भी अपनी टीम को जीत नहीं दिला सके।
हार से नहीं बचा पाया अमला का शतक:-हालांकि अमला के शतक के बावजूद दक्षिण अफ्रीका की टीम पाकिस्तान से पहले वनडे में अपनी हार को नहीं टाल सकी और टीम यह मुकाबला पांच विकेट से हार गई। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी दक्षिण अफ्रीका ने अमला के अलावा पहला मैच खेल रहे रासी वान डेर डुसेन (93) की अर्धशतकीय पारी की बदौलत पाकिस्तान के सामने 267 रनों का लक्ष्य रखा। मेजबान दक्षिण अफ्रीका ने निर्धारित 50 ओवर में दो विकेट के नुकसान पर 266 रन बनाए।
ऐसा रहा द. अफ्रीका की पारी का हाल;-जवाब में इमाम उल हक (86) और मुहम्मद हफीज (नाबाद 71) के शानदार अर्धशतकों की मदद से पाकिस्तान ने 49.1 ओवर में पांच विकेट के नुकसान पर 267 रन बनाकर मैच अपने नाम किया। दक्षिण अफ्रीका के लिए डुआने ओलीवर ने सबसे ज्यादा दो विकेट लिए। इससे पहले अमला और रीजा हैंडिक्स ने दक्षिण अफ्रीका को शानदार शुरुआत दिलाई। दोनों ने पहले विकेट के लिए 17.4 ओवर में 82 रन की साझेदारी की। हैंडिक्स को स्पिनर शादाब खान ने हसन अली के हाथों कैच कराकर दक्षिण अफ्रीका को पहला झटका दिया। हैंडिक्स ने 67 गेंदों पर पांच चौकों की मदद से 45 रन बनाए।इसके बाद वनडे करियर का 27वां शतक लगाने वाले अमला को डुसेन का साथ मिला। दोनों बल्लेबाज कुल स्कोर को 230 रन के पार ले गए। अमला और डुसेन ने दूसरे विकेट के लिए 155 रन की साझेदारी की। पदार्पण वनडे में शतक से चूकने वाले डुसेन को हसन अली ने शोएब मलिक के हाथों कैच कराया। डुसेन ने 101 गेंदों पर छह चौके और तीन छक्के लगाए। डेविड मिलर 12 गेंदों पर 16 रन बनाकर नाबाद लौटे। पाकिस्तान की ओर से शादाब खान और हसन अली को एक-एक सफलता हाथ लगी।

नई दिल्ली। भारतीय कप्तान विराट कोहली टीम इंडिया के लिए बेहद खास हैं और ये बात शायद किसी को समझाने की जरूरत नहीं है। दूसरे वनडे में जब भारतीय टीम को सीरीज में बने रहने की सख्त जरूरत थी उस वक्त विराट का बल्ला चला और टीम को जीत मिली। उनकी पारी के दम पर टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज में अब तक बना हुई है। अब अगला वनडे यानी सीरीज का आखिरी और निर्णायक मैच मेलबर्न में खेला जाना है। जाहिर है इस मैच में भी भारतीय क्रिकेट फैंस और टीम को विराट से आस तो होगी ही। आखिर मेलबर्न विराट के लिए खास क्यों है जानते हैं।
आखिरी मैच में लगाया था शतक:-भारतीय कप्तान विराट कोहली ने इस ऑस्ट्रेलियाई दौरे से पहले वर्ष 2016 में वहां का दौरा किया था। उस वक्त टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी थे। उस वनडे सीरीज में दोनों देशों के बीच पांच मैच खेले गए थे और भारत को मेजबान टीम ने 1-4 से शिकस्त दी थी। वर्ष 2016 में खेले गए वनडे सीरीज का तीसरा मैच भी मेलबर्न में ही खेला गया था। इस मैच में विराट कोहली ने बेहतरीन शतकीय पारी खेली थी। उन्होंने 117 गेंदों का सामना करते हुए 117 रन बनाए थे। इस पारी में उनका स्ट्राइक रेट 100 का रहा था और उन्होंने अपनी पारी में 7 चौके और दो छक्के लगाए थे। विराट ने इस मैच में दूसरे विकेट के लिए शिखर धवन के साथ मिलकर 119 रन की साझेदारी की थी जबकि तीसरे विकेट के लिए अजिंक्य रहाणे के साथ मिलकर 109 रन की साझेदारी की थी। यानी उन्होंने दो शतकीय साझेदारी निभाई थी। विराट की इस पारी के दम पर ही भारत ने 50 ओवर में छह विकेट पर 295 रन बनाए थे। इस मैच में विराट के अलावा भारत की तरफ से धवन ने 68 और रहाणे ने 50 रन की पारी खेली थी।
इस बार भी विराट से है उम्मीद:-विराट इस वक्त अच्छी फॉर्म में चल रहे हैं। दूसरे वनडे में उन्होंने बेहतरीन शतक लगाकर टीम को जीत दिलाई थी तो मेलबर्न में उन्होंने आखिरी वनडे में भी शतकीय पारी खेली थी। यानी हालात और रिकॉर्ड दोनों इस बात की तरफ इशारा करते हैं कि विराट के लिए इस मैदान पर बड़ी पारी खेलने की उम्मीद करना बेमानी नहीं है। वैसे वर्ष 2016 में खेले गए वनडे मैच में विराट के शतक के बावजूद भारतीय टीम को हार का सामना करना पड़ा था। भारत ने विराट की शतक के दम पर 295 रन जरूर बनाए लेकिन मेजबान टीम ने 48.5 ओवर में सात विकेट पर 296 रन बनाकर इस मैच को जीत लिया था।
दिलचस्प है ये अंक का खेल;-भारत ने पिछले ऑस्ट्रेलिया दौरे (2016) पर जो पांच मैचों की वनडे सीरीज खेली थी उसका तीसरा मैच मेलबर्न में ही खेला गया था। इस बार भी इस वनडे सीरीज का तीसरा मैच मेलबर्न में ही खेला जाएगा। वैसे भारत व ऑस्ट्रेलिया के बीच इस बार तीसरा टेस्ट मैच मेलबर्न में ही खेला गया था और टीम इंडिया को इसमें 137 रन से बड़ी जीत मिली थी। विराट ने इस टेस्ट मैच की पहली पारी में 82 रन बनाए थे। यानी हम उम्मीद कर सकते हैं कि टीम इंडिया मेलबर्न में तीसरा वनडे जीतकर सीरीज अपने नाम कर सकती है।

नई दिल्ली। विराट कोहली अब जितने भी मैच खेलते हैं उन सबमें किसी का रिकॉर्ड तोड़ते हैं या फिर किसी के रिकॉर्ड की बराबरी करते हैं। अब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे वनडे मैच में वो वेस्टइंडीज के पूर्व क्रिकेटर व दुनिया के महान बल्लेबाज ब्रायन लारा को रन के मामले में पीछे छोड़ने में सिर्फ कुछ रन ही पीछे हैं। अगर विराट ऐसा कर लेते हैं तो वो वनडे क्रिकेट…
नई दिल्ली। दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने महेंद्र सिंह धौनी की ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे वनडे में 'मैच फिनिश' करने की काबिलियत की प्रशंसा की और कहा कि अब से वह अंत तक पारी को आगे बढ़ाएंगे। धौनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे वनडे के दौरान 'मैच फिनिश' करने की अपनी काबिलियत का नजारा पेश किया और तेंदुलकर ने इसे उनकी सोच प्रक्रिया का नतीजा बताया।तेंदुलकर ने अपने एप '100एमबी'…
मेलबोर्न। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच शुक्रवार को मेलबोर्न में तीसरा वनडे मैच खेला जाएगा। तीन वनडे मैचों की सीरीज का यह आखिरी मैच है। ऑस्ट्रेलिया ने सीरीज का पहला मैच जीत लिया था, जबकि भारत ने दूसरे मैच में शानदार वापसी करते हुए सीरीज 1-1 से बराबर कर ली थी। दोनों टीमों के बीच शुक्रवार 18 जनवरी को तीसरा और सीरीज का अंतिम वनडे खेला जाना है। इस निर्णायक…
एडिलेड। ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज जेसन गिलेस्पी का मानना है कि भारतीय क्रिकेट टीम की जसप्रीत बुमराह वाली मौजूदा गेंदबाजी अटैक की वजह से टीम इंडिया मेजबान देश इंग्लैंड के साथ विश्व कप जीतने की सबसे बड़ी दावेदार है। गिलेस्पी ने कहा कि मुझे लगता है कि टीम इंडिया की गेंदबाजी आक्रमण काफी संतुलित है। बुमराह इन दिनों आराम कर रहे हैं लेकिन अभी भी उनकी गेंदबाजी काफी…
Page 10 of 365

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें