खेल

खेल (4590)


नई दिल्ली - भारत के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में जेसन होल्डर चोटिल होने की वजह से नहीं खेल पाए थे, लेकिन दूसरे टेस्ट मैच में उन्होंने जबरदस्त वापसी की। हैदराबाद टेस्ट मैच की पहली पारी में होल्डर ने भारत के खिलाफ बेहतरीन गेंदबाजी की और पांच भारतीय बल्लेबाजों को पवेलियन भेजा। इसके अलावा उन्होंने इस मैच के दौरान एक ऐसा रिकॉर्ड अपने नाम किया जो टेस्ट क्रिकेट के पिछले 100 वर्ष के इतिहास में और कोई गेंदबाज नहीं कर पाया था।
100 वर्ष में पहली बार हुआ ये कमाल
जेसन होल्डर एक कैलेंडर वर्ष में सबसे बेहतरीन औसत से गेंदबाजी करने वाले दुनिया के पहले गेंदबाज बन गए हैं। पिछले 100 साल में एक कैलेंडर वर्ष में इससे बेहतर औसत से किसी गेंदबाज ने गेंदबाजी नहीं की थी। 26 वर्ष के होल्डर ने इस कैलेंडर वर्ष में 11.87 की औसत से गेंदबाजी करते हुए अब तक कुल 33 विकेट लिए हैं। इससे पहले ये रिकॉर्ड पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर के नाम पर था। वर्ष 2003 में उन्होंने एक कैलेंडर वर्ष में 12.36 की औसत से गेंदबाजी करते हुए 30 विकेट लिए थे। होल्डर ने अख्तर को पीछे छोड़ दिया और एक नया विश्व रिकॉर्ड अपने नाम पर दर्ज किया। दूसरे टेस्ट में भारत के खिलाफ होल्डर ने पहली पारी में 23 ओवर में 56 रन देकर पांच विकेट लिए। इसके अलावा उन्होंने पहली पारी में 52 जबकि दूसरी पारी में 19 रन बनाए।
आइसीसी ने होल्डर की तारीफ की
जेसन होल्डर की इस कामयाबी पर उन्हें आइसीसी की तरफ से बधाई मिली साथ ही ट्विटर के माध्यम से आइसीसी ने इस बेहतरीन आंकड़ें को पेश किया। आइसीसी ने अपने ट्वीट में लिखा कि ये वर्ष जेसन होल्डर के लिए कमाल का रहा।
एक कैलेंडर वर्ष में चार बार पांच विकेट
जेसन होल्डर ने एक कैलेंडर वर्ष में चार बार पांच विकेट लेने का भी कमाल किया। होल्डर से पहले वेस्टइंडीज के लिए कर्टनी वॉल्श ने भी ये कमाल किया था। वॉल्श ने वर्ष 2000 में ये कमाल किया था और अब होल्डर ने ये उपलब्धि हासिल की। हालांकि जेसन होल्डर की इस बेहतरीन गेंदबाजी के बाद भी वेस्टइंडीज को दूसरे टेस्ट मैच में जीत हासिल नहीं हुई। भारत ने वेस्ट इंडीज को दो टेस्ट मैचों की सीरीज में क्लीन स्विप कर दिया और टेस्ट सीरीज अपने नाम कर ली।

 


नई दिल्ली - टीम इंडिया के तेज़ गेंदबाज़ भुवनेश्वर कुमार ने जल्दी ही अपने पिता बनने की खबरों का खंडन किया है। कुछ दिन पहले एक खबर आई थी जिसमें कहा गया था कि टीम इंडिया के दो खिलाड़ी है जो जल्द ही पिता बनने वाले हैं, लेकिन भुवनेश्वर कुमार इस रिपोर्ट को गलत ठहराया है।
हाल ही में ये खबर आई थी कि टीम इंडिया के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार और रोहित शर्मा दोनों जल्द ही पिता बनने वाले हैं। इस खबर पर रोहित शर्मा की ओर से तो कोई जवाब नहीं आया है लेकिन भुवनेश्वर कुमार ने ट्वीट करके इस बारे में अपनी स्थिति साफ की है। भुवनेश्वर ने कहा कि ये खबरें गलत हैं और ऐसी अफवाह ना फैलाई जाए।
भुवी ने अपने ट्वीट में लिखा, 'एक बार फिर मीडिया की तरफ से गलत खबर फैलाई जा रही है कि मैं पिता बनने वाला हूं। कृपया बिना कन्फर्म किए कोई भी बात न फैलाएं। मैं सभी से रिक्वेस्ट करता हूं कि किसी के निजी जिंदगी के बारे में बिना सच जाने के कुछ न फैलाएं।'
भुवनेश्वर कुमार की शादी पिछले साल नवंबर में नूपुर नागर से हुई थी। भुवनेश्वर कुमार अपनी पत्नी के साथ शादी के पहले कुछ दिनों तक रिलेशनशिप में रहे थे। दोनों ने 23 नवंबर 2017 को शादी कर ली। आपको बता दें कि दोनों एक दूसरे को बचपन से जानते थे।


नई दिल्ली - भारत और वेस्टइंडीज के बीच खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में भारत ने वेस्टइंडीज़ को़ 10 विकेट से मात देकर हैदराबाद टेस्ट जीत लिया। इस जीत के साथ ही भारत ने वेस्टइंडीज़ पर क्लीन स्वीप हासिल करते हुए 2-0 से टेस्ट सीरीज़ भी अपने नाम कर ली। वेस्टइंडीज़ के खिलाफ भारत की ये लगातार सातवीं टेस्ट सीरीज़ जीत रही। वर्ष 2013 के बाद से भारत ने अपने घर में कोई भी टेस्ट सीरीज नहीं गंवाई ये टीम इंडिया की 10वीं टेस्ट सीरीज जीत रही। उमेश यादव को उनकी बेहतरीन गेंदबाजी के लिए 'मैन ऑफ द मैच' चुना गया। पृथ्वी शॉ को उनकी शानदार गेंदबाजी के लिए 'मैन ऑफ द सीरीज' चुना गया।
दूसरी पारी में वेस्टइंडीज़ की पारी 127 पर सिमट गई और भारत को जीत के लिए 72 रन का लक्ष्य मिला। जिसे भारतीय ओपनर्स ने आसानी से हासिल कर लिया। भारत की ओर से दूसरी पारी में लोकेश राहुल 33 और पृथ्वी शॉ 33 रन बनाकर नाबाद रहे।
दूसरी पारी में वेस्टइंडीज़ के लिए सुनील एम्ब्रिस ने सबसे ज़्यादा 38 रन की पारी खेली। भारत के लिए उमेश यादव ने चार विकेट लिए। वहीं जडेजा को तीन विकेट हासिल हुए। रविचंद्रन अश्विन को दो और कुलदीप यादव एक सफलता मिली। इससे पहले भारत की पहली पारी 367 रन पर ढेर हुई थी। वेस्टइंडीज़ ने अपनी पहली पारी में 311 रन बनाए थे और पहली पारी के आधार पर भारत को 56 रन की बढ़त मिली थी।
दूसरी पारी में एेसे गिरे विंडीज़ के विकेट
उमेश यादव ने पारी की दूसरी ही गेंद पर क्रेग ब्रैथवेट को आउट कर दिया। उमेश ने वेस्टइंडीज़ की पहली पारी की आखिरी दो गेंदों पर भी विकेट चटकाए थे और इस पारी की शुरुआत में वो हैट्रिक पर थे, लेकिन दूसरी पारी की पहली गेंद को ब्रैथवेट ने आराम से खेला, लेकिन अगली ही गेंद पर ब्रेथवैट विकेटकीपर रिषभ पंत को कैच थमा बैठे। दूसरी पारी में ब्रेथवैट अपंना खाता भी नहीं खोल सके। इसके बाद अश्विन ने विंडीज़ के दूसरे ओपनर कायरन पावेल (0) को रहाणे के हाथों कैच आउट करवा दिया। कुलदीप यादव ने 17 रन पर खेल रहे हेटमायर को अपनी फिरकी में फंसाकर उनकी पारी का अंत कर दिया। पुजारा ने हेटमायर का कैच लेकर उन्हें पवेलियन की राह दिखाई। अगले ही ओवर में रवींद्र जडेजा ने शाई होप की 28 रन की पारी पर ब्रेक लगा दिया। रहाणे ने होप का कैच पकड़ा। शाई होप जब आउट हुए तब विंडीज़ का स्कोर 45 रन था।
उमेश यादव ने पिछली पारी के शतकवीर रोस्टन चेज को 06 रन के निजी स्कोर पर बोल्ड कर दिया। चेज़ को उन्होंने अपने इस ओवर की आखिरी गेंद पर बोल्ड किया था। इसके बाद अपने अगले ही ओवर की पहली ही गेंद पर उमेश ने चोटिल शॉन डॉवरिच (0) को बोल्ड कर विंडीज़ को छठा झटका दे दिया। इस तरह उमेश ने इस मैच में दूसरी बार दो गेंदों पर दो विकेट चटकाए। जडेजा ने जेसन होल्डर को 19 रन के स्कोर पर पंत के हाथों कैच आउट करवाया। अपने अगले ही ओवर में जडेजा ने एम्ब्रिस 38 को एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया। अश्विन ने वॉरिकन (07) को बोल्ड कर भारत को नौवीं सफलता दिला दी। इसके बाद उमेश यादव ने गैब्रियल (01) को बोल्ड कर वेस्टइंडीज़ की दूसरी पारी को 127 रन पर ढेर कर दिया।
भारत को मिली 56 रन की बढ़त
भारत की पहली पारी 367 रन पर ढेर हुई। वेस्टइंडीज़ ने अपनी पहली पारी में 311 रन बनाए थे और पहली पारी के आधार पर भारत को 56 रन की बढ़त मिली। भारत की ओर से रिषभ पंत, पृथ्वी शॉ और अजिंक्य रहाणे ने अर्धशतक ठोके। रिषभ पंत ने सबसे ज्यादा 92 रन की पारी खेली। पृथ्वी शॉ ने 70 और अजिंक्य रहाणे ने 80 रन की पारी खेली। वहीं वेस्टइंडीज़ की तरफ से कप्तान जेसन होल्डर ने पांच विकेट लिए।
ऐसे गिरे भारत के विकेट
भारत को पहला झटका जेसन होल्डर ने दिया, वेस्टइंडीज के कप्तान ने केएल राहुल को 4 रन पर क्लीन बोल्ड किया। इसके बाद स्पिनर जोमेल वारिकन ने पृथ्वी शॉ को हेटमायर के हाथों कैच आउट करवा भारतीय टीम को दूसरा झटका दिया। उन्होंने 53 गेंदों पर 70 रन की तेज पारी खेली। तेज गेंदबाज गैब्रियल ने चेतेश्वर पुजारा को विकेटकीपर के हाथों कैच आउट कर टीम इंडिया का तीसरा विकेट लिया। पुजारा ने 10 रन बनाए। इंडीज टीम के कप्तान जेसन होल्डर ने भारतीय कप्तान विराट कोहली को 45 रन पर LBW आउट कर भारत को सबसे बड़ा झटका दिया।
तीसरे दिन की शुरुआत भारत के लिए अच्छी नहीं रही। पहले अजिंक्य रहाणे 80 रन बनाकर आउट हो गए। रहाणे होल्डर की गेंद पर शाई होप को कैच दे बैठे। इसके एक गेंद बाद ही रविंद्र जडेजा (0) होल्डर की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट हो गए। इसके बाद 92 रन पर खेल रहे रिषभ पंत भी अपना विकेट गंवा बैठे। पंत गैब्रिएल की गेंद पर हेटमायर के हाथों कैच आउट हुए। कुलदीप यादव को भी जेसन होल्डर ने 6 रन के स्कोर पर बोल्ड कर दिया और भारत को लगा आठवां झटका। इसी के साथ होल्डर ने पहली पारी में अपने पांच विकेट भी पूरे किए। उमेश यादव भी 02 रन बनाकर वॉरिकन की गेंद पर विकेटकीपर को कैच थमा बैठे। अश्विन को 35 रन के स्कोर पर बोल्ड कर गैब्रियल ने भारतीय पारी को समेट दिया।
विंडीज़ ने बनाए 311 रन
इससे पहले वेस्टइंडीज की टीम ने रोस्टन चेज के शतक के दम पर पहली पारी में 311 रन बनाए थे। वेस्टइंडीज की तरफ से रोस्टन चेज ने 106 रन की पारी खेली थी। वहीं भारत की तरफ से पहली पारी में तेज गेंदबाज उमेश यादव ने 6 विकेट झटके।
पहली पारी में ऐसे गिरे वेस्टइंडीज के विकेट
अश्विन ने वेस्टइंडीज को पहला झटका दिया, उन्होंने ओपनर कीरन पावेल को रवींद्र जडेजा के हाथों कैच आउट करवाया। इसके बाद कुलदीप यादव ने क्रेग ब्रेथवेट को LBW आउट कर मेहमान टीम को दूसरा झटका दिया। तेज गेंदबाज उमेश यादव ने वेस्टइंडीज को तीसरा झटका दिया, उन्होंने शाई होप को एलबीडबल्यू आउट किया। शिमरोन हेटमायेर कुलदीप यादव का दूसरा शिकार बने, इस चाइनामैन गेंदबाज ने उन्हें एलबीडबल्यू आउट किया।
कुलदीप ने ही सुनील अंबरीश को जडेजा के हाथों कैच आउट करवा अपना तीसरा और पारी का 5वां विकेट लिया। उमेश यादव ने शॉन डॉवरिच को LBW आउट कर वेस्टइंडीज को छठा झटका दिया। टीम के कप्तान जेसन होल्डर ने शानदार 52 रन की पारी खेली और चेज के साथ मिलकर 100 से ज्यादा की साझेदारी की। होल्डर उमेश यादव की गेंद पर विकेट के पीछे रिषभ पंत के हाथों कैच आउट हुए। इसके बाद दूसरे दिन उमेश यादव ने देवेंद्र बिशू, रोस्टन चेज और गैब्रियल को अपना शिकार बना वेस्टइंडीज की पारी 311 रन पर समेट दी।
वेस्टइंडीज की तरफ से रोस्टन चेज ने अपने टेस्ट करियर का चौथा शतक लगया, यह भारत के खिलाफ उनका दूसरा टेस्ट शतक था। अपनी इस शतकीय पारी में उन्होंने 7 चौके और 1 छक्का लगाया।


नई दिल्ली - भारत के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में जेसन होल्डर चोटिल होने की वजह से नहीं खेल पाए थे, लेकिन दूसरे टेस्ट मैच में उन्होंने जबरदस्त वापसी की। हैदराबाद टेस्ट मैच की पहली पारी में होल्डर ने भारत के खिलाफ बेहतरीन गेंदबाजी की और पांच भारतीय बल्लेबाजों को पवेलियन भेजा। इसके अलावा उन्होंने इस मैच के दौरान एक ऐसा रिकॉर्ड अपने नाम किया जो टेस्ट क्रिकेट के पिछले 100 वर्ष के इतिहास में और कोई गेंदबाज नहीं कर पाया था।
100 वर्ष में पहली बार हुआ ये कमाल
जेसन होल्डर एक कैलेंडर वर्ष में सबसे बेहतरीन औसत से गेंदबाजी करने वाले दुनिया के पहले गेंदबाज बन गए हैं। पिछले 100 साल में एक कैलेंडर वर्ष में इससे बेहतर औसत से किसी गेंदबाज ने गेंदबाजी नहीं की थी। 26 वर्ष के होल्डर ने इस कैलेंडर वर्ष में 11.87 की औसत से गेंदबाजी करते हुए अब तक कुल 33 विकेट लिए हैं। इससे पहले ये रिकॉर्ड पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर के नाम पर था। वर्ष 2003 में उन्होंने एक कैलेंडर वर्ष में 12.36 की औसत से गेंदबाजी करते हुए 30 विकेट लिए थे। होल्डर ने अख्तर को पीछे छोड़ दिया और एक नया विश्व रिकॉर्ड अपने नाम पर दर्ज किया। दूसरे टेस्ट में भारत के खिलाफ होल्डर ने पहली पारी में 23 ओवर में 56 रन देकर पांच विकेट लिए। इसके अलावा उन्होंने पहली पारी में 52 जबकि दूसरी पारी में 19 रन बनाए।
आइसीसी ने होल्डर की तारीफ की
जेसन होल्डर की इस कामयाबी पर उन्हें आइसीसी की तरफ से बधाई मिली साथ ही ट्विटर के माध्यम से आइसीसी ने इस बेहतरीन आंकड़ें को पेश किया। आइसीसी ने अपने ट्वीट में लिखा कि ये वर्ष जेसन होल्डर के लिए कमाल का रहा।
एक कैलेंडर वर्ष में चार बार पांच विकेट
जेसन होल्डर ने एक कैलेंडर वर्ष में चार बार पांच विकेट लेने का भी कमाल किया। होल्डर से पहले वेस्टइंडीज के लिए कर्टनी वॉल्श ने भी ये कमाल किया था। वॉल्श ने वर्ष 2000 में ये कमाल किया था और अब होल्डर ने ये उपलब्धि हासिल की। हालांकि जेसन होल्डर की इस बेहतरीन गेंदबाजी के बाद भी वेस्टइंडीज को दूसरे टेस्ट मैच में जीत हासिल नहीं हुई। भारत ने वेस्ट इंडीज को दो टेस्ट मैचों की सीरीज में क्लीन स्विप कर दिया और टेस्ट सीरीज अपने नाम कर ली।


भारतीय जूनियर पुरूष टीम को सुल्तान जोहोर कप अंडर-18 हाकी टूर्नामेंट के फाइनल में शनिवार को ब्रिटेन ने 3-2 से हरा दिया जिससे उसे रजत पदक से संतोष करना पड़ा। भारतीय टीम ने हालांकि अपने पिछले प्रदर्शन में सुधार किया जब उसने कांस्य पदक जीता था। ब्रिटेन की टीम पिछले सत्र में इस टूर्नामेंट की उप विजेता थी। फाइनल मैच का नतीजा भी दोनों टीमों के शुक्रवार को हुए आखिरी लीग मैच की तरह ही रहा। इस मैच में भी ब्रिटेन ने भारत को इसी अंतर से हराया था। भारतीय खिलाड़ियों ने फाइनल के शुरूआती क्षणों में ही पेनल्टी कार्नर हासिल किया। विष्णुकांत सिंह ने चौथे मिनट में रिबाउंड पर गोलकर भारत का खाता खोला। टीम हालांकि इस बढ़त को ज्यादा देर तक बरकरार नहीं रख सकी।
भारत ने जुझारू खेल दिखाया पर जीत नहीं पाया
सातवें मिनट में डेनियल वेस्ट ने ब्रिटेन मैदानी गोल कर स्कोर को 1-1 से बराबर कर दिया। दूसरे क्वार्टर में भी भी खेल बराबरी का रहा जहां दोनों टीमों ने एक समान दमखम दिखाया और एक दूसरे को कड़ी चुनौती दी लेकिन किसी को भी गोल करने का मौका नहीं मिला। ब्रिटेन की टीम तीसरे क्वार्टर में अपने खेल का स्तर ऊंचा किया। जेम्स ओएटेस के 39वें और 43वें मिनट में किये गये दो गोल ने खेल का रूख बदल दिया। इस क्वार्टर में ब्रिटेन ने अपनी बढ़त 3-1 कर ली। भारतीय टीम ने चौथे क्वार्टर में वापसी पूरी कोशिश की लेकिन टीम को सफलता 55वें मिनट में मिली जब अभिषेक के गोल से स्कोर 2-3 हो गया। इसके बाद हालांकि भारतीय टीम को गोल करने में सफलता नहीं मिली।


जकार्ता - भारत ने एशियाई पैरा खेलों में अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 72 पदक अपनी झोली में डाले। जिसमें 15 स्वर्ण शामिल रहे। बैडमिंटन खिलाड़ियों ने शनिवार को प्रतियोगिता के अंतिम दिन दो स्वर्ण और तीन कांस्य पदक जीते। भारत 15 स्वर्ण, 24 रजत और 33 कांस्य पदक से कुल 72 पदक से तालिका में नौंवे स्थान पर काबिज रहा। चीन 172 स्वर्ण, 88 रजत और 59 कांस्य से कुल 319 पदक हासिल कर तालिका में शीर्ष पर रहा। जबकि दक्षिण कोरिया (53 स्वर्ण, 45 रजत और 47 कांस्य) दूसरे और ईरान (51, 42, 43) तीसरे स्थान पर रहे।
वर्ष 2014 के पैरा एशियाई खेलों में भारत ने जीते थे 33 पदक
वर्ष 2014 के पैरा एशियाई खेलों में भारत ने कुल 33 पदक अपने नाम किए थे जिसमें तीन स्वर्ण, 14 रजत और 16 कांस्य पदक शामिल थे। शनिवार को भारत के सभी पांचों पदक बैडमिंटन में आए। पुरूषों के एकल एसएल3 क्लास बैडमिंटन में भारत के प्रमोद भगत ने इंडोनेशिया के उकुन रूकाएंडी को 21-19 15-21 21-14 से हराकर स्वर्ण पदक हासिल किया। पैरा शटलर तरूण ने प्रतियोगिता के अंतिम दिन भारत की झोली में एक और स्वर्ण पदक डाला। उन्होंने पुरूष एकल एसएल4 क्लास में चीन के युयांग गाओ को 21-16 21-6 से शिकस्त दी।
बैडमिंटन और शतरंज में भारत ने जीते सबसे ज्यादा पदक
मनोज सरकार ने पुरूष एकल एसएल3 में, मनोज सरकार और प्रमोद भगत तथा आनंद कुमार गौड़ा और नीतेश कुमार की जोड़ियों ने पुरूष युगल एसएल3-एसएल4 पेयर्स में कांस्य पदक जीते। पैरा एथलेटिक्स ने भारत को आधे पदक (36) दिलाए, जिसमें सात स्वर्ण, 13 रजत और 16 कांस्य शामिल रहे। बैडमिंटन और शतरंज में नौ-नौ जबकि पैरा तैराकी में आठ पदक मिले।

नई दिल्ली - भारतीय तेज़ गेंदबाज़ उमेश यादव ने वेस्टइंडीज़ के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच में शानदार गेंदबाज़ी का प्रदर्शन किया। इस मैच में उमेश ने वेस्टइंडीज़ की पहली पारी में छह विकेट चटकाए तो दूसरी पारी में उन्होंने चार विकेट लिए। इस प्रकार उमेश को इस टेस्ट में कुल 10 विकेट हासिल हुए। ये उनके टेस्ट करियर में पहला मौका रहा जब उन्होंने एक टेस्ट मैच में 10 विकेट…
बेंगलुरू - विजय हजारे ट्रॉफी में मुंबई की टीम ने बिहार को मात देकर सेमीफाइनल में जगह बना ली। मुंबई के मध्यम गति के गेंदबाज तुषार देशपांडे की घातक गेंदबाजी की मदद से मुंबई ने बिहार को क्रिकेट का कड़ा सबक सिखाकर नौ विकेट से जीत दर्ज की।लंबे अर्से बाद राष्ट्रीय स्तर पर वापसी करने वाले बिहार की टीम का पहली बार किसी बड़ी टीम से सामना था जिसमें वह…
नई दिल्ली - विजय हजारे ट्रॉफी टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल मुकाबले में दिल्ली के कप्तान गौतम गंभीर ने अपने बल्ले का कमाल तो दिखाया ही साथ ही साथ अपनी टीम को जीत भी दिला दी। 37 वर्ष की उम्र में भी गंभीर का जलवा जारी है और हरियाणा के खिलाफ उन्होंने शतक लगाकर अपनी टीम को सेमीफाइनल में पहुंचा दिया। इस क्वार्टर फाइनल मुकाबले में हरियाणा ने पहले बल्लेबाजी करते…
भारतीय फुटबॉल टीम को कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन ने कहा है कि भले ही उनकी टीम मैत्री मैच के दौरान एशिया की शीर्ष टीम चीन की बराबरी नहीं कर सकी हो लेकिन अब उसे हराना काफी मुश्किल हो गया है। भारत और चीन ने दोनों टीमों के बीच 21 साल बाद हुए इस अंतरराष्ट्रीय मैच में 0-0 से ड्रॉ खेला। कांस्टेनटाइन को गर्व है कि उनकी टीम इस मैच को गोलरहित…
Page 4 of 328

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें