खेल

खेल (4455)

नई दिल्ली:-आईसीसी वर्ल्ड ट्वेंटी20 में टीम इंडिया के धाकड़ बल्लेबाज विराट कोहली का बल्ला जमकर बोला। टीम इंडिया हालांकि सेमीफाइनल में वेस्टइंडीज से हारकर बाहर हो गई और उसका दूसरी बार टी-20 वर्ल्ड कप जीतने का सपना भी टूट गया लेकिन विराट ने कहा है कि टीम अपनी गलतियों से लगातार सीख रही है।विराट ने साथ ही कहा कि अपनी गलतियों में टीम सकारात्मक ढंग से सुधार कर रही है। टी-20 वर्ल्ड कप विराट के लिए सुनहरी यादों के साथ खत्म हुआ। टीम इंडिया की रीढ़ बन चुके विराट ने टूर्नामेंट में तीन अर्धशतक समेत 273 रन बनाए थे और ये कहना गलत नहीं होगा कि अकेले दम पर भारत को सेमीफाइनल तक पहुंचाया था।विराट सेमीफाइनल में मिली हार से निराश जरूर दिखे लेकिन उन्होंने कहा है कि टीम अपनी गलतियों में लगातार सुधार कर रही है। उन्होंने इंस्टाग्राम और ट्विटर पर दिए अपने संदेश में कहा, 'टूर्नामेंट हमारे लिए अच्छे और बुरे अनुभवों के साथ खत्म हुआ। हमने इसमें कुछ अच्छी जीतें हासिल कीं और कुछ में हार का सामना करना पड़ा लेकिन हमारे लिए सकारात्मक बात यह रही कि हमने मैच दर मैच अपने प्रदर्शन में सुधार किया।'(Thank You for a memorable tournament Thank You everyone for supporting us & cheering for us relentlessly #IndiaIndia)उन्होंने कहा, 'खिताब के इतने पास पहुंचकर खाली हाथ वापस लौटना बेहद निराशाजनक है लेकिन जिंदगी यहीं खत्म नहीं हो जाती। हम अपनी पिछली गलतियों से सबक लेकर लगातार सुधार कर रहे हैं और मुझे पूरी उम्मीद है कि आगे के टूर्नामेंट में हम एक बार फिर जोरदार वापसी करेंगे।'भारतीय उपकप्तान ने कहा, 'जीत हार तो खेल का हिस्सा हैं। एक टीम जीतती है तो दूसरी हारती है लेकिन सबसे अहम है कि हमने खेल का पूरा लुत्फ उठाया। मैच के दौरान फैन्स का अपार प्यार और सपोर्ट मिला जो हमारे लिए किसी उपलब्धि से कम नहीं है।'गौरतलब है कि वर्ल्ड कप के बाद इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का 9वां सीजन 9 अप्रैल से शुरू हो रहा है और विराट लीग की रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के कप्तान हैं।

नई दिल्ली:-टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन पिछले कुछ समय से अच्छी फॉर्म में नहीं हैं। इसी के चलते उन्हें वेस्टइंडीज के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में प्लेइंग इलेवन में भी जगह नहीं मिली थी।धवन ने शनिवार को एक इमोशनल ट्वीट किया। उन्होंने ट्वीट में लिखा, 'कोई कमी मेरे में ही होगी। जैसी परफॉर्मेंस चाहता था वैसी हुई नहीं। गल्तियों को अब खूबियों में बदलकर अब और अच्छा खिलाड़ी बनूंगा।'(Koi kami mere mein hi hogi, jaisi performance chahta tha waisi hui nahi. Galtiyon ko ab khoobiyon mein badal ke aur acha khiladi banoonga!)गौरतलब है कि धवन पिछले कुछ समय से अच्छी शुरुआत के बावजूद अच्छी पारी नहीं खेल पा रहे हैं। टी-20 वर्ल्ड कप में धवन ने न्यूजीलैंड के खिलाफ 1, पाकिस्तान के खिलाफ 6, बांग्लादेश के खिलाफ 23 और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 13 रनों की पारी खेली थी।हम खुद भी उम्मीद करते हैं कि 'गब्बर' अपने पुराने अंदाज में लौटे और विरोधी गेंदबाज की जमकर खबर ले।

कोलकाता:-पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने टीम इंडिया के कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धौनी को महान खिलाड़ी करार दिया है। गांगुली ने कहा कि टी-20 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में धौनी ने ज्यादातर चीजें सही कि लेकिन घरेलू टीम को वेस्टइंडीज के खिलाफ शिकस्त का सामना करना पड़ा।गांगुली ने कहा, 'वह (धौनी) भारत के लिए बेहतरीन रहा है। कोई भी परफेक्ट नहीं होता और मुझे लगता है कि वह महान है।' उन्होंने कहा, 'हम सभी चाहते थे कि भारत वर्ल्ड ट्वेंटी20 के फाइनल में जाए और खिताब जीते लेकिन वेस्टइंडीज और इंग्लैंड प्रतियोगिता की दो सर्वश्रेष्ठ टीमें हैं।'गांगुली ने कहा, 'वेस्टइंडीज की टीम अपनी ताकत और क्षमता से असल में लोगों को काफी रोमांचित कर देती है।' गांगुली ने कहा कि जो टीम 193 रन का लक्ष्य हासिल करने में सफल रहती है वह फाइनल में जगह बनाने की दावेदार है।उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि वानखेड़े स्टेडियम में दो दिन पहले उस दिन वेस्टइंडीज की टीम भारत से काफी बेहतर थी। सेमीफाइनल में 193 रन का लक्ष्य हासिल करना खास है।'

नई दिल्ली:-सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण की क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) ने 'दीवार' के नाम से मशहूर राहुल द्रविड़ से टीम इंडिया के चीफ कोच बनने के लिए संपर्क किया है।द्रविड़ फिलहाल इंडिया ए और अंडर-19 टीम के कोच हैं। एक अंग्रेजी अखबार में छपी खबर के मुताबिक जब सीएसी ने द्रविड़ से कोच बनने के लिए पूछा तो उन्होंने जवाब दिया, 'वो इस बारे में सोचकर बताएंगे।'बीसीसीआई चाहता है कि टीम इंडिया को कोई ऐसा कोच मिले जो युवा बल्लेबाजों को पॉलिश कर सके खासतौर पर टेस्ट क्रिकेट के लिए। सूत्रों की माने तो द्रविड़ कोच बनने के लिए राजी हो चुके हैं और उन्हें 2019 तक के लिए टीम इंडिया का कोच नियुक्त किया जा सकता है।टीम इंडिया के डायरेक्टर रवि शास्त्री का कॉन्ट्रैक्ट टी-20 वर्ल्ड कप के साथ ही खत्म हो गया। शास्त्री अभी भी टीम इंडिया के साथ काम करना चाहते हैं लेकिन सूत्रों की माने तो उन्हें हेड कोच बनाने को लेकर बीसीसीआई नहीं सोच रहा है।सीएसी मंगलवार को एक बैठक करेगी और इसमें चीफ कोच को लेकर चर्चा होगी। द्रविड़ फिलहाल इंडियन प्रीमियर लीग की दिल्ली डेयरडेविल्स फ्रेंचाइजी के मेंटर हैं।

कोलकाता:-करीब एक महीने तक चला ट्वंटी 20 क्रिकेट का रोमांच और जुनून अब अपने आखिरी पड़ाव पर पहुंच गया है, जहां रविवार को दुनिया की बेहतरीन टीमों से लोहा लेकर फाइनल में पहुंची इंग्लैंड और वेस्टइंडीज की टीमें विश्वकप चैंपियन बनने के लिये आखिरी बार मुकाबला करेंगी।विश्वकप के फाइनल में पहुंची दोनों टीमें ऐतिहासिक ईडन गार्डन मैदान पर खिताब के लिये एक बार फिर से टूर्नामेंट में एक दूसरे के सामने होंगी। जबरदस्त फार्म में चल रही इंग्लैंड की टीम ने सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड को सात विकेट से तो वेस्टइंडीज ने खिताब की प्रबल दावेदार और मेजबान भारतीय टीम को सात विकेट से मात दी थी।वर्ष 2010 की चैंपियन इंग्लैंड और वर्ष 2012 की चैंपियन वेस्टइंडीज दोनों ही ग्रुप एक से हैं और पहले भी मैदान पर भिड़ चुकी हैं, जिसमें जीत कैरेबियाई टीम को मिली थी। अविश्वसनीय फार्म में दिख रही कप्तान डैरेन सैमी की वेस्टइंडीज की टीम अपने इसी प्रदर्शन को दोहराना चाहती है तो इंग्लैंड भी बड़ा उलटफेर कर सकती है और काफी संयमित और शांति से अपने अभियान को अब तक आगे बढ़ाती रही है।वर्ष 2010 में वेस्टइंडीज की मेजबानी में हुये ट्वंटी 20 विश्वकप टूर्नामेंट में इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को सात विकेट से हराकर खिताब जीता था जबकि वेस्टइंडीज ने वर्ष 2012 में श्रीलंका की मेजबानी में श्रीलंकाई टीम को फाइनल में 36 रन से हराया था। दिलचस्प है कि उस चैंपियन कैरेबियाई टीम का हिस्सा रहे और तत्कालीन कप्तान सैमी के हाथों में ही इस बार भी टीम की कमान है तो क्रिस गेल, ड्वेन ब्रावो, सैम्युअल बद्री, आंद्रे रसेल और जानसन चार्ल्स भी मौजूदा टीम का हिस्सा हैं और जबरदस्त प्रदर्शन कर रहे हैं।ग्रुप चरण में सर्वश्रेष्ठ स्कोरर रहे वेस्टइंडीज के बल्लेबाज आंद्रे फ्लेचर के चोटिल होने के बाद उनकी जगह शामिल किये गये लेंडल सिमंस भी कैरेबियाई टीम के लिये‘लकी’साबित हुये, जिन्हें भारत के खिलाफ हाईवोल्टेज मैच में एक नहीं बल्कि तीन बार जीवनदान मिला और इसी की बदौलत उन्होंने 193 रन का बड़ा लक्ष्य रखने वाली भारतीय टीम की हवा निकाल दी। सिमंस की नाबाद 82 रन की पारी ने उन्हें टीम का हीरो बना दिया और अब निश्चित ही फाइनल मैच में भी उनसे इसी प्रदर्शन की उम्मीद होगी।टूर्नामेंट शुरू होने से पहले भले ही वेस्टइंडीज और इंग्लैंड खिताब के प्रबल दावेदारों में आगे नहीं थे लेकिन उनके कमाल के प्रदर्शन से जहां वे फाइनल में हैं तो भारत, न्यूजीलैंड, पाकिस्तान, बंगलादेश के दूसरे तथाकथित ग्रुप आफ डैथ की कोई टीम फाइनल में जगह नहीं बना सकी है। फिलहाल वेस्टइंडीज को फाइनल में पसंदीदा माना जा रहा है लेकिन सच तो यह है कि इस पड़ाव पर दोनों टीमें बराबर की टक्कर देने के लिये तैयार हैं।इंग्लैंड काफी गंभीरता के साथ खेल रही है जिससे‘कूल कैरेबियंस’को सतर्क रहना होगा। इयोन मोर्गन की कप्तानी वाली इंग्लिश टीम को वेस्टइंडीज के खिलाफ ग्रुप चरण में छह विकेट से शिकस्त झेलनी पड़ी थी लेकिन निश्चित ही इस फाइनल मैच में खिलाड़ी अपनी पिछली गलतियों को सुधारने के लिये उतरेंगे। मुंबई के वानखेड़े में हुये इस ग्रुप मैच में इंग्लैंड 182 का बड़ा स्कोर बनाने के बावजूद स्कोर का बचाव नहीं कर सकी थी और कैरेबियाई टीम ने 11 गेंदे शेष रहते ही मैच जीत लिया। भारत के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में भी वेस्टइंडीज ने 193 रन का आसानी से पीछा कर लिया जो साबित करता है कि बड़े स्कोर का पीछा करने में इन खिलाड़यिों को तकलीफ नहीं होती है।

वेस्टइंडीज के पास मजबूत बल्लेबाजी क्रम:-वेस्टइंडीज के पास बहुत ही मजबूत बल्लेबाजी क्रम है और कप्तान सैमी कह चुके हैं कि उनकी टीम में एक नहीं बल्कि 15 मैच विनर्स हैं। क्रिस गेल तूफानी बल्लेबाज हैं जबकि आंद्रे रसेल जबरदस्त ऑलराउंडर हैं जिन्होंने पिछले पांच मैचों में 45 के औसत से 90 रन का योगदान दिया है और 8.40 के औसत से सर्वाधिक आठ विकेट भी लिये हैं। एक ही मैच में टीम के हीरो बन गये सिमंस, जॉनसन चार्ल्स, मध्यक्रम में कप्तान डैरेन सैमी रन बनाने में माहिर हैं तो गेंदबाजी में रसेल के साथ ड्वेन ब्रावो और सैम्युअल बद्री की भूमिका अहम है।हालांकि टीम के स्टार गेल की फार्म बेहद अनिश्चित है और वह किसी एक मैच में नाबाद 100 रन ठोक देते हैं तो कभी 10 रन भी नहीं बना पाते। लेकिन इन सबके बावजूद इंग्लैंड के गेंदबाजों के लिये गेल अहम विकेट होंगे क्योंकि जब गेल मैदान पर टिकते हैं तो अकेले दम पर ही मैच जिता देते हैं जो उनकी सबसे बड़ी खूबी है। फटाफट क्रिकेट में गेल चौके और छक्कों के बादशाह माने जाते हैं। उन्होंने अभी तक टूर्नामेंट में 11 छक्के और सात चौके लगाये हैं।

अंग्रेजों की ताकत:-दूसरी ओर ग्रुप चरण की सबसे सफल टीम न्यूजीलैंड को सेमीफाइनल में शिकस्त देने वाली इंग्लिश टीम फिलहाल शांति से अपना कारवां बढ़ा रही है। खेल के छोटे प्रारूप में इंग्लैंड ने पिछले एक वर्ष में काफी सुधार किया है। गत वर्ष वनडे विश्वकप में ग्रुप चरण से ही बाहर होने के बाद आलोचनाओं का शिकार हुई इंग्लैंड ने सीमित ओवर में काफी प्रभावित किया है और वेस्टइंडीज से दोबारा मुकाबला करने से पहले उसे अपनी खामियों और ताकत का अंदाजा हो चुका होगा।इंग्लैंड के पास मजबूत बल्लेबाजी और गेंदबाजी लाइनअप है जिसमें जो रूट उसके सर्वश्रेष्ठ स्कोरर हैं। रूट ने अब तक 48.75 के औसत से 195 रन बनाये हैं जिसमें 83 रन उनकी बेहतरीन पारी है। इसके अलावा ओपनर जेसन राय भी कमाल का प्रदर्शन कर रहे हैं। सेमीफाइनल में ओपनर राय की 78 रन की मैन आफ द मैच पारी के बाद टीम को उनसे उम्मीदें भी काफी बढ़ गई हैं और बड़े स्कोर वाले मैचों के लिये मशहूर वेस्टइंडीज के खिलाफ उनकी जिम्मेदारी भी बड़ी होगी। विकेटकीपर जोस बटलर, कप्तान मोर्गन, एलेक्स हेल्स सभी रन बना सकते हैं।वहीं कैरेबियाई बल्लेबाजों को रोकने की अहम जिम्मेदारी बायें हाथ के मध्यम तेज गेंदबाज डेविड विली, दायें हाथ के तेज गेंदबाज क्रिस जार्डन ,अनुभवी स्पिनर मोइन अली, आदिल रशीद और बेन स्टोक्स के कंधों पर होगी। विली अब तक सात विकेट और जार्डन छह विकेट लेकर सबसे सफल गेंदबाज रहे हैं। न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन विकेट लेकर स्टोक्स सबसे सफल रहे थे। हालांकि वेस्टइंडीज के खिलाफ ग्रुप मैच में स्टोक्स ही तीन ओवर में 42 रन लुटाकर सबसे महंगे भी साबित हुये थे और इस दिशा में इंग्लैंड को सुधार करना होगा।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

नई दिल्ली:-टी-20 वर्ल्ड कप से टीम इंडिया बाहर हो गई है। सेमीफाइनल में वेस्टइंडीज के खिलाफ मिली सात विकेट की हार के साथ ही टीम इंडिया का इस टूर्नामेंट में सफर भी खत्म हो गया। टीम इंडिया का एक ऐसा बल्लेबाज है जो बिल्कुल भी हार डिजर्व नहीं करता है और वो है विराट कोहली।कोहली ने पूरे टूर्नामेंट में जिस तरह से बल्लेबाजी की उसे देखते हुए ऐसा लग रहा था कि टीम इंडिया टी-20 चैंपियन बनेगी और विराट कोहली मैन ऑफ द टूर्नामेंट। सेमीफाइनल में हारकर हम बाहर हो गए।इस हार के बाद कोहली के चेहरे के भाव उनकी तकलीफ को जगजाहिर कर गए। लेकिन कोहली हार से निराश बैठने वाले क्रिकेटर नहीं हैं। कोहली ने हार के बाद ट्विटर पर एक वीडियो शेयर किया है और उसके साथ एक मजबूत संदेश भी दिया है।कोहली ने ट्वीट किया- 'कभी भी उम्मीद नहीं खोनी चाहिए, जिंदगी खत्म नहीं होती है, यह सिर्फ शुरू होती है। इस नौजवान इंसान को सलाम।' (Never lose hope, life never ends, it only begins. Hats off to this young man.)

नई दिल्ली:-टी-20 वर्ल्ड कप में अपनी बल्लेबाजी से सबका दिल जीतने वाले विराट कोहली और कैरेबियाई बल्लेबाज क्रिस गेल की दोस्ती के किस्से पुराने हैं। दोनों इंडियन प्रीमियर लीग में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए खेलते हैं।टी-20 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में वेस्टइंडीज ने टीम इंडिया को सात विकेट से हराया। इसके साथ ही टीम इंडिया का टी-20 वर्ल्ड कप में सफर भी खत्म हो गया। मैच के बाद विराट…
नई दिल्ली:-टीम इंडिया भले ही टी-20 वर्ल्ड कप से बाहर हो गई लेकिन वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले गए सेमीफाइनल मुकाबले में विराट कोहली ने क्रिस गेल और ब्रेंडन मैक्कलम के रिकॉर्ड्स तोड़ डाले।वानखेड़े स्टेडियम में नॉटआउट 89 रन की पारी खेलकर विराट क्रिकेट के इस सबसे छोटे फॉरमैट में 50 या उससे अधिक के स्कोर बनाने में वेस्टइंडीज के क्रिस गेल और न्यूजीलैंड के मैक्कलम का रिकॉर्ड तोड़ दिया है।विराट…
नई दिल्ली:-ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर और दिग्गज लेग स्पिनर शेन वार्न के मुताबिक आईसीसी वर्ल्ड ट्वेंटी20 से पहले खिताब के प्रबल दावेदार टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में मूल नियमों की अनदेखी की भारी कीमत टूर्नामेंट से बाहर होकर चुकाई।वार्न ने कहा, 'टूर्नामेंट से पहले मैंने खिताब के दावेदार के तौर पर भारत का समर्थन किया था लेकिन उन्होंने मूल नियमों की अनदेखी की। दो नोबॉल और…
नई दिल्ली:-बीसीसीआई सचिव अनुराग ठाकुर ने कहा कि रवि शास्त्री का बतौर टीम डायरेक्टर करार खत्म हो चुका है लेकिन सचिन तेंदुलकर, वीवीएस लक्ष्मण और सौरव गांगुली की क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) अगर सही मानती है तो उनके कार्यकाल को आगे बढ़ाया जा सकता है।शास्त्री का बीसीसीआई के साथ टी-20 वर्ल्ड कप के आखिर तक का करार था और वेस्टइंडीज के हाथों टीम इंडिया की सेमीफाइनल में हार के साथ…

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें