खेल

खेल (1123)

नई दिल्ली। टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज और उपकप्तान रोहित शर्मा इन दिनों गजब की फॉर्म में हैं। इंग्लैंड और वेल्स में वर्ल्ड कप में पांच शतक लगाने वाले रोहित शर्मा इस समय वेस्टइंडीज दौरे पर हैं, जहां तीन टी20 मैचों की सीरीज के दो मुकाबले में वे 91 रन बना चुके हैं, जिसमें 8 चौके और 5 छक्के शामिल हैं। इसी सीरीज के दूसरे मैच में रोहित शर्मा ने टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट के दो वर्ल्ड रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। दरअसल, वेस्टइंडीज के खिलाफ पारी का दूसरा छक्का लगाते ही वे दुनिया के पहले ऐसे बल्लेबाज बन गए, जिन्होंने टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे ज्यादा छक्के लगाए हैं। इस मामले में उन्होंने वेस्टइंडीज के खतरनाक ओपनर क्रिेस गेल को पीछे छोड़ा है। क्रिस गेल ने टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में 105 छक्के लगाए हैं। वहीं, रोहित शर्मा अब 107 छक्के लगा चुके हैं। इस मामले में तीसरे नंबर पर न्यूजीलैंड के सलामी बल्लेबाज मार्टिन गप्टिल हैं, जो 103 छक्के लगा चुके हैं। इसके अलावा रोहित शर्मा ने टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट का एक और वर्ल्ड रिकॉर्ड तोड़ दिया है। दरअसल, रोहित शर्मा क्रिकेट के इस फॉर्मेट में सबसे ज्यादा अर्धशतक लगाने वाले भी पहले बल्लेबाज बन गए हैं। इस मामले में रोहित शर्मा ने अपनी ही टीम के कप्तान विराट कोहली को पीछे छोड़ दिया है, जिन्होंने टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में 20 अर्धशतक जड़े हैं। वही, रोहित अब तक 21 अर्धशतक और 4 शतक लगा चुके हैं।बता दें कि रोहित शर्मा टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भी पहले खिलाड़ी हैं। रोहित शर्मा ने 96 मैचों की 88 पारियों में 2422 रन बना लिए हैं। इस मामले में भी विराट कोहली 2310 रन के साथ दूसरे नंबर पर हैं। वहीं, मार्टिन गप्टिल 2272 रनों के साथ तीसरे नंबर पर हैं।
टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट के कुछ वर्ल्ड रिकॉर्ड
सबसे ज्यादा रन - रोहित शर्मा
सबसे ज्यादा छक्के - रोहित शर्मा
सबसे ज्यादा शतक - रोहित शर्मा
सबसे ज्यादा अर्धशतक - रोहित शर्मा
सबसे ज्यादा चौके - विराट कोहली

नई दिल्ली।भारतीय क्रिकेट टीम के स्पिनर रवींद्र जडेजा ने वर्ल्ड कप 2019 के सेमीफाइनल में जो पारी खेली थी वो वर्षों तक क्रिकेट फैंस के जहन में रहेगा। जडेजा को इस मैच ने संजीवनी दे दी और वेस्टइंडीज दौरे के लिए उनका चयन टीम इंडिया में क्रिकेट तीनों प्रारूपों में हुआ। रवींद्र जडेजा ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टी 20 मैच में कमाल की गेंदबाजी की और चार ओवर में 13 रन देकर एक विकेट चटकाया। इस एक विकेट को लेने के बाद रवींद्र जडेजा ने भारतीय क्रिकेट इतिहास में एक नया आयाम रच दिया। जडेजा भारत की तरफ से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में ये मुकाम हासिल करने वाले पहले बाएं हाथ के स्पिनर बन गए हैं।
जडेजा ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पूरे किए 400 विकेट:-रवींद्र जडेजा टीम इंडिया के बेहतरीन स्पिनरों में से एक हैं। बाएं हाथ के स्पिनर जडेजा का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में प्रदर्शन भी अच्छा रहा है। अब वो इंटरनेशनल क्रिकेट में भारत की तरफ से सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले बाएं हाथ के स्पिनर बन गए हैं। उनसे पहले ये कमाल किसी ने नहीं किया था। जडेजा के नाम पर अब अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में कुल 400 विकेट हो गए हैं। जडेजा ने ये मुकाम वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टी 20 मैच में एक विकेट लेने के बाद हासिल किया।टीम इंडिया के बाएं हाथ के गेंदबाजों की बात की जाए तो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज जहीर खान हैं। जहीर खान भारत की तरफ से सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले बाएं हाथ के तेज गेंदबाज हैं। जहीर के नाम पर क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में कुल 610 विकेट हैं। अब दूसरे नंबर पर रवींद्र जडेजा आ गए हैं जिनके नाम पर अब तक कुल 400 विकेट हो गए हैं। जडेजा बाएं हाथ के स्पिनर के तौर पर इंटरनेशनल क्रिकेट में 400 विकेट पूरे करने वाले पहले गेंदबाज बन गए हैं।
जडेजा का क्रिकेट करियर;-रवींद्र जडेजा के क्रिकेट करियर की बात की जाए तो उन्होंने अपने करियर में अब तक कुल 41 टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें उनके नाम पर कुल 192 विकेट है। टेस्ट में उनका बेस्ट प्रदर्शन एक पारी में 48 रन देकर सात विकेट रहा है जबकि एक टेस्ट मैच में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 154 रन देकर दस विकेट रहा है।वनडे मैचों में भी रवींद्र जडेजा का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा है। 153 वनडे मैचों में उन्होंने अब तक कुल 176 विकेट चटकाए हैं और उनका बेस्ट प्रदर्शन 36 रन देकर पांच विकेट रहा है। वहीं टी 20 की बात की जाए तो उन्होंने अब तक 41 मैचों में कुल 32 विकेट चटकाए हैं। टी 20 में उनका बेस्ट प्रदर्शन 48 रन देकर तीन विकेट रहा है। अब तक क्रिकेट के उनके तीनों प्रारूपों के विकेटों को जोड़ा जाए तो ये आंकड़ा 400 पर पहुंच गया है।

नई दिल्ली। शनिवार, 3 अगस्त को तेज गेंदबाज नवदीप सैनी ने वेस्टइंडीज के खिलाफ फ्लोरिडा में खेले गए तीन मैचों की सीरीज के पहले टी20 इंटरनेशनल मैच में भारतीय टीम के लिए अपना डेब्यू किया। नवदीप सैनी के लिए ये ड्रीम डेब्यू रहा, क्योंकि उस मुकाबले में नवदीप सैनी को प्लेयर ऑफ द मैच का अवार्ड मिला। नवदीप सैनी ने इस मुकाबले में 4 ओवर में कुल 17 रन खर्च कर तीन विकेट अपने नाम किए, जिसमें पारी का 20वां ओवर उनका मेडन था। इसी ओवर में नवदीप सैनी ने किरोन पोलार्ड को LBW आउट किया था, लेकिन अब इसी मैच के एक वाकये के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल यानी आइसीसी ने नियम तोड़ने के लिए नवदीप सैनी को सजा सुनाई है।   नवदीप सैनी को आइसीसी के कोड ऑफ कंडक्ट को तोड़ने के लिए आधिकारिक चेतावनी दी है। नवदीप सैनी को आइसीसी ने आइसीसी के आर्टिकल 2.5 को तोड़ने का दोषी पाया है। इस बारे में आइसीसी का मानना है कि नवदीप सैनी ने खिलाड़ी को आउट करने के बाद उनके खिलाफ प्रतिक्रिया देते हुए कुछ इशारा किया था, जो खिलाड़ी को भड़काने पर मजबूर कर सकता है।इसी बात के लिए आइसीसी ने नवदीप सैनी के खाते में एक डेमेरिट प्वाइंट जोड़ दिया है। ये मामला उस समय का है जब वेस्टइंडीज की पारी के चौथे ओवर में निकोलस पूरन को आउट करने के बाद नवदीप सैनी ने कुछ इशारे किए थे।तेज गेंदबाज नवदीप सैनी ने अपने इस आरोप को कबूल किया और खुद को दोषी मानते हुए आइसीसी के मैत रेफरी जेफ क्रो द्वारा द्वारा दी गई सजा को स्वीकार किया है। ऐसे में अब इस खिलाड़ी पर किसी भी तरह की सुनवाई इस मामले में नहीं होगी। मैदानी अंपायर निगेल डुगेड और ग्रेगरी ब्रैथवेट, थर्ड अंपायर लेसले रेफर और फॉर्थ अंपायर पैट्रिक गस्टर्ड ने नवदीप सैनी पर ये चार्ज लगाया था। \

कराची। पाकिस्तान टीम के हेड कोच मिकी आर्थर ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड यानी पीसीबी की क्रिकेट कमेटी से टीम के मौजूदा कप्तान सरफराज अहमद को हटाने की सिफारिश की है। हेड कोच मिकी आर्थर ने पीसीबी से कप्तान सरफराज अहमद का हटाने की सिफारिश इसलिए भी की है, क्योंकि वे खुद अगले दो साल तक पाकिस्तान की टीम के साथ जुड़कर उसे ऊंचाइयों पर ले जाना चाहते हैं।पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की क्रिकेट कमेटी ने पाकिस्तान टीम की पिछले तीन साल की परफॉर्मेंस का रिव्यू किया है। कमेटी ने इसी साल इंग्लैंड और वेल्स में खेले गए वर्ल्ड कप का भी आंकलन किया गया है, जिसमें पाकिस्तान की टीम सेमीफाइनल से पहले ही बाहर हो गई थी। सूत्रों की मानें तो मिकी आर्थर ने कप्तान सरफराज अहमद को कप्तानी से हटाने की सिफारिश करते हुए एक नया नाम भी सुझाव के तौर पर पेश किया है।मिकी आर्थर चाहते हैं कि सरफराज अहमद की जगह शादाब खान टी20 और वनडे के लिए पाकिस्तान टीम के कप्तान बनें। इसके अलावा टेस्ट टीम के लिए पाकिस्तान की कमान बाबर आजम को मिले। मिकी आर्थर ने कप्तान सरफराज अहमद की कमियों के बारे में भी बोर्ड से बखान किया है।पीसीबी के मैनेजिंग डायरेक्टर वसीम खान की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में मिकी आर्थर ने क्रिकेट कमेटी से कहा है, "मुझे पाकिस्तान की टीम के साथ दो साल और रहने की जरूरत है, जिससे कि मैं टीम से यादगार परिणाम निकलवा सकूं।" बता दें कि 2016 के मध्य से ही मिकी आर्थर पाकिस्तान टीम के कोच हैं।बतौर हेड कोच मिकी आर्थर की पाकिस्तान को दिलाई गई उपलब्धियों पर नज़र डालें तो पाकिस्तान ने साल 2017 में भारत को हराकर आइसीसी चैंपियंस ट्रॉफी जीती थी। इसके अलावा काफी समय से पाकिस्तान की टीम टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट की आइसीसी रैंकिंग में नंबर वन बनी हुई है। हालांकि, वनडे और टेस्ट में टीम का इतना अच्छा परफॉर्मेंस नहीं रहा है।बता दें कि पाकिस्तान टीम के मौजूदा हेड कोच मिकी आर्थर और बाकी सपोर्ट स्टाफ का कार्यकाल इसी 15 अगस्त को समाप्त हो रहा है। सूत्रों ने ये भी बताया है कि मिकी आर्थर ने पीसीबी की क्रिकेट कमेटी के सामने अपना पक्ष रखते हुए बताया था कि क्यों पाकिस्तान टीम का प्रदर्शन गिरा है। इस बारे में मिकी आर्थर ने प्रजेंटेशन में बताया कि टीम के फील्डिंग कोच के हटाने के बाद टीम का फील्डिंग स्तर गिरा है, जो परफॉर्मेंस में काफी मायने रखता है। हालांकि, पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अधिकारी इस पक्ष से इत्तेफाक नहीं रखते।

नई दिल्ली। छह साल पहले तक हरियाणा के करनाल में जिस गेंद गेंदबाज को टेनिस बॉल से क्रिकेट खेलने पर 200 रुपये प्रति मैच मिलते थे, उसने जिंदगी में भी नहीं सोचा होगा कि यह छह साल उसके लिए करिश्माई साबित होंगे। शनिवार को नवदीप सैनी को वेस्टइंडीज के खिलाफ अमेरिका के लॉडरहिल में खेले गए टी-20 मुकाबले से नीली जर्सी पहनने का मौका मिला।नवदीप ने पहले ही मैच में करिश्माई पदार्पण करके सालों की मेहनत और सुनहरे भविष्य की लकीर को एक धागे में पिरो दिया। नवदीप ने चार ओवर में 17 रन देकर तीन विकेट लिए। खास बात यह रही कि नवदीप ने निकोलस पूरन, शिमरोन हेटमायर और कीरोन पोलार्ड के विकेट लिए। पूरन और हेटमायर को तो उन्होंने लगातार गेंद पर पवेलियन भेजा। इसी प्रदर्शन के लिए नवदीस सैनी को प्लेयर ऑफ द मैच का अवार्ड भी मिला।
आसान नहीं रहा सफर:-करनाल का खिलाड़ी दिल्ली की रणजी ट्रॉफी में कैसे खेल सकता है। यह बात पूर्व भारतीय दिग्गजों बिशन सिंह बेदी और चेतन चौहान को जरा भी नहीं भाई थी। सैनी को दिल्ली की रणजी टीम तक पहुंचाने में मदद की इसी टीम के पूर्व तेज गेंदबाज सुमित नरवाल ने। करनाल प्रीमियर लीग के दौरान सैनी को उन्होंने देखा तो वह उनकी गति से काफी आकर्षित हुए। यह वो वक्त था जब सैनी को करनाल में लोकल टूर्नामेंट में खेलने के 200 रुपये प्रति मैच मिलते थे। 2013 तक सैनी लेदर की गेंद से खेले तक नहीं थे। वह सिर्फ टेनिस बॉल क्रिकेट खेलते थे।
अभ्यास सत्र में कायल हुए गंभीर:-सैनी का अगला पड़ाव दिल्ली टीम का अभ्यास सत्र रहा। यहां उन्होंने पूर्व अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर और दिल्ली के उस वक्त के कप्तान गौतम गंभीर को गेंदबाजी से अपना कायल बना दिया। गंभीर ने उन्हें दो जोड़ी जूते दिए और नेट पर लगातार आने को कहा। यहीं से सैनी की पहचान शुरू हुई। गंभीर ने चयनकर्ताओं को सैनी को रणजी टीम में लेने का सुझाव दिया। 2013-14 सीजन में सैनी टीम में चुन भी लिए गए। यहां से उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। 2017-18 सत्र में दिल्ली को रणजी फाइनल तक पहुंचने में सैनी का अहम रोल रहा। वह आठ मैचों में 34 विकेट लेकर टीम के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज भी रहे।
गंभीर ने आलोचकों को लिया आड़े हाथों;-सैनी जब शनिवार को वेस्टइंडीज के खिलाफ दो विकेट ले चुके थे तो गंभीर ने ट्वीट किया कि शानदार, नवदीप सैनी ने पदार्पण मैच में ही दो विकेट निकाल लिए और अभी तक पूरे चार ओवर भी नहीं किए। बिशन सिंह बेदी और चेतन चौहान, यह वह खिलाड़ी है जिसकी किस्मत कुछ लोगों ने उसके मैदान पर उतरने से पहले ही लिख दी थी। इससे पहले सैनी को 2018 में अफगानिस्तान के खिलाफ हुए एकमात्र टेस्ट के लिए टीम में पहली बार चुना गया था, लेकिन उन्हें खेलने का मौका नहीं मिला था। सैनी ने आइपीएल के पिछले सत्र में विराट कोहली की कप्तानी वाली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर की ओर से खेलते हुए अपनी गति से सबको प्रभावित किया था।

 

 

नई दिल्ली।भारतीय क्रिकेट टीम के स्पिनर रवींद्र जडेजा ने वर्ल्ड कप 2019 के सेमीफाइनल में जो पारी खेली थी वो वर्षों तक क्रिकेट फैंस के जहन में रहेगा। जडेजा को इस मैच ने संजीवनी दे दी और वेस्टइंडीज दौरे के लिए उनका चयन टीम इंडिया में क्रिकेट तीनों प्रारूपों में हुआ। रवींद्र जडेजा ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टी 20 मैच में कमाल की गेंदबाजी की और चार ओवर में 13 रन देकर एक विकेट चटकाया। इस एक विकेट को लेने के बाद रवींद्र जडेजा ने भारतीय क्रिकेट इतिहास में एक नया आयाम रच दिया। जडेजा भारत की तरफ से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में ये मुकाम हासिल करने वाले पहले बाएं हाथ के स्पिनर बन गए हैं।
जडेजा ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पूरे किए 400 विकेट;-रवींद्र जडेजा टीम इंडिया के बेहतरीन स्पिनरों में से एक हैं। बाएं हाथ के स्पिनर जडेजा का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में प्रदर्शन भी अच्छा रहा है। अब वो इंटरनेशनल क्रिकेट में भारत की तरफ से सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले बाएं हाथ के स्पिनर बन गए हैं। उनसे पहले ये कमाल किसी ने नहीं किया था। जडेजा के नाम पर अब अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में कुल 400 विकेट हो गए हैं। जडेजा ने ये मुकाम वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टी 20 मैच में एक विकेट लेने के बाद हासिल किया।टीम इंडिया के बाएं हाथ के गेंदबाजों की बात की जाए तो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज जहीर खान हैं। जहीर खान भारत की तरफ से सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले बाएं हाथ के तेज गेंदबाज हैं। जहीर के नाम पर क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में कुल 610 विकेट हैं। अब दूसरे नंबर पर रवींद्र जडेजा आ गए हैं जिनके नाम पर अब तक कुल 400 विकेट हो गए हैं। जडेजा बाएं हाथ के स्पिनर के तौर पर इंटरनेशनल क्रिकेट में 400 विकेट पूरे करने वाले पहले गेंदबाज बन गए हैं।
जडेजा का क्रिकेट करियर;-रवींद्र जडेजा के क्रिकेट करियर की बात की जाए तो उन्होंने अपने करियर में अब तक कुल 41 टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें उनके नाम पर कुल 192 विकेट है। टेस्ट में उनका बेस्ट प्रदर्शन एक पारी में 48 रन देकर सात विकेट रहा है जबकि एक टेस्ट मैच में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 154 रन देकर दस विकेट रहा है।वनडे मैचों में भी रवींद्र जडेजा का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा है। 153 वनडे मैचों में उन्होंने अब तक कुल 176 विकेट चटकाए हैं और उनका बेस्ट प्रदर्शन 36 रन देकर पांच विकेट रहा है। वहीं टी 20 की बात की जाए तो उन्होंने अब तक 41 मैचों में कुल 32 विकेट चटकाए हैं। टी 20 में उनका बेस्ट प्रदर्शन 48 रन देकर तीन विकेट रहा है। अब तक क्रिकेट के उनके तीनों प्रारूपों के विकेटों को जोड़ा जाए तो ये आंकड़ा 400 पर पहुंच गया है।

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम को तीन मैचों की टी 20 सीरीज में वेस्टइंडीज के खिलाफ चार विकेट से जीत मिली। टीम इंडिया को ये जीत आसानी से नहीं मिली। भारतीय टीम के कैरेबियाई बल्लेबाजों ने मुश्किल में डाल दिया था पर टीम ने किसी तरह से ये मैच निकाल लिया। इस मैच में भारत को जीत दिलाई वाशिंगटन सुंदर ने। सुंदर ने छक्का लगाकर टीम इंडिया को जीत दिलाई…
नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर-बल्लेबाज MS Dhoni इस वक्त दक्षिण कश्मीर में पोस्टेड हैं जहां वो भारत मां की सुरक्षा में लगे हैं। धोनी को आर्मी में मानद लेफ्टिनेंट कर्नल रैंक हासिल है और वो 31 जुलाई से आर्मी को अपनी सेवाएं दे रहे हैं। दक्षिण कश्मीर में वो विक्टर फोर्स का हिस्सा हैं जहां वो दो सप्ताह तक रहेंगे। धोनी मध्य अगस्त तक घाटी में रहेंगे।कुछ दिन…
नई दिल्ली। वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टी 20 मैच में टीम इंडिया के तेज गेंदबाज नवदीप सैनी ने कमाल की गेंदबाजी की और डेब्यू मैच में ही प्लेयर ऑफ द मैच चुने गए। नवदीप की गेंदबाजी से भारतीय कप्तान विराट कोहली काफी खुश हुए और उन्होंने उनकी जमकर तारीफ की। नवदीप सैनी ने इस मैच के पहले ही ओवर में लगातार दो गेदों पर दो विकेट लेकर कमाल कर दिया…
नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर-बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी टेरिटोरियल आर्मी में मानद लेफ्टिनेंट कर्नल भी हैं और वो बुधवार को सेना के साथ जुड़ गए। महेंद्र सिंह धोनी को आतंक प्रभावित दक्षिण कश्मीर में ड्यूटी मिली है जहां वो अन्य सैनिकों की तरह गश्त, गार्ड ड्यूटी और अन्य काम करेंगे। धोनी यहां पर 15 अगस्त तक 106 टीए बटालियन के साथ रहेंगे और सैनिकों की तरह काम करेंगे।…
Page 4 of 81

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें