खेल

खेल (4590)

दुबई। भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग को 23 नवंबर से शुरू हो रही दुनिया की पहली दस ओवरों की लीग के आइकन खिलाड़ियों में चुना गया है। सहवाग के अलावा पाकिस्तान के शाहिद अफरीदी और न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान ब्रेंडन मैकुलम भी टूर्नामेंट के दूसरे सत्र में आइकल चुने गए हैं। ये लीग आइसीसी और इसीबी की मान्यता प्राप्त है ।लीग में दस दिन के भीतर 29 मैच खेले जायेंगे जबकि पिछले साल यह टूर्नामेंट चार दिन का ही था। टी10 लीग में रोशन महानामा और वसीम अकरम को तकनीकी समिति और प्रतिभा तलाश कार्यक्रम का निदेशक चुना गया।इसमें आठ टीमें केरला किंग्स, पंजाब लीजैंड्स, मराठा अरेबियंस, बंगाल टाइगर्स, कराचियंस, राजपूत्स, नार्दर्न वारियर्स और पखतून्स भाग लेंगी । इस साल कराचियंस और नार्दर्न वारियर्स पहली बार खेलेंगी ।इसमें शेन वॉटसन, शाहिद अफरीदी, इयोन मोर्गन, राशिद खान, शोएब मलिक, सुनील नारायण, डेरेन सैमी जैसे कई नामचीन खिलाड़ी नजर आयेंगे।

राजकोट। भारत और वेस्टइंडीज के बीच दो मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मैच 4 अक्टूबर से राजकोट में खेला जाएगा। भारत को पिछले नौ महीनों में दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में हार का सामना करना पड़ा लेकिन तब भी टेस्ट मैचों में दुनिया की नंबर एक टीम बना हुआ है। अब भारतीय टीम इंग्लैंड में मिली हार को पीछे छोड़ इस सीरीज़ पर फोकस कर रही है। वेस्टइंडीज़ के खिलाफ होने वाले पहले टेस्ट मैच से पहले भारतीय टीम मैनेजमेंट ने 12 खिलाड़ियों के नाम का एलान किया है।
पृथ्वी शॉ को मिलेगा मौका:-यह तय है कि भारत इस मैच में नयी सलामी जोड़ी के साथ मैदान पर उतरेगा। लोकेश राहुल के साथ भारतीय पारी की शुरुआत पृथ्वी शॉ करेंगे। मयंक अग्रवाल को अंतिम 12 में जगह नहीं मिली है तो ऐसे में उन्हें अपने पदार्पण के लिए थोड़ा और इंतज़ार करना पडेगा। मध्यक्रम की जिम्मेदारी चेतेश्वर पुजारा, कप्तान विराट कोहली और उप कप्तान अंजिक्य रहाणे के ऊपर होगी। 
इनके हाथ में होगी भारतीय गेंदबाज़ी;-गेंदबाजी विभाग की बात करें तो भारत का तीन स्पिनरों - आर अश्विन, रविंद्र जडेजा और कुलदीप यादव के साथ खेलना तय है। जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार को विश्राम देने तथा इशांत शर्मा के चोटिल होने के बाद उमेश यादव और मोहम्मद शमी तेज गेंदबाजी आक्रमण की अगुवाई करेंगे। चोटिल हार्दिक पंड्या की अनुपस्थिति में जडेजा आलराउंडर की भूमिका निभाएंगे। एशिया कप में वनडे में शानदार वापसी करने वाले जडेजा अपने घरेलू मैदान पर चमक बिखेरने के लिये तैयार होंगे।
पंत पर भी होंगी सभी की निगाहें:-एक अन्य खिलाड़ी रिषभ पंत पर भी निगाह टिकी रहेगी जिन्होंने ओवल में 114 रन की पारी खेलकर टीम में अपनी जगह सुरक्षित रखी है। ओवल में अपने पदार्पण पर 56 रन बनाने वाले हनुमा विहारी को अंतिम एकादश में जगह नहीं मिल पाएगी क्योंकि टीम पांच विशेषज्ञ गेंदबाजों को उतारना चाहती है।
खुद को साबित करने आई वेस्टइंडीज़:-भारत की यह सबसे दमदार टीम नहीं है लेकिन तब भी वह अनुभवहीन वेस्टइंडीज पर दबदबा बनाने में सक्षम है। कैरेबियाई टीम में प्रतिभा की कमी नहीं है लेकिन उन्हें भारत में खेलने का खास अनुभव नहीं है। उसकी 15 सदस्यीय टीम में से केवल पांच खिलाड़ियों को ही भारत में टेस्ट खेलने का अनुभव है और इनमें तेज गेंदबाज केमार रोच भी शामिल हैं जो बारबाडोस में अपनी नानी के निधन के कारण पहले मैच में नहीं खेल पाएंगे।जिन अन्य खिलाड़ियों को भारत में टेस्ट खेलने का अनुभव है उनमें देवेंद्र बिशू, क्रेग ब्रेथवेट, कीरन पावेल और शेनोन गैब्रियल शामिल हैं। वेस्टइंडीज नवंबर 2013 में सचिन तेंदुलकर की विदाई श्रृंखला में खेलने के बाद पहली बार भारत में टेस्ट खेल रहा है।कोच स्टुअर्ट लॉ की देखरेख में टीम ने कुछ अच्छे परिणाम दिए हैं। उसने पिछले साल इंग्लैंड को लीड्स में हराया जिसमें शाई होप ने 147 और नाबाद 118 रन की पारियां खेली थी। वेस्टइंडीज स्वदेश में श्रीलंका के खिलाफ 1-1 से ड्रा खेलने और बांग्लादेश पर 2-0 की जीत दर्ज करने के बाद भारत दौरे पर आ रहा है। लॉ को अपनी टीम से काफी उम्मीद हैं। उनकी टीम ने वड़ोदरा में दो दिवसीय अभ्यास मैच खेलने से पहले दुबई में अभ्यास किया था।लॉ ने कहा, ‘भारत का दौरा करना दूसरी टीमों के लिए हमेशा मुश्किल होता है। हमें दुनिया को दिखाना होगा हम भी अच्छा खेल सकते हैं और मौके का फायदा उठा सकते हैं।’
वेस्टइंडीज़ ने 2002 में जीती थी भारत से सीरीज़;-भारत को आठवें नंबर की वेस्टइंडीज के खिलाफ जीत से बहुत कुछ हासिल नहीं होगा लेकिन कैरेबियाई टीम अपना प्रभाव छोड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी। उसे भारत के खिलाफ 2002 के बाद अपनी पहली जीत का इंतजार है जबकि भारतीय सरजमीं पर उसने 1994 के बाद कोई मैच नहीं जीता है।
टीमें इस प्रकार हैं :
भारत (अंतिम 12) :-विराट कोहली (कप्तान), केएल राहुल, पृथ्वी साव, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, ऋषभ पंत, आर अश्विन, रविंद्र जडेजा, कुलदीप यादव, मोहम्मद शमी, उमेश यादव, शार्दुल ठाकुर।
वेस्टइंडीज:-जेसन होल्डर (कप्तान), सुनील अंबरीश, देवेंद्र बिशू, क्रेग ब्रैथवेट, रोस्टन चेज, शेन डोविच, शैनन गैब्रियल, जहमार हैमिल्टन, शिमरान हेटमायर, शाई होप, शेरमेन लुईस, केमो पॉल, कीरन पॉवेल, केमार रोच, जोमेल वार्रिकैन में से।

नई दिल्ली। एशिया कप के फाइनल में आखिरी गेंद पर मात खाने के बाद बांग्लादेश के फैंस काफी नाराज़ थे। ये दूसरा मौका था जब भारतीय टीम ने बांग्लादेश को एशिया कप के फाइनल में मात देकर ट्रॉफी अपने नाम की, लेकिन इस हार के बाद बांग्लादेश के फैंस ने अपनी टीम की हार का बदला ले लिया। बांग्लादेश के फैन्स भारत की इस जीत से नाराज दिखे क्योंकि उन्हें लगा कि उनकी टीम के साथ नाइंसाफी हुई है। उस हार का बदला लेने के लिए उन्होंने विराट कोहली की वेबसाइट हैक कर ली।बांग्लादेशी हैकर्स ने हार का बदला लेने के लिए विराट कोहली की वेबसाइट हैक कर डाली। हैकर्स ने कोहली की वेबसाइट को हैक कर उसमें लिटन दास के आउट होने की तस्वीर पोस्ट की जो फाइनल मैच की है। उन्होंने इसके बाद आइसीसी को माफी मांगने के लिए कहा। हैकर्स ने संदेश लिखा, 'डियर आइसीसी क्रिकेट जेंटलमैन गेम नहीं है, क्या हर टीम के बराबर अधिकार नहीं होने चाहिए, आइसीसी ये बताए कि लिटन दास कैसे आउट हैं। अगर आइसीसी ने पूरी दुनिया के आगे लिखित माफी नहीं मांगी और अंपायर के खिलाफ कड़ा एक्शन नहीं लिया तो ऐसे ही वो साइट हैक करते रहेंगे।'बांग्लादेश के ओपनर लिटन दास ने फाइनल में जबर्दस्त पारी खेलते हुए 87 गेंदों में शतक जमाया था। खास बात ये है कि लिटन ने पहली बार अपने करियर में 50 का आंकड़ा पार किया और उसके बाद वो जल्द ही शतक तक पहुंच गए। उन्होंने इस मैच में 117 गेंदों पर 121 रनों की पारी खेली थी। लेकिन, इसके बाद कुलदीप यादव की गेंद पर विकेटकीपर महेंद्र सिंह धौनी ने उन्हें स्टंप आउट कर दिया। थर्ड अंपायर का ये फैसला थोड़ा विवादित था, जिससे बांग्लादेशी फैंस काफी आहत हुए थे।आपको बता दें कि एशिया कप का फाइनल मुकाबला काफी रोमांचक था। इस मुकाबले में भारतीय टीम ने आखिरी गेंद पर जीत हासिल करते हुए सातवीं बार एशिया कप का खिताब अपने नाम किया था।

 

 

नई दिल्ली। विराट कोहली के एशिया कप 2018 में हिस्सा नहीं लेने की वजह से कई सवाल खड़े हुए थे साथ ही क्रिकेट फैंस को भी निराशा हुई है, लेकिन अब टीम के कोच रवि शास्त्री ने इस राज से पर्दा उठा दिया है कि उन्हें क्यों एशिया कप के दौरान आराम दिया गया। शास्त्री ने विराट के बारे में कहा कि वो शारीरिक तौर पर काफी फिट हैं और आप उन्हें मैदान से बाहर नहीं देख सकते। विराट के बारे में सबसे अहम बात ये कि जब वो खेलते हैं तब पता चलता है कि वो खेल में किस स्तर की तीव्रता लेकर आते हैं। "उन्हें सिर्फ इसलिए आराम दिया गया था ताकि वो मानसिक तौर पर अपनी थकान दूर कर सकें। थोड़े दिनों तक क्रिकेट से दूर रहकर खुद को तरोताजा कर लें और पूरी तरह से फ्रेश होकर वापसी करें"। शास्त्री ने कहा कि इस तरह की प्रक्रिया टीम के अन्य खिलाड़ियों के साथ भी अपनाई जाएगी। हम ऐसा टीम के कई खिलाड़ियों के साथ करेंगे। हमने वेस्टइंडीज के खिलाफ जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर को आराम दिया है ताकि वो पूरी तरह से और शक्तिशाली होकर मैदान पर वापसी करें। विराट वेस्टइंडीज के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की सीरीज में 15 सदस्यीय भारतीय दल की अगुआई करेंगे। भारत वेस्टइंडीज के खिलाफ चार अक्टूबर से राजकोट में टेस्ट सीरीज का आगाज करेगा। इस बार टीम में ओपनर बल्लेबाज शिखर धवन को शामिल नहीं किया गया। टीम में पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल को शामिल किया गया जबकि भुवी और बुमराह को आराम दिया गया। मुरली विजय को इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी दो टेस्ट मैच से टीम के बाहर कर दिया गया था और वो वेस्टइंडीज के खिलाफ टीम में शामिल नहीं किया गया। इसके अलावा दिनेश कार्तिक और करुण नायर भी टेस्ट टीम में वापसी नहीं कर सके। दिनेश कार्तिक के टीम से बाहर होने का मतलब है कि रिषभ पंत इस वक्त टेस्ट टीम में इकलौते विकेटकीपर हैं। पंत ने इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी तीन टेस्ट मैच खेले थे और आखिरी टेस्ट मैच में उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ शतक लगाया था। इसके अलावा हनुमा विहारी ने भी ओवल टेस्ट यानी इंग्लैंड के खिलाफ पांचवें टेस्ट में भारत के लिए डेब्यू किया था और अपने प्रदर्शन से प्रभावित भी किया था। विहारी भी 15 सदस्यीय भारतीय टेस्ट टीम का हिस्सा हैं।

नई दिल्ली। एक वक्त था जब वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज जीतना भारतीय टीम के लिए बड़ी बात होती है लेकिन अब समय बदल चुका है और अब वेस्टइंडीज की टीम भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज जीतने को तरस रही है। भारत व वेस्टइंडीज के बीच 23वां टेस्ट सीरीज गुरुवार से शुरू होने जा रहा है। इस बार दोनों देशों के बीच दो टेस्ट मैचों की सीरीज खेली जाएगी। जाहिर है इस टेस्ट सीरीज में वेस्टइंडीज की टीम जीत जरूर दर्ज करना चाहेगी लेकिन ये थोड़ा मुश्किल दिख रहा है। वेस्टइंडीज ने आखिरी बार भारत के खिलाफ वर्ष 2002 में अपनी धरती पर टेस्ट सीरीज जीती थी और उसके बाद उन्हें जीत नसीब नहीं हुई।
16 वर्ष से जीत की तलाश में वेस्टइंडीज की टीम:-वेस्टइंडीज की टीम पिछले 16 वर्ष से भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज में जीत दर्ज करने की कोशिश कर रही है लेकिन उसे सफलता नहीं मिल रही। कैरेबियाई टीम ने भारत के खिलाफ आखिरी बार वर्ष 2002 में टेस्ट सीरीज में जीत दर्ज की थी। इस वर्ष दोनों देशों के बीच पांच टेस्ट मैचों की सीरीज खेली गई थी और भारत को 1-2 से हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन इसके बाद दोनों देशों के बीच छह टेस्ट सीरीज खेली जा चुकी है और सबमें इंडीज को हार झेलनी पड़ी। वर्ष 2002 के बाद दोनों देशों के बीच खेले गए टेस्ट सीरीज का रिजल्ट कुछ ऐसा रहा है।
वेस्टइंडीज में भारत (2002)- विजेता वेस्टइंडीज- 2-1 (5 मैच)
भारत में वेस्टइंडीज (2002/03)- विजेता भारत- 2-0 (3 मैच)
वेस्टइंडीज में भारत (2006)- विजेता भारत- 1-0 (4 मैच)
वेस्टइंडीज में भारत (2011)- विजेता भारत- 1-0 (3 मैच)
भारत में वेस्टइंडीज (2011/12)- विजेता भारत- 2-0 (3 मैच)
भारत में वेस्टइंडीज (2013/14)- विजेता भारत- 2-0 (2 मैच)
वेस्टइंडीज में भारत (2016)- विजेता भारत- 2-0 (4 मैच)
भारत व वेस्टइंडीज के बीच पहली टेस्ट सीरीज;-भारत ने वेस्टइंडीज के खिलाफ देश आजाद होने के तुरंत बाद यानी 1948/49 में पहली टेस्ट सीरीज खेली थी। पांच मैचों की इस टेस्ट सीरीज का नतीजा वेस्टइंडीज के पक्ष में रहा था और भारत को 1-0 से हार मिली थी। इसके बाद लगातार वेस्टइंडीज ने चार टेस्ट सीरीज में भारत को हराने में कामयाबी हासिल की। वर्ष 1970/71 में भारत को वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज में जीत नसीब हुई। वेस्टइंडीज में खेले गए पांच मैचों की टेस्ट सीरीज में भारत ने इस बार 1-0 से जीत दर्ज कर कैरेबियाई धरती पर अपना परचम लहराया था।
आंकड़ों में वेस्टइंडीज का पलड़ा भारी:-दोनों देशों के बीच अब तक कुल 22 टेस्ट सीरीज खेली गई है। इन टेस्ट सीरीज में वेस्टइंडीज का पलड़ा भारी नजर आता है। वेस्टइंडीज ने भारत के खिलाफ कुल 12 टेस्ट सीरीज जीते हैं जबकि भारत ने कैरेबियाई टीम के खिलाफ 8 टेस्ट सीरीज में जीत दर्ज की है। दो टेस्ट सीरीज दोनों देशों के बीच ड्रॉ रहे। टेस्ट मैचों की बात करें तो दोनों देश अब तक कुल 94 टेस्ट मैच खेल चुके हैं जिसमें भारत को सिर्फ 18 मैच जबकि वेस्टइंडीज ने 30 मैचों में जीत दर्ज की है और 46 मैच ड्रॉ रहे हैं।

एंटिगा। भारत और वेस्टइंडीज़ के बीच 4 अक्टूबर से टेस्ट सीरीज़ का आगाज़ होना है, लेकिन इस सीरीज़ से क्रिकेट वेस्टइंडीज (सीडब्ल्यूआई) सुर्खियों में आ गया है। इसकी वजह वेस्टइंडीज़ का एक ओपनिंग खिलाड़ी है। वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम के तेज़-तर्रार बल्लेबाज़ ईविन लुईस ने सीडब्ल्यूआई के अनुबंध को ठुकरा दिया है। सीडब्ल्यूआई ने लुईस को 2018-19 में सफेद गेंद से खेलने का अनुबंध दिया था, लेकिन लुईस ने इसे लेने से इंकार कर दिया।लुईस के साथ ही साथ तीन अन्य खिलाड़ियों को भी सीडब्ल्यूआई ने अनुबंध दिया था। इसमें कप्तान जेसन होल्डर, बल्लेबाज शाई होप और तेज गेंदबाजी अल्जारी जोसेफ का नाम शामिल है। तेज़ गेंदबाज केमार रोच ने 2018-19 अनुबंध में सभी प्रारूपों में वापसी की है। पिछले साल, जुलाई में रोच को वेस्टइंडीज टीम में वापस बुलाया गया था। इसके बाद टीम के लिए खेले गए मैचों में उन्होंने 41 विकेट हासिल किए। इसमें टेस्ट मैचों के 11 विकेट शामिल हैं।उल्लेखनीय है कि सीडब्ल्यूआई ने इस साल जनवरी में घोषित हुई नई प्रणाली को ध्यान में रखकर खिलाड़ियों के लिए नए सीजन का अनुबंध तैयार किया है।

राजकोट। भारत और वेस्टइंडीज़ के बीच गुरुवार से टेस्ट सीरीज़ का आगाज होना है, लेकिन राजकोट में खेले जाने वाले पहले टेस्ट मैच से पहले ही मेहमान टीम को बड़ा झटका लगा है। वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाजी आक्रमण के अगुआ केमार रोच पहले टेस्ट में नहीं खेल पाएंगे क्योंकि उन्हें अपनी नानी के निधन के कारण बारबडोस वापस लौटना पड़ा था। रोच गुरुवार से यहां शुरू हो रहे पहले टेस्ट…
नई दिल्ली। भारत और वेस्टइंडीज़ के बीच खेली जाने वाली टेस्ट सीरीज़ का आगाज़ चार अक्टूबर से राजकोट के मैदान पर होगा। इस सीरीज़ में भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली के पास मौका है इस सीरीज़ को अपने लिए यादगार बनाने का। इस सीरीज में भारतीय कप्तान कोहली एक और रिकॉर्ड अपने नाम कर सकते हैं।कोहली तोड़ सकते है अजहर का ये रिकॉर्ड;-वेस्टइंडीज़ के खिलाफ खेली जाने वाले…
केपटाउन (दक्षिण अफ्रीका)। दक्षिण अफ्रीका के तूफानी तेज गेंदबाजी लुंगी नगीडी ने कहा कि टीम में सीनियर तेज गेंदबाज डेल स्टेन का मौजूद होना हमारे लिए काफी मददगार साबित होता है। सीनियर खिलाड़ी होने के नाते उनके पास काफी अनुभव है वो हमें गेंदबाजी के बारे में टिप्स देते रहते हैं। नगीडी को जिम्बाब्वे के खिलाफ पहले वनडे मुकाबले में बेहतरीन गेंदबाजी के लिए मैन ऑफ द मैच चुने गए…
नई दिल्ली। वेस्टइंडीज़ के खिलाफ 4 अक्टूबर से खेली जाने वाली टेस्ट सीरीज़ के लिए भारतीय टीम का एलान हो गया है। इस टीम में मयंक अग्रवाल को पहली बार भारत की अंतरराष्ट्रीय टीम के लिए चुना गया है। मयंक पिछले काफी समय से लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे और यही वजह है कि उन्हें उनकी मेहनत का फल मिला और चयनकर्ताओं ने उन्हें वेस्टइंडीज़ के खिलाफ होने वाली…
Page 8 of 328

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें