खेल

खेल (863)

नई दिल्ली। शुक्रवार को लंदन के ओवल से भारतीय क्रिकेट प्रेमियों के लिए एक बुरी खबर तब सामने आई जब टीम इंडिया के बैटिंग ऑलराउंडर विजय शंकर को चोट लगी। हाथ में गंभीर चोट लगने के बाद विजय शंकर मैदान छोड़कर चले गए। लेकिन, शनिवार की सुबह बीसीसीआइ ने विजय शंकर की चोट का मुआयना कराया। मेडिकल जांच के बाद पता चला है कि विजय शंकर की चोट गंभीर नहीं है।BCCI ने ये बात साफ कर दी है कि ऑलराउंडर विजय शंकर की चोट अब गंभीर नहीं हैं। नेट सेशन के दौरान दाएं हाथ पर लगी चोट के बाद कराए गए स्कैन में पता चला कि विजय शंकर के हाथ में कोई फ्रैक्चर नहीं हैं। इस बात को लेकर बीसीसीआइ ने एक ट्वीट भी किया है। चोट की वजह से विजय शंकर ने न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड कप से पहले वार्मअप मैच मिस किया है।बीसीसीआइ ने शनिवार को इस बात की जानकारी दे दी है कि विजय शंकर की यह चोट गंभीर नहीं है और उनकी कलाई में कोई फ्रेक्चर भी नहीं है। मेडिकल टीम अब उनकी रिकवरी पर ध्यान देगी और उन्हें जल्दी से जल्दी फिट करने की कोशिश की जाएगी।गौरतलब है कि विजय शंकर शुक्रवार को नेट्स में बल्लेबाजी कर रहे थे, इसी दौरान खलील अहमद की बाउंसर बॉल को पुल करते समय तेज रफ्तार गेंद उनके बाएं हाथ की कलाई पर जा लगी। गेंद लगने के बाद उन्हें तेजदर्द हुआ और फिर इसके चलते वे तुरंत मैदान के बाहर चले गए।हालांकि, शनिवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ वार्मअप मैच से पहले विजय शंकर मैदान पर उतरे तो उनके दाएं हाथ पर पट्टी बंधी हुई थी। वे बल्लेबाजी कोच संजय बांगर के थ्रो डाउन का सामना कर रहे थे लेकिन वह भी सिर्फ बाएं हाथ से। उसी समय लग गया था कि वे पहले अभ्यास मैच में नहीं खेलेंगे। इस चोट के चलते वे न्यूजीलैंड के खिलाफ अभ्यास मैच में नहीं खेले।

नई दिल्ली। World Cup 2019 12वें विश्व कप से ठीक पहले इंग्लैंड क्रिकेट टीम पर बॉल टेंपरिंग का गंभीर आरोप लगा है। ये आरोप इंग्लिश टीम के पूर्व स्पिनर मोंटी पनेसर (Monty Panesar) ने लगाया है। मोंटी ने अपनी किताब 'द फुल मोंटी' में अपने क्रिकेट के अनुभवों का खुलकर जिक्र किया है। इस किताब में उन्होंने इस बात का खुलासा किया है कि वो खुद और उनकी टीम के अन्य खिलाड़ी तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन की मदद के लिए बॉल टैंपर किया करते थे।वर्ष 2006 से लेकर 2013 तक इंग्लैंड के लिए टेस्ट क्रिकेट खेलने वाले स्पिनर मोंटी पनेसर ने अपनी किताब में बताया कि इंग्लैंड की टीम बॉल टैंपरिंग के लिए किन-किन तरकीबों का इस्तेमाल करती थी। मोंटी लेफ्ट आर्म स्पिनर थे और उनके इस खुलासे के बाद एक बार फिर से गेंद के छेड़छाड़ मामले की याद ताजा हो गई जो पिछले वर्ष ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने किया था। मोंटी ने बताया कि हमने ये पाया कि लार के साथ अगर मिंट और सनक्रीम का इस्तेमाल गेंद का शाइन चमकाने के लिए करें तो इससे गेंद को रिवर्स स्विंग कराने में मदद मिलती है। इसके अलावा मोंटी ने बताया कि मैं जानबुझकर गेंद को चालाकी करके अपने ट्राउजर पर लगी जिप के साथ रगड़ता था, जिससे कि गेंद एक तरफ से और ज्यादा खुरदरी और खराब हो जाए। इससे हमारी टीम के तेज गेंदबाजों को रिवर्स स्विंग कराने में मदद मिलती थी। मोंटी ने अपनी किताब में लिखा है कि हमने खेल के नियमों को तोड़ा है या नहीं ये इस पर निर्भर करता था कि हम किस तरह से अपनी बात को रख रहे हैं। ये खेल भावना के साथ हेयर लाइन फ्रैक्चर जैसी चीटिंग थी। हालांकि नियम के मुताबिक आप गेंद को अपनी ड्रेस से रगड़ सकते हैं। आपको बता दें कि वर्ष 2009 में एशेज के दौरान मोंटी ने अपनी टीम के लिए शानदार प्रदर्शन किया था और खिताब को बचाए रखने में इंग्लैंड के लिए बहुत ही मददगार साबित हुए थे। इस वर्ष एशेज के दौरान कार्डिफ में खेले गए पहले टेस्ट मैच में उन्होंने जेम्स एंडरसन के साथ मिलकर काफी लंबे वक्त तक बल्लेबाजी की थी और इन दोनों बल्लेबाजों की साझेदारी की वजह से इंग्लैंड की हार को टाल दिया था।मोंटी ने इंग्लैंड के लिए 50 टेस्ट, 26 वनडे व एक टी 20 मैच खेला था। टेस्ट में उन्होंने 167 विकेट लिए थे जबकि वनडे में उनके नाम पर कुल 24 विकेट हैं। टी 20 में उन्होंने दो विकेट झटके थे।

नई दिल्ली। वर्ल्ड कप के वार्मअप मैच से पहले टीम इंडिया के बैटिंग ऑलराउंडर विजय शंकर चोटिल हो गए हैं। विजय शंकर वर्ल्ड कप के लिए नंबर चार के लिए टीम इंडिया में चुने गए थे। लेकिन, वार्मअप मैच में टीम इंडिया के एक और बल्लेबाज ने इस स्थान के लिए दावा पेश कर दिया। टीम इंडिया के इस बल्लेबाज का नाम है लोकेश राहुल।केएल राहुल ने न्यूजीलैंड के खिलाफ वार्मअप मैच में रोहित शर्मा के आउट होने के बाद कप्तान विराट कोहली अपने तय स्थान नंबर तीन पर बल्लेबाजी करने उतरे। लेकिन, इसके थोड़ी ही देर बाद दूसरे सलामी बल्लेबाज शिखर धवन आउट हो गए। शिखर धवन के आउट होने के बाद ड्रेसिंग रूम से हाथों को बल्ले के साथ घुमाते हुए केएल राहुल मैदान पर आए। इस तरह नंबर चार के लिए केएल राहुल ने दावेदारी पेश कर दी।हालांकि, केएल राहुल जल्दी आउट हो गए। केएल राहुल ने 10 गेंदों का सामना किया, जिसमें उन्होंने एक चौके की मदद से 6 रन बनाए। लेकिन, इस बीच लोकेश राहुल के बल्ले से जो चौका निकला वो काफी शानदार था। लग रहा था कि केएल राहुल लय में नज़र आएंगे क्योंकि भारत में उनका आइपीएल का 12वां सीजन काफी शानदार रहा था। इस तरह अभी भी नंबर चार के खिलाड़ी की तलाश जारी है।ऐसे में लोकेश राहुल ने शायद अपने नंबर चार की दावेदारी को मजबूत करने की बजाए हाथ से जाने दिया। केएल राहुल ट्रेंट बोल्ट की गेंद पर प्ले डाउन हो गए। इसके बाद अब नंबर चार पर विजय शंकर को आजमाया जा सकता है, जो कि बीसीसीआइ के अनुसार नंबर चार के लिए थ्री डाइमेंशनल प्लेयर हैं।

नई दिल्ली।कैरेबियाई ओपनर बल्लेबाज क्रिस गेल अपने करियर का आखिरी विश्व कप खेलने जा रहे हैं। 39 वर्ष के क्रिस गेल पहले ही साफ कर चुके हैं कि इस विश्व कप के बाद वो क्रिकेट को अलविदा कह सकते हैं। यूनिवर्स बॉस के नाम से मशहूर क्रिस गेल का ये पांचवां विश्व कप होगा। इससे पहले वो 2003, 2007, 2011 और 2015 वर्ल्ड कप में वेस्टइंडीज टीम का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। गेल से पहले वेस्टइंडीज के लिए ब्रायन लारा और शिवनारायण चंद्रपॉल ही दो ऐसे बल्लेबाज हुए हैं जिन्होंने पांच-पांच विश्व कप खेला है। क्रिस गेल इस उपलब्धि को हासिल करने वाले तीसरे कैरेबियाई बल्लेबाज बन जाएंगे। क्रिस गेल जिस तरह के बल्लेबाज हैं विश्व कप में उनका प्रदर्शन थोड़ा निराश करने वाला रहा है। चार विश्व कप में गेल ने 26 मैच खेले और इनमें 37.37 की औसत से 944 रन बनाए हैं। विश्व कप में उनकी बेस्ट पारी 215 रन की है जो उन्होंने पिछले विश्व कप यानी वर्ष 2015 में खेली थी। वैसे छक्के लगाने के मामले में वो विश्व कप में संयुक्त रूप से पहले स्थान पर हैं। क्रिस गेल व एबी डिविलियर्स दो ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा छ्क्के लगाए हैं। इन दोनों के नाम परर 37-37 छक्के हैं। अब इस विश्व कप में गेल जैसे ही एक छक्का लगाएंगे वो एबी को पीछे छोड़ते हुए वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाले बल्लेबाज बन जाएंगे और एक नया रिकॉर्ड अपने नाम कर लेंगे।विश्व कप खेल रहे खिलाड़ियों में क्रिस गेल 37 छक्कों के साथ सबसे उपर हैं। वहीं इस मामले में दूसरे नंबर पर न्यूजीलैंड के बल्लेबाज मार्टिन गप्टिल हैं जिनके नाम पर 20 छक्के दर्ज हैं। गेल विश्व कप में सर्वाधिक छक्के लगाने वाले बल्लेबाज बन जाएंगे और उनका ये रिकॉर्ड फिलहाल टूटता तो नजर नहीं आ रहा है।

नई दिल्ली। वेस्टइंडीज के दिग्गज बल्लेबाज ब्रायन लारा ने इस बात का खुलासा किया है कि अगर वे आज वनडे क्रिकेट खेलते और दुनिया के मौजूदा नंबर वन गेंदबाज जसप्रीत बुमराह का सामना करते तो क्या करते? ब्रायन लारा ने जसप्रीत बुमराह को कैसे परेशान किया जाता इसका भी जिक्र किया है। ब्रायन लारा ने कहा है वे बुमराह पर अटैक नहीं करते बल्कि स्ट्राइक रोटेट कर उन्हें परेशान करते।टेस्ट क्रिकेट में 400 रन की पारी खेलने वाले दुनिया के पहले और अभी तक आखिरी खिलाड़ी ब्रायन लारा ने कहा कि वह जसप्रीत बुमराह के खिलाफ वनडे क्रिकेट में अटैक करने की नहीं सोचते बल्कि एक-एक रन लेकर बुमराह को परेशान करते। लारा ने कहा कि वह भारतीय गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को अपने खिलाफ जमने का मौका नहीं देते। बता दें कि जसप्रीत बुमराह डेथ ओवर्स स्पेशलिस्ट तो हैं ही साथ ही साथ विकेट चटकाने में माहिर हैं। ब्रायन लारा ने कहा, "पहली बात, अगर मैं उन्हें खेल रहा होता। मैं स्ट्राइकर बदलना चाहता (हंसते हुए)। वह बेहतरीन गेंदबाज हैं और ऐसे हैं जिनका एक्शन थोड़ा अजीब सा है। बल्लेबाजों को उन पर निगाहें रखनी होती हैं और मैं होता तो मैं स्ट्राइक रोटट कर उन पर दबाव बनाता। वनडे में आपके पास सिंगल लेने के बहुत मौके होते हैं।"कैरेबियाई दिग्गज ने कहा, "अतीत में आपने देखा होगा कि बल्लेबाज मुथैया मुरलीधरन और सुनील नरेन जैसे खिलाड़ियों पर रनों के लिए जाते थे। यह काफी मुश्किल होता है और बुमराह के खिलाफ करना मुश्किल है। मैं बल्लेबाजों से कहता कि उनके ओवर में छह सिंगल लो। वह भारत के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों में से एक हैं और शायद इसके बाद आप कुछ और एरिया में उनके खिलाफ रन बनाने के बारे में सोच सकते हो।"

 

 

लंदन।इंग्लैंड में होने वाले इस विश्व कप से पहले इस बात की चर्चा जोरों पर है कि यहां पर खूब रन बनेंगे। विश्व कप से ठीक पहले इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच खेले गए वनडे मैचों में हर बार 300 से ज्यादा स्कोर बने। इसके बाद तो यहां तक कहा जाने लगा कि इस विश्व कप में 500 रन भी बन सकते हैं। कमाल की बात तो ये है कि 500 रन बनने की आशंका को लेकर स्कोर कार्ड में भी बदलाव कर दिए गए हैं।विश्व कप से पहले आइसीसी ने एक कार्यक्रम का आयोजन किया जिसमें सभी दस टीमों के कप्तानों ने हिस्सा लिया। इस कार्यक्रम के दौरान एक सवाल ये भी पूछा गया कि इस बार क्या कोई टीम 500 रन बना पाएगी। इस सवाल पर टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली समेत अन्य कप्तानों ने काफी रोचक जवाब दिए। विराट कोहली ने कहा कि इंग्लैंड वनडे क्रिकेट में 500 रन बनाने वाली दुनिया की पहली टीम बन सकती है। आपको बता दें कि इंग्लैंड के नाम पर वनडे क्रिकेट में सबसे बड़े स्कोर का रिकॉर्ड दर्ज है। इस टीम ने पिछले वर्ष ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 50 ओवर में 6 विकेट पर 481 रन बनाए थे। कोहली से पूछा गया कि क्या आगामी टूर्नामेंट में 500 रन के आंकड़े को छुआ जा सकता है। अपने साथ बैठे इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन की ओर इशारा करते हुए कोहली ने कहा कि मैं सिर्फ इतना ही कह सकता हूं कि ये इन लोगों पर निर्भर करता है। ऐसा लगता है कि ये किसी और से पहले 500 रन तक पहुंचने के लिए बेताब हैं।विराट कोहली ने कहा कि इस टूर्नामेंट में काफी रन बनेंगे, लेकिन वर्ल्ड कप में खेलने का दवाब हर टीम पर होगा और 260-270 रन का पीछा करना आसान नहीं होगा। हालांकि ये बड़े स्कोर वाला टूर्नामेंट होगा पर मैंने भारत में भी कहा था कि विश्व कप में 260-270 रन का पीछा करना 370-380 रन का पीछा करने जितना ही मुश्किल होगा। विराट के मुताबिक इस टूर्नामेंट की शुरुआत में सभी टीमें काफी सतर्क रहेंगी।500 रन के सवाल के जवाब में कंगारू कप्तान एरोन फिंच ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में इंग्लैंड की टीम खूब रन बना रही है। उन्होंने हमारे खिलाफ वनडे इतिहास का सबसे बड़ा स्कोर बनाया था। हालांकि मैं ये नहीं बताना चाहता कि सबसे पहले कौन टीम इस आंकड़े को छू पाएगी। वैसे फिंच ने विश्व कप खिताब का सबसे मजबूत दावेदार इंग्लैंड व इंडिया को बताया। फिंच ने कहा कि ये टूर्नामेंट काफी रोमांचक होने वाला है क्योंकि सभी एक-दूसरे के खिलाफ खेलेंगे। विराट ने भी माना कि इस विश्व कप को जीतने की सबसे बड़ी दावेदार इंग्लैंड है।

नई दिल्ली।12वें विश्व कप के लिए पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) ने एक नई नीति बनाई है जिससे कि इस टीम के खिलाड़ियों का टूर्नामेंट के दौरान ध्यान नहीं भटके। पीसीबी की इस नई नीति के तहत इस विश्व कप के दौरान टीम की खिलाड़ियों की पत्नियां व उनकी गर्लफ्रेंड उनके साथ नहीं रह सकती। पीसीबी की तरफ से साफ कहा गया है कि अगर इस दौरान कोई खिलाड़ी अपने परिवार…
लंदन। न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम को विश्व कप से पहले दो अभ्यास मैच खेलने हैं। कीवी टीम भारत के साथ 25 मई को जबकि 28 मई को वेस्टइंडीज के खिलाफ प्रैक्टिस मैच खेलेगी। इन दोनों मैचों में न्यूजीलैंड के स्टार विकेटकीपर-बल्लेबाज टॉम लाथम नहीं खेल पाएंगे। लाथम चोटिल हैं और इस वजह से वो अपनी टीम के लिए दोनों अभ्यास मैचों में शिरकत नहीं कर पाएंगे। लाथम की जगह पर इन…
लाहौर।इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप के लिए खिताब का सबसे बड़ा दावेदार इंग्लैंड को माना जा रहा है। इंग्लैंड के अलावा भारत व ऑस्ट्रेलिया के लिए भी कहा जा रहा है कि वो विश्व कप जीत सकते हैं। हालांकि पाकिस्तान के बारे में किसी ने भी ये नहीं कहा कि ये टीम फाइनल तक पहुंच सकती है, लेकिन पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान व ऑलराउंडर शाहिद अफरीदी ने…
मेलबर्न।ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने इस विश्व कप के लिए तेज गेंदबाजी करने वाले तीन बेस्ट गेंदबाजों का चयन किया है। इन तीन गेंदबाजों में उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम के फास्ट बॉलर जसप्रीत बुमराह को भी शामिल किया है। ली के मुताबिक ये गेंदबाज इस टूर्नामेंट में बेहतरीन प्रदर्शन करेंगे और अपनी टीम के लिए अहम साबित होंगे।बुमराह के बारे में बात करते हुए ब्रेट…
Page 1 of 62

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें