खेल

खेल (5105)

नई दिल्ली। इस वक्त इंग्लैंड की टीम वेस्टइंडीज दौरे पर है और दोनों देशों के बीच पहला टेस्ट मैच खेला जा रहा है। हाल ही में भारत को टेस्ट सीरीज में हराने वाली इंग्लैंड की टीम का वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में बुरा हाल है। इस मैच में इंग्लैंड की टीम पहली पारी में 30.2 ओवर में सिर्फ 77 रन पर ऑल आउट हो गई। इंग्लैंड की टीम का इतना बुरा हाल करने में वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाज केमार रोच की बड़ी भूमिका रही।केमार रोच ने पहली पारी में इंग्लिश टीम के खिलाफ घातक गेंदबाजी की और उनकी टीम के पांच बल्लेबाजों को पवेलियन का रास्ता दिखाया। उन्होंने 11 ओवर में 17 रन देकर पांच विकेट लिए। इसमें उन्होंने 7 ओवर मेडन भी फेंके। रोच के अलावा पहली पारी में जेसन होल्डर और अलजारी जोसफ ने दो-दो विकेट लिए जबकि शैनन गैब्रियाल ने एक विकेट लिया। कमाल की बात ये रही कि पहली पारी में इंग्लैंड के सात बल्लेबाज दहाई तक का आंकड़ा भी नहीं छू पाए और कोई भी बल्लेबाज 20 से ज्यादा का स्कोर नहीं बना पाया। इंग्लैंड की तरफ से जेनिंग्स ने सर्वाधिक 17 रन बनाए जबकि बेयरस्टो ने 12, सैम करन ने 14 और आदिल रशीद ने 12 रन का योगदान दिया। केमार रोच ने रोरी बर्न्स, जॉनी बेयरस्टो, बेन स्टोक्स, जोस बटलर व मोइन अली जैसे धाकड़ बल्लेबाजों को आउट किया। पिछले दस वर्षों में ये चौथा मौका है जब कैरेबियाी टीम ने अपनी विरोधी टीम को 100 से कम स्कोर पर ऑल आउट किया। इससे पहले इंडीज ने वर्ष 2009 में इंग्लैंड को किंग्सटन में 51 रन पर ऑल आउट किया था।इस मैच की पहली पारी में वेस्टइंडीज ने 289 रन बनाए थे। हेटमायर ने सबसे ज्यादा 81 जबकि रोस्टन चेज ने 54 और शाई होप ने 57 रन की अर्धशकीय पारी खेली थी। टीम के अन्य बल्लेबाज कैंपबेल ने 44 जबकि ब्रेथवेट ने 40 रन बनाए थे। पहली पारी में जेम्स एंडरसन ने अच्छी गेंदबाजी करते हुए 46 रन देकर पांच विकेट लिए थे। वहीं बेन स्टोक्स को 4 विकेट मिले थे। अब दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक मेजबान टीम ने छह विकेट के नुकसान पर 127 रन बना लिए हैं और टीम की कुल बढ़त 339 रन की हो गई है। इस मैच में फिलहाल वेस्टइंडीज का पलड़ा भारी लग रहा है।

नई दिल्ली। भारत और न्यूज़ीलैंड के बीच खेले गए पहले वनडे में टीम इंडिया ने आठ विकेट से जीत दर्ज़ की। इस जीत के साथ भारत ने पांच वनडे मैचों की सीरीज़ में 1-0 की बढ़त बना ली है। ये जीत भारत के लिए बेहद खास रही क्योंकि न्यूजीलैंड के खिलाफ उनकी धरती पर भारत को 10 साल बाद वनडे मैच में जीत नसीब हुई है। इस मैच में जीत के बाद धौनी और कोहली ने बीच मैदान पर ही जीत का जश्न मनाया। ये जश्न थोड़ा अनोखा था।
धौनी-कोहली ने ऐसे मनाया जश्न:-जीत के बाद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और महेंद्र सिंह धौनी कैमरा क्रू के सेगवे (दो पहियों की सवारी) पर मस्ती करते हुए नजर आए। कप्तान विराट कोहली ने मैदान पर कैमरा क्रू के सेगवे पर सवारी करके जीत का जश्न मनाया। कोहली ने सेगवे पर कुछ मस्ती की और अलग-अलग पोज पर कुछ तस्वीरें भी खिंचवाईं। कोहली का यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। कोहली के बाद धौनी ने भी सेगवे की सवारी की और मैदान का चक्कर लगाया। बीसीसीआइ ने भी इन दोनों दिग्गज़ों के इस जश्न का वीडियो ट्वीट किया।विराट कोहली ने इस मैच में 45 रन का पारी खेली। कोहली ने 59 गेंदों का सामना करते हुए तीन चौके भी लगाए। कोहली अपने अर्धशतक से पांच रन पहले लॉकी फर्ग्यूसन की गेंद पर टॉम लाथम को कैच दे बैठे। इससे पहले जब भारतीय टीम गेंदबाज़ी कर रही थी तो धौनी ने एक बार फिर से अपनी फुर्ती का जलवा दिखाया और कुलदीप यादव की गेंद पर लॉकी फर्ग्यूसन (00) को स्टंप आउट कर दिया।
ऐसा रहा मैच का हाल:-इस मैच में न्यूज़ीलैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी का फैसला किया। भारतीय गेंदबाज़ों के बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत कीवी टीम 157 रन पर ऑल ऑउट हो गई। हालांकि डूबते सूरज की रोशनी के कारण खेल कुछ देर के लिए मैच रोकना पड़ा। इसकी वजह से भारत को जीत के लिए 156 रन का संशेाधित लक्ष्य दिया गया। जिसे भारत ने 34.5 ओवर में दो विकेट खोकर ही हासिल कर लिया।

नेपियर। भारत और न्यूज़ीलैंड के बीच खेले गए पहले वनडे मैच को भारत ने 8 विकेट से जीता। इस जीत के बाद मोहम्मद शमी को मैन ऑफ द मैच के अवॉर्ड से नवाज़ा गया। शमी ने इस मुकाबले में तीन विकेट लिए। इस जीत से खुश भारतीय कप्तान कोहली ने शमी को लेकर एक बड़ी बात कही। कोहली ने शमी की तारीफों के पुल बांधते हुए कहा कि चोटों से जूझने वाला यह गेंदबाज इस समय फिटनेस के मामले में सर्वश्रेष्ठ स्तर पर है।
शमी के लिए खास रहा पहला वनडे:-न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले वनडे में शमी ने 19 रन देकर तीन विकेट झटके। इस मैच में उन्होंने वनडे क्रिकेट में अपने सौ विकेट भी पूरे किए। शमी इस उपलब्धि को सबसे तेज़ी से हासिल करने वाले भारतीय गेंदबाज़ बने।हालांकि पिछले साल एक ऐसा भी दौर रहा जिसमें वह ‘यो यो’ परीक्षण में विफल रहे और कुछ निजी मुद्दों में फंसे रहे। लेकिन शमी ने इन सब को पीछे छोड़ते हुए अपने 56वें मैच में 100 विकेट झटके। पहले वनडे में उन्होंने छह ओवर गेंदबाजी करते हुए सलामी बल्लेबाज मार्टिन गुप्टिल और कोलिन मुनरो के विकेट चटकाए।
शमी को लेकर ऐसा बोले कोहली:-कोहली ने मैच के बाद कहा, ‘तेज गेंदबाजी समूह का मानना है कि वे किसी भी टीम को पस्त कर सकते हैं। उसे (शमी) को खुद की काबिलियत और अपनी फिटनेस पर भरोसा है, मैंने अपने करियर में उसे इससे ज्यादा फिट नहीं देखा। उसने टेस्ट फॉर्म को वनडे क्रिकेट में भी जारी रखा।’चोटों के अलावा 27 साल के इस गेंदबाज को पिछले साल अपनी पत्नी के घरेलू हिंसा के आरोपों का भी सामना करना पड़ा। वह पिछले साल जून में अफगानिस्तान के खिलाफ एकमात्र टेस्ट से पहले ‘यो यो’ फिटनेस परीक्षण में विफल हो गए थे। शमी की वापसी की शुरूआत ऑस्ट्रेलिया से हुई जिसमें उन्होंने टेस्ट श्रृंखला के दौरान 16 विकेट चटकाए।
जीत पर कोहली का बयान:-कोहली ने भारत को मिली आठ विकेट की जीत पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि वह टीम के ऑल राउंड प्रयास से खुश थे। उन्होंने कहा, ‘पिछले कुछ मैचों में यह हमारे संतुलित प्रदर्शन में से एक था। जब मैंने टॉस गंवाया तो मुझे लगा कि स्कोर 300 रन से ज्यादा जायेगा लेकिन इस विकेट पर 150 के करीब रन शानदार रहे।’
कुलदीप ने लिए चार विकेट:-भारत के लिये कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव सबसे सफल गेंदबाज रहे जिन्होंने 10 ओवर में 39 रन देकर चार विकेट झटके जबकि युजवेंद्र चहल और केदार जाधव ने मिलकर तीन विकेट प्राप्त किए।कोहली ने कहा, ‘पारी के दूसरे हाफ में पिच धीमी हो गई थी लेकिन पहले हाफ में स्पिनरों ने अच्छी गेंदबाजी की।’ कप्तान ने सलामी बल्लेबाज शिखर धवन की भी तारीफ की जिन्होंने 156 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए नाबाद 75 रन बनाए। वहीं न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने कहा कि उनकी टीम का यह सर्वश्रेष्ठ प्रयास नहीं था।

नई दिल्ली। भारत और न्यूज़ीलैंड के बीच नेपियर में खेले गए पहले वनडे मैच को टीम इंडिया ने 8 विकेट से जीता। इस जीत से भारत ने पांच वनडे मैचों की सीरीज में न्यूजीलैंड के खिलाफ 1-0 से बढ़त बना ली है। इस मैच में न्यूज़ीलैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी का फैसला किया। भारतीय गेंदबाज़ों के बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत कीवी टीम 157 रन पर ऑल ऑउट हो गई। हालांकि डूबते सूरज की रोशनी के कारण खेल कुछ देर के लिए मैच रोकना पड़ा। इसकी वजह से भारत को जीत के लिए 156 रन का संशेाधित लक्ष्य दिया गया।
सूरज की रोशनी से रुका मैच:-पहली बार मैच में ऐसे हालात में डकवर्थ लुईस प्रणाली का इस्तेमाल किया गया जिसमें बारिश के कारण व्यवधान पैदा नहीं हुआ था। भारत का स्कोर जब एक विकेट पर 44 रन था तब डूबते सूरज की रोशनी के कारण गेंद नहीं देख पाने की वजह से मैच रोकना पड़ा। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में ऐसी दिक्कत पहली बार देखने को मिली।करीब आधे घंटे के विलंब के कारण लक्ष्य 49 ओवरों में 156 रन का कर दिया गया जो भारत ने बिना किसी परेशानी के हासिल कर लिया। डिनर के बाद रोहित शर्मा अपना विकेट गंवा बैठे लेकिन विराट कोहली और धवन ने टीम को जीत तक पहुंचाया।
कोहली ने लारा को छोड़ा पीछे:-विराट कोहली (10430 रन) ने सबसे ज्यादा वनडे रन के मामले में ब्रायन लारा (10405 रन) को पीछे छोड़ा और अब वह लिस्ट में 10वें स्थान पर पहुंच गए हैं। पहले स्थान पर सचिन तेंदुलकर (18426) के अलावा और कौन हो सकता है।
शमी ने पूरा किया शतक:-मोहम्मद शमी भारत की तरफ से सबसे तेज़ 100 वनडे विकेट लेने का रिकॉर्ड बनाया। उन्होंने 56 मैचों में यह रिकॉर्ड बनाया और उन्होंने इरफ़ान पठान (59 मैच) का रिकॉर्ड तोड़ा। अगर सबसे तेज़ 100 विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाजों की बात करें तो मोहम्मद शमी और इरफ़ान पठान के बाद ज़हीर खान (65 मैच), अजीत अगरकर (67 मैच) और जवागल श्रीनाथ (68 मैच) का नंबर आता है। गौरतलब है कि सबसे तेज़ 100 वनडे विकेट लेने के मामले में विश्व रिकॉर्ड अफगानिस्तान के राशिद खान (44 मैच) के नाम दर्ज़ है।
धवन ने पूरे किए पांच हज़ार वनडे रन;-शिखर धवन ने 119वें मैच की 118वीं पारी में 5000 वनडे रन पूरे किये। सबसे तेज़ 5000 रन पूरा करने के मामले में भारतीय रिकॉर्ड विराट कोहली (114 पारी) के नाम है और दूसरे स्थान पर धवन ने कब्ज़ा किया। इस मामले में विश्व रिकॉर्ड हाशिम अमला (101 पारी) के नाम दर्ज़ है।
न्यूज़ीलैंड में नौ साल बाद जीता भारत:-न्यूजीलैंड में भारत को नौ साल बाद जीत मिली। इससे पहले भारत ने 2009 में हैमिल्टन में खेले गए टेस्ट मैच में आखिरी बार न्यूजीलैंड को न्यूजीलैंड में हराया था।
विलियमसन का छठा अर्धशतक:-केन विलियमसन ने न्यूजीलैंड में भारत के खिलाफ लगातार छठा अर्धशतक लगाया। 2014 में खेली गई पांच मैचों की वनडे सीरीज के सभी मैच में विलियमसन ने अर्धशतक लगाया था।

नई दिल्ली। भारत और न्यूज़ीलैंड के बीच नेपियर में खेले गए पहले वनडे मैच को टीम इंडिया ने 8 विकेट से जीत लिया है। इस जीत से भारत ने पांच वनडे मैचों की सीरीज में न्यूजीलैंड के खिलाफ 1-0 से बढ़त बना ली है। टीम इंडिया के लिए ये जीत बेहद खास रही, क्योंकि नेपियर में मिली इस जीत ने भारतीय टीम का 9 साल का सूखा खत्म कर दिया।
ये जानकर रह जाएंगे हैरान:-टीम इंडिया के लिए ये जीत इसलिए खास रही, क्योंकि न्यूज़ीलैंड की धरती पर भारत को 9 साल के बाद किसी भी फॉर्मेट में ये पहली जीत मिली है। इससे पहले भारत को न्यूज़ीलैंड में जो आखिरी जीत मिली थी वो 2009 में खेली गई टेस्ट सीरीज़ के पहले मैच में मिली थी। हैमिल्टन में खेले गए उस मैच को भारत ने 10 विकेट से जीता था। 2009 के बाद भारतीय टीम ने 2014 में भी न्यूज़ीलैंड का दौरा किया था। उस दौरे पर भारतीय टीम एक भी वनडे मैच नहीं जीत सकी थी। पांच मैच की वनडे सीरीज़ को कीवी टीम ने 4-1 से अपने नाम किया था। वहीं दो टेस्ट मैच की सीरीज़ भी न्यूज़ीलैंड ने 1-0 से अपने नाम की थी। यानि उस दौरेे पर भारत को एक अदद जीत तक के लिए तरसना पड़ा था।
ऐसा रहा मैच का हाल:-न्यूजीलैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए सभी विकेट गंवाकर 157 रनों का स्कोर खड़ा किया। इस पारी में टीम के लिए कप्तान केन विलियमसन ने सबसे अधिक 64 रन बनाए। इसके अलावा, मेजबान टीम के लिए कोई भी अन्य बल्लेबाज खास कमाल नहीं कर पाया। भारत के लिए कुलदीप यादव ने सबसे अधिक चार विकेट लिए। इसके अलावा, मोहम्मद शमी को तीन और युजवेंद्र चहल को दो विकेट मिले। केदार जाधव को एक सफलता हाथ लगी। इसके बाद भारत ने 158 रनों के लक्ष्य को 34.5 ओवर में ही दो विकेट खोकर हासिल कर लिया। भारत की ओर से धवन ने सर्वाधिक 75* रन बनाए। अंबाती रायुडू भी 13 रन बनाकर नाबाद रहे। कोहली ने भी 45 रन की पारी खेली।
शमी ने हासिल की ये उपलब्धि;-इस मैच में शमी ने अंतर्राष्ट्रीय वनडे में सबसे तेजी से 100 विकेट पूरे करने वाले पहले भारतीय होने की उपलब्धि हासिल की। उन्होंने पूर्व खिलाड़ी इरफान पठान को पीछे छोड़ दिया है। शमी ने 56वें वनडे मैच में विकटों का शतक पूरा करने का गौरव हासिल किया, वहीं पठान को यह मुकाम 59वें वनडे मैच में हासिल हुआ।अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर शमी ने न्यूजीलैंड के गेंदबाज ट्रैंट बोल्ट के रिकॉर्ड की बराबरी की है। उन्होंने भी 56 मैचों में 100 विकेट अपने नाम किए।
धवन ने भी हासिल किया ये मुकाम;-इस मैच में धवन ने 103 गेंदों का सामना किया। उन्होंने छह चौके लगाए। इसके साथ ही उन्होंने सबसे तेजी से 5,000 वनडे रन पूरे करने वाले दूसरे भारतीय बल्लेबाज होने का गौरव भी हासिल किया। इस सूची में कोहली पहले स्थान पर हैं। कोहली ने 114 पारियों में 5,000 वनडे रन पूरे करने की उपलब्धि अपने नाम की थी, वहीं धवन ने 118 पारियों में यह मुकाम हासिल किया है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर इस उपलब्धि को हासिल करने वाले बल्लेबाजों में कोहली तीसरे और धवन पांचवें स्थान पर हैं।

नई दिल्ली। भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी और ओपनिंग बल्लेबाज़ रहे गौतम गंभीर ने 2019 विश्व कप के लिए अपनी भारतीय टीम चुनी है। गंभीर ने हाल ही में क्रिकेट से संन्यास का एलान किया था। इसके बाद से वो कॉमेंट्री कर रहे हैं। गंभीर ने इसी साल मई में होने वाले विश्व कप के लिए अपनी 15 सदस्यीय भारतीय टीम चुनी है। इस टीम में गंभीर ने एक ऐसे नाम को चुना है, जिसे देखकर आप सभी हैरान रह जाएंगे।
ये रही गंभीर की विश्व कप की भारतीय टीम ;-रोहित शर्मा, शिखर धवन, के एल राहुल, विराट कोहली, एम; एस धौनी, अंबाती रायुडू, केदार जाधव, दिनेश कार्तिक, हार्दिक पांड्या, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, मोहम्द शमी, आर अश्विन, कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल।
इस खिलाड़ी के नाम से सभी हैरान:-गंभीर की इस 15 सदस्यीय टीम में आर. अश्विन का नाम भी मौजूद है। इस टीम में अश्विन का नाम देखकर सभी हैरान हैं। क्योंकि अश्विन इन दिनों वनडे क्रिकेट में भारतीय टीम का हिस्सा नहीं है। अश्विन टीम इंडिया के लिए फिलहाल सिर्फ टेस्ट मैच ही खेल रहे हैं। इसमें हैरान होने वाली बात ये भी है कि इस समय सभी टीमें कलाई के स्पिनरों को अपनी टीम में जगह दे रही हैं और अश्विन एक फिंगर स्पिनर हैं।
गंभीर ने दिया ये तर्क:-गंभीर का कहना है कि विश्व कप के लिए आपको जो तीसरा स्पिन गेंदबाज़ चाहिए वो आर. अश्विन होने चाहिए। क्योंकि यदि चहल और कुलदीप में से कोई एक चोटिल हो जाए तो टीम इंडिया के पास एक स्पेशलिस्ट स्पिन गेंदबाज़ रहे। जो सिर्फ एक कामचलाऊ स्पिनर न हो। वो गेंदबाज़ अनुभवी तो हो ही उसके पास विविधता भी हो। इसी वजह से गौतम ने अश्विन को अपनी टीम में चुना है।

 

 

नई दिल्ली। भारत और न्यूज़ीलैंड के बीच पहले वनडे मैच में एक ऐसी अजीबो-गरीब घटना घटी जो क्रिकेट मैदान में पहले कभी नहीं घटी थी। इस मैच में सूरज की रोशनी के चलते आधे घंटे तक मैच को रोकना पड़ा। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में ये पहला मौका रहा जब सूरज की तेज़ रोशनी की बदौलत मैच रोका गया। इससे पहले भी क्रिकेट के मैदान पर पहले भी बहुत सी ऐसी अनोखी…
दुबई। ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट श्रृंखला में पहली जीत से भारतीय टीम और उसके कप्तान विराट कोहली ने सोमवार को यहां जारी आइसीसी टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष पर अपनी स्थिति मजबूत की है। भारत के 116 अंक हैं और वह विश्व की नंबर एक टेस्ट टीम बनी हुई है। कप्तान कोहली के बल्लेबाजों की रैंकिंग में 922 अंक हैं और वह दूसरे स्थान पर काबिज न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन (897)…
नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व बल्लेबाज़ जैकब मार्टिन एक सड़क दुर्घटना में गंभीर रुप से घायल हो गए। इस हादसे के बाद मार्टिन अपनी मौत से जंग लड़ रहे हैं वहीं उनके इलाज के लिए उनका परिवार धनराशि जुटाने के लिए संघर्ष कर रहा है। मार्टिन ने परिजनों ने बीसीसीआइ से मदद की गुहार लगाई थी। मार्टिन के परिवार के मदद मांगने के बाद बीसीसीआइ के अलावा कुछ…
नेपियर। भारत और न्यूज़ीलैंड (IND vs NZ) के बीच वनडे सीरीज़ का पहला मैच 23 जनवरी को नेपियर में खेला जाएगा। इस दौरे पर भारतीय टीम पांच वनडे और तीन टी-20 मैच की सीरीज़ खेलेगी। इस सीरीज़ की शुरुआत से पहले न्यूज़ीलैंड के अनुभवी बल्लेबाज़ रॉस टेलर का मानना है कि भारतीय टीम के सामने न्यूज़ीलैंड के गेंदबाज़ों की कड़ी परीक्षा होगी। टेलर का मानना है कि इस भारतीय टीम…
Page 9 of 365

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें