Editor

Editor

कोरियाई प्रायद्वीप में तनाव कम करने के लक्ष्य से दिए गए चीन के प्रस्ताव को अमेरिका ने ठुकरा दिया है। अमेरिका ने कहा है कि उत्तर कोरिया को उसके परमाणु कार्यक्रम पर रोक लगाने के लिए राजी करने की पिछली सभी कोशिशें नाकाम हो चुकी हैं और अब दूसरे तरीके तलाशने की जरूरत है।अमेरिका के विदेश मंत्रालय के कार्यवाहक प्रवक्ता मार्क टोनर ने कहा कि दक्षिण कोरिया और अमेरिका के बीच के रक्षा सहयोग की तुलना उत्तर कोरिया द्वारा अंतरराष्ट्रीय नियमों के प्रति दिखाई गई मुखर अवज्ञा से नहीं की जा सकती।टोनर ने कहा कि प्योंगयांग का व्यवहार विवेकपूर्ण नहीं रहा है और दुनिया को यह समझने की जरूरत है कि उत्तर कोरिया का परमाणु कार्यक्रम सिर्फ अमेरिका और उत्तर कोरिया के बारे में नहीं है और हर देश को सोचना चाहिए कि हम बेहतर ढंग से कैसे प्रतिक्रिया दे सकते हैं।टोनर ने कहा, उत्तर कोरिया को अर्थपूर्ण बातचीत के लिए राजी करने की दिशा में अब तक किए गए सभी प्रयास चाहे वह छह पक्षों की बातचीत हो या फिर प्रतिबंध हों, सभी तरह के प्रयास नाकाम हुए हैं। इसलिए हमें उन्हें राजी करने के लिए नए तरीके तलाशने होंगे। हमें उन्हें मनाना होगा कि यह उनके भी हित में है।

क्या था चीन के प्रस्ताव में?:-चीन ने उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच सीधे टकराव से बचने के लिए कल एक प्रस्ताव दिया था। चीन ने कहा था कि उत्तर कोरिया अपना परमाणु कार्यक्रम निलंबित करे और इसके बदले में अमेरिका और दक्षिण कोरिया तनाव का शिकार बने हुए प्रायद्वीप पर संयुक्त सैन्य अभ्यास पर रोक लगाएं।टोनर ने कहा कि चीन उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार कार्यक्रम से क्षेत्र की सुरक्षा पर उपजे संकट को लेकर वास्तविक रूप से चिंतित है।उन्होंने कहा, यह तर्कसंगत है। हम सभी उत्तर कोरिया की हरकतों से चिंतित हैं लेकिन हमारे नजरिए अलग—अलग हैं।टोनर ने कहा कि अमेरिका उत्तर कोरिया से बातचीत के लिए तैयार है लेकिन इस बात की जिम्मेदारी उत्तर कोरिया पर है कि वह धर्म निरपेक्षता की दिशा में अर्थपूर्ण कदम उठाए और उकसावे से बचे।व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव सीन स्पाइसर ने कहा कि अमेरिका और चीन इस खतरे से निपटने के लिए साथ काम कर सकते हैं।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एप्पल के संस्थापक स्टीव जॉब्स की पत्नी लॉरेन पावेल जॉब्स से मुलाकात कर आव्रजन और शिक्षा नीति पर चर्चा की। एक समाचार एजेंसी के मुताबिक, यह मुलाकात बुधवार को ओवल ऑफिस में हुई। स्टीव जॉब्स का 2011 में निधन हो गया था।पॉवेल जॉब्स 'एमरसन कलेक्टिव' नाम से एक संगठन की संस्थापक और डॉयरेक्टर हैं। यह संगठन शिक्षा, आव्रजन सुधार क्षेत्र की कठिनाइयों को दूर करने में मदद करता है। व्हाइट हाउस के प्रवक्ता लिंडसे वाल्टर्स के मुताबिक, इस बैठक में मूल रूप से क्या बात हुई सके बारे में अभी स्पष्ट रूप से पता नहीं चला है।पावेल जॉब्स पिछले कई वर्षों से 'ड्रीम विधेयक' का समर्थन करती आई हैं। यह विधेयक सीनेट में पारित होने से चूक गया था। इस विधेयक के पारित होने से अमेरिका में गैरकानूनी तरीके से रह रहे छात्रों को स्थाई तौर पर यहां रहने का कानूनी हक मिल जाता।

रंगो के पावन पर्व होली के रंगोंत्सव पर सोमवार सुबह से ही पूरे जिले में फागुनी मस्ती छा गई। क्या शहर क्या गांव यहां तो देशभर के हर गली और मुहल्ले में होली की मस्तीभरी हुड़दंग जारी है।लोग एक - दूसरे को गुलाल लगा रहे हैं और बच्चे पिचकारियों से लोगों रंगों की फुहारें बरसा रहे हैं। युवाओं और जवानों की टोलियां नगर, गांव की गलियों में घूम घूमकर लोगों को रंग लगा रहे हैं और होली की शुभकामनाएं दे रहे हैं।जगह जगह फगुवारे लोक संगीत के साथ नाच गा रहे हैं और होली का जश्न मना रहे हैं।वैसे तो होली का पूरे देश में जश्न मनाया जा रहा है लेकिन खासकर उत्तर मध्य भारत में लोगों रंगों से सराबोर हैं। राज्यों उत्तर प्रदेश, बिहार, दिल्ली, उत्तराखंड, हरियाणा, पंजाब, झारखंड, मध्यप्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र, गुजरात और पश्चिम बंगाल से जमकर होली मनाने की खबरें हैं।शहर से लेकर गांवों तक होराहारों की टोलिया झूमते नाचते भंग की तरंग में रंगों की बरसात कर रही है।कड़ी सुरक्षा के बीच सभी जगह सौहार्द पूर्ण माहौल में रंगोंत्सव मनाया जा रहा है। बच्चे भी पिचकारियों में रंग भरकर सबको भिगोने में लगे हैं।

होलिका दहन के बाद रंगों की होली शुरू:-गोंडा ( उत्तर प्रदेश)। रविवार मध्यरात्रि को होलिका दहन के बाद सुबह लोगों ने नए - पुराने परिधानों में होलिका स्थल पर जाकर बचकर निकले भक्त प्रहलाद व होलिका को नमन किया। जलती हुई होलिका की परिक्रमा किए और श्रद्धा अर्पित की।इस दौरान बच्चे, बेटियां ने गोबर से बनाए बाती - बल्ला आदि तो पुरुषों ने नई फसलों के डंठल डालते रहे। पांच बार परिक्रमा पूरी करने बाद होलिका स्थल की राख का चंदन लगाकर एकदूसरे के गले मिले और होली खेलने की अनुमति ली। जो पहले से होलिका को नमन कर चुके, उन्होंने होली खेलने की शुरुआत की।

 

पाकिस्तान सैनिकों ने 24 घंटों के अंदर दूसरी बार संघर्षविराम का उल्लंघन करते हुये आज पुंछ जिले के LOC पर मोटार्र के गोले दगे और स्वचालित हथियारों से गोलीबारी की। इसके बाद भारतीय सेना के जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की।रक्षा प्रवक्ता ने बताया, पुंछ सेक्टर में सुबह करीब 6:40 बजे पाकिस्तानी सेना ने युद्धविराम का अघोषित उल्लंघन किया और 82 मिमी के मोटार्र और स्वचालित हथियारों से गोलीबारी की। जिसके बाद भारतीय सेना के जवानों ने मोर्चा संभाला और पाकिस्तानी गोलीबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया। अभी भी दोनों तरफ से रुक—रुक कर गोलीबारी हो रही हैं। भारतीय सेना में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है।उल्लेखनीय है कि पुंछ जिले में कल से पाकिस्तानी सेना का यह दूसरा संघर्षविराम उल्लंघन है। इससे पहले पाकिस्तानी सैनिकों ने कल भी पुंछ जिले के कृष्णाघाटी सेक्टर में मोटार्र दागे और गोलीबारी की थी। नौ मार्च को भी पुंछ के LOC पर पाकिस्तानी सेना की अंधाधुंध एवं आक्रामक गोलीबारी की थी जिसमें भारतीय सेना के जवान दीपक जगन्नाथ घाडगे शहीद हो गए थे।

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व गेंदबाज मिचेल जॉन्सन ने हाल ही में भारत के कैप्टन विराट कोहली पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि विराट हताशा के शिकार हो गए हैं।जॉन्सन ने एक ब्लॉग में लिखा है, 'विराट वैसे बहुत उत्साही हैं, लेकिन मैं मानता हूं कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की चार पारियों में फ्लॉप होने के बाद वो अपनी भावनाओं पर काबू नहीं रख पा रहे हैं। जिस वजह से वो अब फ्रस्टेट हो गए हैं। दूसरा टेस्ट मैच आधा खत्म होने के बाद ही आप विराट की बॉडी लैंग्वेज से ये अंदाजा लगा सकते हैं।'जॉन्सन ने आगे ये भी लिखा, 'जब भी कोई विकेट गिरता था, तो कैमरा सीधा विराट पर फोकस करता था। वो जानते हैं कि विराट से उन्हें रिएक्शन जरूर मिलेगा।'जॉनसन ने ब्लॉग पर आगे लिखा कि मेरे मन में दिसंबर 2014 से जनवरी 2015 तक भारतीय टीम के ऑस्ट्रेलिया दौरे की याद ताजा हो गई। इस दौरान मेहमान टीम ने 4 टेस्ट की सीरीज में जबरदस्त खेल दिखाया था। हालांकि वो सीरीज इंडिया 0-2 से हार गई थी। इस सीरीज में कोहली ने 86.5 के औसत में 682 रन बनाए थे। इसमें 4 शतक और 2 अर्धशतक शामिल थे।उन्होंने आगे ये भी लिखा कि दूसरे टेस्‍ट में भारत और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच हुए मैच का उन्होंने पूरा आंनद लिया। विराट इस मैच में पूरे जोश में दिखे। इस मैच को देखते हुए मुझे एक हद तक अपने खेल के दिनों की याद आ गई।

वेस्टइंडीज के स्टार क्रिकेटर मार्लोन सैमुअल्स ने पाकिस्तानी सेना ज्वाइन करने की इच्छा जताई है। सैमुअल्स पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) का फाइनल खेलने के लिए लाहौर आए थे। वह पीएसएल में पेशावर जाल्‍मी की तरफ से खेलते हैं। इस बार इसी टीम ने पीएसएल का खिताब जीता है। जीत के बाद सोशल मीडिया पर सैमुअल्स का एक वीडियो वायरल हो गया है।इस वीडियो में मर्लोन सैमुअल्‍स पाकिस्‍तानी सेना द्वारा खिलाड़ियों की सुरक्षा के लिए किए गए इंतजामों की भी जमकर तारीफ की। इससे खुश सैमुअल्‍स ने खुद पाकिस्‍तानी सेना में शामिल होने की इच्‍छा जताई है।पेशावर जाल्मी द्वारा पीएसएल खिताब जीतने के बाद PAK सेना के चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा पीएसएल चैंपियन टीम से मिले थे। पाकिस्तान आर्मी चीफ से हुई मुलाकात के बाद सैमुअल्स ने अपनी प्रतिक्रिया दी। प्रतिक्रिया वाले इस विडियो को पेशावर जल्मी के सीईओ जावेद अफरीदी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट कर दिया।इस 1:41 मिनट के विडियो में वेस्ट इंडीस के इस खिलाड़ी ने कहा कि मेरे लिए पाकिस्तान में आकर क्रिकेट खेलने से भी ज्यादा यह महत्वपूर्ण है यहां खेलने से उन उदास लोगों के चेहरों पर खुशी लौट आई, जो लंबे समय से यहां क्रिकेट नहीं देख पा रहे थे।

 

अभिनेत्री दीपिका पादुकोण को इस साल अपने परिवार के साथ होली मनाने का मौका मिला हैं। उन्होंने सोमवार को कहा कि नारियल तल होली में रंगों से बालों की सुरक्षा करता है।दीपिका ने एक बयान में कहा, 'पिछले साल होली के समय मैं फिल्म 'द रिटर्न ऑफ जेंडर केज' की शूटिंग कर रही थी। इस साल मैं होली अपने परिवार के साथ मना रही हूं। त्योहार के दौरान हम सभी नारियल तेल जरूर लगाते हैं। यह मेरे बालों की सुरक्षा करता है और रंगों की वजह से नुकसान हुए बालों की मरम्मत भी करता है।'उसने कहा कि उनकी सबसे अच्छी होली की याद तब की है जब वह बचपन में अपने अपार्टमेंट में दोस्तों के साथ रंग और पानी की बंदूक से होली खेलती थी।उनकी पसंदीदा होली गीत पूछने पर उन्होंने बताया कि उनकी फिल्म 'ये जवानी है दिवानी' का गाना 'बलम पिचकारी' उनका पसंदीदा गीत है। दीपिका ने कहा कि वह होली पर घर का खाना पसंद करती हैं।

 

बॉलीवुड की लगभग सारी अभिनेत्रियां शाहरूख खान, सलमान खान और आमिर खान के साथ काम करने की ख्वाहिश रखती है। लेकिन बॉलीवुड में अपने बेहतरीन अभिनय के लिए मशहूर कंगना रनौत खान त्रिमूर्ति के साथकाम नहीं करना चाहती है। कंगना को लगता है कि उन्हें खान बंधुओं के साथ करने पर कोई फायदा नहीं मिलने वाला।कंगना का कहना है, “बॉलीवुड के खान के साथ काम करना मुझे कहां लेकर जाएगा? क्या यह मुझे उससे आगे लेकर जा सकता है, जहां मैं फिलहाल हूं? ये नहीं हो सकता। यह मुझे ऐसा क्या दे सकता है, जो मैं अभी तक नहीं पा सकी हूं।''कंगना ने कहा, "यदि मैं तीनों खान के साथ फिल्म कर सिर्फ एक स्तर ऊपर जाऊंगी तो इससे क्या फायदा मिलेगा। इससे अच्छा है कि मैं ऐसी फिल्म करूं, जो मुझे अपनी ब्रांड और पहचान बनाने में मदद करें। ऐसे में यह बहुत मूर्खतापूर्ण होगा कि मैं किसी ऐसे स्टार के पीछे चलूं, जो केवल अपनी प्रसिद्धि बढ़ाने की कोशिश में हों। मैं फेमस हूं। मैंने अपनी एक फैन फॉलोइंग तैयार की है। मैं यहां से और कहां जा सकती हूं। लंबे समय तक टिके रहने का एक रास्ता केवल आगे बढ़ना और बेहतर प्रदर्शन करना है।"

 

 

 

 

 

 

 

मुंबई:  चैनल स्टार प्लस पर आने वाले सीरियल 'सपना बाबुल का बिदाई' की रागिनी उर्फ पारुल चौहान एक बार फिर चर्चा में है। पारुल 19 मार्च को 29 साल की होने वाली हैं। सीरियल बिदाई में पारुल ने एक सांवली लड़की का किरदार निभाया था, हालांकि रियल लाइफ में भी पारुल सांवली हैं। लेकिन तब की रागिनी और अब की पारुल के लुक में काफी बदलाव आ चुका है। पारुल अब पहले से काफी ज्यादा खूबसूरत लगने लगी हैं। इन दिनों पारुल 'ये रिश्ता क्या कहलाता है' में नजर आ रही हैं।पारुल के मुताबिक सीरियल 'बिदाई' के लिए जब वो ऑडिशन देने गई तो प्रोड्यूसर राजन शाही और कास्टिंग डायरैक्टर विवेक जैन ने उन्हें रागिनी के रोल के लिए सिलेक्ट किया था। पारुल बताती हैं, "स्टोरी की डिमांड के मुताबिक उन्हें सांवली लड़की ही चाहिए थी। मुझे विश्वास नहीं हो रहा था कि जिस टीवी इंडस्ट्री के बारे में मैंने दुनिया भर की बातें सुन रखी थी, वहां मेरी जैसी लड़की को सीरियल में लीड रोल मिल रहा था।"बता दें कि पारुल उत्तरप्रदेश की रहने वाली हैं। उन्होंने कहा, "मैं बचपन से सांवली हूं, लेकिन मेरे पैरेंट्स ने कभी मुझे ऐसा महसूस नहीं होने दिया कि मैं सांवली हूं। मुझे सफलता नहीं मिलेगी या मैं कमजोर पड़ूंगी। मुझे गर्व है कि छोटी जगह से आने वाली मेरी जैसी लड़की ने टीवी में जगह बना

बॉलीवुड अभिनेता और फिल्म निर्माता फरहान अख्तर अपनी आने वाली फिल्म 'लखनऊ सेंट्रल' में भोजपुरी अभिनेता का किरदार निभाते नजर आ सकते हैं। इस फिल्म में फरहान अख्तर के साथ डायना पेंटी नजर आएंगी।रंजीत तिवारी के निर्देशक पर बन रही फिल्म 'लखनऊ सेंट्रल' में फरहान अख्तर के किरदार का खुलासा हो गया है। फरहान इस फिल्म में एक संघर्ष भोजपुरी अभिनेता के किरदार नजर आएंगे। फरहान कुछ अलग और हटकर रोल करना चाहते थे इसी वजह से उन्होंने इस किरदार को चुना। फिल्म में वह भोजपुरी सुपरस्टार मनोज तिवारी के फैन के रूप में दिखेंगे।फरहान अख्तर का मानना है कि यह फिल्म उत्तर प्रदेश और बिहार के हिंदी पट्टी दर्शकों के साथ ही भोजपुरी के चहेतों को भी यह काफी पसंद आएगी। उन्होंने ट्वीट कर बताया कि, 'लखनऊ सेंट्रल' 15 सितंबर को रिलीज होगी।

 

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें