खेल

खेल (1035)

नई दिल्ली। न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन को वर्ल्ड कप 2019 में दमदार परफॉर्मेंस के लिए मैन ऑफ द टूर्नामेंट चुना गया। वर्ल्ड कप 2019 में मैन ऑफ द टूर्नामेंट चुने जाने के हकदार रोहित शर्मा, मिचेल स्टार्क और शाकिब अल हसन जैसे दमदार खिलाड़ी थे, लेकिन केन विलियमसन को आइसीसी के स्वतंत्र पैनल ने मैन ऑफ द टूर्नामेंट का खिताब दिया। इंग्लैंड से सुपरओवर में मिली हार के बाद लगातार दूसरी बार न्यूजीलैंड का वर्ल्ड कप जीतने का सपना टूट गया। लेकिन, केन विलियमसन न्यूजीलैंड की ओर से इकलौते ऐसे बल्लेबाज रहे जिन्होंने ना सिर्फ अपनी टीम की ओर से दो शतकीय पारियां भी खेलीं। इसके अलावा टीम को लीड करने की जो कुशलता केन विलियमसन ने वो तारीफ के काबिल रही। यही वजह रही कि उन्हे मैन ऑफ द सीरीज चुना गया। केन विलियमसन की कप्तानी में कीवी टीम ने सेमीफाइनल में भारत जैसी दमदार टीम को हराकर विश्व कप के फाइनल में जगह बनाई। फाइनल में भी मेजबान इंग्लैंड से दो-दो हाथ किए और मैच दो बार टाई किया लेकिन पारी में बाउंड्री ज्यादा लगाने के आधार पर इंग्लैंड की टीम को खिताबी जीत मिली जबकि न्यूजीलैंड को हार का मुंह देखना पड़ा।दाएं हाथ के बल्लेबाज केन विलियमसन ने इस वर्ल्ड कप की 9 पारियों में 82.57 के औसत से 578 रन बनाए, जिसमें 2 शतक और 2 अर्धशतक शामिल थे। हालांकि, रन बनाने के मामले में वो रोहित शर्मा(648 रन, 5 शतक), डेविड वार्नर(547 रन, 2 शतक) और शाकिब अल हसन(606 रन, 2 शतक, 11 विकेट) के बाद चौथे खिलाड़ी थे। केन विलियमसन ने 578 रन बनाने के साथ-साथ दो विकेट भी अपने नाम किए।

 

 

नई दिल्ली। कई बार टीम मैच जीतती है, कई बार हारने वाली टीम दिल जीतती है। यहां तक कि कई बार क्रिकेट जीत जाता है, लेकिन ऐसा पहली बार देखा गया जब क्रिकेट के सबसे बड़े मुकाबले में नियम जीत गए। नियम भी किसी की मेहरबानी से नहीं, बल्कि खुद अंपायरों की खराब अंपायरिंग से जीत गए। इस लगातार दूसरी बार न्यूजीलैंड की टीम विश्व विजेता बनने से चूक गई। दरअसल, इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच लॉर्ड्स में खेले गए वर्ल्ड कप 2019 के फाइनल में 50-50 ओवर का मुकाबला टाई रहा। इसके बाद दोनों टीमों के बीच नतीजा निकालने के लिए सुपरओवर कराया गया। सुपरओवर भी टाई हो गया लेकिन पारी में ज्यादा बाउंड्री लगाने के आधार पर इंग्लैंड की टीम को जीत मिली। इस तरह इंग्लैंड पहली बार विश्व विजेता बना और कीवी टीम लगातार दूसरी बार वर्ल्ड कप का फाइनल हार गई। हैरान करने वाली बात ये है कि ये मुकाबला शायद सुपरओवर तक जाता ही नहीं अगर अंपयार ने नियमों की ओर ध्यान दिया होता। न्यूजीलैंड के पास सुपर ओवर से पहले ‌ही इस मैच को जीतकर खिताब अपने नाम करने का मौका था, लेकिन आखिरी ओवर के एक ओवर थ्रो ने पूरा पासा ही पलट दिया। हालांकि, इसमें अंपायर की भी गलती रही क्योंकि उसने 5 की जगह 6 रन देकर कीवी टीम की उम्मीदों पर पानी फेर दिया। दरअसल, फाइनल मैच के आखिरी ओवर की तीन गेंदों पर इंग्लैंड को नौ रन बनाने थे। क्रीज पर थे बेन स्टोक्स और गेंदबाज थे ट्रेंट बोल्ट। बोल्ट की गेंद को स्टोक्स ने डीप मिडविकेट पर खेला और एक रन के बाद दूसरे रन के लिए दौड़ पड़े। इस दौरान मार्टिन गप्टिन ने विकेटकीपर के एंड पर थ्रो किया और गेंद रन आउट होने से बचने के लिए डाइव लगाते समय बेन स्टोक्स के बल्ले से लगी और बाउंड्री पार पहुंच गई।नियमों के मुताबिक, अनजाने में हुई गलती के लिए बेन स्टोक्स ने कीवी कप्तान विलियमसन ने माफी मांगी। इसके बाद अंपायर कुमार धर्मसेना ने अपने सा‌थी अंपायर मरे इरासमस से चर्चा करने के बाद इंग्लैंड को 6 रन दिए, जिसमें दो रन तो बल्लेबाजों ने दौड़ कर लिए और चार रन ओवरथ्रो से मिले। लेकिन, ऐसा होना नहीं चाहिए था क्योंकि, नियम कुछ और कहानी बयां करते हैं, जिसका खुलासा अनुभवी अंपायर साइमन टॉफेल ने किया है। साइमन टॉफेल ने कहा है, "ये साफ तौर पर गलती है। ये न्याय करने में त्रुटि हुई है। इंग्लैंड को पांच रन मिलने चाहिए थे ना कि 6 रन।" अनुभवी अंपायर ने ऐसा इसलिए कहा है क्योंकि थ्रो फेंकने से पहले दोनों खिलाड़ियों को रन लेते समय क्रॉस कर लेना चाहिए, लेकिन ऐसा हुआ नहीं था और फील्ड अंपायर्स ने ध्यान नहीं दिया। इसी का हर्जाना कीवी टीम को भुगतना पड़ा और मुकाबला टाई पर खत्म हुआ।इस पर कीवी कप्तान केन विलियमसन ने कहा है कि उन्हें उम्मीद है कि ऐसे मौके पर यह वापस कभी नहीं होगा। यह बहुत ही शर्मनाक रहा। वहीं, क्रिकेट के तमाम दिग्गजों ने खराब अंपायरिंग और वर्ल्ड कप के फाइनल के इस फैसले को लेकर घेरा है।

नई दिल्ली। अगले महीने टीम इंडिया वेस्टइंडीज के दौरे पर जाने वाली है। वर्ल्ड कप 2019 के बाद टीम इंडिया का ये पहला दौरा है। इस दौरे के लिए भारतीय टीम का ऐलान कब होगा इसका खुलासा हो गया है। मुंबई स्थिति भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआइ के मुख्यालय से शुक्रवार 19 जुलाई को वेस्टइंडीज टूर के लिए टीम इंडिया की फाइनल फिफ्टीन का ऐलान होगा।3 अगस्त से शुरू हो रहे वेस्टइंडीज दौरे पर विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धौनी जाएंगे या नहीं अभी ये बात स्पष्ट नहीं हुई है। वर्ल्ड कप 2019 के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड से मिली हार के बाद माना जा रहा था कि एमएस धौनी संन्यास ले लेंगे। लेकिन, अभी इस तरह की कोई बात सामने नहीं आई है। वहीं, बीसीसीआइ सूत्रों की मानें तो 38 वर्षीय धौनी को संन्यास के बारे में सोचना होगा। BCCI के एक अधिकारी ने बताया है, "19 जुलाई को मुंबई में सलेक्टर्स की मीटिंग होगी। हमने अभी धौनी और सलेक्टर्स के बीच में क्या बात हुई इसके बारे में नहीं सुना है। अगर आप मुझसे पूछते हैं तो मैं मानता हूं कि धौनी ने वर्ल्ड कप में अच्छा प्रदर्शन किया है। केवल वही इस बात का फैसला कर सकते हैं कि उन्हें आगे क्या करना है। "माना जा रहा है कि टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को टी20 और वनडे सीरीज से आराम दिया जा सकता है। 22 अगस्त से शुरू होने वाले दो टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए विराट कोहली और जसप्रीत बुमराह उपलब्ध रहेंगे क्योंकि ये टेस्ट सीरीज आइसीसी टेस्ट चैंपियनशिप का हिस्सा है।वर्ल्ड कप 2019 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चोटिल हुए शिखर धवन के उपलब्ध रहने पर कोई आधिकारिक बयान सामने नहीं आया है। खबरों की मानें तो शिखर धवन को आगे भी आराम दिया जा सकता है उनकी जगह मयंक अग्रवाल को बतौर ओपनर वेस्टइंडीज दौरे पर भेजा जा सकता है।
India tour of West Indies Full Schedule:
Date Match Venue
अगस्त 3 1st T20I फ्लोरिडा
अगस्त 4 2nd T20I फ्लोरिडा
अगस्त 6 3rd T20I गुयाना
अगस्त 8 1st ODI गुयाना
अगस्त 11 2nd ODI त्रिनिदाद
अगस्त 14 3rd ODI त्रिनिदाद
अगस्त 22-26 1st Test एंटीगुआ
अगस्त 30-सितंबर 3 2nd Test जमैका

नई दिल्ली। वर्ल्ड कप के फाइनल के सुपरओवर की आखिरी गेंद चार अलग-अलग देशों के खिलाड़ियों के पास पहुंची, बावजूद इसके नतीजा नहीं निकल पाया। इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच खेले गए वर्ल्ड कप के 12वें सीजन के फाइनल में पहले 50-50 ओवर का मैच और फिर सुपरओवर का मैच भी टाई हो गया। हालांकि, बाउंड्री ज्यादा लगाने के आधार पर इंग्लैंड को विजेता घोषित कर दिया गया। इस मैच में जब सुपरओवर हुआ तो इसमें आखिरी गेंद चार देशों के खिलाड़ियों के पास पहुंची। चौंकिए मत, ये सच है कोई कोरी कल्पना नहीं है। दरअसल, न्यूजीलैंड की पारी के लिए सुपरओवर की आखिरी गेंद जोफ्रा आर्चर ने फेंकी जो कैरेबियाई मूल के हैं। वहीं, न्यूजीलैंड के प्लेयर मार्टिन गप्टिल ने इस गेंद को बल्ले से मिड विकेट पर खेला। इस तरह दो खिलाड़ियों के पास ये गेंद पहुंची। इसके बाद गेंद मिड विकेट पर साउथ अफ्रीका में जन्मे जेसन रॉय ने पकड़ी और विकेटकीपर की ओर थ्रो किया। विकेटकीपर थे इंग्लैंड के जोस बटलर। जोस बटलर ने गेंद विकेटों में मारकर सुपरओवर को टाई करा दिया। इस तरह जोफ्रा आर्चर, मार्टिन गप्टिल, जेसन रॉय और जोस बटलर अलग-अलग मुल्कों के थे और इन्होंने फाइनल के सुपरओवर की आखिरी गेंद को किसी ना किसी तरह टच किया। आपकी जानकारी के लिए बता दें, इंग्लैंड की टीम में इस समय कई ऐसे प्लेयर हैं, जो अलग-अलग देशों से आए हैं। यहां तक कि खुद कप्तान इयोन मोर्गन आयरलैंड के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट खेल चुके हैं। वहीं, बेन स्टोक्स खुद न्यूजीलैंड में जन्मे हैं। इनके अलावा इस टीम में टॉम कुरन भी हैं, जो साउथ अफ्रीका के केपटाउन में जन्मे हैं।

नई दिल्ली। वर्ल्ड कप 2019 का फाइनल होने के बाद ICC ने टीम ऑफ द टूर्नामेंट का ऐलान किया है। ICC की टीम ऑफ द टूर्नामेंट में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली, एमएस धौनी, भुवनेश्वर कुमार, डेविड वार्नर, आरोन फिंच और जॉनी बेयरेस्टो जैसे तमाम दिग्गज खिलाड़ियों नाम शामिल नहीं है। आइसीसी की इस टीम में टीम इंडिया के केवल दो खिलाड़ियों को शामिल किया गया है। इनमें एक रोहित शर्मा का नाम शामिल है, जिन्होंने वर्ल्ड कप 2019 में 5 शतकों के साथ 648 रन बनाए। वहीं, इस वर्ल्ड कप इलेवन में दूसरे भारतीय जसप्रीत बुमराह हैं जिन्होंने डेथ ओवर्स में अच्छी गेंदबाजी कर 9 पारियों में 18 विकेट चटकाए थे। इसके अलावा इस लिस्ट में कोई भी भारतीय शामिल नहीं है। इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल यानी ICC ने जो टीम ऑफ द टूर्नामेंट जारी है, उसमें 12 खिलाड़ी शामिल है। इस लिस्ट में 2 भारतीय, 4 इंग्लिश, 2 ऑस्ट्रेलियन, 1 बांग्लादेश, 3 कीवी प्लेयर्स शामिल हैं। आइसीसी के मुताबिक इस टीम के कप्तान केन विलियमसन होंगे क्योंकि वो इस टीम में इकलौते कप्तान हैं, जिन्होंने वर्ल्ड कप खेला और टीम को फाइनल तक का सफर तय कराया है।
ICC की Team of the Tournament (World Cup 2019):-Rohit Sharma (India), Jason Roy (England), Kane Williamson (New Zealand), Joe Root (England), Shakib Al Hasan (Bangladesh), Ben Stokes (England), Alex Carey (Australia), Mitchell Starc (Australia), Jofra Archer (England), Lockie Ferguson (New Zealand) , Jasprit Bumrah (India) and Trent Boult(New Zealand

नई दिल्ली। टीम इंडिया को वर्ल्ड कप 2019 के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों मिली हार के बाद आलोचनाओं का शिकार होना पड़ रहा है। आलोचना इस समय टीम इंडिया नहीं बल्कि टीम मैनेजमेंट के फैसलों की हो रही है, जिसमें अब युवराज सिंह भी शामिल हो गए हैं। युवराज सिंह ने नंबर चार को लेकर टीम मैनेजमेंट को घेरा है। युवराज सिंह ने अंबाती रायुडू को लेकर कहा है कि टीम मैनेजमेंट ने उसके साथ अच्छा नहीं किया।वर्ल्ड कप 2019 के लिए टीम इंडिया का ऐलान होने से पहले अंबाता रायुडू नंबर चार के लिए सबसे बड़े विकल्प थे लेकिन उनका नाम 15 सदस्यीय टीम में शामिल नहीं किया गया। अंबाती रायुडू की जगह विजय शंकर को टीम में जगह दी गई और उन्हें स्टैंडबाय प्लेयर रखे गए। लेकिन, शिखर धवन और खुद विजय शंकर के टीम से चोट की वजह से बाहर होने के बाद टीम में शामिल नहीं किया गया तो अंबाती रायुडू ने क्रिकेट से संन्यास ले लिया।युवराज सिंह ने कहा है कि टीम मैनेजमेंट को इस बात के लिए खिलाड़ियों को स्पष्ट कर देना चाहिए कि उसे नंबर चार पर खेलना और वर्ल्ड कप में उसे मौका मिलेगा। अंबाती रायुडू भी नंबर चार के लिए विराट कोहली की पहली पसंद थे, फिर भी उन्हें निराशा हाथ लगी। अंबाती रायुडू एक दोम मैचों फेल हो गए इसका मतलब ये नहीं कि वे आगे भी फेल साबित होते लेकिन टीम मैनेजमेंट ने इसे उचित नहीं समझा और टीम हार गई। युवराज सिंह ने कहा, "ये बात बहुत निराश करने वाली है जो अंबाती रायुडू के साथ टीम मैनेजमेंट ने किया। वो वर्ल्ड कप के लिए तैयार थे। अंबाती रायुडू ने न्यूजीलैंड में रन बनाए लेकिन उसके बाद वे तीन - चार पारियों में रन नहीं बना सके तो उन्हें ड्रॉप किया गया। उनकी जगह रिषभ पंत को लिया गया और उन्हें ड्रॉप कर दिया है। अगर नंबर चार वनडे क्रिकेट में महत्वपूर्म पोजिशन है तो फिर खिलाड़ियों को बैक करना होगा।

 

 

नई दिल्ली।भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर-बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी की रिटायरमेंट को लेकर कई तरह की बातें की जा रही है। कयास ये भी लगाए जा रहे हैं कि वो भारत में अपने क्रिकेट करियर को अलविदा कहेंगे, लेकिन अब ऐसी खबरें आ रही हैं कि वो ऑस्ट्रेलिया में होने वाले अगले टी 20 विश्व कप तक अंतरराष्ट्रीय मैच खेलते रहेंगे। धोनी की बल्लेबाजी को लेकर भी विश्व कप में…
नई दिल्ली। न्यूजीलैंड के सलामी बल्लेबाज मार्टिन गप्टिल के लिए वर्ल्ड कप 2019 बेहद शर्मनाक रहा है। वर्ल्ड कप 2019 से 8 टीम बाहर हो गई हैं और 2 फाइनल में खेल रही हैं लेकिन किसी भी टीम के सलामी बल्लेबाज का ये वर्ल्ड कप इतना खराब नहीं गया जितना मार्टिन गप्टिल का गया है। वर्ल्ड कप 2015 में दोहरा शतक लगाने के साथ-साथ सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज…
नई दिल्ली।न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने वर्ल्ड कप का एक बड़ा रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है। केन विलियमसन ने इंग्लैंड के खिलाफ लंदन के लॉर्ड्स में खेले जा रहे वर्ल्ड कप 2019 के फाइनल में पहला रन बनाते ही दुनिया के सभी कप्तानों को पीछे छोड़ दिया जिन्होंने वर्ल्ड कप खेला है। दरअसल, केन विलियमसन एक वर्ल्ड कप में बतौर कप्तान सबसे ज्यादा रन बनाने वाले पहले खिलाड़ी…
नई दिल्ली। अब भारतीय क्रिकेट फैंस आइपीएल में आठ की जगह दस टीमों को खेलते देख सकते हैं। दो वर्ष के बाद यानी 2021 तक दुनिया की सबसे बड़ी लीग में आठ की जगह दस टीमें खेलती हुई नजर आ सकती है। भारतीय क्रिकेट बोर्ड में दो नई टीमों को शामिल करने को लेकर चर्चाएं जोरों पर हैं और इसे अंतिम रूप दिया जा रहा है। पुणे, अहमदाबाद और रांची…
Page 1 of 74

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें