खेल

खेल (2112)

नई दिल्ली। भारतीय टीम ने महेंद्र सिंह धौनी की कप्तानी में आज ही के दिन यानी 24 सितंबर 2007 को टी20 विश्व कप पर कब्जा जमाया था। धौनी की कप्तानी में भारत ने अफनी चिर प्रतिद्वंद्वी टीम पाकिस्तान को हराकर पहला टी20 विश्व कप जीता था। पाकिस्तान को जोहान्सबर्ग के वांडर्स स्टेडियम में मैच जीतने के लिए आखिर के ओवर में 13 रन बनाने थे, बावजूद इसके धौनी ने ऐसे गेंदबाज को गेंद थमाई थी, जिसको इंटरनेशनल क्रिकेट का अनुभव जरा सा था।भारत के लिए के लिए और खुद की जिदंगी का सबसे कीमती ओवर डाल जोगिंदर शर्मा ने डाला था। इस ओर की पहली दो गेंदों पर वे सात रन लुटा चुके थे। ऐसे में लग रहा था कि भारत ये मुकाबला हार जाएगा, क्योंकि अब चार गेंदों में सिर्फ 7 रन बनाने थे, लेकिन भारतीय टीम ने ऐसा होने नहीं दिया। पाकिस्तान के लिए उस समय मिस्बाह उल हक और मोहम्मद आसिफ बल्लेबाजी कर रहे थे। पाकिस्तान टीम के बाकी खिलाड़ी मिस्बाह के विनिंग शॉट लगाने का इंतजार कर रहे थे, ताकि वह जश्न मनाने के लिए मैदान के बीचों बीच आएं, लेकिन धौनी ने ऐसा होने नहीं दिया।एमएस धौनी ने जोगिंदर शर्मा के साथ लंबी बातचीत की। धौनी जानते थे कि मिस्बाह स्वीप शॉट खेल सकते हैं। ऐसे में धौनी ने बाउंड्री और तीस गज के दायरे के बीच में फाइन लेग की तरफ श्रीसंत को खाड़ कर दिया। इसके बाद जोगिंदर शर्मा ने प्लान के मुताबिक ऑफ स्टंप के बाहर की तरफ एक धीमी गेंद डाली और मिस्बाह ने इस गेंद को शॉर्ट फाइन लेग के ऊपर से खेला, लेकिन गेंद सीधी हवा में चली गई और उसके नीचे खड़े श्रीसंत ने इस कैच को पकड़ लिया। इसी के साथ भारत को विश्व विजेता घोषित कर दिया गया, क्योंकि पाकिस्तान के सभी बल्लेबाज आउट हो गए थे।13 साल बाद आज भी जब कटी हुई बाजुओं वाली टीशर्ट में धौनी विश्व कप ट्रॉफी उठाते हुए टीम साथियों के साथ किसी तस्वीर में नजर आते हैं तो देश के क्रिकेट प्रशंसकों को वर्ल्ड कप की यादें ताजा हो जाती हैं। भारत के लिए ये ट्रॉफी इसलिए भी महत्वपूर्ण थी, क्योंकि इससे कुछ ही महीने पहले भारत को वनडे विश्व कप में लीग दौर से बाहर होना पड़ा था। भारतीय टीम की इसी जीत पर इरफान पठान, वीरेंद्र सहवाग समेत तमाम खिलाड़ियों ने ट्वीट किया है।टी20 वर्ल्ड कप 2007 में टीम का हिस्सा रहे इरफान पठान ने उस दिन को याद करते हुए ट्विटर पर लिखा, "ये खास दिन मुझे मेरे अंतिम सांस तक याद रहेगा। इसने भारतीय क्रिकेट की सोच को पूरी तरह से बदल दिया। पूरे टूर्नामेंट के दौरान पूरी टीम की प्रयास सराहनीय थी।" दरअसल, इरफान पठान की बात सही भी है, क्योंकि 1983 की तरह इस टी20 विश्व कप में भी कोई भारत को खिताब का दावेदार नहीं मान रहा था, लेकिन धौनी की युवा मेन इन ब्लू ब्रिगेड ने ये कर दिखाया था।फाइनल की बात करें तो इसमें भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए बाएं हाथ के बल्लेबाज गौतम गंभीर के 75 रनों की बदौलत पांच विकेट पर 157 रन का स्कोर बनाया था। भारत से मिले 158 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी पाकिस्तान ने पहले ही ओवर में मोहम्मद हफीज का विकेट खो दिया था और फिर कामरान अकमल भी आउट हो गए थे। पाकिस्तान की अब सारी उम्मीदें शोएब मलिक और शाहिद अफरीदी से थीं, लेकिन ये भी ज्यादा कमाल नहीं दिखा पाए। पाकिस्तान की टीम भारत द्वारा दिए गए लक्ष्य से पांच रन पीछे रहे गई और भारत पहला टी20 विश्व कप जीतने में सफल रहा।

नई दिल्ली। भारतीय टीम के युवा बल्लेबाज और मौजूदा समय में कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए आइपीएल 2020 में खेल रहे शुभमन गिल और महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर की बेटी सारा तेंदुलकर पिछले काफी समय से फैन्स की नज़रों में हैं। सोशल मीडिया पर उनकी गतिविधियां तमाम लोगों को विश्वास दिला रही हैं कि भारत के युवा खिलाड़ी और तेंदुलकर की बेटी के बीच कुछ पक रहा है।हाल ही में शुभमन और सारा ने एक ही कैप्शन के साथ अपने-अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर तस्वीरें शेयर की थीं। इन तस्वीरों से ज्यादा इसके कैप्शन ने सभी का ध्यान आकर्षित किया था। यह सारा तेंदुलकर थीं जिन्होंने कैप्शन 'आई स्पाई' के साथ अपने इंस्टाग्राम पर अपनी एक तस्वीर पोस्ट की थी। कुछ ही समय के बाद शुभमन गिल ने भी उसी कैप्शन और इमोजी के साथ खुद की तस्वीर को सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था।फैंस ने इस चीज को नोटिस किया और फिर दोनों की डेटिंग अफवाहें शुरू हो गईं। अब सारा तेंदुलकर ने अपनी हालिया इंस्टाग्राम स्टोरी के जरिए इन अफवाहों को बढ़ावा देने का काम किया है। सारा तेंदुलकर की नई इंस्टा स्टोरी ने एक तरह से आग में घी डालने का काम किया है, जिसकी वजह से फैंस को लग रहा है कि इन दोनों के बीच काफी कुछ चल रहा है, क्योंकि बुधवार की शाम को सारा तेंदुलकर ने एक इंस्टा स्टोरी पोस्ट की, जिसमें आइपीएल 2020 का पांचवां मैच मुंबई और कोलकाता के बीच खेला जा रहा है।सारा ने इस मैच की एक क्लिप को रिकॉर्ड किया, जिसमें केकेआर खिलाड़ी शुभमन गिल को सूर्यकुमार यादव के एक शॉट को रोकने के लिए एक डाइव लगाने का प्रयास करते देखा जा सकता है। हालांकि, अब ये पोस्ट उनके सोशल मीडिया अकाउंट पर नहीं है, लेकिन फैंस ने इसको सेव किया हुआ है, जो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। खास बात ये है कि इस इंस्टा स्टोरी में उन्होंने दिल वाली इमोजी लगाई हैं।

अबू धाबी। मुंबई इंडियंस ने बुधवार को यूएई की सरजमीं पर 6 मैचों में हार झेलने के बाद पहला मैच जीता था। ये मैच मुंबई इंडियंस के लिए यादगार था। सबसे ज्यादा यादगार मैच ये कैरेबियाई दिग्गज ऑलराउंडर किरोन पोलार्ड के लिए था, जो मुंबई इंडियंस के लिए 150वें आइपीएल मैच में उतरे थे। पोलार्ड मुंबई के लिए 150 मैच खेलने वाले इकलौते खिलाड़ी हैं। उनके बाद रोहित शर्मा का नाम जरूर है, लेकिन वे अभी इस आंकड़े को छूने से थोड़ी दूर हैं।उधर, मुंबई की ही टीम के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने कहा है कि किरोन पोलार्ड ही वो ऐसे प्लेयर हैं, जो मुंबई इंडियंस के लिए 200 आइपीएल मैच खेल सकते हैं। पांड्या का ये बयान उनके 150वें मैच में टीम का प्रतिनिधित्व करने के दौरान आया है। पांड्या ने मुंबई इंडियंस के ट्विटर हैंडल पर शेयर किए गए वीडियों में कहा है, "मुझे लगता है कि वह(किरोन पोलार्ड) एकमात्र क्रिकेटर हो सकते हैं जो मुंबई के लिए 200 मैच खेल सकते हैं।"हार्दिक पांड्या ने बताया, "उनके पास अभी भी 4-5 साल का समय है, वह सिर्फ एक शानदार शख्स ही नहीं हैं, बल्कि वह हमेशा हमारी मदद करने और मार्गदर्शन करने के लिए तैयार रहते हैं। हमारा भाइयों जैसा रिश्ता है जहां हम अपनी जीत का जश्न मनाते हैं और साथ ही अपनी हार का भी आनंद लेते हैं।" मुंबई की टीम के कोच महेला जयवर्धने और कप्तान रोहित शर्मा ने भी पोलार्ड की जमकर तारीफ की, क्योंकि वे 10 साल से टीम के लिए खेल रहे हैं।जयवर्धने ने कहा, "पोलार्ड ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्हें हर कोई देखता है, वह बहुत जुनून के साथ खेलते हैं, आप उसे देखना पसंद करते हैं। वह जिस भी फ्रेंचाइजी के लिए खेलते हैं, लेकिन मुंबई इंडियंस के लिए उनके पास एक नरम स्थान है, क्योंकि वह लंबे समय से यहां हैं।" वहीं, कप्तान रोहित ने कहा, "उन्होंने हमारे लिए मैदान पर कुछ शानदार चीजें की हैं। मुझे स्पष्ट रूप से 2013 का फाइनल और 2019 का फाइनल याद है, प्रतिस्पर्धी स्कोर हासिल करने के लिए उनकी दस्तक हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण थी, वह हमेशा एक टीम मैन रहे हैं, वह हमेशा खड़े रहे हैं।"तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने कहा कि पोलार्ड सकारात्मक ऊर्जा लाते हैं और वह पूरे समूह के लिए हमेशा सहायक रहे हैं। बुमराह ने कहा, "अगर उसने 150 गेम खेले हैं, तो इसका मतलब है कि उनको अनुभव है। वह एक अलग तरह की ऊर्जा लाते हैं, वह हमेशा सहायक होते हैं। जब चीजें अच्छी नहीं हो रही हैं, तो वह नेतृत्व की भूमिका भी लेते हैं और कुछ विचारों के साथ टीम की मदद करते हैं।"

नई दिल्ली। गुरुवार को क्रिकेट जगत के लिए बेहद हैरान करने वाली खबर आई। दोपहर को इस बात की जानकारी मिली की ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर और कमेंटेटर डीन जोन्स का निधन हो गया है। महज 59 साल के जोन्स का निधन दिल का दौरा पड़ने की वजह से हुआ। क्रिकेट जगत इस खबर को सुनने के बाद बिल्कुल स्तब्ध है।वह इन दिनों इंडियन प्रीमियर लीग की कमेंट्री करने के लिए मुंबई में आए हुए थे। जोन्स के निधन की खबर खुलकर सभी लोग हैरान हैं। पूर्व कोच अनिल कुंबले और मौजूदा भारतीय कोच रवि शास्त्री ने इस खबर पर शोक जताया।कुंबले ने लिखा, यह साल बेहद ही खराब है यह क्यो कोई मजाक है कि पिछले हफ्ते वह मेरे साथ मैच की लाल रंग की किताब लेकर चल रहे थे। बेहद दुखत, दिल संवेदना जताता हूं।रवि शास्त्री ने लिखा, यह वाकई हैरान करने वाला है अपने एक अच्छे साथी और दोस्त को ऐसे खोना। आकाश चोपड़ा ने लिखा, मेरे आज शब्द कम पड़ गए हैं। एक ऐसा आदमी के जाने पर दुखी हूं जिसने मेरी ना जाने कितनी तारीफ की है। उनके साथ बातें करना अच्छा लगता था।पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने भी उनके निधन पर दुख जताया और ट्वीट कर संवेदना व्यक्त की।

नई दिल्ली। भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ सातवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरने वाले महेंद्र सिंह धौनी के फैसले की आलोचना करते हुए कहा कि धौनी ने विशाल लक्ष्य का पीछा करते हुए बल्लेबाजी क्रम में नीचे उतरकर मोर्चे से अगुआई नहीं की। वहीं, सीएसके के मुख्य कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने धौनी का बचाव करते हुए कहा कि उन्हें फिनिशर की भूमिका में आने में थोड़ा समय लगेगा, जिसका हर कोई इंतजार कर रहा है।गंभीर ने कहा, 'ईमानदारी से कहूं तो मैं हैरान था, धौनी सातवें नंबर पर। रितुराज गायकवाड़ और सैम कुर्रन उनसे पहले। इसका क्या मतलब था। आपको तो मोर्चे से अगुआई करनी चाहिए। इसे मोर्चे से अगुआई करना नहीं कहते। 217 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए सातवें नंबर पर बल्लेबाजी। फाफ अकेले किला लड़ाते रहे। किसी और ने यह किया होता तो काफी आलोचना होती, लेकिन वह धौनी हैं तो लोग इस बारे में बात भी नहीं कर रहे।'भारत के लिए 2003 से 2016 के बीच 58 टेस्ट और 147 वनडे खेल चुके गंभीर ने कहा, 'जल्दी आउट होने में कोई बुराई नहीं है, लेकिन कम से कम टीम को प्रेरित तो करना चाहिए। आखिरी ओवर में आपने क्या किया (तीन गेंद में तीन छक्के)। यही पहले किया होता तो नतीजा कुछ और होता। शायद जीत की ललक ही नहीं थी। पहले छह ओवर के बाद लग रहा था कि उन्होंने उम्मीद छोड़ दी है। एमएस अंत तक टिककर टीम को मैच में लौटाने की कोशिश कर रहे थे ताकि आने वाले मैचों में ऐसी पारियां खेल सकें। आप धौनी के तीन छक्कों की बात कर सकते हैं, लेकिन उनका क्या फायदा। वह तो उनके निजी रन थे।'वहीं, धौनी के बचाव में फ्लेमिंग ने मैच के बाद कहा, 'हमें हर साल यह सवाल मिलता है। वह 14वें ओवर में क्रीज पर उतरे थे, जो काफी काफी अनुकूल समय है और उन्होंने इसके मुताबिक बल्लेबाजी भी की। वह काफी लंबे समय तक क्रिकेट नहीं खेलने के बाद वापसी कर रहे हैं। इसलिए उनके सर्वश्रेष्ठ करने की उम्मीदों के लिए थोड़ा समय लगेगा।'

नई दिल्ली। अबू धाबी के शेख जाएद क्रिकेट स्टेडियम में मुंबई इंडियंस और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन का पांचवां मैच खेला जा रहा है। इसी मैच में वेस्टइंडीज की टीम के दिग्गज ऑलराउंडर किरोन पोलार्ड ने मुंबई इंडियंस के लिए एक इतिहास रच दिया है। किरोन पोलार्ड मुंबई इंडियंस के लिए 150वें मैच में उतरने वाले पहले खिलाड़ी बन गए हैं।किरोन पोलार्ड ने जैसे ही कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ मुंबई इंडियंस के लिए मैदान पर कदम रखा तो वे टीम के लिए 150 आइपीएल मैचों में प्रतिनिधित्व करने वाले पहले खिलाड़ी बन गए। उनसे पहले एक भी खिलाड़ी ने मुंबई इंडियंस के लिए इतने मैच नहीं खेले हैं। सिर्फ आरसीबी के कप्तान विराट कोहली, सीएसके के कप्तान एमएस धौनी और मिस्टर आइपीएल सुरेस रैना ने ही किसी टीम के लिए 150 या इससे ज्यादा मैच खेले हैं।दाएं हाथ के बल्लेबाज किरोन पोलार्ड ने साल 2010 में मुंबई इडियंस के लिए आइपीएल डेब्यू किया था। इसके बाद से वे लगातार टीम के लिए खेल रहे हैं। यहां तक कि वे कुछ मौकों पर टीम के कप्तान भी रहे हैं, जो दर्शाता है कि मुंबई इडियंस फ्रेंचाइजी को उन पर कितना भरोसा है। किरोन पोलार्ड जब मुंबई की टीम में शामिल हुए थे तो सिर्फ 23 साल के थे, लेकिन अब वे 33 साल के हो गए हैं और टीम के लिए लगातार खेल रहे हैं।

किरोन पोलार्ड का IPL करियर;-धाकड़ ऑलराउंडर किरोन पोलार्ड ने दिल्ली के खिलाफ IPL 2010 में डेब्यू किया था। उसके बाद से अब तक खेले 149 मैचों में उन्होंने 2773 रन बनाए हैं। पोलार्ड हमेशा मिडिल ऑर्डर में बल्लेबाजी करते हैं और एक मैच फिनिशर की भूमिका निभाते हैं। यही कारण है कि उनके रनों की संख्या कम है, लेकिन उनका स्ट्राइकरेट 146.64 का है, जबकि औसत 28.59 का है। पोलार्ड 56 विकेट भी चटका चुके हैं।

दुबई। इंडियन प्रीमियर लीग 2020 (IPL 2020) में पहले मैच हारने के बाद किंग्स इलेवन पंजाब (KXIP) के कोच अनिल कुंबले ने कहा है कि उनकी टीम अगले मैच में अच्छा प्रदर्शन करेगी। गौरतलब है कि रविवार को दिल्ली के खिलाफ रोमांचक मैच में टीम को सुपर ओवर में हार का सामना करना पड़ा। दोनों टीमों ने निर्धारित 20 ओवरों में आठ विकेट पर 157 रन बनाए, जिससे मुकाबला टाई…
दुबई। चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) के तेज गेंदबाज दीपक चहर ने कहा है कि महेंद्र सिंह धौनी उन खिलाड़ियों को पसंद करते हैं, जो तीनों विभाग में अपना योगदान दे सके। खासकर खेल के छोटे प्रारूप में। भारत के तेज गेंदबाज चहर सीएसके के लिए शीर्ष प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों में से एक हैं। आइपीएल के पिछले सीजन में उन्होंने 17 मैचों में 7.63 की इकॉनमी रेट से 22 विकेट लिए…
IPL के आगाज सत्र की चैंपियन टीम राजस्थान रॉयल्स इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन के अपने पहले मुकाबले में मंगलवार को मैदान पर उतरेगी। इससे पहले टीम के कप्तान स्टीव स्मिथ ने कहा है कि इस सीजन के लिए उनकी टीम बेहतर स्थिति में है, क्योंकि इस साल उन्हें एक अच्छी टीम मिली है। इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) के 13वें सीजन के पहले मैच में राजस्थान को चेन्नई सुपर…
नई दिल्ली। IPL 2020 का चौथा मैच राजस्थान रॉयल्स और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच मंगलवार 22 सितंबर को शारजाह में खेला जाएगा, लेकिन इससे पहले राजस्थान की टीम को दो बड़े झटके लगे हैं। आइपीएल के 13वें सीजन के आगाज मैच में मुंबई इंडियंस को रौंदने वाली चेन्नई की टीम के हौसले सातवें आसमान पर होंगे, जबकि स्टीव स्मिथ की कप्तानी वाली राजस्थान रॉयल्स को दो दिग्गज खिलाड़ियों की…
Page 1 of 151

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें